Satyapalmalik, Governer Satyapal Malik. Political Journey, Congress, Samajwadi Party, Chaudhary Charan Singh, Jat Leders, Kisan Andolan, राज्यपाल सत्यपाल मलिक, कांग्रेस, राजनीतिक सफर, समाजवादी पार्टी, चौधरी चरण सिंह, सपा, मुलायम सिंह यादव, जनता दल वीपी सिंह

Satyapalmalik, Governer Satyapal Malik. Political Journey

चरण सिंह-वीपी सिंह से BJP तक, कई सियासी खेमों में रह चुके हैं सत्यपाल मलिक

बीजेपी पर सत्यपाल मलिक के आरोपों की बौछार #SatyapalMalik (@imkubool)

26-10-2021 12:38:00

बीजेपी पर सत्यपाल मलिक के आरोपों की बौछार SatyapalMalik (imkubool)

किसान आंदोलन के समर्थन में सत्यपाल मलिक के खड़े होने से लेकर गोवा में भ्रष्टाचार के मुद्दे को उठाने और जम्मू-कश्मीर डील में अंबानी और आरएसएस नेता का नाम लेने से सियासी बवाल मच गया है. चौधरी चरण सिंह के सानिध्य में अपनी सियासी पारी शुरू करने वाले सत्यपाल मलिक कांग्रेस से लेकर सपा और बीजेपी तक का राजनीतिक सफर तय कर चुके हैं.

स्टोरी हाइलाइट्सबीजेपी पर सत्यपाल मलिक के आरोपों की बौछारचौधरी चरण सिंह के सानिध्य में हुई थी सियासी एंट्रीकांग्रेस, जनता दल, सपा और बीजेपी में रहे मलिकमेघालय के राज्यपाल सत्यपाल ने मलिक इन दिनों बीजेपी सरकार के विपरीत रुख अख्तियार कर रखा है. वो एक के बाद एक ऐसे बयान दे रहे हैं, जो बीजेपी के लिए सिरदर्द बढ़ा रहा है. किसान आंदोलन के समर्थन में सत्यपाल मलिक के खड़े होने से लेकर गोवा में भ्रष्टाचार के मुद्दे को उठाने और अब जम्मू-कश्मीर डील में अंबानी और आरएसएस नेता का नाम लेने से सियासी केंद्र में आ गए हैं. सत्यपाल मलिक पहली बार इस तेवर में नहीं नजर आ रहे हैं बल्कि धारा के विपरीत चलने की अपनी पुरानी छवि को ही दोहरा रहे हैं.

Omicron की महाराष्ट्र के बाद राजस्थान में दहशत, 9 नए केस के साथ देश में हुए कुल 21 संक्रमित महाराष्‍ट्र में ओमिक्रॉन के 7 नए मामले आए सामने, भारत में अब तक कुल 12 मरीज दिल्‍ली में कोरोना के मामलों में दर्ज की गई तेजी, पिछले 24 घंटे में सामने आए 63 नए मरीज

छात्र जीवन में ही सियासत में कदम रखालोहिया के समाजवाद से प्रभावित होकर बतौर छात्र नेता के रूप में राजनीतिक सफर शुरू करने वाले सत्यपाल मलिक को खरी-खरी कहनी पुरानी आदत है. जाट परिवार से आने वाले सत्यपाल मलिक के पूर्वज यूं तो हरियाणा के हैं, लेकिन सत्यपाल मलिक की पैदाइश वेस्ट यूपी की है. सत्यपाल का जन्म बागपत के गांव हिसावदा में 24 जुलाई 1946 को हुआ था. उनके पिता स्व. बुद्ध सिंह उत्तर प्रदेश के राजस्व विभाग में नायाब तहसीलदार थे और सत्‍यपाल जब दो वर्ष के थे तभी पिता का निधन हो गया.

पिता के देहांत के बाद सत्यपाल मलिक की मां उन्हें लेकर अपने मायके हरियाणा के चरखी दादरी चली गई थीं. ननिहाल में ही इनकी कक्षा चार तक की शिक्षा हुई थी और फिर बाद में यूपी के बागपत लौट आए और ढिकौली गांव के इंटर कालेज से माध्‍यमिक शिक्षा पूरी कर वह मेरठ कॉलेज पहुंचे, जहां उन्होंने सियासत में कदम रखा. 1968 में मेरठ कॉलेज के छात्रसंघ के अध्यक्ष चुने गए. headtopics.com

चौधरी चरण सिंह के शिष्य70 के दशक में कांग्रेस विरोध की बुनियाद पर यूपी में नई ताकत बनकर उभर रहे चौधरी चरण सिंह का सत्यपाल मलिक ने साथ पकड़ा. तेज तर्रार और बिना लाग लपेट के अपनी बात कहने वाले सत्‍यपाल मलिक ने पूर्व पीएम चौधरी चरण सिंह के सानिध्य में आकर अपनी सियासत को नई ऊंचाई दी. 1974 में भारतीय क्रांति दल के टिकट पर युवा सत्यपाल मलिक 28 साल की उम्र में विधायक बने और फिर मुड़कर पीछे नहीं देखा. 1977 में इमरजेंसी का विरोध कर सत्यपाल मलिक जेल में रहे.

वक्त के साथ बदलते रहे हैं पार्टियां1980 से 1985 तक लोकदल से राज्यसभा सांसद रहे, लेकिन उम्र और तजुर्बे से परिपक्व होते वक्त सत्यपाल को जब यह अहसास हुआ कि चौधरी चरण सिंह के साथ उन्हें पश्चिम यूपी की राजनीतिक तक ही सीमित रखेगा, तो वो कांग्रेस विरोध छोड़कर कांग्रेस में ही शामिल हो गए. 1985 से 1989 तक कांग्रेस से राज्यसभा सांसद रहे. इसके बाद अगले ही कुछ सालों के भीतर कांग्रेस के अंदर से ही कांग्रेस के खिलाफ एक नारा गूंजने लगा था, 'राजा नहीं फकीर है, देश की तकदीर है.'

बोफोर्स के मुद्दे को लेकर सत्यपाल मलिक राज्यसभा सांसद के पद से त्यागपत्र देकर पूर्व प्रधानमंत्री वीपी सिंह के जनता दल में शामिल हो गए. जनता दल से सांसद बने और वीपी सरकार में मंत्री भी बने. वीपी सिंह के साथ भी लंबी सियासी पारी नहीं खेल सके और लोकदल के दौर से साथी मुलायम सिंह यादव के साथ हो लिए. 1996 में जाट बहुल अलीगढ़ संसदीय सीट से सपा प्रत्याशी के रूप में लोकसभा चुनाव लड़े, लेकिन जीत नहीं सके.

सपा के बाद बीजेपी में एंट्री कीसपा के साथ सत्यपाल मलिक लंबी सियासी पारी नहीं खेल सके और 2004 में बीजेपी का दामन थाम लिया. अपने सियासी गुरु चौधरी चरण सिंह के ही पुत्र चौधरी अजित सिंह के खिलाफ बागपत से चुनाव लड़े, पर हार मिली, लेकिन बीजेपी ने उन्हें अपने साथ बनाए रखा और 2012-13 में पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बने. 2014 में मोदी सरकार आने के बाद उन्हें 2017 में पहले बिहार का राज्यपाल बनाया गया और फिर वो जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल बने. headtopics.com

महाराष्ट्र में Omicron ने बढ़ाई टेंशन, नाइजीरिया से लौटे परिवार के 6 लोग संक्रमित, देश में कुल 12 केस बीजेपी पर राघव चड्ढा का गंभीर आरोप, कहा- हमारे MLA, MP को खरीदने की कोशिश नगालैंड में 13 ग्रामीणों की मौत के बाद तनाव, प्रदर्शनकारियों ने कैंप पर बोला धावा, 10 बड़ी बातें

सत्यपाल मलिक 23 अगस्त 2018 से 30 अक्टूबर 2019 में जम्मू और कश्मीर के राज्यपाल रहे. उन्होंने जम्मू और कश्मीर में से अनुच्छेद 370 व 35 ए को हटाने में अहम भूमिका निभाई. सत्यपाल मलिक तीन नवंबर 2019 में गोवा के राज्यपाल बनें, लेकिन बहुत दिन नहीं रह सके. इसके बाद 18 अगस्त 2020 से सत्यपाल मलिक मेघालय के राज्यपाल हैं. इन दिनों वो खुलकर बीजेपी सरकार के खिलाफ आक्रामक रुख अपना रखा है. किसान आंदोलने के समर्थन में खड़े होने से लेकर गोवा में भ्रष्टाचार के मुद्दे पर सवाल खड़े करने और जम्मू-कश्मीर में डील कराने में अंबानी और आरएसएस नेता के नाम लेकर सियासी तापिश बढ़ा दी है.

Live TV और पढो: आज तक »

शंखनाद: Samajwadi Party की साइकिल पर बैठेंगी कितनी सवारी?

जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं, उत्तर प्रदेश का रण धारदार होता जा रहा है, सत्ता पक्ष और विपक्ष अपने-अपने दल को बढ़ाने में लगे हुए हैं, गठबंधनों का दौर चल रहा है. इसी कड़ी में आज कांग्रेस की बागी नेता अदिति सिंह आज बीजेपी में शामिल हुईं तो दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने अखिलेश यादव से मुलाकात की. साथ ही कृष्णा पटेल वाली अपना दल पार्टी ने भी समाजवादी का दामन थाम लिया. यूं समझिए कि गठबंधन वाली राजनीति बहुत तेजी से विस्तारित हो गई है, ताकि पार्टियां अपने विरोधियों को मात दे सकें. देखिए शंखनाद का ये एपिसोड.

imkubool वरुण गाँधी भी तो किसानों के पक्ष मे खुलकर आये है। भाजपा मे कब थमेगा घमासान.... imkubool फिर कांग्रेस में जाने का इरादा है क्या,

यूपी में आज भी बारिश के संकेत, दिल्ली में पारा गिरने से ठंड बढ़ने के आसारDelhi Cold Weather : यूपी के पहासू, डिबाई, नरौरा, गभाना, अतरौली, अलीगढ़ में भी अगले कुछ घंटों में बारिश का अनुमान मौसम विभाग ने जताया था.  वहीं दिल्ली में बरसात के कारण सर्दी ने दस्तक दे दी है. अभी तो यूपी में मौसम बिल्कुल साफ दिखाई दे रहा है बारीस का कोई आसार नहीं दिख रहा है कड़वा चौथ वाले दिन ऐसा 70 साल में पहली बार हुआ है हर दुकानदार छोटे मोटे व्यापारी का नुकसान Acha humko toh pata he nahi tha

स्पेशल रिपोर्ट: Aryan Khan की गिरफ्तारी, Ananya Pandey से पूछताछ के बीच सवालों से घिरी NCBसमीर वानखेड़े, IRS अफसर हैं, मौजूदा तैनाती जोनल डायरेक्टर एनसीबी मुंबई. शाहरुख खान के बेटे आर्यन की गिरफ्तारी के बाद अचानक राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियों में आ गए. वैसे तो तेज तर्रार अफसर माने जाते हैं लेकिन वानखेड़े की वर्किंग स्टाइल को लेकर गंभीर और सनसनीखेज आरोप लगे हैं. नए इल्जाम आर्यन खान केस में स्वतंत्र गवाह प्रभाकर सेल द्वारा लगाए गए हैं जबकि महाराष्ट्र सरकार में वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री नवाब मलिक लगातार आरोपों की बौछार करते आए हैं. आज जिस आरोप की वजह से समीर वानखड़े को लेकर बवाल मचा हुआ है, उसका सार यही है कि NCB के नाम पर वानखेड़े वसूली करते हैं. देखें स्पेशल रिपोर्ट. Hahahahaha देन तो आप लोगों की है ये यह सब तुम्हारा ही किया धरा है। ऐसा बेहूदा कवरेज किया और दिखाया मानो भारत जीता हुआ ही है ।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ मलेरिया से संक्रमित, एम्स में कराया गया भर्तीबंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ को मलेरिया की पुष्टि होने और लगाता बुखार बढ़ने के बाद एम्स दिल्ली में भर्ती कराया गया है। जगदीप धनखड़ हाल ही में दार्जिलिंग के दौरे से दिल्ली पहुंचे थे। दिल्ली स्थित पश्चिम बंगाल के आधिकारिक गेस्ट हाउस बंग भवन में उन्हें बुखार की शिकायत हुई।

त्रिपुराः बाग्लांदेश हिंसा के विरोध में प्रदर्शन, 150 से अधिक मस्जिदों को दी गई सुरक्षाबीते दिनों बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडालों में हुई तोड़फोड़ के विरोध में हिंदुत्ववादी संगठन लगातार विरोधस्वरूप रैलियां निकाल रहे हैं. इस बीच त्रिपुरा राज्य जमीयत उलमा (हिंद) ने मुख्यमंत्री बिप्लब कुमार देब के कार्यालय को एक ज्ञापन सौंपा है, जिसमें बीते तीन दिनों में मस्जिदों और अल्पसंख्यक बस्तियों पर हमले का आरोप लगाया गया है. त्रिपुरा भरत में ही है ना की तालिबान मे RubikaLiyaquat anjanaomkashyap इन आतंकियों पर भी तो मुंह के गटर खोल दो खुद के देश मे अल्पसंख्यक मुसलमानों की हत्या करदो मस्जिदों को तोड़ दो आग लगा दो पर दूसरे देश मे हिन्दू अल्पसंख्यक की सुरक्षा उनका सम्मान ये जरूरी है अरे वहां 450 से ज्यादा मुसलमानों को गिरफ्तार किया गया है अब यहां हिम्मत कौन दिखाए हिन्दू गिरफ्तारी की

अयोध्या में अरविंद केजरीवाल, रामलला के दर्शन कर लोगों से किया बड़ा वादा...केजरीवाल ने बड़ा ऐलान करते हुए कहा कि अगर यूपी में हमारी सरकार बनती है तो प्रदेश के सभी लोगों को अयोध्या में रामलला के मुफ्त में दर्शन कराएंगे UttarPradesh ArvindKejriwal Ayodhya UPElections2022

तेंदुए ने शेर के बच्चे को मार डाला, शेरनी के सामने से खींचकर ले गयातंजानिया के रूहा नेशनल पार्क (Ruaha National Park) में एक शेरनी अपने बच्चों (शावकों) के लिए भोजन की तलाश में जा रही थी. लेकिन तभी एक भूखे तेंदुए की नजर शेरनी के बच्चों पर पड़ गई.