Chinaarmy, Indiachinabordertension, Security Agencies, Chinese Military Activities, Satellites, Lac, India China Tension, Dedicated Satellites, Chinese Military Activities İn Lac, Indian Army, उपग्रह, वास्तविक नियंत्रण रेखा, एलएसी

Chinaarmy, Indiachinabordertension

चीनी सैनिकों पर नजर रखने के लिए मांगे चार से छह सेटेलाइट, सुरक्षा एजेंसियों ने सरकार से किया आग्रह

चीनी सैनिकों पर नजर रखने के लिए मांगे चार से छह सेटेलाइट, सुरक्षा एजेंसियों ने सरकार से किया आग्रह #ChinaArmy #IndiaChinaBorderTension

06-08-2020 23:29:00

चीनी सैनिकों पर नजर रखने के लिए मांगे चार से छह सेटेलाइट, सुरक्षा एजेंसियों ने सरकार से किया आग्रह ChinaArmy IndiaChinaBorderTension

रक्षा सूत्रों ने बताया कि चीनी सेना की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए हाई रिजल्यूशन वाले कैमरों और सेंसर से युक्त चार से छह सेटेलाइट की जरूरत महसूस की जा रही है।

वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर भारतीय क्षेत्र और चीन के भीतरी इलाकों में चीनी सैनिकों की हरकतों पर नजर रखने के लिए सुरक्षा एजेंसियों ने सरकार से चार से छह सेटेलाइट की मांग की है।चीन के शिनजियांग प्रांत में भीतरी इलाके में युद्ध अभ्यास शुरू करने की आड़ में करीब 40 हजार सैनिकों को भारी साजोसामान के साथ भारतीय सीमा पर विभिन्न इलाकों में तैनात करने के बाद सुरक्षा एजेंसियों को इन सेटेलाइट की जरूरत महसूस हुई है। समझा जा रहा है कि चीन की सेना की मंशा लेह सहित विभिन्न इलाकों में अचानक हमला कर भारतीय सेना को झटका देने की है। इस क्षेत्र की सुरक्षा की जिम्मेदारी फिलहाल 14वीं कोर की है।

हाथरस जैसा एक और वाकया : 22-वर्षीय दलित युवती से गैंगरेप, निर्मम पिटाई से मौत बाबरी: 'एक दिन की जेल ही दे देता कोर्ट, एक रुपये का ज़ुर्माना ही लगा देता' - BBC News हिंदी घमासान के बीच रवि किशन को मिली Y+ सुरक्षा, ट्वीट कर लिखा- शुक्रिया महाराज जी!

सुरक्षा एजेंसियों को यह सेटेलाइट मिलने से चीन की निगरानी के लिए हमारी दूसरे देशों पर निर्भरता खत्म हो जाएगी। भारतीय सेना के पास कुछ सैन्य सेटेलाइट हैं लेकिन वे पर्याप्त नहीं हैं। निगरानी क्षमता बढ़ाने के लिए इनकी संख्या बढ़ाना जरूरी है।यह भी पढ़ेंसीमा के कई इलाकों में सैनिक हैं तैयार

वर्तमान समय में चीन की सेना फिंगर एरिया और पैंगोंग झील के पास कब्जा जमाए हुए है। यहां तैनात सैनिक हटने को तैयार नहीं हैं। चीनी सेना फिंगर 5 इलाके में एक निगरानी चौकी बनाना चाहती है। इसी तरह गोगरा में भी वह अपने पैर जमाए हुए है। चीन की गतिविधियों के बारे में स्पष्टता न होने के कारण ही लद्दाख में भारतीय सेना को चीन के मुकाबले अपने सैनिक बढ़ाने में समय लगा। चीन ने लद्दाख की तरह हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश से लगे इलाकों में भी अपने सैनिक तैयार कर दिए हैं। हालांकि इन मोर्चो पर सैनिक थोड़ा पीछे के इलाके में हैं। रक्षा मंत्रालय ने स्वीकार किया है कि चीन की सेना ने कई स्थानों पर भारतीय भूमि पर कब्जा कर रखा है।

Posted By: और पढो: Dainik jagran »

Sushant Singh Rajput की डायरी के ये 11 पन्ने खोलेंगे कौन से राज?

सुशांत की डायरी बोलेगी, मौत मिस्ट्री खोलेगी! आजतक को सुशांत सिंह राजपूत की डायरी के वो ग्यारह एक्सक्लूसिव पन्ने मिले हैं जो और किसी के पास नहीं हैं. उन पन्नों में छुपा है सुशांत के साथ हुई साजिश के तमाम राज. इन पन्नों में सुशांत की ज़िंदगी का उजाला है, निराशा का वो अंधेरा नहीं जिसकी तस्वीर रिया चक्रवर्ती अपने झूठ से पेश कर रही थी. आज सुशांत के हाथों से लिखे नोट्स उनकी गवाही दे रहे हैं. वो बता रहे हैं कि जिंदगी में रिया के आने से पहले उनका एक मकसद था और उस मकसद को लेकर उनमें जबरदस्त कमिटमेंट थी. देखें ये रिपोर्ट.

Koi fayda nahi hay yeh privatization bali sarkaar hay sabhi sarkaari sansthye bech kar chalti banegi. Army Desh ki suracha ka intzaam swamm say ba Army ka hi Welfare bank account retweet kar day to janta say jitna hoga hum kar denge. Nahi to ab saaf saaf nazar aa rahi hay सरकार, सुरक्षा एजेंसियों के इस मांग को तुरंत पूरा करें

कश्मीर की वादियों में विकास की हवा बहाने की मनोज सिन्हा की तैयारीछात्र राजनीति से लेकर राष्ट्रीय राजनीति का सफर पिछले चार दशक में तय करने वाले मनोज सिन्हा के पास अब जम्मू-कश्मीर के नये लेफ्टिनेंट गवर्नर के तौर पर अपने हुनर का इस्तेमाल करने की चुनौती है. पीएम नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को उनसे यही उम्मीद भी है और खुद सिन्हा के पास इसके लिए जरूरी काबिलियत. कल शपथ ग्रहण करते ही उनकी नई भूमिका में परीक्षा भी शुरु हो जाएगी, जिसके लिए खास तौर पर हफ्ते भर का होमवर्क किया है सिन्हा ने. | News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी brajeshksingh यह किसी और राजभवन में भेजने जैसा नहीं है जहाँ जाना रिटायर होने जैसा समझा जाता है। जैसा कि कुछ लोग कयास लगा रहे हैं.. मनोज सिन्हा को जम्मू-कश्मीर भेजे जाने का मतलब तो यही लगता है कि वहाँ अब कुछ नयी खास बातें होनी हैं। brajeshksingh Badhai brajeshksingh बिकास पुरुष मनोज सिन्हा जी को जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल बनाए जाने पर हार्दिक बधाई 🌹 मनोज सिन्हा जी को जम्मू कश्मीर का लेफ्टिनेंट गर्वनर नियुक्त किया जाना स्वागत योग्य कदम है. वो सादगी और ईमानदारी के प्रतिमान है. स्वच्छ राजनीति एवं संवाद हमेशा उनकी प्राथमिकता में रहा है.

कश्मीर पर चीनी विदेश मंत्रालय की आपत्तिजनक टिप्पणी को भारत ने किया खारिजविदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा है कि हमारा सुझाव है कि वह हमारे आंतरिक मामलों में किसी तरह की टिप्पणी नहीं करे।

चीन पर करीब से नजर: चीनी सेना की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए सुरक्षा एजेंसी को 4-6 सैटेलाइट की जरूरत, उनक...चीन पर करीब से नजर:चीनी सेना की गतिविधियों पर नजर रखने के लिए सुरक्षा एजेंसी को 4-6 सैटेलाइट की जरूरत, उनकी हर चाल समझने में मिलेगी मदद DefenceMinIndia DrSJaishankar PMOIndia indiachinastandoff DefenceMinIndia DrSJaishankar PMOIndia Sarkaar tatkaal is maang ko poora kare. DefenceMinIndia DrSJaishankar PMOIndia ChalkCarving Shree Ram. I hope you would like this🙏🏻😊 JaiShriRam राममंदिर_भूमिपूजन

शिवसेना ने विपक्ष पर लगाया आरोप, कहा- सुशांत मामले से आदित्य ठाकरे को जोड़ने की साजिशशिवसेना ने विपक्ष पर लगाया आरोप, कहा- सुशांत मामले से आदित्य ठाकरे को जोड़ने की साजिश SushantRajputDeathCase SushanthSinghRajput shivsena AUThackeray ShivSena AUThackeray विपक्ष कहा कुछ बोल रही है ? खुद आदित्य ठाकरे ही सफाई दे रहे है ShivSena AUThackeray तो क्या इसी से बचाने के लिए sp को कवरन्टीन कर दिया गया । ताकि जांच न हो पाए,cbi जांच से तिलमिलाए होए हो ShivSena AUThackeray ये साजिश नहीं कटु सत्य है जिसे पूरे देश की जनता जानती है

मुंबई की बारिश से भारी ट्रैफिक जाम, साढ़े तीन घंटे तक हाइवे पर फंसे रहे मंत्रीWho did he blame? Modi अनुभव घेतल्या शिवाय अक्कल येत नाही Main problem is blockage of sewerage. There's no or little way out for water to drain. Unless 100% plastic use and throwing of waste on roads is stopped , no one can stop from clogging.

MPC बैठक की घोषणा से पहले हरे निशान पर खुला बाजार, सेंसेक्स-निफ्टी में उछालMPC बैठक की घोषणा से पहले हरे निशान पर खुला बाजार, सेंसेक्स-निफ्टी में उछाल Nifty sensex StockMarket sharemarket