Coronavaccine, Coronaınchildrens, Coronathirdwave, Two Corona Vaccines, Moderna Vaccine, Coronavirus Cases, Covid News, Covid 19, Covid Vaccine, Covid 19 Vaccine, Covid Vaccines, İndia Covid 19 Cases, Covid 19 Cases İn İndia, Coronavirus Death Today, Covid 19 Death Today, Corona Cases Today, Corona Vaccine, कोविड टीकाकरण, World News İn Hindi, World News İn Hindi, World Hindi News

Coronavaccine, Coronaınchildrens

खुशखबर: छोटे बच्चों के लिए कोरोना के दो टीके शुरुआती परीक्षण में दिखे कारगर

कोरोना वायरस महामारी की तीसरी लहर में बच्चों के खतरा बढ़ने की चेतावनियों के बीच एक अच्छी खबर है। मॉडर्ना का कोरोना

17-06-2021 02:07:00

खुशखबर: छोटे बच्चों के लिए कोरोना के दो टीके शुरुआती परीक्षण में दिखे कारगर CoronaVaccine CoronaInChildrens CoronaThirdWave

कोरोना वायरस महामारी की तीसरी लहर में बच्चों के खतरा बढ़ने की चेतावनियों के बीच एक अच्छी खबर है। मॉडर्ना का कोरोना

अध्ययन के मुताबिक, रीसस मैकाक प्रजाति के 16 छोटे बंदरों में टीके की वजह से वायरस से लड़ने की क्षमता 22 हफ्तों तक बनी रही। अमेरिका स्थित न्यूयॉर्क-प्रेस्बिटेरियन कॉमन स्काई चिल्ड्रन हॉस्पिटल की सेली पर्मर ने कहा, कम उम्र के बच्चों के लिए सुरक्षित और प्रभावी टीके से कोरोना के प्रसार को सीमित करने में मदद मिलेगी, क्योंकि हम जानते हैं कि भले ही बच्चे सार्स-कोव-2 के संक्रमण से बीमार हों या बिना लक्षण वाले हों, वे इस वायरस का दूसरों में प्रसार कर सकते हैं।

पेगासस जासूसी केस: राहुल गांधी ने गृह मंत्री का इस्तीफा मांगा, बोले- राफेल मामले में FIR रोकने के लिए CBI डायरेक्टर को ब्लैकमेल किया गया मोदी और शाह ने जो किया वो देशद्रोह- बोले राहुल गांधी, माँगा इस्तीफ़ा - BBC Hindi Ravish Kumar Prime Time: 'कितना और कहां तक लिखें सरकार, ताकि न पड़े छापा?' IT रेड पर रवीश कुमार का तंज

उन्होंने कहा, कई बच्चे बीमार हुए और यहां तक कि संक्रमण की वजह से कई की मौत तक हो गई। अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ नार्थ कैरोलिन की प्रोफेसर क्रिस्टिना डि पेरिस के मुताबिक, मैकाक के बच्चों में भी एंटीबॉडी का स्तर व्यस्क बंदरों जैसा ही दिखाई दिया है। हालांकि व्यस्कों की 100 माइक्रोग्राम खुराक के मुकाबले बच्चों को महज 30 माइक्रोग्राम ही खुराक दी गई थी।

ये लक्षण होंगे, घबराएं नहीं डॉक्टर की सलाह मानेंएक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना संक्रमण होने पर अधिकतर बच्चों में बुखार, जुकाम या डायरिया के लक्षण जैसे पेट में दर्द, उलटी के लक्षण देखने को मिलेंगे। ऐसे मामलों में बिना घबराये डॉक्टरों की सलाह मानें तो बच्चे जल्द ही घर में ही स्वस्थ हो जाएंगे। इसमें भी 10 से कम उम्र वाले बच्चों में संक्रमण का खतरा अधिक उम्र वालों की तुलना में कम ही होगा। headtopics.com

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान बच्चों के नियमित टीकाकरण में भारी गिरावटकोरोना की दूसरी लहर के दौरान बच्चों के नियमित टीकाकरण में भारी गिरावट पर स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चिंता व्यक्त की। कोरोना वायरस महामारी के दौरान बच्चों का नियमित टीकाकरण कार्यक्रम काफी प्रभावित हुआ।

विस्तार टीका और प्रोटीन आधारित एक अन्य प्रायोगिक टीके ने शुरुआती परीक्षणों में बेहतरीन परिणाम दिखाए हैं। बंदर की एक प्रजाति रीसस मैकाक (अफ्रीकी लंगूर) के बच्चों पर किए गए शुरुआती परीक्षण में ये टीके पूरी तरह सुरक्षित और शरीर में सार्स-कोव-2 वायरस से लड़ने में कारगर एंटीबॉडी बढ़ाने में सफल रहे हैं।

विज्ञापनअध्ययन के मुताबिक, रीसस मैकाक प्रजाति के 16 छोटे बंदरों में टीके की वजह से वायरस से लड़ने की क्षमता 22 हफ्तों तक बनी रही। अमेरिका स्थित न्यूयॉर्क-प्रेस्बिटेरियन कॉमन स्काई चिल्ड्रन हॉस्पिटल की सेली पर्मर ने कहा, कम उम्र के बच्चों के लिए सुरक्षित और प्रभावी टीके से कोरोना के प्रसार को सीमित करने में मदद मिलेगी, क्योंकि हम जानते हैं कि भले ही बच्चे सार्स-कोव-2 के संक्रमण से बीमार हों या बिना लक्षण वाले हों, वे इस वायरस का दूसरों में प्रसार कर सकते हैं।

उन्होंने कहा, कई बच्चे बीमार हुए और यहां तक कि संक्रमण की वजह से कई की मौत तक हो गई। अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ नार्थ कैरोलिन की प्रोफेसर क्रिस्टिना डि पेरिस के मुताबिक, मैकाक के बच्चों में भी एंटीबॉडी का स्तर व्यस्क बंदरों जैसा ही दिखाई दिया है। हालांकि व्यस्कों की 100 माइक्रोग्राम खुराक के मुकाबले बच्चों को महज 30 माइक्रोग्राम ही खुराक दी गई थी। headtopics.com

ट्विटर इंडिया के एमडी का दावा: हमारा ट्विटर इंक से लेना-देना नहीं, यूपी पुलिस के नोटिस पर हाईकोर्ट का फैसला आज अफगानिस्तान में 100 लोगों की हत्या: तालिबान ने स्पिन बोल्डक में इसे अंजाम दिया, लेकिन जिम्मेदारी लेने से इनकार; भारतीय पत्रकार दानिश की मौत यहीं हुई थी बिना माफी सिद्धू से मिले कैप्टन: पंजाब भवन में अमरिंदर ने कई बार बुलाया तब उनके बगल में जाकर बैठे नवजोत; कांग्रेस भवन में दोनों साथ बैठे पर बात नहीं की

ये लक्षण होंगे, घबराएं नहीं डॉक्टर की सलाह मानेंएक रिपोर्ट के मुताबिक कोरोना संक्रमण होने पर अधिकतर बच्चों में बुखार, जुकाम या डायरिया के लक्षण जैसे पेट में दर्द, उलटी के लक्षण देखने को मिलेंगे। ऐसे मामलों में बिना घबराये डॉक्टरों की सलाह मानें तो बच्चे जल्द ही घर में ही स्वस्थ हो जाएंगे। इसमें भी 10 से कम उम्र वाले बच्चों में संक्रमण का खतरा अधिक उम्र वालों की तुलना में कम ही होगा।

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान बच्चों के नियमित टीकाकरण में भारी गिरावटकोरोना की दूसरी लहर के दौरान बच्चों के नियमित टीकाकरण में भारी गिरावट पर स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चिंता व्यक्त की। कोरोना वायरस महामारी के दौरान बच्चों का नियमित टीकाकरण कार्यक्रम काफी प्रभावित हुआ।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

जनसंख्या कानून पर UP में फिर सियासत तेज, विधेयक का ड्राफ्ट तैयार, देखें दंगल

पूरे देश की निगाहें अब 2022 की ओर टिकी है क्योंकि 2022 में ही देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश के सत्ता सिंहासन का फैसला होगा. जब यूपी में विधानसभा के चुनाव होंगेय मैदान मारने के लिए सियासी दलों की तैयारी अभी से शुरु हो चुकी है और इसी बीच योगी सरकार ने नई जनसंख्या नीति लाने की तैयारी करके नया मुद्दा छेड़ दिया है. लेकिन उससे पहले विधि आयोग के ड्राफ्ट से सूबे में सियासी हलचल फिर तेज हो गई है. सवाल है कि क्या यूपी में जनसंख्या नियंत्रण पर कानून बनाने का फैसला सीएम योगी आदित्यनाथ का चुनावी स्टंट. देखें वीडियो.

कोरोना महामारी की दूसरी लहर में बच्चों और युवाओं के अधिक प्रभावित होने की धारणा गलततीसरी लहर आने पर बच्चों के ज्यादा प्रभावित होने की आशंका के बीच सरकार ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि बच्चों के बीच गंभीर संक्रमण होने का संकेत देने के लिए कोई ठोस सुबूत नहीं है लेकिन फिर भी सभी आयु वर्ग के लोगों को सतर्कता की आवश्यकता।

दिल्ली में 24 घंटे में कोरोना के 212 नए मामले, संक्रमण दर 0.27 फीसदी हुईदिल्‍ली में कोरोना के नए मामलों की संख्‍या लगातार कम हो रही है. पिछले 24 घंटे में दिल्‍ली में कोरोना के 212 नए केस सामने आए हैँ. संक्रमण दर 0.27 फीसदी हुई

Coronavirus Live Updates: महाराष्ट्र में आज कोरोना के 10,107 नए मामले रिपोर्ट हुए, 237 की मौतभारत में कोरोना संक्रमण के रफ्तार पर ब्रेक लगती नजर आ रही है। बीते लगातार 9 दिनों से देश में कोरोना के नए मामले एक लाख से कम आ रहे हैं। हालांकि मौतों का आंकड़ा थोड़ा चिंताजनक बना हुआ है। झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने ब्लैक फंगस को राज्य में महामारी घोषित करने का निर्देश दिया है। हरियाणा के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने मंगलवार को कहा कि टीकाकरण पर केन्द्र सरकार द्वारा कराए गए सर्वेक्षण में गुड़गांव 24 शहरों में पहले स्थान पर रहा, जहां 49.3 प्रतिशत लाभार्थियों को टीके लगाए जा चुके हैं। दिल्ली में मंगलवार को कोरोना वायरस संक्रमण के 228 नए मामले सामने आए जबकि 12 मरीजों ने इस घातक वायरस के कारण दम तोड़ दिया। पल-पल के अपडेट्स के लिए बने रहिए हमारे साथ...

पूरे विश्‍व में कोरोना से जुड़े नए मामलों में गिरावट, डब्‍ल्‍यूएचओ ने दी जानकारीपूरी दुनिया में पहली बार कोरोना के मामलों में गिरावट देखी गई है जो हर किसी के लिए राहत की बात है। इसकी जानकारी विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने दी है। महामारी की शुरुआत के बाद पहली बार ऐसा देखा गया है।

कहीं कोरोना के थर्ड वेव की दस्तक तो नहीं: बिहार में 8 साल के बच्चे में दिखे लक्षण, राज्य में MISC से मिलता पहला संक्रमित मिला, IGIMS के डॉक्टरों ने बचाई जानबिहार में एक 8 साल के मासूम में कोरोना की तीसरी लहर के लक्षण मिले हैं। राज्य का यह पहला MISC पीड़ित है, जिसे डॉक्टरों ने मौत के मुंह से वापस लाया है। किडनी, लीवर और फेफड़ा सब खराब हो रहा था। ऑक्सीजन लेवल भी 70 से कम हो गया था। हालत लगातार गंभीर हो रही थी, लेकिन डॉक्टरों की विशेष टीम ने बच्चे की जान बचा ली। | Signs of third wave of corona in 8 year old child in Bihar, first infected with MISC found Take care, god recover him speedy. अभी दूसरी खत्म किधर हुई है जो तीसरी आयी Sir Delhi private office management kule aam unlock 3 ko ignore Kar rahe hai 50 %staff ki jagah 100%staff ke sath Co operate office wale kaam Kara rahe hai ye sab Delhi cm ke naak ke neeche ho raha place Jasola near Apollo hospital in multiple building

हरियाणा: युवक की हिरासत में मौत के आरोप में 12 पुलिसकर्मियों के ख़िलाफ़ केस दर्जपरिजनों का आरोप है कि 24 वर्षीय जुनैद को ग़लत तरीके से बीते 31 मई को फ़रीदाबाद की साइबर पुलिस ने हिरासत में लिया गया था और इस दौरान उन्हें बुरी तरह से प्रताड़ित किया गया, जिससे उनकी मौत हो गई. हालांकि पुलिस ने आरोप से इनकार करते हुए कहा है कि जुनैद की मौत किडनी संबंधी दिक्कत की वजह से हुई. मगर अफसोस सब के सब छूट जायेंगें ,गवाही नही मिलेगी .