Australia, Australiavotes, Australiavotes 2019, Australianelection, Election, Australia General Election, ऑस्ट्रेलिया आम चुनाव, Voting İn Australia, Environment, Economy, World News İn Hindi, World Hindi News

Australia, Australiavotes

ऑस्ट्रेलिया में आम चुनाव के लिए मतदान संपन्न, पर्यावरण और अर्थव्यवस्था रहे अहम मुद्दे

दुनिया में एक तरफ भारत में लोकसभा के चुनाव अंतिम चरण में हैं वहीं ऑस्ट्रेलिया में भी आम चुनाव के लिए शनिवार को मतदान

18.5.2019

ऑस्ट्रेलिया में आम चुनाव के लिए मतदान संपन्न, पर्यावरण और अर्थव्यवस्था रहे अहम मुद्दे australia australia votes australia votes2019 Australia n Election Election

दुनिया में एक तरफ भारत में लोकसभा के चुनाव अंतिम चरण में हैं वहीं ऑस्ट्रेलिया में भी आम चुनाव के लिए शनिवार को मतदान

हुआ। यहां चुनावी मुद्दा भ्रष्टाचार या जातिगत ध्रुवीकरण नहीं बल्कि जलवायु परिवर्तन और अर्थव्यवस्था है जिसे मतदाता किसी भी सूरत में सुधारना चाहते हैं। चुनावी मुद्दों में रहन-सहन का स्तर और स्वास्थ्य सेवाएं भी शामिल हैं। पिछले एक दशक में सियासी मतभेदों के चलते अस्थिर माहौल के चलते इस बार ऑस्ट्रेलिया के चुनाव बेहद अहम माने जा रहे हैं। चुनावी नतीजे शनिवार देर रात या रविवार तड़के तक आ जाने की उम्मीद है। देश में हर तीन साल में होने वाले आम चुनाव में 2007 के बाद से कोई भी प्रधानमंत्री अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाया है। इस बार देश में लंबे समय तक पीएम रहे बॉब हॉक के निधन के सिर्फ दो दिनों बाद मतदान हुए। इसमें रिकॉर्ड 1.64 करोड़ मतदाताओं ने मत डाला। चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों में विपक्षी मध्य-वाम लेबर पार्टी जीत की ओर बढ़ती बताई गई है। प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार बिल शॉर्टन ने मेलबोर्न में मतदान के बाद बहुमत की सरकार बनने की उम्मीद जताई है। वह बढ़त हासिल करते दिख रहे हैं जबकि कुछ सप्ताह पूर्व पीएम स्कॉट मोरिसन की कंजर्वेटिव लिबरल्स पार्टी हार की तरफ बढ़ रही है। ऑस्ट्रेलिया का चुनाव भारत के चुनावों से बहुत हद तक अलग है। ऑस्ट्रेलिया में 1924 से ही मतदान अनिवार्य है और अगर किसी पंजीकृत योग्य मतदाता ने अपना वोट नहीं डाला तो उस पर भारतीय मुद्रा के अनुसार, करीब 1000 रुपये का जुर्माना लगाया जाता है। इसीलिए मतदान 90 फीसदी से अधिक ही रहता है। ऑस्ट्रेलिया में चुनाव को खास तवज्जो मिलती है। मतदाताओं की सुविधाएं अहम होती हैं। मतदान केंद्रों पर न सिर्फ वोटरों के लिए खास इंतजाम किए जाते हैं बल्कि शिकायत मिलने पर अधिकारी पर त्वरित कार्रवाई भी होती है। ऐसे मतदाताओं के लिए भी अलग व्यवस्था होती है जो बूथ तक पहुंचने में असमर्थ होते हैं। खास बातें देर रात घोषित होंगे चुनाव परिणाम, मध्य-वाम लेबर पार्टी बढ़त में अर्थव्यवस्था, रहन-सहन का स्तर व स्वास्थ्य सेवाएं भी रहे अहम मुद्दे 2007 के बाद से कोई भी प्रधानमंत्री कार्यकाल पूरा नहीं कर पाया है मतदान अनिवार्य होने से 95 साल में कभी 91% से कम वोटिंग नहीं हुआ। यहां चुनावी मुद्दा भ्रष्टाचार या जातिगत ध्रुवीकरण नहीं बल्कि जलवायु परिवर्तन और अर्थव्यवस्था है जिसे मतदाता किसी भी सूरत में सुधारना चाहते हैं। विज्ञापन चुनावी मुद्दों में रहन-सहन का स्तर और स्वास्थ्य सेवाएं भी शामिल हैं। पिछले एक दशक में सियासी मतभेदों के चलते अस्थिर माहौल के चलते इस बार ऑस्ट्रेलिया के चुनाव बेहद अहम माने जा रहे हैं। चुनावी नतीजे शनिवार देर रात या रविवार तड़के तक आ जाने की उम्मीद है। देश में हर तीन साल में होने वाले आम चुनाव में 2007 के बाद से कोई भी प्रधानमंत्री अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर पाया है। इस बार देश में लंबे समय तक पीएम रहे बॉब हॉक के निधन के सिर्फ दो दिनों बाद मतदान हुए। इसमें रिकॉर्ड 1.64 करोड़ मतदाताओं ने मत डाला। चुनाव पूर्व सर्वेक्षणों में विपक्षी मध्य-वाम लेबर पार्टी जीत की ओर बढ़ती बताई गई है। प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार बिल शॉर्टन ने मेलबोर्न में मतदान के बाद बहुमत की सरकार बनने की उम्मीद जताई है। वह बढ़त हासिल करते दिख रहे हैं जबकि कुछ सप्ताह पूर्व पीएम स्कॉट मोरिसन की कंजर्वेटिव लिबरल्स पार्टी हार की तरफ बढ़ रही है। मतदान करना अनिवार्य है अन्यथा जुर्माना ऑस्ट्रेलिया का चुनाव भारत के चुनावों से बहुत हद तक अलग है। ऑस्ट्रेलिया में 1924 से ही मतदान अनिवार्य है और अगर किसी पंजीकृत योग्य मतदाता ने अपना वोट नहीं डाला तो उस पर भारतीय मुद्रा के अनुसार, करीब 1000 रुपये का जुर्माना लगाया जाता है। इसीलिए मतदान 90 फीसदी से अधिक ही रहता है। बूथों पर मतदाताओं का विशेष ख्याल ऑस्ट्रेलिया में चुनाव को खास तवज्जो मिलती है। मतदाताओं की सुविधाएं अहम होती हैं। मतदान केंद्रों पर न सिर्फ वोटरों के लिए खास इंतजाम किए जाते हैं बल्कि शिकायत मिलने पर अधिकारी पर त्वरित कार्रवाई भी होती है। ऐसे मतदाताओं के लिए भी अलग व्यवस्था होती है जो बूथ तक पहुंचने में असमर्थ होते हैं। विज्ञापन और पढो: Amar Ujala

राष्ट्रपति मैक्रों ने विदेशी इमामों के फ्रांस आने पर लगाया बैन, कहा- ये कट्टरपंथ फैलाते हैं



वारिस पठान का भड़काऊ बयान, कहा- हम 15 करोड़ 'मुस्लिम' 100 करोड़ लोगों पर भारी

अमित शाह ने किया अरुणाचल का दौरा, चीन ने उठाई आपत्ति, भारत ने दिया ये बड़ा जवाब



शाहीन बाग: हंगामे पर भड़कीं वार्ताकार साधना रामचंद्रन, प्रदर्शनकारियों को दी सख्त चेतावनी

ट्रंप की सुरक्षा में 36 करोड़ होंगे ख़र्च, 10 हज़ार पुलिसकर्मी होंगे तैनात



ट्रंप के लिए यमुना में छोड़ा गया पानी ताकि साफ़ दिखे

शाहीन बाग फिर पहुंचे मध्यस्थ, कहा- तकलीफें दूर करने के लिए मिलकर रास्ता निकालें



Jeet bhee Gaya ..

राजतिलक: छठे चरण के मतदान में पश्चिम बंगाल आगे, पिछड़ा उत्तर प्रदेश West Bengal registers massive voter turnout in sixth phase - Rajtilak AajTakलोकसभा चुनाव 2019 के छठे चरण में दिल्ली सहित 7 राज्यों की 59 लोकसभा सीटों पर आज मतदान पूरा हो गया है. इसमें केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह, हर्षवर्धन और मेनका गांधी, सपा प्रमुख अखिलेश यादव और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया की किस्मत का फैसला होगा. छठे चरण में उत्तर प्रदेश की 14, हरियाणा की 10, बिहार और मध्य प्रदेश की 8-8, दिल्ली की सात और झारखंड की चार सीटों पर वोटिंग के बाद उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला ईवीएम में कैद हो चुका है. चुनाव आयोग के मुताबिक लोकसभा चुनाव के छठे चरण में 63.04 प्रतिशत मतदान दर्ज किया गया. आयोग के रात 8.50 बजे तक आए आंकड़ों के अनुसार बिहार में 59.29, हरियाणा में 66.69, मध्य प्रदेश में 64.22, उत्तर प्रदेश में 54.29, पश्चिम बंगाल में 80.35, झारखंड में 64.50 और दिल्ली में 58.93 फीसदी मतदान दर्ज किया गया है.चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़ लेटर gauravbh anjanaomkashyap पिछले 24 घंटे में बंगाल में- हिंदू लड़कियों की साड़ियां खीची गई। हिंदुओं की गाड़ियों व घरों में घुस के तोड़फोड़ की गई। 3 हिंदुओं को जिहादियों ने मार डाला, 1का हाथ काट दिया - ABP गायब - aajtak गायब - बिंदी_गैंग गायब - अवार्ड_वापसी गायब - बालीवुड योद्धा गायब MeraVoteModiKo gauravbh anjanaomkashyap Congrats MI to win the VIVO IPL 2019 TROPHY gauravbh anjanaomkashyap Rahul rahul Didi didi

बीच चुनाव में राहुल ने बदले गेम के नियम, क्या चुनाव में मिलेगा फायदा?लोकसभा चुनाव 2019 आखिरी दौर में है, लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जिस तरह बीच चुनाव में ही अपने कैलेवर को बदला है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर सीधे और नीजि हमले करने के बजाय राहुल गांधी उनके दिल में प्यार जगाने की बात कर रहे हैं. राहुल के इस बदले हुए अंदाज का कांग्रेस को क्या राजनीतिक फायदा मिलेगा? तू नंगा ही तो आया था क्या घंटा लेकर जाएगा राहुल बाबा तेरा टाइम कभी नही आएगा Congress ka hath mahngai sath..... mahngai non stop Congress नियत साफ नहीं है वरना पैतरे बदलने की नौबत ही क्यों आती आदत से मजबूर वही नारे इसका प्रमाण

लोकसभा चुनाव 2019 : क्या तस्वीर हुई साफ? छठे चरण के मतदान की 11 बड़ी बातेंलोकसभा चुनाव के छठे चरण में रविवार को पश्चिम बंगाल में भाजपा उम्मीदवार भारती घोष पर हमला किया गया और उत्तरप्रदेश में भगवा दल के एक विधायक ने एक चुनाव अधिकारी की कथित तौर पर पिटाई की. इस चरण में राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली और छह राज्यों की 59 सीटों पर 63 फीसदी से अधिक वोट पड़े. इस चरण में उत्तरप्रदेश में 14 सीटों, हरियाणा की दस सीटों, बिहार, मध्यप्रदेश और पश्चिम बंगाल में आठ - आठ सीटों, झारखंड में चार सीटों और दिल्ली में सात सीटों पर वोट डाले गए. दिल्ली में वोट डालने वाली प्रमुख हस्तियों में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, संप्रग अध्यक्ष सोनिया गांधी, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज शामिल हैं. आज के मतदान के साथ ही 543 लोकसभा क्षेत्रों में से करीब 89 फीसदी सीटों पर चुनाव संपन्न हो गए जबकि शेष 59 सीटों पर 19 मई को चुनाव होंगे. चुनाव आयोग ने विभिन्न राज्यों और दिल्ली में 63.48 फीसदी मतदान की घोषणा की, वहीं पश्चिम बंगाल में 80 फीसदी से अधिक वोट पड़े जबकि राष्ट्रीय राजधानी में महज 60.21 फीसदी मतदान हुआ. 2014 में यह 63.37 प्रतिशत था. चुनाव आयोग ने कहा कि मतदान प्रतिशत रात नौ बजे दर्ज किया गया. यह आंकड़ा अंतिम नहीं है और इसमें वृद्धि हो सकती है क्योंकि कुछ स्थानों पर मतदान चल रहा है. खास बात यह है कि अब सिर्फ अंतिम चरण का चुनाव ही बचा है लेकिन अभी तक कोई भी दावे से नहीं कह सकता है कि केंद्र में किसकी सरकार बनने वाली है. हालांकि नेताओं को अपने-अपने दावे जरूर हैं. चुनाव की स्थिति स्पष्ट है बोया पेड़ बाबुल का तो आम कहां से खाए जो जग दी आपने वही तो जग लौट आई

लोकसभा चुनाव 2019: पंजाब में दहशतगर्दी के फिराक में जैश-ए-मोहम्मद, राज्य में हाई अलर्टवैश्विक आतंकी घोषित अजहर मसूद पंजाब में लोकसभा चुनाव में गड़बड़ी करने की फिराक में है। MasoodAzhar masoodazharterrorist LokSabha LokSabha Election s2019 जिस मसूद की औकात भारत में एक मच्छर मारने की नही रह गयी है उसका डर दिखा रहे हो , क्या बेवकूफी है 🤔 किसी पार्टी का वोट बैंक बनाने के लिए फर्जी खबर, वाह रे पत्रकारिता जरा ये बताओ सनी देओल उर्फ हैंडपम्प वाले क्या कर रहे हैं 😂

NEWS FLASH: कश्मीर से कन्याकुमारी, कच्छ से कामरूप तक, सारा देश कह रहा है - अब की बार 300 पार : PMपश्चिम बंगाल में लोकसभा की उन नौ सीटों के लिए बृहस्पतिवार को रात 10 बजे प्रचार समाप्त हो गया जहां अंतिम चरण में चुनाव होने हैं. देश में यह पहली बार हो रहा है जब तय समय से 20 घंटे पहले चुनाव प्रचार खत्म कर दिया गया हो और ऐसा चुनाव आयोग के आदेश के मुताबिक हुआ है. इसके अलावा प. बंगाल के आईपीएस अधिकारी राजीव कुमार को गिरफ्तारी से संरक्षण हटाने के फैसले पर SC में सुनवाई आज होगी. तो दूसरी तरफ बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह आज दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे. इसके अलावा 3 तलाक पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बावजूद मामले सामने आ रहे जिन पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई होनी है. तो वहीं दिल्ली में इंडिया हैबिटेट सेंटर के 14वें हैबिटैट फिल्म फेस्टिवल संस्करण के सिनेमाई सफर अश्विन कुमार की हाल ही में रिलीज फिल्म नो फादर इन कश्मीर से आज से शुरू होगा. इस फिल्म फेस्टिवल में 19 भारतीय भाषाओं की 42 फीचर फिल्में प्रस्तुत होंगी, जिनमें डॉक्युमेंट्री, शॉर्ट्स और स्टूडेंट फिल्में शामिल हैं. देश-दुनिया की राजनीति, खेल एवं मनोरंजन जगत से जुड़े समाचार इसी एक पेज पर जानें... निश्चितता के बादल मंडरा रहे हैं 1987 में डिजिटल कैमरा,ई मेल अटैचमेंटजनता इतनी भी बेवकुफ नही है कि ऐसे झूठे को दुबारा वोट दे । Humne to nahi bola

खबरदार: चुनाव आयोग पर बरसीं ममता बनर्जी EC's decision is influenced by 'Modi-Shah', says Mamata - khabardar AajTakकोलकाता में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के रोड शो में हुए बवाल के बाद बंगाल की वायलेंट पॉलिटिक्स पर चुनाव आयोग को आखिरकार साइलेंसर फिट करने पर मजबूर होना पड़ा क्योंकि जिस तरह से पश्चिम बंगाल में मार-धाड़ वाली राजनीति चल रही है और नेता मानने को तैयार नहीं है उसमें चुनाव आयोग को आखिरकार ये फैसला करना पड़ा कि चुनाव प्रचार बंगाल में एक दिन पहले ही खत्म हो जाएगा. जो चुनाव प्रचार परसों यानी 17 मई की शाम पांच बजे खत्म होना था वो अब कल यानी 16 मई को रात 10 बजे ही खत्म हो जाएगा. इसके बाद किसी तरह के सार्वजनिक प्रचार की अनुमति नहीं है. बंगाल के हालात को देखकर ये चुनाव आयोग का सबसे बड़ा एक्शन है जिसके बारे में पहले कभी नहीं सुना गया कि कहीं पर इस तरह के हालात बन जाए. लेकिन चुनाव आयोग के इस फैसले के बीच सबसे बड़ा झटका पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को लगा है क्योंकि उनके कुछ बड़े अफसरों पर चुनाव आयोग ने एक्शन लिया है. sardanarohit 👋👋👋👋👋👋👋👋👋👋👋👋👋👋👋👋👋👋👋 kutta kamina sardanarohit आयेगा तो मोदी ही 🤓🤓 sardanarohit मोदी अमित शाह या बोलेंगे चुनाब आयोग ओहि सुनेगा। मोदी अमित शाह या बोलेंगे ओहि सुनेगा आजतक।

खबरदार: छठे चरण के मतदान में दिग्गजों की अग्निपरीक्षा Khabardar: Big leaders will be tested in 6th phase of voting - khabardar AajTakकल लोकसभा चुनाव 2019 के छठे चरण के लिये 7 राज्यों की 59 सीटों पर मतदान होना है. उत्तर प्रदेश की 14 सीटों पर, बिहार की 8 सीटों पर, मध्यप्रदेश की 8 सीट, पश्चिम बंगाल में 8 सीट, झारखंड की 4 सीट, दिल्ली की सभी 7 सीट और हरियाणा की सभी 10 सीटों पर छठे चरण का मतदान होना है. कल के चुनाव में बड़े-बड़े नेताओं की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है. एक तरफ आजमगढ़ में अखिलेश यादव और भोजपुरी सुपरस्टार निरहुआ आमने सामने हैं तो वहीं, भोपाल में मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह से दो-दो हाथ करेंगी आतंकवाद के आरोपों में घिरी बीजेपी की साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर, तो वहीं उत्तर-पूर्वी दिल्ली में मनोज तिवारी और शीला दीक्षित में सीधी टक्कर है. किन दिग्गजों की कल के मतदान में है अग्निपरीक्षा, इसी पर होगा आज विश्लेषण.चुनाव की हर ख़बर मिलेगी सीधे आपके इनबॉक्स में. आम चुनाव की ताज़ा खबरों से अपडेट रहने के लिए सब्सक्राइब करें आजतक का इलेक्शन स्पेशल न्यूज़ लेटर chitraaum मीडिया का आलम ये है कि 30 साल पहले राजीव गांधी छुट्टी मनाने गए थे या नहीं, ये पता करने में लगी है। जज लोया को किसने मारा? काला धन क्यों नही आया? 4 जजो ने लाइव कॉन्फ्रेंस क्यो की? मोदी इतना झूठ क्यो बोलते हैं ? इन सब पर मीडिया चुप है। chitraaum ये चुनाव कुछ खास है तभी तो इतना उथल पुथल हो गया इसके पहले किसी चुनाव में नहीं हुआ chitraaum भोपाल से प्रज्ञा ठाकुर जी जीत रही हैं

वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर होने के बावजूद भारत में क्यों नहीं बना चुनावी मुद्दा?वायु और जल प्रदूषण सबसे बड़ी समस्या बनते जा रहे हैं, लेकिन फिर भी इनको चुनावी मुद्दा नहीं बनाया जा रहा है. हर साल प्रदूषण के चलते कई लोगों की जान तक चली जाती है, लेकिन यह अब भी चुनावी एजेंडे से गायब रहता है. आखिर इसकी वजह क्या है, जिसके चलते राजनीतिक दल प्रदूषण को चुनावी मुद्दा नहीं बनाते हैं? पढ़िए पूरी खबर... siddharatha05 Credit goes to media house. siddharatha05 भारत की राजनीति ही प्रदूषित है तो प्रदूषण को कैसे मुद्दा बनाएगी siddharatha05 Kyoki yaha Sab Pakistan jese tucche Desh se Dara ke vote mang rahe hai 🤣🤣🤣

लोकसभा चुनाव 2019 : 'राजा' के समर्थक के नाम पर संदेह के दायरे में 'महाराजा' के मंत्री– News18 हिंदीग्वालियर में पिछले लोकसभा चुनाव के मुकाबले 8 फीसदी ज़्यादा वोटिंग होने के बावजूद कांग्रेस के मंत्री और विधाय़क सवालों के घेरे में हैं. लोकसभा चुनाव में 60 फीसदी मतदान हुआ जो 2014 को मुक़ाबले 8 फीसदी ज़्यादा है. लेकिन मंत्री और विधायकों के इलाकों में 2018 के विधानसभा चुनाव के मुकाबले 14 फीसदी तक कम वोटिंग हुई है. आरोप लग रहे हैं कि सिंधिया खेमे के मंत्रियों और विधायकों ने दिग्विजय खेमे के कांग्रेस प्रत्याशी अशोक सिंह के लिए काम नहीं किया. अगर यहां कांग्रेस को नाकामी मिलती है तो ये मामला तूल पकड़ेगा. अब मीडिया फर्जी गांधी राहुल को हार के इल्जाम से बचाने के लिए षड्यंत्र रच रही Both of you face defeat in this election because you are great sycophants of pappu Khan and pappi Khan Badra .

चुनाव में आयोग में 'दरार' पर सामने आए मुख्य चुनाव आयुक्तचुनाव आयुक्त अशोक लवासा ने प्रधानमंत्री मोदी को आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन में क्लीन चिट दिए जाने पर असहमति जताई थी. Chor hai अशोक लवासा चुनाव आयुक्त का कहना गलत नही कि आयोग की बैठकों में असहमति भी लिखित में दर्ज होना चाहिए।मुख्य चुनाव आयुक्त को करना चाहिए। मोदी,शाह के कारण सभी संबैधानिक संस्थाओं की गरिमा गिरी है। Yeh election commissioner bilmul nahi yeh modi commissioners hai kyunki jitna bhi modi election mein bola galat tha election commissioner bhi janta tha lekin usey jaan bhug kar clean chit aise de raha ho jaise modi ne crore rupey se mooh bhar diya ho

दंगल: लोकतंत्र का नाम, बंगाल में 'मनमाना' काम Is Election Commission working on the behest of Modi-shah? - Dangal AajTakवैसे तो 7वें चरण में 59 सीटों पर देश के कई राज्यों में चुनाव है, लेकिन लगता है कि बंगाल की 9 सीटों का चुनाव ही सबसे बड़ा संग्राम है. अमित शाह के रोड शो में हुई हिंसा के बाद कल चुनाव आयोग ने इस तरह के अपने पहले फैसले में चुनाव प्रचार को तय समय से 20 घंटे पहले रोक दिया. इस फैसले के बाद जहां ममता बनर्जी साफ कह रही हैं कि चुनाव आयोग मोदी और शाह के इशारे पर काम कर रहा है तो दूसरी ओर बीजेपी भी ममता बनर्जी पर हमलावर है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ममता बनर्जी पर लोकतंत्र को खतरे में डालने का आरोप लगाया है तो ममता कह रही हैं कि जरूरत पड़ी तो मोदी को जेल में डालेंगे. इसीलिए आज हमारा सवाल है कि क्या जो मोदी मन भाए वही चुनाव आयोग फरमाए? sardanarohit रोहित जी मुझसे इतनी नाराजगी ठीक नही है। sardanarohit Didi abhi tak Jo khel khel rhi thi, wo 23 ko khtam ho Jayga. sardanarohit Bangal me reporting karane se aapaki bhi fatati hai .... Apane jameer ko bech kar kha gye hai aap..sab



नागरिकता संशोधन क़ानून के ख़िलाफ़ चेन्नई में बड़ा प्रदर्शन

हम 15 करोड़ मुस्लिम 100 करोड़ के ऊपर भारी हैं: AIMIM नेता का भड़काऊ बयान

UP पहुंचे शरद पवार ने पूछा- मंदिर के लिए ट्रस्ट तो मस्जिद के लिए क्यों नहीं?

चेन्नई में CAA के खिलाफ प्रदर्शन: पुलिस की मंजूरी के बिना हजारों की संख्या में मुस्लिम सड़क पर उतरे

धार्मिक नेता बोले- पीरियड्स में पति के लिए खाना बनाया तो अगले जन्म में 'कुत्ता' बनेंगी महिलाएं, खाने वाले बनेंगे बैल

पूर्व PM मनमोहन सिंह का निशाना- 'मंदी' शब्द मान ही नहीं रही मोदी सरकार, अगर समस्याओं की पहचान नहीं हुई तो...

DCW अध्यक्ष स्वाति मालीवाल का पति नवीन जयहिंद से तलाक, ट्वीट कर बोलीं- बहुत दर्दभरा एहसास

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

18 मई 2019, शनिवार समाचार

पिछली खबर

अगली खबर

जानिए कौन हैं ईश्वर चंद्र विद्यासागर जिनको लेकर पश्चिम बंगाल में मचा है बवाल
राष्ट्रपति मैक्रों ने विदेशी इमामों के फ्रांस आने पर लगाया बैन, कहा- ये कट्टरपंथ फैलाते हैं वारिस पठान का भड़काऊ बयान, कहा- हम 15 करोड़ 'मुस्लिम' 100 करोड़ लोगों पर भारी अमित शाह ने किया अरुणाचल का दौरा, चीन ने उठाई आपत्ति, भारत ने दिया ये बड़ा जवाब शाहीन बाग: हंगामे पर भड़कीं वार्ताकार साधना रामचंद्रन, प्रदर्शनकारियों को दी सख्त चेतावनी ट्रंप की सुरक्षा में 36 करोड़ होंगे ख़र्च, 10 हज़ार पुलिसकर्मी होंगे तैनात ट्रंप के लिए यमुना में छोड़ा गया पानी ताकि साफ़ दिखे शाहीन बाग फिर पहुंचे मध्यस्थ, कहा- तकलीफें दूर करने के लिए मिलकर रास्ता निकालें वो युद्ध जो संतरों से लड़ा जाता है कश्‍मीर में आतंकवाद कैसे हुआ कम? आर्मी चीफ जनरल एमएम नरवणे ने बताई बड़ी वजह सिंधिया से समर्थकों की अपील- पिता की तर्ज पर कांग्रेस से अलग बनाएं नई पार्टी दिल्ली: AAP विधायक की मांग- राम मंदिर परिसर में बने हनुमान जी की भव्य मूर्ति क्या तीस्ता सीतलवाड़ शाहीन बाग़ में महिलाओं को 'सिखा-पढ़ा' रही थीं?
नागरिकता संशोधन क़ानून के ख़िलाफ़ चेन्नई में बड़ा प्रदर्शन हम 15 करोड़ मुस्लिम 100 करोड़ के ऊपर भारी हैं: AIMIM नेता का भड़काऊ बयान UP पहुंचे शरद पवार ने पूछा- मंदिर के लिए ट्रस्ट तो मस्जिद के लिए क्यों नहीं? चेन्नई में CAA के खिलाफ प्रदर्शन: पुलिस की मंजूरी के बिना हजारों की संख्या में मुस्लिम सड़क पर उतरे धार्मिक नेता बोले- पीरियड्स में पति के लिए खाना बनाया तो अगले जन्म में 'कुत्ता' बनेंगी महिलाएं, खाने वाले बनेंगे बैल पूर्व PM मनमोहन सिंह का निशाना- 'मंदी' शब्द मान ही नहीं रही मोदी सरकार, अगर समस्याओं की पहचान नहीं हुई तो... DCW अध्यक्ष स्वाति मालीवाल का पति नवीन जयहिंद से तलाक, ट्वीट कर बोलीं- बहुत दर्दभरा एहसास भारत ने हमारे साथ बहुत अच्छा सलूक नहीं कियाः ट्रंप 15 दस्तावेज देकर भी खुद को भारतीय साबित नहीं कर पाई असम की जाबेदा, कानूनी लड़ाई में खो बैठी सब कुछ CAA प्रदर्शनकारियों की मौत पर बोले CM योगी- 'अगर कोई मरने के लिए आ रहा है तो...' NRC का क्या होगा असर? जबेदा बेगम के बाद अब पढ़िए फखरुद्दीन की दर्दभरी दास्तां, नागरिकता साबित करने में जुटे 19 लाख अधीर रंजन बोले- क्या ट्रंप कोई भगवान है, जो 70 लाख लोग करेंगे स्वागत