Lockdown, Corona Virus, Coronavirus Symptoms, Corona Virus İndia, Coronavirus Origin, Corona Virus Patients İn Lucknow, Corona Virus Patients İn Uttar Pradesh, Kgmu, Kgmu Lucknow, Deaths Because Of Corona Virus, Lucknow Lockdown, Lockdown İn Lucknow, Lockdown, Corona Ko Harana Hai, कोरोना को हराना है, Lucknow News İn Hindi, Latest Lucknow News İn Hindi, Lucknow Hindi Samachar

Lockdown, Corona Virus

चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन खोलने की योजना बनाएं अधिकारी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन खोलने की योजना बनाएं अफसर: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ #lockdown @myogioffice

03-04-2020 12:23:00

चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन खोलने की योजना बनाएं अफसर: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ lockdown myogioffice

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 15 अप्रैल से लॉकडाउन खुलेगा। इस समय जो जहां फंसा होगा, वहां से आने का प्रयास करेगा।

शुक्रवार को लखनऊ में अपने सरकारी आवास पर अधिकारियों संग बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि हर जरूरतमंद तक समय से भोजन पहुंचाना सुनिश्चित करें। इसके लिए स्वयंसेवी संस्थाओं की भी मदद लें। संबंधित जिलों के जिलाधिकारियों से समन्वय कर आंगनबाड़ी का पौष्टिक आहार भी घर-घर तक पहुंचाएं।

शामली: एक को गिरफ्तार करने गई पुलिस ने 35 मुस्लिम घरों में तोड़फोड़ व मारपीट की एटलस साइकिल ने बंद किया आख़िरी कारखाना, हज़ार के क़रीब कर्मचारी बेरोज़गार सीएए: प्रदर्शनकारियों को दिल्ली दंगों से जुड़े मामलों में गिरफ़्तारी पर सांसदों ने उठाई आवाज़

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें दो स्तर पर तैयारी करनी होगी। मौजूदा हालात और भविष्य के मद्देनजर रणनीति तैयार करें। हर जिले में कम्युनिटी किचन चलाएं। इसमें स्वयंसेवी संस्थाओं सहित अन्य जो लोग भी मदद देना चाहें उनकी मदद लें। हर कोई भोजन बांटने न निकले इसके लिए कुछ कलेक्शन सेंटर बनाएं। वहां भोजन एकत्र हो और बंटने के लिए जाए।

भविष्य की तैयारियों के मद्देनजर एनएसएस, एनसीसी, स्काउट्स और युवक मंगल दल में से वालंटियर तैयार करें। इनको कोरोना के संक्रमण को रोकने और संक्रमण के दौरान क्या करना है, इस बाबत प्रशिक्षण दें। भोजन और जरूरी सामानों की आपूर्ति के अलावा ये संक्रमण बढ़ने पर भी हमारे लिए उपयोगी होंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के संक्रमण के दौरान एनेस्थीसिया, फिजिशियन, बच्चों और महिलाओं के डॉक्टर्स की सर्वाधिक जरूरत होती है। निजी क्षेत्र में संबंधित विशेषज्ञता के कितने डॉक्टर्स हैं उनकी सूची तैयार करें। इनको प्रशिक्षण दें ताकि जरूरत पर इनसे मदद ली जा सके। इसी तरह के प्रशिक्षण की जरूरत इनके पैरामेडिकल स्टाफ और आयुष विभाग के चिकित्सकों और उनके स्टॉफ को भी होगी। जरूरत पड़ने पर निजी चिकित्सालयों के कितने बेड और वेंटीलेटर उपलब्ध हो सकते हैं इसकी भी सूची तैयार करें।

एक हजार करोड़ का कोरोना केयर फंड तैयार करेंगेसरकार एक हजार करोड़ रुपये का कोरोना केयर फंड तैयार करेगी। इस फंड से टेस्टिंग लैब की सुविधाएं बढ़ाने के साथ इलाज में जरूरी और उपकरणों मसलन वेंटीलेटर, मास्क, सैनिटाइजर, पीपीई (पर्सनल प्रोटेक्शन इक्यूपमेंट) आदि की व्यवस्था की जाएगी।

इस फंड में सरकार तो मदद देगी ही, अन्य लोगों के अलावा कॉरपोरेट सोशल रेस्पांसिबिलिटी के तहत औद्योगिक घरानों से भी मदद ली जाएगी। प्रयास होगा कि हर मंडल और सभी 24 सरकारी मेडिकल कॉलेजों में जांच की सुविधा हो।सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग विभाग यह सुनिश्चित कराए कि जरूरी सामानों का उत्पादन प्रदेश में ही हो। इससे वे सस्ते तो होंगे ही उनकी उपलब्धता भी बढ़ेगी। खादी के कपड़े से ऐसा मास्क तैयार कराएं जिसका दोबारा उपयोग किया जा सके। इसके लिए महिलाओं के सेल्फ हेल्प ग्रुप की मदद लें। ऐसा करने से खादी का प्रचार भी होगा, स्थानीय स्तर पर महिलाओं को रोजगार मिलेगा और मास्क सस्ता होने पर लोग इसे अपनी आदत का हिस्सा बना सकेंगे।

असहयोग करने वालों से सख्ती से पेश आएंलॉकडाउन में सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने वालों को सख्त संदेश दें। इंदौर जैसी घटना उत्तर प्रदेश में कहीं भी कतई नहीं होनी चाहिए। ऐसे लोगों पर आपदा एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करें। जो भी लोग सरकार से असहयोग करें उनको थोड़ी-थोड़ी संख्या में अलग-अलग कड़ी निगरानी में रखें।

दिल्ली दंगा: अमानतुल्लाह खान बोले- ताहिर हुसैन को मिली मुसलमान होने की सजा गिद्ध कहकर केंचुआ बनाए रखने की मेहता-मंशा विस्फोटकों से भरे अनानास केरल में नई बात नहीं हैं

गाजियाबाद के अस्पताल में जिन लोगों ने अराजकता फैलाई है उन सबके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें। अगर क्वारंटाइन से कोई भागता है तो इसके लिए वहां के प्रशासन को जवाबदेह बनाएं। ऐसे केंद्र प्राइमरी स्कूलों की जगह बड़े भवनों को बनाएं। लॉकडाउन के अनुपालन में जो लोग बेहतर काम कर रहे हैं उनकी सूची बनाएं। हालात सामान्य होने पर सरकार ऐसे लोगों को सम्मानित करेगी। कालाबाजारी और जमाखोरी पर सख्ती से अंकुश लगाएं। अगर जरूरी सामान थोक बाजार से ही ऊंचे दाम पर मिल रहे हों तो उनके खिलाफ भी एक्शन लें।

इन हालातों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराना बेहद चुनौतीपूर्ण होगा। इसके लिए अभी से कार्ययोजना तैयार करें। स्कूल, कॉलेज, अलग-अलग तरह के बाजार और मॉल कब और कैसे खुलेंगे इसकी कार्ययोजना तैयार करें।विज्ञापनशुक्रवार को लखनऊ में अपने सरकारी आवास पर अधिकारियों संग बैठक में मुख्यमंत्री ने कहा कि हर जरूरतमंद तक समय से भोजन पहुंचाना सुनिश्चित करें। इसके लिए स्वयंसेवी संस्थाओं की भी मदद लें। संबंधित जिलों के जिलाधिकारियों से समन्वय कर आंगनबाड़ी का पौष्टिक आहार भी घर-घर तक पहुंचाएं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें दो स्तर पर तैयारी करनी होगी। मौजूदा हालात और भविष्य के मद्देनजर रणनीति तैयार करें। हर जिले में कम्युनिटी किचन चलाएं। इसमें स्वयंसेवी संस्थाओं सहित अन्य जो लोग भी मदद देना चाहें उनकी मदद लें। हर कोई भोजन बांटने न निकले इसके लिए कुछ कलेक्शन सेंटर बनाएं। वहां भोजन एकत्र हो और बंटने के लिए जाए।

भविष्य की तैयारियों के मद्देनजर एनएसएस, एनसीसी, स्काउट्स और युवक मंगल दल में से वालंटियर तैयार करें। इनको कोरोना के संक्रमण को रोकने और संक्रमण के दौरान क्या करना है, इस बाबत प्रशिक्षण दें। भोजन और जरूरी सामानों की आपूर्ति के अलावा ये संक्रमण बढ़ने पर भी हमारे लिए उपयोगी होंगे।

इलाज के लिए तैयार करें चिकित्सकों की सूचीमुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के संक्रमण के दौरान एनेस्थीसिया, फिजिशियन, बच्चों और महिलाओं के डॉक्टर्स की सर्वाधिक जरूरत होती है। निजी क्षेत्र में संबंधित विशेषज्ञता के कितने डॉक्टर्स हैं उनकी सूची तैयार करें। इनको प्रशिक्षण दें ताकि जरूरत पर इनसे मदद ली जा सके। इसी तरह के प्रशिक्षण की जरूरत इनके पैरामेडिकल स्टाफ और आयुष विभाग के चिकित्सकों और उनके स्टॉफ को भी होगी। जरूरत पड़ने पर निजी चिकित्सालयों के कितने बेड और वेंटीलेटर उपलब्ध हो सकते हैं इसकी भी सूची तैयार करें।

एक हजार करोड़ का कोरोना केयर फंड तैयार करेंगेसरकार एक हजार करोड़ रुपये का कोरोना केयर फंड तैयार करेगी। इस फंड से टेस्टिंग लैब की सुविधाएं बढ़ाने के साथ इलाज में जरूरी और उपकरणों मसलन वेंटीलेटर, मास्क, सैनिटाइजर, पीपीई (पर्सनल प्रोटेक्शन इक्यूपमेंट) आदि की व्यवस्था की जाएगी।

पाक की कायराना हरकत, इस्लामाबाद में भारतीय राजनयिक की कार का ISI एजेंट ने किया पीछा एम्स में नर्सों की हड़ताल, पीपीई किट से हो रहे इन्फ़ेक्शन और रेशेज़ प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज: मई महीने में करीब 14.5 करोड़ लोगों को अतिरिक्त राशन नहीं मिला

इस फंड में सरकार तो मदद देगी ही, अन्य लोगों के अलावा कॉरपोरेट सोशल रेस्पांसिबिलिटी के तहत औद्योगिक घरानों से भी मदद ली जाएगी। प्रयास होगा कि हर मंडल और सभी 24 सरकारी मेडिकल कॉलेजों में जांच की सुविधा हो।सेल्फ हेल्प ग्रुप की मदद से तैयार कराएं खादी के मास्क

सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग विभाग यह सुनिश्चित कराए कि जरूरी सामानों का उत्पादन प्रदेश में ही हो। इससे वे सस्ते तो होंगे ही उनकी उपलब्धता भी बढ़ेगी। खादी के कपड़े से ऐसा मास्क तैयार कराएं जिसका दोबारा उपयोग किया जा सके। इसके लिए महिलाओं के सेल्फ हेल्प ग्रुप की मदद लें। ऐसा करने से खादी का प्रचार भी होगा, स्थानीय स्तर पर महिलाओं को रोजगार मिलेगा और मास्क सस्ता होने पर लोग इसे अपनी आदत का हिस्सा बना सकेंगे।

असहयोग करने वालों से सख्ती से पेश आएंलॉकडाउन में सोशल डिस्टेंसिंग का उल्लंघन करने वालों को सख्त संदेश दें। इंदौर जैसी घटना उत्तर प्रदेश में कहीं भी कतई नहीं होनी चाहिए। ऐसे लोगों पर आपदा एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज करें। जो भी लोग सरकार से असहयोग करें उनको थोड़ी-थोड़ी संख्या में अलग-अलग कड़ी निगरानी में रखें।

गाजियाबाद के अस्पताल में जिन लोगों ने अराजकता फैलाई है उन सबके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करें। अगर क्वारंटाइन से कोई भागता है तो इसके लिए वहां के प्रशासन को जवाबदेह बनाएं। ऐसे केंद्र प्राइमरी स्कूलों की जगह बड़े भवनों को बनाएं। लॉकडाउन के अनुपालन में जो लोग बेहतर काम कर रहे हैं उनकी सूची बनाएं। हालात सामान्य होने पर सरकार ऐसे लोगों को सम्मानित करेगी। कालाबाजारी और जमाखोरी पर सख्ती से अंकुश लगाएं। अगर जरूरी सामान थोक बाजार से ही ऊंचे दाम पर मिल रहे हों तो उनके खिलाफ भी एक्शन लें।

विज्ञापनइलाज के लिए तैयार करें चिकित्सकों की सूची और पढो: Amar Ujala »

कोरोना और किताबेंः लॉकडाउन के बीच शब्दों की दुनिया से एक सराहनीय पहलसाहित्यकार और प्रकाशक कोरोना के दौर में क्या कर रहे हैं? 'साहित्य तक' जहां 'कोरोना और किताबें' नाम से एक शृंखला चला रहा है, जबकि दूसरे भी डिजिटल फोरमों पर लाइव का सहारा ले रहे

लॉकडाउन: रेलवे व एयरलाइंस ने शुरू की टिकट बुकिंग, 15 अप्रैल से कर सकते हैं सफरलॉकडाउन: रेलवे व एयरलाइंस ने शुरू की टिकट बुकिंग, 15 अप्रैल से कर सकते हैं सफर Corona Lockdown 21day lockdown coronavirus RailMinIndia RailMinIndia Good RailMinIndia रेलवे को और इंतजार करना चाहिए था अभी____! RailMinIndia Why? Cases are still going high and no end is visible as of now. PiyushGoyal Please wait for Corona-virus to end.

कोरोना और लॉकडाउन का असर, मार्च में GST कलेक्शन 1 लाख करोड़ से नीचेकोरोना से बचाव में माष्क के साथ हेलमेट और अच्छी क्वालिटी का रैन कोट कोरोना योद्धाओं के लिए मददगार साबित हो सकता है। राज सरकार coronaWarrior नाम करोड़ों इकट्ठा शुरू 2086PHC/560CHC/731जिला अस्पताल के नर्स+डाक्टर को N95मास्क/PPEकिट/सेनेटाइजर नहीं दिए ₹3दिन सेलरी मे₹6000 काटे फिर क्यो SMS में PPEकिट के नाम ₹150का रेंनकोट/पालीथीन दिया महामारी में सरकार बाज नहीं आ रही भ्रष्टाचार करने से

लॉकडाउन से जूट मिल मजदूर भुखमरी के कगार पर | DW | 01.04.2020पश्चिम बंगाल में कोलकाता से सटे उत्तर 24-परगना और हुगली जिले में हुगली नदी के किनारे बने जूट मिलों के लाखों कर्मचारियों ने लॉकआउट तो कई बार देखा-सुना था, लेकिन लॉकडाउन शब्द उनके लिए नया है. lockdown lockdown india coronavirus Lockdown se bhukhmari ki samasya aam ho gayi hai

लॉकडाउन- वर्क फ्रॉम होम में बढ़ गई घरेलू हिंसा, कई राज्यों से महिलाएं कर रहीं शिकायतरेखा शर्मा ने बताया कि असली आंकड़ा और अधिक होने की संभावना है, क्योंकि समाज के निचले तबके की महिलाओं की शिकायतें बहुत हैं, जो डाक के जरिए अपनी शिकायतें भेजती हैं, जो कि लॉकडाउन की वजह से नहीं पहुंच पा रही हैं. TanushreePande Wo to hona hi tha 🤪🤪🤪 TanushreePande हमेशा गैरजरूरी न्यूज़ देते हो। लगता है खुजलीवाल से पैसा नहीं मिल रहा है। aajtaksabsefake TanushreePande 'मरकज़ो' की 'जमात' रास नहीं आया क्या?

सीडब्ल्यूसी की बैठक में बोलीं सोनिया- लॉकडाउन जरूरी, लेकिन गलत तरीके से लागू हुआसीडब्ल्यूसी की बैठक में बोलीं सोनिया- लॉकडाउन जरूरी, लेकिन गलत तरीके से लागू हुआ coronavirus lockdown Congress INCIndia RahulGandhi priyankagandhi INCIndia RahulGandhi priyankagandhi Ye haramkhor itane salo se desh ko luta musibat me desh ak rupaya nikala nahi aur aur rajneet kar rahe hai INCIndia RahulGandhi priyankagandhi 🤔 INCIndia RahulGandhi priyankagandhi मीडिया वाले ये फालतू पोस्ट करना बन्द करे अभी ये सब सुनने का समय नही हे ठीक हे

राहुल ने फिर लॉकडाउन को बताया फेल, कहा- राज्यों को उनके हाल पर छोड़ रहा केंद्र कोरोना अपडेटः जॉर्ज फ़्लॉयड को कोरोना संक्रमण भी हुआ था - BBC Hindi BJP विधायक ने सोनू सूद से मांगी मदद तो अलका लांबा ने जमकर लताड़ा, कहा- देश में इन्हीं की सरकार फिर भी मदद, शर्म हो तो... जब सब कुछ रामभरोसे ही छोड़ना था, तो तालाबंदी कर अर्थव्यवस्था की रीढ़ क्यों तोड़ी...? दलित छात्रा ने ऑनलाइन क्लास नहीं कर पाने के चलते की 'आत्महत्या' पीएम केयर्स फंड पर बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर याचिका को केंद्र ने ख़ारिज करने का अनुरोध किया राहुल का ट्वीट- क्या भारतीय सीमा में नहीं घुसा कोई चीनी सैनिक? स्पष्ट करे सरकार ट्रंप ने विभाजन की आग भड़काई, अमरीका के पूर्व रक्षा मंत्री का आरोप कोरोना: बिना लॉकडाउन के तु्र्की ने कैसे क़ाबू पाया इस महामारी पर गुजरात में केमिकल प्लांट में धमाका, 5 की मौत, 57 घायल अनुष्का शर्मा ने शेयर की फोटो, पति विराट कोहली ने किया ये कमेंट