Covıd-19 Variant, India Coronavirus Cases, Who, Soumya Swaminathan, कोरोना का वेरिएंट, भारत में कोरोना के मामले, विश्व स्वास्थ्य संगठन, डब्ल्यूएचओ, सौम्या स्वामीनाथन

Covıd-19 Variant, India Coronavirus Cases

WHO की शीर्ष वैज्ञानिक ने बताया, भारत में हुए कोरोना विस्फोट के पीछे क्या है वजह?

WHO की शीर्ष वैज्ञानिक ने बताया, भारत में हुए कोरोना विस्फोट के पीछे क्या है वजह?

09-05-2021 06:15:00

WHO की शीर्ष वैज्ञानिक ने बताया, भारत में हुए कोरोना विस्फोट के पीछे क्या है वजह?

डब्ल्यूएचओ की चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने कहा कि कोविड-19 का B.1.617 वेरिएंट स्पष्ट रूप से भारत में कोरोना विस्फोट का महत्वपूर्ण कारक है. वायरस का यह प्रकार पिछले साल अक्टूबर में पहली बार पाया गया था. उन्होंने कहा, कोरोना के मामलों में उछाल के पीछे कई चीजें हैं और तेजी से फैलाने वाला वायरस का प्रकार उनमें से एक है.

जेनेवा: भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) लगातार कहर बरपा रहा है. तमाम प्रतिबंधों और लॉकडाउन जैसे सख्त कदमों के बावजूद कोरोना के नए मामलों में कोई खास कमी आते हुए नहीं दिख रही है. ऐसे में सवाल यह है कि कोरोना के बेलगाम मामले आने के पीछे की वजह क्या है? इस बीच, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की मुख्य वैज्ञानिक ने भारत में कोरोना विस्फोट के कारणों को लेकर कहा कि भारत में COVID-19 का एक वेरिएंट बहुत अधिक संक्रामक है और तेजी से लोगों को शिकार बना रहा है. यह वैक्सीन से होने वाली प्रोटेक्शन को भी रोक सकता है.

पाकिस्तान में हिंदू मंदिर पर हमला, इलाक़े में सुरक्षाबल तैनात - BBC News हिंदी वंदना कटारिया के परिवार ने कहा - ओलंपिक में हार के बाद उन्हें कहे गए जातिसूचक शब्द - BBC Hindi पी. श्रीजेश और वो 'दूसरा गोलकीपर' जिनकी बदौलत 41 साल बाद बना इतिहास - BBC News हिंदी

यह भी पढ़ेंडब्ल्यूएचओ की चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने एएफपी को दिए इंटरव्यू में चेताया है कि भारत में हम जो स्थिति देख रहे हैं वह संकेत देते हैं कि यह वेरिएंट बहुत तेजी से फैल रहा है. बता दें कि शनिवार को भारत में पिछले 24 घंटे में कोरोना से 4,000 से ज्यादा मौतें हुई हैं. यह एक दिन में कोरोना से मौतों का अब तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है. यही नहीं इस दौरान चार लाख से ज्यादा नए केस दर्ज किए गए हैं. 

स्वामीनाथन ने कहा कि कोविड-19 का B.1.617 वेरिएंट स्पष्ट रूप से भारत में कोरोना विस्फोट का महत्वपूर्ण कारक है. वायरस का यह प्रकार पिछले साल अक्टूबर में पहली बार पाया गया था. उन्होंने कहा,"कोरोना के मामलों में उछाल के पीछे कई चीजें हैं और तेजी से फैलाने वाला वायरस का प्रकार उनमें से एक है."  headtopics.com

उन्होंने कहा कि अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देशों के अलावा कई राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्राधिकरण B.1.617 वेरिएंट को गंभीरता से ले रहे हैं और मुझे उम्मीद है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन भी जल्द ही इस पर कोई कदम उठाएगा.डब्ल्यूएचओ की शीर्ष अधिकारी ने कहा,"B 1.617 वेरिएंट चिंता का विषय है क्योंकि इसमें कुछ म्यूटेशन है, जो ट्रांसमिशन को बढ़ा देता है और वैक्सीन या फिर प्राकृतिक संक्रमण द्वारा शरीर में पैदा होने वाले एंटीबॉडी को बनने से रोक सकता है." 

हालांकि, उन्होंने जोर दिया है कि भारत में कोरोना के मामलों में बेतरतीब उछाल के लिए सिर्फ कोविड-19 का यह संस्करण जिम्मेदार नहीं है बल्कि ऐसा लगता है कि भारत में लोगों की लापरवाही भी इसके लिए जिम्मेदार है. लोगों ने कोरोना के खिलाफ सुरक्षात्मक उपायों को गंभीरता से नहीं लिया. उन्होंने कहा कि भारत में कई लोगों को ऐसा लगा कि संकट खत्म हो गया. लोगों ने मास्क लगाना और अन्य उपायों का पालन करना छोड़ दिया.        

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.comवीडियो: कहर बरपाती कोरोना की दूसरी लहर, मई में अब तक करीब 30 हजार मौतेंCovid-19 VariantCoronavirusIndiaWHOटिप्पणियां पढ़ें देश-विदेश की ख़बरें अब हिन्दी में (Hindi News) | चुनाव 2021 (Elections 2021) के लाइव अपडेट के लिए हमें फॉलो करें और जानें इलेक्शन रिज़ल्ट्स (Election Results) सबसे पहले |

लाइव खबर देखें: और पढो: NDTVIndia »

वारदात: Dhanbad के जज की मौत के पीछे का असली सच! देखें

धनबाद में जज उत्तम आनंद की मौत के पीछे अब भी कई सवाल घूम रहे हैं. ये मौत वाकई एक हादसा था या हत्या? इस वीडियो में तस्वीर दिखा रही है कि एक शख्स सड़क के बिल्कुल बायीं ओर जॉगिंग कर रहा है. तभी अचानक पीछे से एक टेंपो आता है और जॉगिंग कर रहे शख्स को धक्का मार कर आगे बढ़ जाता है. पहली नज़र में यही गुमान होता है कि सड़क हादसे का एक मामला है. मगर इससे पहले कि आप किसी नतीजे पर पहुंचे, इसी सीसीटीवी तस्वीर की हर फ्रेम को अब गौर से देखिएगा. इसलिए कि इसी तस्वीर का जो बारीक पहलू है उसके बाद पूरा केस ही पलट जाएगा. इस केस की फॉरेंसिक जांच भी हो रही है. इस मामले में आज रांची हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लेते हुए सुनवाई की है. इस मामले को गंभीरता से लेते हुए अदालत ने झारखंड के डीजीपी और धनबाद के एसएसपी से जवाब तलब किया है. इस मामले में चीफ जस्टिस की बेंच ने डीजीपी से कहा कि अगर पुलिस जांच करने में विफल रहती है तो यह मामला सीबीआई को जा सकता है. देखें वारदात का ये एपिसोड.

Dadi waala. WHO की यह घटिया रिपोर्ट है नीचे वाली रिपोर्ट पढ़िए आंखे खुली रह जाएंगी If there is one video, India and the world must watch today on the COVID devastation is this exhaustive report by abcnews. Why is India censoring the real numbers वजह सिर्फ मोदी है और कोई नही If there is one video, India and the world must watch today on the COVID devastation is this exhaustive report by abcnews. Why is India censoring the real numbers

फेकचंद की बेवकूफी भारत में जितनी भी ग्राम पंचायतें हैं ।सभी की जांच कर लो इमानदारी से पता चल जाएगा कौन ईमानदार कौन बेईमान हैं Rahem BJP or Nitish sarkar ki vajah hai. Samy hote huye v kae wevstha nhi kiye.

कोरोना के बढ़ते मामलों पर केरल-तमिलनाडु में लॉकडाउन, देश के इन राज्यों में कड़े प्रतिबंधदेश के दक्षिणी राज्यों के भी COVID-19 की दूसरी लहर की चपेट में आने के बीच केरल (Kerala Lockdown) में शनिवार सुबह से पूर्ण लॉकडाउन लागू हो गया, जबकि तमिलनाडु (Tamil Nadu Lockdown) में भी 10 मई से दो सप्ताह का ‘‘पूर्ण’’ लॉकडाउन लग जाएगा. कर्नाटक के मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) ने शुक्रवार को घोषणा की थी कि राज्य में 10 मई से 24 मई तक लॉकडाउन जैसे कड़े प्रतिबंध लागू होंगे.

#LadengeCoronaSe : सात दिन में 900 किमी साइकिल यात्रा, लद्दाख में दिया कोरोना रोकथाम का संदेशLadengeCoronaSe : सात दिन में 900 किमी साइकिल यात्रा, लद्दाख में दिया कोरोना रोकथाम का संदेश LadengeCoronaSe Coronavirus Ladakh

चला गया दिल्ली क्रिकेट का इनसाइक्लोपीडिया, बीसीसीआइ के स्कोरर-अंपायर केके तिवारी का कोरोना से निधनलोकल मैचों में अंपायरिंग करने के साथ-साथ कई कोर्स पास करके केके बीसीसीआइ के स्कोरर बन गए। हरदिल अजीज केके बीमार होने के बावजूद आइपीएल के मैचों में स्कोरिंग करने को व्याकुल थे लेकिन तबीयत खराब होने के कारण उन्हें 27 अप्रैल को झज्जर स्थित एम्स में भर्ती किया गया।

बिहार में पिछले 24 घंटे में कोरोना के 10,174 नए मामले, अबतक 3357 लोगों की मौतबिहार में लॉकडाउन हुए 6 दिन हो गए हैं. इस बीच कोरोना संक्रमण की रफ्तार करीब 5 फीसदी कम हुई है. इससे लगता है कि अगर लॉकडाउन पहले लगाया जाता तो संक्रमण इतना नहीं फैलता और सरकार की इतनी फजीहत नहीं होती.

कोरोना: दिल्ली ,महाराष्ट्र में संक्रमण के नए मामलों में गिरावट - BBC Hindiदिल्ली में पिछले 24 घंटों में 12,651 मामले दर्ज किए गए. महाराष्ट्र में 37,236 नए मामले सामने आए. Bas sab thk ho jaye hmre desh ka haal yahi pray h hmra desh phle ki trh abad ho jaye 😪 All govt please think should be this crises because of lots of people in the country they are living in the rental house and now they don't have any income source to pay rent. No_Income_No_Rent narendramodi chitraaum Abhishe98381327 sudhirchaudhary AmitShah ChouhanShivraj बात बात पर “विपक्ष” को कटघरे में खड़ा करने वाले गोदी मीडिया के मूर्धन्य रणबाँकुरो अपने “पत्रकार” साथियों की मौत पर तो मुँह खोलो,और अपने “पिताजी” से पूछो कि इस “तबाही” का “ज़िम्मेदार” कौन है. हमें follow करना ना भूले अगर आप भाजपा विरोधी है। मेरे साथ जुड़े Deepakrawatrs

बक्सर: कोरोना काल में गंगा में बह रही लाशों के पीछे जुड़ी है वर्षों पुरानी परंपराबिहार के बक्सर से कोरोना काल की सबसे भयानक तस्वीर आई, जहां गंगा नदी के महादेवा घाट के पास करीब 40 लाशें तैरती दिखाईं दीं. माना जा रहा था कि कोरोना की इस महामारी में लोग अपनों का अंतिम संस्कार नहीं कर पा रहे हैं, इसलिये लाशों को गंगा नदी में फेंक रहे हैं, लेकिन इसके पीछे की कहानी कुछ और ही है. sujjha गुलामी को सलाम ,गुलाम हो तो आ.....जेसा sujjha जो कुछ छुपाना हों छुपा लो ये सब ऊपर वाला देख रहा है sujjha Bas ab e hi sun na baki tha .....parampara wahhhh.......kitna giroge niche or