Opinion, Columnist, Coronavirus

Opinion, Columnist

ओम गौड़ का कॉलम: कोरोना में घटते रोजगार पर पड़ी महंगाई की मार

ओम गौड़ का कॉलम: कोरोना में घटते रोजगार पर पड़ी महंगाई की मार #Opinion #Columnist #coronavirus @om_omgaur

16-06-2021 08:27:00

ओम गौड़ का कॉलम: कोरोना में घटते रोजगार पर पड़ी महंगाई की मार Opinion Columnist coronavirus om_omgaur

कोरोना की दूसरी लहर अब महंगाई के रूप में अपना विकराल रूप दिखा रही है। थोक महंगाई दर 12.94% के रिकॉर्ड स्तर पर, तो खुदरा मुद्रास्फीति 2% बढ़ गई है। महंगाई के इन आंकड़ों का आम उपभोक्ताओं पर सीधा असर पड़ेगा। पिछले 5 माह से बाजार महंगाई में बढ़ोतरी का शिकार है। | Inflation hit by decreasing employment in Corona

ओम गौड़ का कॉलम:कोरोना में घटते रोजगार पर पड़ी महंगाई की मार5 घंटे पहलेकॉपी लिंकओम गौड़, नेशनल एडिटर (सैटेलाइट), दैनिक भास्करकोरोना की दूसरी लहर अब महंगाई के रूप में अपना विकराल रूप दिखा रही है। थोक महंगाई दर 12.94% के रिकॉर्ड स्तर पर, तो खुदरा मुद्रास्फीति 2% बढ़ गई है। महंगाई के इन आंकड़ों का आम उपभोक्ताओं पर सीधा असर पड़ेगा। पिछले 5 माह से बाजार महंगाई में बढ़ोतरी का शिकार है।

राहुल गांधी की नाश्ते पर हुई बैठक ने नई शैली के नेतृत्व का दिया संकेत झांसी स्टेशन का नाम लक्ष्मीबाई पर रखना चाहती है योगी सरकार - BBC Hindi चीन के वुहान में फिर फैला कोरोना, सबका होगा टेस्ट - BBC Hindi

इस बेतहाशा वृद्धि के पीछे पेट्रोलियम पदार्थों की दरों में आया उछाल वजह माना जा रहा है। दरअसल पेट्रोल-डीजल तो जैसे केंद्र व राज्य सरकारों के हाथ से बाहर हो गए हैं। राज्य न केंद्र की सुन रहे हैं और न ही उपभोक्ताओं के दर्द को समझ रहे हैं। पेट्रोलियम पदार्थों पर केंद्र के टैक्स के अलावा राज्यों ने अपनी मर्जी से अलग टैक्स लगा रखे हैं।

हालात यह है कि पिछले 6 सप्ताह में 24वीं बार पेट्रोल-डीजल के दाम बढ़े हैं। इससे पहले ऐसा कभी नहीं देखा गया। महज बंगाल के साथ जिन राज्यों के चुनाव हुए, उस वक्त 18 दिनों तक कोई वृद्धि नहीं हुई। जैसे ही चुनाव समाप्त हुए दामों में बढ़ोतरी शुरू हो गई।आज देश में बढ़ती महंगाई आम आदमी के बीच चर्चा का विषय है, क्योंकि खाद्य तेलों में 30.4%, फल 11.96%, दालें 9.39%, पेय पदार्थ 15.10%, कपड़े व फुटवियर 5.32% और ट्रांसपोर्टेशन में 12.38% का उछाल देखा जा रहा है। वैसे तो कहने के लिए इसके पीछे पेट्रोलियम पदार्थों में वृद्धि को वजह माना जा रहा है लेकिन यही अकेली वजह नहीं है। बाजार पर सरकारों का नियंत्रण लगभग समाप्त है। बाजार में बिक रही वस्तुओं और ऑनलाइन बेचे जा रहे खाद्य पदार्थों के रेट का अंतर देखें तो यह पूरा मामला समझ में आता है। क्या वजह है कि ऑनलाइन सामान सस्ता मिल रहा है? headtopics.com

सरकारों ने अगर महंगाई के नियंत्रण का कोई फॉर्मूला नहीं निकाला तो आगे चलकर ये देश का सबसे बड़ा मुद्दा बनेगा क्योंकि काेरोना में आय का ग्राफ गिरा है और ऊपर से महंगाई की मार उपभोक्ताओं को झकझोर रही है। अर्थशास्त्रियों ने सरकार को संकेत दिए हैं कि खुदरा महंगाई दर में वृद्धि अर्थव्यवस्था को प्रभावित करेगी। महंगाई के आंकड़ों में एक बड़ा अंतर गांव और शहर के बीच भी नजर आ रहा है।

शहरों के मुकाबले गांवों में महंगाई ज्यादा है। इधर मैन्यूफैक्चरिंग से जुड़े उत्पादाें में भी 10.83% की बढ़ोतरी उद्योगों को भी प्रभावित करेगी। इस बीच बेरोजगारी दर में भी वृद्धि हुई है। महंगाई और बेरोजगारी से उबरने की दिशा में सरकारों काे पहल करनी होगी वरना यह संकट आपराधिक रूप अख्तियार करने लगेगा। देश में लूट और चोरियों की वारदातों में बढ़ोतरी की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता।

एक बार हम यह मान भी लें कि महंगाई और बेरोजगारी कोरोना की देन है। सरकार की आमदनी में कमी आई है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि सरकार अपना सारा बोझ आम आदमी पर डाले। सरकार ने अपने रूटीन के खर्चों में कहीं कोई कटौती क्यों नहीं की? सरकार को क्यों लग्जरी हवाई जहाज और सेंट्रल विस्टा जैसे प्रोजेक्ट की जरूरत है।

डेढ़ साल से जो उपभोक्ता कोरोना की मार झेल रहा है, बेरोजगार है, आखिर कब तक झेलता रहेगा। सरकारों की कोई जवाबदेही उनके प्रति है कि नहीं। संकट की इस घड़ी में नेताओं को कम से कम राजधर्म तो निभाना ही चाहिए। और पढो: Dainik Bhaskar »

खबरदार: बढ़ती जा रही है Assam-Mizoram में तनातनी, एक-दूसरे के खिलाफ एक्शन मोड में दोनों राज्य

असम और मिजोरम बॉर्डर पर 26 जुलाई को हुई हिंसक झड़प अब दोनों राज्य सरकारों के बीच नाक की लड़ाई बन चुकी है. दोनों राज्यों की पुलिस अब एक-दूसरे के खिलाफ एक्शन मोड में हैं. असम पुलिस ने शुक्रवार को मिजोरम पुलिस के अधिकारियों को समन किया तो मिजोरम पुलिस ने असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा के खिलाफ FIR दर्ज कर ली. इस मामले में हिमंता सरमा के अलावा असम पुलिस के 4 वरिष्ठ अधिकारियों और दो ब्यूरोक्रेट्स को भी आरोपी बनाया गया है. FIR में असम पुलिस के 200 अज्ञात जवानो को भी आरोपी बनाया गया है. देकें वीडियो.

om_omgaur Rajsthan state open board ke bacho ke bare me bhi sochlo koi 🙏 ya is bar bhi hamara 1 saal kharab karke manoge ashokgehlot51 GovindDotasra shiksha_vibhag1 rbseboard RbseAjmer om_omgaur बेईमान जुमला पार्टी और रेप सर्विस संस्था किसान और देश कि दुश्मन BJP_RSS_AgainstFarmers

6 महीने में सबसे ज्यादा महंगाई: मई में रिटेल महंगाई दर बढ़कर 6.3% पर पहुंची, महीनेभर में खाने वाले तेल के दाम भी करीब 31% बढ़ेपेट्रोल-डीजल और खानपान वाले आइटम महंगे होने से देश में रिटेल महंगाई 6 महीने के सबसे ऊपरी स्तर पर पहुंच गई है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कंज्यूमर प्राइस इंडेक्स (CPI) आधारित रिटेल महंगाई दर मई में रिटेल महंगाई 6.3% रही। यह अप्रैल में 4.23% पर थी। | Retail Inflation May 2021 India Update; Retail Inflation Rises To Six-month High Of 6.3 Per Cent\t\r\nमहंगाई 6 महीने के सबसे ऊंचे स्तर पर\r\nमई में रिटेल महंगाई दर बढ़कर 6.3% पर पहुंची, यह RBI के दायरे से भी ऊपर निकली अंध भक्कक नही मानेंगे RBI UrjitPatelRbi RaghuramRRajan : DasShaktikanta would still say it's benign :) ...middle class is suffering like anything पहला लॉकडाउन के समस गरीबों का सेयाबीन रिफाइन तेत सौ रुपये का निचे था वही अब डेढ़ सौ के उपर चल रहा है। सरकार का जमिनि नेटवर्क लगता है विरोधीयों के हाथ लग गया है। लगता है अब सरकार का जाने का समय आ गया है।

दिल्ली: आप सांसद संजय सिंह ने लगाया घर पर हमले का आरोप, नेमप्लेट पर पोती कालिखआम आदमी पार्टी से राज्यसभा सांसद संजय सिंह के घर पर मंगलवार दिन में हमला हुआ। इसकी जानकारी उन्होंने खुद ट्वीट कर दी। SanjayAzadSln संजय सिंह तुझे कूटने भाजपा के लोग नही आये थे बल्कि खुद राम भक्त हनुमानजी ने वानर सेना भेजी थी क्योंकि तूने राम मंदिर निर्माण कार्य में बाधा ला कर राक्षसों जैसा काम जो किया। SanjayAzadSln पाखण्डी लोग को सच्चाई हजम नहीं हो रही है। SanjayAzadSln इसके नेम प्लेट पर नही इसके चेहरे पर काली पेंट पोतनी चाहिए थी। भौकने वाला केजरी का पालतू कुत्ता।

राहुल गांधी के केंद्र सरकार पर निशाना, कहा- सरकार में खोखले नारों का मंत्रालय सबसे कुशलराहुल गांधी ने सरकार की आलोचना करते हुए आरोप लगाया कि उसका झूठ और खोखले नारों का गोपनीय मंत्रालय सबसे कुशल है। राहुल भाजपा सरकार की आलोचना करते रहे हैं। उनका आरोप है कि सरकार सिर्फ बयानबाजी करती रहती है। save_Guest_Teacher_For_MP अतिथि_शिक्षक_मध्यप्रदेश_नियमितीकरण अतिथिशिक्षकमध्यप्रदेशनियमितिकरण मोदी जी, कृपया इस मंत्रालय का जिम्मा इन्हे ही सौप दिया जाएँ - वर्क फ्रम होम करके संभाल सकते हैं अच्छी तरह हम गरीबी मिटाएंगे क्यो राहुल जी😛😛😛

विचारधारा पर परिवार को प्राथमिकता के कारण शुरू हुआ राजनीति में नैतिक पतन का दौरजवाहरलाल नेहरू के बाद इंदिरा गांधी का प्रधानमंत्री के पद पर बैठना वह निर्णायक मोड़ है जहां से भारतीय राजनीति में तमाम बुराइयों के पनपने की शुरुआत होती है। इंदिरा गांधी ने एक-एक कर ऐसे काम किए जिनकी वजह से लोकतांत्रिक संस्थाओं का क्षय शुरू हुआ। brij756 INCIndia BJP4India कुछ लोग जन्मतः गुलाम होते हैं - अपने दो कौड़ी से भी कम कीमत के मालिक को बेवजह चने के पेड़ पर चढ़ते रहते हैं !! brij756 INCIndia BJP4India 👇🏻👇🏻 👇🏻👇🏻😃 brij756 INCIndia BJP4India बकवास

गुजरात: केजरीवाल का एलान, 2022 में सभी विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी आपअगले साल गुजरात में होने वाले विधानसभा चुनावों को लेकर सियासी दलों के नेताओं का दौरा शुरू हो गया है। इसी कड़ी में आम ArvindKejriwal BJP4India नक्सली है आम आदमी दंगा पार्टी ArvindKejriwal BJP4India गुजरात जनता से अनुरोध है कि फर्जी आरोप लगाकर सत्ता की सीढ़ियां चढ़ने वाली आम आदमी पार्टी का जूतों से स्वागत किया जाए.... ArvindKejriwal BJP4India गुजरात में क्या क्या फ्री होगा?

गुजरात चुनाव में सभी सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी आप, अरविंद केजरीवाल का ऐलानआम आदमी पार्टी ने गुजरात के स्थानीय निकाय चुनावों में बेहतर प्रदर्शन किया था. सूरत नगर निगम में तो आप विपक्षी दल की भूमिका में है. इस चुनाव में आप ने 27 सीटें जीती थीं. गुजरात में दिसंबर 2022 में विधान सभा चुनाव होने वाले हैं. Best of luck. Only hope in blank opposition. कोंग्रेस के वोट काटेगा केजरीवाल भाजपा को कोई खतरा नहीं है वोट कांग्रेस का काटकर भाजपा को जीताने का योजना,