Cbseboardexams 2021, Education, Cbse Board Exams 2021, Cbse Board Exams Postpone, Govt To Postpone Cbse Board Exams, Education Ministry, Central Government, Cbse İcse Exams, Cbse Board Exams 2021 Postpone

Cbseboardexams 2021, Education

कोरोना को देखते हुए क्या CBSE टालेगी परीक्षा? पसोपेश में 10वीं-12वीं के छात्र

पूरे देश में 30 लाख बच्चे परीक्षा में होंगे शामिल #cbseboardexams2021 #education

13-04-2021 15:43:00

पूरे देश में 30 लाख बच्चे परीक्षा में होंगे शामिल cbseboardexams2021 education

अब तक सीबीएसई इस बारे में कोई फैसला नहीं कर पाया है. सोमवार को मंत्रालय के साथ बैठक की लेकिन नतीजा नहीं निकला. परीक्षा रद्द करने का दबाव भी पड़ रहा है. केंद्र ने भी कहा है कि तारीखों पर फिर से विचार हो. अब दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने भी कहा है कि सीबीएसई को ताजा हालात में परीक्षा रद्द करनी चाहिए.

उन्होंने कहा कि सीबीएसई ऑनलाइन परीक्षाओं और आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर छात्रों को अगली कक्षाओं में भेजने जैसे तरीकों को खोज सकता है.केजरीवाल ने कहा, 'कई देशों ने ऐसा किया है, भारत में भी कुछ राज्य ऐसा कर रहे हैं. कुछ वैकल्पिक तरीकों पर विचार किया जा सकता है. बच्चों को ऑनलाइन परीक्षा या आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर अगली कक्षा में भेजा जा सकता है, लेकिन परीक्षाएं रद्द होनी चाहिए.'

मोदी सरकार को ऑक्सीजन की कमी से मौतों का आँकड़ा देने के लिए 10 दिन की मोहलत: प्रेस रिव्यू - BBC News हिंदी जंगल की आग, झुलसाती गर्मी और बाढ़ से डूबते शहर- दुनिया में ये क्या हो रहा है? - BBC News हिंदी मीराबाई चनू सीमा पर BSF जवानों से मिलने पहुंचीं, ओलंपिक में जीता है सिल्वर मेडल

सीबीएसई की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं चार मई से आरंभ होंगी. कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर इस परीक्षाओं को रद्द या स्थगित करने की मांग तेजी से बढ़ रही है. सीबीएसई भले ही परीक्षा को लेकर फैसला करने में दिक्कत महसूस कर रहा हो लेकिन कुछ राज्यों ने अपने स्टेट बोर्ड की परीक्षा रद्द की है या टाल दी है. इनमें महाराष्ट्र, पंजाब, छत्तीसगढ़, यूपी और दिल्ली शामिल हैं.

सीबीएसई को अभी फैसला करना है. लेकिन उधर परीक्षा की तैयारी कर रहे लाखों बच्चों से लेकर उनके पेरेंट्स बुरी तरह परेशान हैं. कोई उनकी नहीं सुन रहा, जो परीक्षा से पहले अजीब तरह की परीक्षा से जूझ रहे हैं. ये लाखों बच्चें के भविष्य से पहले जान का सवाल है.मेडिकल एक्सपर्ट रवि मलिक कहते हैं कि केसेस बढ़ते जा रहे हैं. पिछले एक महीने में 10 गुना बढ़ गए हैं. इस समय केस का आंकड़ा ऑल टाइम हाई है. कोरोना केस के मामले में फिलहाल विश्व में सबसे अधिक मामले भारत में आ रहे हैं. सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि 18 साल से छोटे बच्चों के लिए वैक्सीन हमारे देश में अभी मौजूद नहीं है. जबकि 41 प्रतिशत आबादी इनकी है. परीक्षा सेंटर पर छात्र आएंगे, अभिभावक आएंगे, टीचर आएंगे और अन्य स्टाफ भी आएंगे. ऐसे में यहां से कोरोना फैलने की संभावना बहुत ज्यादा है. headtopics.com

10वीं और 12वीं क्लास की स्ट्रेटजी अलग होनी चाहिए. क्योंकि 10वीं के बच्चे को सेम स्कूल में रहना है जबकि 12वीं पास बच्चे दूसरे देश भी पढ़ाई के लिए जा सकते हैं. एक मेडिकल एक्सपर्ट के तौर पर मैं कह सकता हूं कि हालात ठीक नहीं है. बच्चों के लिए वैक्सीन नहीं हैं. ये सुपर स्प्रेडर बन सकते हैं. सरकार मजबूत और अनुभवी पैनल के साथ फैसला ले.

एक छात्र आदित्य शंकर ने आजतक का धन्यवाद देते हुए कहा कि मेरा सवाल सरकार से है कि एक तरफ नाइट कर्फ्यू और लॉकडाउन लगाती है और दूसरी तरफ एग्जाम लेती है. अगर हम कोरोना पीड़ित होते हैं तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा?कैरियर एक्सपर्ट जुबिन मल्होत्रा कहते हैं कि दसवीं की परीक्षाएं टाली जा सकती हैं लेकिन 12वीं की परीक्षाएं नहीं टाली जा सकती. क्योंकि इसी के आधार पर उनका भविष्य टिका होता है कि वो कौन सा प्रोफेशन चुनेंगे.

ब्यूरो रिपोर्ट आजतकLive TV और पढो: आज तक »

वारदात: Dhanbad के जज की मौत के पीछे का असली सच! देखें

धनबाद में जज उत्तम आनंद की मौत के पीछे अब भी कई सवाल घूम रहे हैं. ये मौत वाकई एक हादसा था या हत्या? इस वीडियो में तस्वीर दिखा रही है कि एक शख्स सड़क के बिल्कुल बायीं ओर जॉगिंग कर रहा है. तभी अचानक पीछे से एक टेंपो आता है और जॉगिंग कर रहे शख्स को धक्का मार कर आगे बढ़ जाता है. पहली नज़र में यही गुमान होता है कि सड़क हादसे का एक मामला है. मगर इससे पहले कि आप किसी नतीजे पर पहुंचे, इसी सीसीटीवी तस्वीर की हर फ्रेम को अब गौर से देखिएगा. इसलिए कि इसी तस्वीर का जो बारीक पहलू है उसके बाद पूरा केस ही पलट जाएगा. इस केस की फॉरेंसिक जांच भी हो रही है. इस मामले में आज रांची हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लेते हुए सुनवाई की है. इस मामले को गंभीरता से लेते हुए अदालत ने झारखंड के डीजीपी और धनबाद के एसएसपी से जवाब तलब किया है. इस मामले में चीफ जस्टिस की बेंच ने डीजीपी से कहा कि अगर पुलिस जांच करने में विफल रहती है तो यह मामला सीबीआई को जा सकता है. देखें वारदात का ये एपिसोड.

cancelboardexams2021 cancelboardexams2021 liberanduo ki mudda geya pani me Cancel board exams because health should be first priority 🙏🏻 cancelboardexam2021 cancelboardexams2021

कोरोना के खतरे को देखते हुए ब्रिटिश PM बॉरिस जॉनसन ने टाला भारत दौराकोरोना के बढ़ते खतरे को देखते हुए यूनाइटेड किंगडम के प्रधानमंत्री बॉरिस जॉनसन ने अपनी भारत यात्रा रद्द कर दी है.

बिहार में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए नई पाबंदियाँ - BBC Hindiराजधानी पटना में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक में ये फ़ैसला किया गया है. Restrictions are very important to control COVID19 cases in india IndiaFightsBack मिम भीम भाई भाई जरुरत पड़े तो मिम बनेगा केंसाई

कोरोना: धर्मा कॉर्नरस्टोन एजेंसी के सीओओ राजीव मसंद हुए कोरोना संक्रमित, आईसीयू में भर्तीकोरोना: धर्मा‌ कॉर्नरस्टोन एजेंसी के सीओओ राजीव मसंद हुए कोरोना संक्रमित, आईसीयू में भर्ती RajeevMasand DharmaCornerstoneAgency Covid19 अमर उजाला तत्काल मदद अभियान चलाने की इच्छा प्रकट करे

कोरोना संक्रमित व्यक्ति की देखभाल करते हुए ख़ुद को कैसे रखें सुरक्षित?: हेलो डॉक्टर, Ep 52काढ़ा पीने से क्या वाक़ई बढ़ती है इम्यूनिटी? घर में संक्रमित व्यक्ति की देखभाल के दौरान खुद कैसे रहें सुरक्षित? सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे घरेलू नुस्खों का सच क्या है? सुनिए ‘हेलो डॉक्टर’ के इस एपिसोड में जमशेद क़मर सिद्दीक़ी और डॉ. दीपक आचार्य की बातचीत

स्वास्थ्य मंत्रालय: 14.19 करोड़ लोगों को वैक्सीन लगी, 82% कोरोना मरीज स्वस्थ हुएदेशभर में कोरोना के हालात को लेकर आज (सोमवार) को स्वास्थ्य मंत्रालय ने प्रेस वार्ता की. केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव IAS अधिकारी लव अग्रवाल ने कहा- अब तक देश में 14.19 करोड़ लोगों को वैक्सीन लग चुकी है. 82 फीसदी कोरोना मरीज ठीक हुए हैं. महाराष्ट्र, यूपी और केरल में कोरोना संक्रमण ज्यादा है. कोरोना से लड़ने के लिए चेन तोड़ना जरूरी है. लक्षण आने पर परिवार से दूरी बनाएं. मामूली लक्षणों पर होम आइसोलेशन बेहतर. देखें वीडियो.

पप्पू यादव की पत्नी की नीतीश कुमार को धमकी- मेरे पति कोरोना पॉज़िटिव हुए तो बताऊंगीरंजीत रंजन ने कहा कि जनता सब देख रही है। पप्पू यादव को मेडिकल फेसिलिटी तक नहीं मिली है। उनके बेटे सार्थक रंजन ने भी एक वीडियो पोस्ट में अपने पिता को लेकर भावुक अपील की। सरकार से पूछा कि मेरे पिता का अपराध क्या है? इतनी बेज्जती तो गुलाम के मालिक फेकू की भी नही होती जितना बैठे बैठे कुर्सी कुमार फ्री में करवा गया मोदी नीतीश मुर्दाबाद