कोरोना की दूसरी लहर में जिस दवा को लेकर हो रही थी मारामारी, इंदौर में बंद हुआ उसका उत्‍पादन

कोरोना की दूसरी लहर में जिस दवा को लेकर हो रही थी मारामारी, इंदौर में बंद हुआ उसका उत्‍पादन #CoronaVirus #COVID19 #CoronaVaccine #MadhyaPradesh

Coronavirus, Covıd 19

04-12-2021 10:50:00

कोरोना की दूसरी लहर में जिस दवा को लेकर हो रही थी मारामारी, इंदौर में बंद हुआ उसका उत्‍पादन CoronaVirus COVID19 CoronaVaccine MadhyaPradesh

कोरोना की दूसरी लहर के समय फेबिपिरावीर और पोसाकोनाजोल जैसी दवाओं को लेकर हा-हाकार मचा हुआ था। अब इन्‍हें दवाओं का उत्‍पादन इंदौर में बंद हो गया है। दवा कंपनियों को इंतजार है कि सरकार इस नए वैरिएंट को लेकर लाइन आफ ट्रीटमेंट जारी करे

कोरोना की दूसरी लहर के समय फेबिपिरावीर और पोसाकोनाजोल जैसी दवाओं की किल्‍लत से कोरोना पीड़ित और उनके स्वजन परेशान थे।अब इन्‍हीं दवाओं का उत्‍पादन शहर की दवा कंपनियों ने बंद कर दिया है। दूसरी लहर के समय ही इन दवाओं का शहर में उत्‍पादन शुरू किया गया था। लेकिन अब कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रोन दस्‍तक दे चुका है ऐसे में इन दवा कंपनियों को इंतजार है कि सरकार इस नए वैरिएंट को लेकर लाइन आफ ट्रीटमेंट जारी करे जिससे उन दवाओं का उत्‍पादन शुरू किया जा सके। जिससे मार्च-अप्रैल में जो भयावह स्थिति पैदा हुई थी वैसा दोबारा न हो सके।

कोरोना महामारी की दूसरी लहर के समय काम में आने वाली दवाओं और अन्‍य एंटी वायरल दवाओं का उत्‍पादन सीमित मात्रा में किया जा रहा है। इंदौर की दवा कंपनी मैकडब्ल्यू हेल्थकेयर के प्रमुख अभीजित मोतिवाले ने बताया कि ऐसी बहुत से दवाएं हैं जिनका उत्‍पादन और मांग बेहद सीमित होता है। फेबिपिरावीर को लेकर ऐसा ही हुआ था। इसके बाद ब्‍लैक फंगस की बीमारी में पोसकोनाजोल की मांग काफी बढ़ गई थी। दरअसल ये दवाएं कोरोना के उपचार से सीधी जुड़ी हुई थी। उस समय हिमाचन प्रदेश से फेबिपिरावीर दवा मंगायी जा रही थी लेकिन जब इसकी मांग और किल्‍लत काफी बढ़ गई तो इसे इंदौर में भी तैयार किया जाने लगा।

यह भी पढ़ेंकोरोना का नया वैरिएंट दस्‍तक दे चुका है ऐसे में ये दवा कंपनियां ऐसी किसी भी विशेष दवा का उत्‍पादन अभी नहीं कर रही हैं।दरअसल सरकार व स्‍वास्‍थ्‍य संस्‍थाओं की ओर से कोरोना के नए वैरिएंट के इलाज में काम आने वाली दवाओं का ब्‍यौरा नहीं दिया गया है। इसे लेकर लाइन आफ ट्रीटमेंट क्या होगा यह साफ नहीं है। लाइन आफ ट्रीटमेंट जारी होने के साथ ही इन दवाओं का उत्‍पादन शुरू कर दिया जाएगा। headtopics.com

कहानी उत्तर प्रदेश की: वो टीस आज भी जिंदा है... जब जीतते हार गए थे BSP नेता राजकुमार गौतम, ये बनी थी मात की वजह

और पढो: Dainik jagran »
Uttarakhand Elections : अब छिड़ेगी प्रचार की जंग, अभियान में जुटेंगे केंद्रीय नेता, अमित शाह आज रुद्रप्रयाग में Pakistan News : बलूचिस्तान प्रांत में जांच चौकी पर आतंकी हमला, 10 सैनिकों की मौत, जवाबी कार्रवाई में पकड़े गए 3 टेररिस्ट स्विट्जरलैंड में मिला चौथी सदी का रोमन ग्लैडिएटर अखाड़ा Russia Ukraine dispute: यूक्रेन पर अमेरिका ने रूस की शर्तें ठुकराईं, समझौते की उम्मीद घटीं, क्षेत्र में तनाव बढ़ा Delhi Corona Update : वैक्सीन नहीं लेने वाले जरूर पढ़ें ये खबर, कोरोना की तीसरी लहर में टीका नहीं लेने वाले हुए सबसे ज्यादा प्रभावित Omicron in India : ओमीक्रोन के नए BA.2 वैरिएंट ने बढ़ाई टेंशन, एक्सपर्ट बोले- संक्रमण तेज...हो सकता है ज्यादा खतरनाक

ई-बाइक रिपोर्टर: सपा के दबदबे वाली विधानसभा सीट करहल में क्या है स‍ियासी बयार?

उत्तर प्रदेश में चुनावी सरगर्मी के बीच ई-बाइक रिपोर्टर का कारवां जा पहुंचा है मैनपुरी के व‍िधानसभा क्षेत्र करहल में. करहल विधानसभा सीट पर 1989 से अब तक सात बार समाजवादी पार्टी के कब्जे में रही. यहीं पर है जैन इंटर कॉलेज, जहां समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो मुलायम स‍िंह यादव ने 21 साल तक पढ़ाया. इसी कॉलेज में राजनीत‍ि व‍िज्ञान पढ़ाते-पढ़ाते खुद राजनीत‍ि के ऐसे व‍िज्ञानी बन गए क‍ि सियासी गल‍ियारों से होते हुए देश के सबसे बड़े सूबे के मुख्यमंत्री बन गए. अब बारी है उनके बेटे अख‍िलेश यादव की, जो बतौर सबसे कम उम्र के मुख्यमंत्री अपना नाम दर्ज कराने के बाद पहली बार चुनाव मैदान में हैं. और इसके ल‍िए उन्होंने इसी करहल विधानसभा सीट को चुना है. क्या है करहल विधानसभा क्षेत्र के वोटर्स का रुझान, जान‍िए ई-बाइक रिपोर्टर चित्रा त्रिपाठी के साथ. और पढो >>

Omicron Alert: देश में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की एंट्री, कर्नाटक में मिले दो मामलेOmicron Alert: देश में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की एंट्री, कर्नाटक में मिले दो मामले OmicronVarient Covid19 Karnataka mansukhmandviya MoHFW_INDIA mansukhmandviya MoHFW_INDIA कर्नाटक सरकार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था बहाल करना चाहिए ताकि वायरस को तेजी से वायरल होनें से रोका जाए। इसें मज़ाक में कतई न लें , नहीं तो बहुत जल्दी विकराल रूप धारण कर लेगा. सज़ग रहे , सतर्क रहें mansukhmandviya MoHFW_INDIA

ओमिक्रॉनः भारत सरकार ने कोरोना वेरिएंट को लेकर जारी की सलाह - BBC News हिंदीस्वास्थ्य मंत्रालय ने शुक्रवार को उन प्रश्नों के जवाब दिए जो आमतौर पर ओमिक्रॉन को लेकर पूछे जा रहे हैं.

बीते एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के 9,216 नए मामले और 391 लोगों की मौतभारत में कोरोना वायरस संक्रमण के कुल मामलों की संख्या बढ़कर 3,46,15,757 हो गई है और अब तक यह महामारी 4,70,115 लोगों की मौत का कारण बन चुकी है. विश्व में संक्रमण के 26.42 करोड़ से ज़्यादा मामले दर्ज किए गए हैं और 52.34 लाख से अधिक लोगों की मौत हुई है.

सालभर मॉर्चरी के फ्रीज़र में पड़ी रहीं दो लाशें, कोरोना से हुई थी मौतकर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू से इंसानियत को झकझोरनेवाली कहानी सामने आई. यहां कोरोना से जान गंवानेवाले एक नहीं बल्कि दो-दो लाशों को साल भर से भी ज़्यादा वक़्त से अंतिम संस्कार ही नसीब नहीं हुआ. घरवाले कोरोना से मारे गए इन अपनों की मौत के बाद उनके आख़िरी दर्शन तक को तरस गए और सरकारी अफ़सरों ने उन्हें ये बता कर टरका दिया कि महामारी के इस दौर में उनकी ये मांग पूरी करना भी अब मुमकिन नहीं है. उनके अपनों की इन लाशों का अंतिम संस्कार सरकार की ओर से ही कर दिया जाएगा. लेकिन हुआ ठीक उल्टा, अंतिम संस्कार तो दूर, साल भर से ज़्यादा समय से किसी ने मॉर्चरी के फ्रीज़र में पड़ी इन लाशों को फ्रीज़र का दरवाज़ा खोल कर देखने की भी ज़रूरत नहीं समझी और अब जब इन लाशों की ओर ध्यान गया तो उनकी ओर देखना भी मुमकिन नहीं था. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो.

जयपुरः परिवार के 9 सदस्य कोरोना पॉजिटिव, कुछ हाल ही में लौटे दक्षिण अफ्रीका सेराजस्थान में कोरोना वायरस संक्रमण के 213 रोगी उपचाराधीन हैं जबकि एक नवंबर को यह संख्या शून्य थी. उपचाराधीन रोगियों में ज्यादातार 114 मामले अकेले जयपुर से हैं. दुखद

तमिलनाडु : कोरोना वैक्सीन नहीं तो होटल और मॉल्स में एंट्री नहीं, मदुरै कलेक्टर का आदेशवैक्सीन लगवाने के लिए लोगों को एक सप्ताह का समय दिया गया है. To online kharidenge तो फिर सरकार गारंटी दे की वैक्सीन लगने के बाद कोरोना नहीं होगा, ग़र होता हैं तो मोटा हर्जाना दे..! अधिकार के साथ कर्तव्य और जिम्मेदारी भी होती हैं मवालीगीरी और मदारीगीरी छोड़ दे सरकार आँखों फोड़कर आँखें फेरलेने वाली सरकार संविधान के खिलाफ जबरदस्ती से टिकाकरण का धंदा कर रहे हैं... 😡 😡 😡