Fabindia, Jashneriwaaz, Javed Akhtar, Fabindia, Jashn-E-Riwaz

Fabindia, Jashneriwaaz

जश्न-ए-रिवाज पर रिएक्शन: फैबइंडिया ने ऐड वापस लिया, जावेद अख्तर बोले- इस शब्द से दिक्कत क्या है, ये तो पागलपन है

जश्न-ए-रिवाज पर रिएक्शन: फैबइंडिया ने ऐड वापस लिया, जावेद अख्तर बोले- इस शब्द से दिक्कत क्या है, ये तो पागलपन है #Fabindia #JashneRiwaaz @Javedakhtarjadu

28-10-2021 19:50:00

जश्न-ए-रिवाज पर रिएक्शन: फैबइंडिया ने ऐड वापस लिया, जावेद अख्तर बोले- इस शब्द से दिक्कत क्या है, ये तो पागलपन है Fabindia JashneRiwaaz Javedakhtarjadu

जावेद अख्तर ने फैब इंडिया विज्ञापन विवाद पर अपनी राय रखी है। उन्होंने विरोध करने वालों को पागल करार दिया है। लेकिन उनका यह कहना उनके लिए ही भारी पड़ गया। ट्वीट करने के बाद लोगों ने उन्हें बुरी तरह ट्रोल किर दिया। हालांकि विवाद के खिलाफ विरोध को बढ़ता देख क्लोदिंग लाइन फैब इंडिया ने अपना दिवाली विज्ञापन कैंसिल कर दिया। | Javed Akhtar reacts to row over Fabindia 's Jashn-e-Riwaz ad but got trolled brutally

जश्न-ए-रिवाज पर रिएक्शन:फैबइंडिया ने ऐड वापस लिया, जावेद अख्तर बोले- इस शब्द से दिक्कत क्या है, ये तो पागलपन है3 घंटे पहलेकॉपी लिंकजावेद अख्तर ने फैब इंडिया विज्ञापन विवाद पर अपनी राय रखी है। उन्होंने विरोध करने वालों को पागल करार दिया है। लेकिन उनका यह कहना उनके लिए ही भारी पड़ गया। ट्वीट करने के बाद लोगों ने उन्हें बुरी तरह ट्रोल किर दिया। हालांकि विवाद के खिलाफ विरोध को बढ़ता देख क्लोदिंग लाइन फैब इंडिया ने अपना दिवाली विज्ञापन कैंसिल कर दिया।

जावेद अक्सर मुखर होकर बोलते हैंजावेद अख्तर अक्सर विभिन्न विषयों पर अपनी राय साझा करते हैं और कभी भी बोलने से पीछे नहीं हटते। फैब इंडिया विवाद को 'पागलपन' बताते हुए, जावेद अख्तर ने ट्विटर पर लिखा,"मैं यह नहीं समझ पा रहा हूं कि कुछ लोगों को फैब इंडिया के जश्न-ए-रिवाज से कोई समस्या क्यों है। जिसका अंग्रेजी में मतलब"परंपरा का उत्सव" के अलावा और कुछ नहीं है, इससे किसी को कैसे और क्यों परेशानी हो सकती है। यह पागलपन है।"

फैब इंडिया ने 9 अक्टूबर को इस फेस्टिव कलेक्शन को सोशल मडिया पर शेयर करते हुए लिखा था-"जैसा कि हम प्यार और प्रकाश के त्योहार का स्वागत करते हैं, फैबइंडिया द्वारा जश्न-ए-रिवाज़ एक ऐसा कलेक्शन है जो खूबसूरती से भारतीय संस्कृति को ट्रिब्यूट देता है।" headtopics.com

यह है पूरा मामला, जहां से विवाद शुरू हुआलाइफस्टाइल प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी फैब इंडिया अपने फेस्टिव कैंपेन को लेकर विवादों में तब आई जब कंपनी ने दिवाली से पहले जश्न-ए-रिवाज नाम से एक कैंपेन शुरू किया।ऐड में एक उर्दू मुहावरे जश्न-ए-रिवाज का इस्तेमाल किए जाने के बाद विवाद खड़ा हो गया था। ब्रांड पर अपने फेस्टिव कलेक्शन को जश्न-ए-रिवाज़ का नाम देकर हिंदू त्योहार को 'विकृत' करने का आरोप लगाया गया है।

फैब इंडिया का कैंपेन पसंद नहीं आयाकई यूजर्स की तरह मणिपाल ग्लोबल एजुकेशन के चेयरमैन मोहनदास पाई ने नाराजगी जताते हुए ट्वीट किया, 'दिवाली पर फैब इंडिया का बेहद शर्मनाक बयान! जैसे दूसरों के लिए क्रिसमस और ईद है वैसे ही यह एक हिंदू धर्म का त्योहार है! ऐसा बयान एक धार्मिक त्योहार को खत्म करने की सोची-समझी कोशिश को दिखाता है!'

दरअसल ऐड के पोस्टर में जो भी मॉडल दिखाई गईं वो सभी पारंपरिक परिधान में हैं। लेकिन उन्होंने बिंदी नहीं लगाई है। कुछ लोगों की आपत्ति उर्दू शब्द से थी कि जब हिंदुओं का त्यौहार फिर उर्दू क्यों? यानी ये धीरे-धीरे हमारी परंपरा को खत्म करने की चाल है। विवाद बढ़ा तो फैब इंडिया ने सफाई देते हुए पोस्टर हटा लिया।

और पढो: Dainik Bhaskar »

वारदात: तेज हो गई समीर-नवाब की तकरार, क्या है स्कूल सर्टिफिकेट की सच्चाई?

नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के मुंबई के जोनल हेड समीर वानखेड़े के बर्थ सर्टिफिकेट और मैरिज सर्टिफिकेट के बाद महाराष्ट्र सरकार में मंत्री नवाब मलिक कथित रूप से उनके ये दो नए सर्टिफिकेट लेकर आए हैं. नवाब मलिक के मुताबिक समीर दादर के सेंट पॉल हाईस्कूल से प्राथमिक शिक्षा ली थी. इस सर्टिफिकेट में समीर वानखेड़े का नाम वानखेड़े समीर दाऊद लिखा है. यहां ये भी लिखा है कि छात्र की जाति और उपजाति तभी बताई जाए जब वो पिछड़े वर्ग, या अनुसूचचित जाति-जनजाति से आए. जबकि धर्म के कॉलम में लिखा है मुस्लिम. इसके बाद समीर वडाला के सेंट जॉसेफ हाईस्कूल में पढने गए. यहां के स्कूल लीविंग सर्टिफिकेट में समीर का नाम वानखेड़े समीर दाऊद लिखा है. और धर्म के कॉलम में लिखा है मुस्लिम. दरअसल नवाब मलिक समीर वानखेड़े को मुसलमान साबित करने के लिए इसलिए जुटे हैं क्योंकि अगर उनकी बात सही साबित हो गई तो समीर वानखेड़े के नौकरी खतरे में पड़ जाएगी. देखें वीडियो.

Javedakhtarjadu Ye Dokara to pagal ho chuka hai sathiya gaya hai Javedakhtarjadu Talibanis destroyed BUDHA STATUTUES WHERE WAS THIS GENTLEMAN AT THAT TIME Javedakhtarjadu Bosdk dikkat ye h ki tu chutiya h Javedakhtarjadu Dikkat tum jeso se h hme ...sale gaddaro Javedakhtarjadu तो ईद को अलग-अलग नाम से बुलाया जाए सही रहेगा। दीपावली हिंदुओं का त्यौहार तो उसका तो हिंदी ही नाम होगा ना या उर्दू अरबी में बोला जाएगा बताओ जावेद अख्तर मूर्ख।

Javedakhtarjadu एका तालुक्यात एका नेत्याच्या बँका किती? Javedakhtarjadu वंदेमातरम से भी क्या दिक्कत है। Javedakhtarjadu तो फिर इन लोगो के त्यौहार को 'चंद्र देव पूजन दिवस' भी कहा जा सकता है। Javedakhtarjadu अख्तर की बातों को कोई भी seriously न ले, जब ये 'बुढ़ऊ' घूटने के दर्द से पगला जाता है, तो उल-जलूल बातें करने लगता है।

Javedakhtarjadu पागल है ये Javedakhtarjadu लखनऊ समेत उप्रके नगरोंमें धड़ल्ले सेचलरही अवैध दुग्ध डेयरियां, हमारे अमूल्य भूजल कोहीनहीं नष्टकर रहीं, बल्कि प्रतिबंधित OxytocinHormone केinjectionलगाकर पशुओंऔरमनुष्यों दोनोंकोही धीमी मृत्यु की ओरधकेलरहीहैं PMOIndia nsitharaman CMyogiUPLKO DrMohanBhagwat NITIAayog HMOIndia

फैबइंडिया के 'जश्न-ए-रिवाज' ऐड पर बोले जावेद अख्‍तर, 'इससे किसी को क्‍या समस्‍या हो सकती है, यह तो पागलपन है'जावेद अख्‍तर ने फैबइंडिया के 'जश्न-ए-रिवाज' ऐड विवाद पर बयान दिया है। उन्‍होंने कहा है कि लोगों का विरोध उनकी समझ नहीं आया। विज्ञापन में ऐसा क्‍या था जिससे किसी को समस्‍या हो। जावेद जी इद को होली कहते हैं 😂😂😂 अरे इनके हिसाब से कुछ भी गलत नहीं पर हमेशा निशाने पर हिन्दू त्योहार ही क्यों ☹️ तुम पगलों के देश मे ही रहते हो हाहाहाहा

Javedakhtarjadu बहुत बार हम लोग पागलपन देख चुके हैं 🤣😂 Javedakhtarjadu जब हरे रंग की इमारत को मुफ्त मे भगवा रंग देना बर्दाश्त नहीं कर सकते तो भगवा रंग से उलझने मत आइए। Javedakhtarjadu दीपावली को जश्ने रिवाज बोला जा सकता है तो बकरीद को और क्या क्या बोल सकते हैं,,,,कोई बताएगा Javedakhtarjadu सबसे बड़ा पागल तो तू है।

Javedakhtarjadu Hujur aap kahe to sanskrit ki jagah urdu ke slok padhna shuru kar de ganga jamuna tahjib ke naam pe Javedakhtarjadu Welcome, thank you for contacting me, I will get back to you shortly.

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले बोले समीर वानखेड़े दलित है इसलिए उसके साथ हो रहा है गलतविवादों में घिरे एनसीबी के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े के सपोर्ट में केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले उतर आए हैं। उन्होंने कहा कि समीर वानखेड़े दलित हैं और इसलिए उन्हें तंग किया जा रहा है। महाराष्ट्र के है तभी सुध लेने वाला कोई नही, अगर उप्र के होते.......!!!!

नीट-यूजी का रिजल्ट बनकर है तैयार, इसी हफ्ते हो सकता है जारीमेडिकल में दाखिले से जुड़ी नीट (राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा) अंडर ग्रेजुएट (यूजी) के रिजल्ट का इंतजार कर रहे छात्रों को अब ज्यादा इंतजार करने की जरूरत नहीं है। एनटीए के मुताबिक रिजल्ट तैयार हो चुका है। सुप्रीम कोर्ट से इस संबंध में मार्गदर्शन मांगा गया है। महाराष्ट्र ने छिछोरा मंत्री खुले सांड की तरह छोड दिया मंत्रालय मे आजकल कामकाज कुछ है नही बस संस्थाओ मे कर रहे अधिकारियों को जबरन धोस धमक दिखाने के लिए महाराष्ट्र सरकार लगी है नही शरद पंवार नही उधव कुछ बोल पारहे जैसे नवाब सबका बाप है और पुरी सरकार गुलाम केवल अकल नवाब मेही हैबेशर्म

टॉस जीतो मैच जीतो बन गया है टी-20 विश्वकप, कोहली का भी है रिकॉर्ड खराबटॉस जीतो मैच जीतो बन गया है टी-20 विश्वकप T20WorldCup T20WorldCup21 T20WorldCup2021 IndianCricketTeam ViratKohli T20WorldCup

WhatsApp पर जल्द आ सकता है वॉयस मैसेज के लिए ये नया अपडेट, बदलेगा एक्सपीरिएंसWhatsApp काफी पॉपुलर इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म है. इसमें कई फीचर्स दिए गए हैं. WhatsApp पर वॉयस मैसेज भेजने का भी ऑप्शन दिया गया है. लेकिन, इसमें एक खामी है आप वॉयस मैसेज को रिकॉर्ड करने के बाद सुन नहीं सकते हैं. इसे आपको सीधे यूजर्स को या तो सेंड करना होता है या आप इसे डिलीट कर सकते हैं. Petrol prices sir!!

‘शायद नया नियम है, सट्टेबाजी कंपनियां भी IPL टीमें खरीदने लगीं,’ ललित मोदी ने लगाया आरोपAhmedabad IPLTeam IPL2022, NewIPLTeams IPLAuction LalitModi LucknowTeam CVCCapitals ललित मोदी ने बीसीसीआई पर कटाक्ष किया है। उन्होंने हाल ही में दुबई में संपन्न दो नई आईपीएल टीम की नीलामी प्रक्रिया पर सवाल उठाए हैं।