Coronavirusinindia, Covıd 19, Ebola, Corona, Coronavirus, Coronavirus İndia, Coronavirus Update, Corona America, America Doctor, Doctor, Corona Warriors, Global Pandemic, Global Risk, कोरोना, कोरोनावायरस, कोरोना महामारी, वैश्विक महामारी, डॉक्टर, अमेरिका, अमेरिकी डॉक्टर, İnfection, Scary, कोरोना योद्धा, लड़ेंगे कोरोना से

Coronavirusinindia, Covıd 19

इबोला पर जीत पाने वाले डॉक्टर को क्यों है कोरोना का डर, पढ़िए कोरोना योद्धा की कहानी

अमेरिका के एक डॉक्टर क्रैग स्पेन्सर ने कोरोना से खुद की लड़ाई की कहानी साझा की है। डॉ स्पेन्सर ने बताया कि साल 2014 में

10-04-2020 13:54:00

इबोला पर जीत पाने वाले डॉक्टर को क्यों है कोरोना का डर, पढ़िए कोरोना योद्धा की कहानी coronavirusinindia COVID19 Ebola

अमेरिका के एक डॉक्टर क्रैग स्पेन्सर ने कोरोना से खुद की लड़ाई की कहानी साझा की है। डॉ स्पेन्सर ने बताया कि साल 2014 में

Updated Fri, 10 Apr 2020 03:26 PM ISTडॉक्टर क्रैग स्पेन्सरख़बर सुनेंख़बर सुनेंचीन के वुहान शहर से फैला कोरोना वायरस दुनिया में 14,53,804 लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है। कोरोना ने अपना कहर इस कदर बरपाया है कि दुनिया में 90,000 के करीब लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। चीन के बाद कोरोना ने अमेरिका, इटली, स्पेन और फ्रांस जैसे देशों को सबसे ज्यादा प्रभावित किया है।

कोरोना वायरस: दुनिया भर में 65.6 लाख से ज़्यादा संक्रमित, 3.87 लाख लोगों की मौत - BBC Hindi शामली: एक को गिरफ्तार करने गई पुलिस ने 35 मुस्लिम घरों में तोड़फोड़ व मारपीट की सीएए: प्रदर्शनकारियों को दिल्ली दंगों से जुड़े मामलों में गिरफ़्तारी पर सांसदों ने उठाई आवाज़

कोरोना से लड़ने में सबसे बड़ा हाथ डॉक्टरों का है, जो अपनी जान को खतरे में डालकर भी कोरोना से संक्रमित मरीजों की सेवा कर रहे हैं। दिन के 12-14 घंटे ये डॉक्टर अस्पताल में मरीजों का ध्यान रखते हैं। अमेरिका के ऐसे ही एक डॉक्टर क्रैग स्पेन्सर ने कोरोना से खुद की लड़ाई की कहानी साझा की है। डॉ स्पेन्सर ने बताया कि साल 2014 में उन्होंने कैसे इबोला को मात दी लेकिन कोरोना वायरस जैसी बीमारी उन्हें वास्तव में डराती है।

डॉ स्पेन्सर कोलांबिया यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर के ग्लोबल हेल्थ के अध्यक्ष हैं और इनकी उम्र मात्र 38 साल है। इबोला जैसे फ्लू पर जीत पाने के बाद भी डॉ स्पेन्सर को कोरोना वायरस का संक्रमण डराता है। उन्होंने बताया कि जब वह आपातकालीन कक्ष में जाते हैं तो वहां एक तेज चमकीली रोशनी दिखती है जो हर किसी के चश्मे पर जल रही होती है। उस कमरे में आप कई सारे मॉनिटर की आवाजें सुनते हैं, अलग अलग मरीजों के खांसने, छींकने की आवाजें आती है जो बहुत डरावनी होती हैं।

कोरोना से संक्रमित मरीजों के लिए अलग से इमरजेंसी कमरे बनाए गए हैं, वहां कई ऐसे मरीज हैं जो पहले से बहुत बीमार हैं और उनके मुंह में नली लगाई गई है। कई बुजुर्ग मरीज भी रहते हैं जो वेंटिलेटर के सहारे जिंदा रहते हैं। अमेरिका के डॉक्टर्स ने इमरजेंसी रूम या फिर इंटेंसिव केयर में ऐसी स्थिति के बारे में कभी नहीं सोचा था जैसा कोरोना महामारी फैलने के बाद हो गया है।

डॉ स्पेन्सर बताते हैं कि अस्पताल से घर जाना अपने आप में बड़ा काम है। अस्पताल में शिफ्ट खत्म होने के बाद डॉक्टर स्पेन्सर अपने हाथों को धोकर सैनिटाइज करते हैं। मेरे साथ मेरा जो भी सामान चाहे वो पर्स, बैग या मेरा आला हो घर आने से पहले उन्हें अच्छे धोया जाता है। अस्पताल में पहने जूते और कोट घर के बाहर एक डब्बे में रखे जाते हैं और कमीज और पेंट दरवाजे के आगे ही रख दी जाती है। घर जाने के बाद भी मुझे अपने बच्चों से अलग रहना पड़ता है और उनकी बेटी पूरे दिन उन्हें नहीं देख पाती है, ये काफी दुखदायी है।

डॉ स्पेन्सर कहते हैं कि इबोला निश्चित तौर पर भयंकर था, इबोला से कुल संक्रमित लोगों में से आधे लोगों की जान गई थी। हमारी टीम जानती थी कि इबोला से सबकी जान को खतरा हो सकता है। शायद इसलिए कई डॉक्टर्स ने कोरोना से लड़ने की जिम्मेदारी नहीं ली। 24 मार्च को डॉ स्पेन्सर ने इमरजेंसी रूम में होने वाली गतिविधियों को ट्वीट के जरिए बताने का फैसला किया। डॉक्टर को लगा कि आम जनता तक ये सच्चाई पहुंचनी चाहिए कि कोरोना से लड़ना इतना आसान नहीं है इसलिए कोरोना को गंभीरता से लिया जाए।

उन्होंने बताया कि वह और उनके साथ के डॉक्टर ये जानते थे कि उन्हें कोरोना हो सकता है का संक्रमण हो सकता था, हालांकि उनमें से कुछ डॉक्टर्स में कोरोना के लक्षण पाए गए। डॉ स्पेन्सर ने सभी से एक सवाल किया कि आखिर कब तक डॉक्टर्स को अपने परिवार, दोस्तों, बच्चों से दूर रहना पड़ेगा? कोरोना से पूरी दुनिया प्रभावित है और सभी डॉक्टर्स इसे बड़ा दुख बता रहे हैं।

J-K: राजौरी के कालाकोट में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक दहशतगर्द ढेर विस्फोटकों से भरे अनानास केरल में नई बात नहीं हैं दिल्ली हिंसा और ताहिर हुसैन को लेकर ट्विटर पर भिड़े AAP और बीजेपी नेता

चीन के वुहान शहर से फैला कोरोना वायरस दुनिया में 14,53,804 लोगों को अपनी चपेट में ले चुका है। कोरोना ने अपना कहर इस कदर बरपाया है कि दुनिया में 90,000 के करीब लोग अपनी जान गंवा चुके हैं। चीन के बाद कोरोना ने अमेरिका, इटली, स्पेन और फ्रांस जैसे देशों को सबसे ज्यादा प्रभावित किया है।

विज्ञापनकोरोना से लड़ने में सबसे बड़ा हाथ डॉक्टरों का है, जो अपनी जान को खतरे में डालकर भी कोरोना से संक्रमित मरीजों की सेवा कर रहे हैं। दिन के 12-14 घंटे ये डॉक्टर अस्पताल में मरीजों का ध्यान रखते हैं। अमेरिका के ऐसे ही एक डॉक्टर क्रैग स्पेन्सर ने कोरोना से खुद की लड़ाई की कहानी साझा की है। डॉ स्पेन्सर ने बताया कि साल 2014 में उन्होंने कैसे इबोला को मात दी लेकिन कोरोना वायरस जैसी बीमारी उन्हें वास्तव में डराती है।

डॉ स्पेन्सर कोलांबिया यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर के ग्लोबल हेल्थ के अध्यक्ष हैं और इनकी उम्र मात्र 38 साल है। इबोला जैसे फ्लू पर जीत पाने के बाद भी डॉ स्पेन्सर को कोरोना वायरस का संक्रमण डराता है। उन्होंने बताया कि जब वह आपातकालीन कक्ष में जाते हैं तो वहां एक तेज चमकीली रोशनी दिखती है जो हर किसी के चश्मे पर जल रही होती है। उस कमरे में आप कई सारे मॉनिटर की आवाजें सुनते हैं, अलग अलग मरीजों के खांसने, छींकने की आवाजें आती है जो बहुत डरावनी होती हैं।

कोरोना से संक्रमित मरीजों के लिए अलग से इमरजेंसी कमरे बनाए गए हैं, वहां कई ऐसे मरीज हैं जो पहले से बहुत बीमार हैं और उनके मुंह में नली लगाई गई है। कई बुजुर्ग मरीज भी रहते हैं जो वेंटिलेटर के सहारे जिंदा रहते हैं। अमेरिका के डॉक्टर्स ने इमरजेंसी रूम या फिर इंटेंसिव केयर में ऐसी स्थिति के बारे में कभी नहीं सोचा था जैसा कोरोना महामारी फैलने के बाद हो गया है।

डॉ स्पेन्सर बताते हैं कि अस्पताल से घर जाना अपने आप में बड़ा काम है। अस्पताल में शिफ्ट खत्म होने के बाद डॉक्टर स्पेन्सर अपने हाथों को धोकर सैनिटाइज करते हैं। मेरे साथ मेरा जो भी सामान चाहे वो पर्स, बैग या मेरा आला हो घर आने से पहले उन्हें अच्छे धोया जाता है। अस्पताल में पहने जूते और कोट घर के बाहर एक डब्बे में रखे जाते हैं और कमीज और पेंट दरवाजे के आगे ही रख दी जाती है। घर जाने के बाद भी मुझे अपने बच्चों से अलग रहना पड़ता है और उनकी बेटी पूरे दिन उन्हें नहीं देख पाती है, ये काफी दुखदायी है।

डॉ स्पेन्सर कहते हैं कि इबोला निश्चित तौर पर भयंकर था, इबोला से कुल संक्रमित लोगों में से आधे लोगों की जान गई थी। हमारी टीम जानती थी कि इबोला से सबकी जान को खतरा हो सकता है। शायद इसलिए कई डॉक्टर्स ने कोरोना से लड़ने की जिम्मेदारी नहीं ली। 24 मार्च को डॉ स्पेन्सर ने इमरजेंसी रूम में होने वाली गतिविधियों को ट्वीट के जरिए बताने का फैसला किया। डॉक्टर को लगा कि आम जनता तक ये सच्चाई पहुंचनी चाहिए कि कोरोना से लड़ना इतना आसान नहीं है इसलिए कोरोना को गंभीरता से लिया जाए।

एम्स में नर्सों की हड़ताल, पीपीई किट से हो रहे इन्फ़ेक्शन और रेशेज़ केंद्र सरकार ने जारी किया राज्यों का जीएसटी बकाया, दिए 36400 करोड़ रुपये होटलों का बदला अंदाज, वेलकम ड्रिंक की जगह दे रहे काढ़ा, PPE किट पहन रहा स्टाफ

Thank you everyone for your incredible messages of support and encouragement.♥️Many of you asked what it was like in the ER right now. I want to share a bit with you. Please RT: और पढो: Amar Ujala »

कोरोना का कहर, इंदौर में डॉक्टर की मौत, अब तक 22 लोगों ने गंवाई जानइंदौर में गुरुवार को कोरोना संक्रमण की चपेट में आए एक डॉक्टर ने भी आज दम तोड़ दिया. डॉक्टर की मौत से पूरे प्रदेश में हड़कंप मच गया है. delayedjab 😑 delayedjab 😰😰😭😭 delayedjab Uff

मध्यप्रदेश: इंदौर में कोरोना वायरस से संक्रमित 62 साल के डॉक्टर की मौत कोरोना वायरस से इंदौर में 62 वर्षीय डॉक्टर की मौत, मृतक संख्या 22 हुई MadhyaPradesh Indore ChouhanShivraj KailashOnline ChouhanShivraj KailashOnline Plz sava dr. ChouhanShivraj KailashOnline दुखद कोरोना के हीरो को सलाम ChouhanShivraj KailashOnline This is fake news... be responsible in reporting.. that doctor is fit and healthy.. ChouhanShivraj sir please take against this news paper amd journalist.. they keep spreading lies even at this time. narendramodi mpcyberpolice DGP_MP

बड़ी सफलताः देश की इस कंपनी ने तैयार की कोरोना वायरस की एंटीबॉडी किट - Coronavirus AajTakपूरी दुनिया कोरोना संकट से जूझ रही है. इस महामारी की वजह से हजारों लोग प्रभावित हुए हैं. वहीं कई लोगों की जान भी जा चुकी है. इस Aapki news TV par kuch aur hoti hai aur Twitter par kuch aur.. एक बात तो पक्की है की सबसे पहले अगर कोई कोरोना का टीका बनाएगा तो वो भारत ही बनाएगा क्योंकि दुनिया कोरोना के आगे घुटने टेक चुकी है औऱ विश्वगुरू भारत से ही दुनिया के तमाम देश कोरोना की दवा मांग रहे हैं, वर्तमान में कोरोना से लड़ने की किसी के पास असरदार दवा नहीं है।

बिहार में कोरोना वायरस संक्रमित मामलों की संख्या बढकर 39 हुई, पूर्वी चंपारण की सीमा सीलबिहार में कोरोना वायरस संक्रमित मामलों की संख्या बढकर 39 हुई, पूर्वी चंपारण की सीमा सील Bihar corona virus NitishKumar SushilModi

देश तक: प्रशासन की निगरानी में कैसा रहा कोरोना की सीलबंदी का पहला दिन?देश में कोरोना से पिछले 24 घंटे में 20 कोरोना मरीजों की मौत हो चुकी है. जबकि संक्रमित मरीजों की तादाद बढ़कर 5865 हो गई है. कोरोना से देश में अबतक 169 लोगों की मौत हो चुकी है. राहतभरी खबर ये कि अबतक 477 मरीज ठीक होकर घर जा चुके हैं. हालांकि रेलवे 5 हजार कोच में 80 हजार आइसोलेशन वार्ड भी तैयार कर रहा है तो वहीं दिल्ली में वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए मुख्यमंत्री केजरीवाल ने ऑपरेशन शील्ड लॉन्च कर दिया है. देखिए देश तक में पूरी रिपोर्ट. sardanarohit arvindojha AishPaliwal abhishek6164 देश की सुरक्षा का पहला महत्व अर्थात यहां के सभी नागरिकों की सुरक्षा, उनको जागरूक करना हर समय ।। सभी इस बीमारी से जल्दी से निकलेंगे ।। आशा करते हैं आप सब अपने परिवार के साथ सवस्थ होंगे sardanarohit arvindojha AishPaliwal abhishek6164 mujhe bhi aapka member banna hai sardanarohit arvindojha AishPaliwal abhishek6164 सर जी नमस्कार मुझे भी आपका मेंबर बनाना है

कोरोना लॉकडाउन: दुबई में शराब की होम डिलीवरी की पेशकश, तलाक और निकाह स्थगित कोरोना वायरस संक्रमण के बाद दुबई के बीयर बारों में पसरे सन्नाटे के बाद के दो प्रमुख शराब वितरकों ने बीयर और शराब की घर Wine ki home delivery ke sath food bhi de dete to achchha hota

राहुल ने फिर लॉकडाउन को बताया फेल, कहा- राज्यों को उनके हाल पर छोड़ रहा केंद्र राहुल का ट्वीट- क्या भारतीय सीमा में नहीं घुसा कोई चीनी सैनिक? स्पष्ट करे सरकार अनुष्का शर्मा ने शेयर की फोटो, पति विराट कोहली ने किया ये कमेंट हथिनी की मौत पर राहुल गांधी से मेनका का सवाल, पूछा- क्यों नहीं की कार्रवाई कोरोना अपडेटः जॉर्ज फ़्लॉयड को कोरोना संक्रमण भी हुआ था - BBC Hindi दलित छात्रा ने ऑनलाइन क्लास नहीं कर पाने के चलते की 'आत्महत्या' गर्भवती हथिनी की मौत से दुखी IPS डी रूपा, दोषियों को सजा की मांग जॉर्ज फ्लॉयड के सपोर्ट में उतरे स्टार्स पर अभय देओल का तंज- अपना देश भी देख लो 'सच बोलने से डरते हैं लोग', उद्योगपति राजीव बजाज ने लॉकडाउन पर कही ये 5 बातें ट्रंप ने विभाजन की आग भड़काई, अमरीका के पूर्व रक्षा मंत्री का आरोप एटलस साइकिल ने बंद किया आख़िरी कारखाना, हज़ार के क़रीब कर्मचारी बेरोज़गार