Westbengal, Kolkata-Politics, Mithun Chakraborty, Calcutta High Court, Violence, West Bengal Politics, Film Dialogues, मिथुन चक्रवर्ती, कलकत्ता हाई कोर्ट, से बड़ी राहत, जज, फिल्मी डायलॉग, हिंसा, West Bengal News

Westbengal, Kolkata-Politics

West Bengal: मिथुन चक्रवर्ती को कलकत्ता हाई कोर्ट से बड़ी राहत, जज ने कहा-फिल्मी डायलॉग से नहीं फैलती हिंसा

मिथुन चक्रवर्ती को कलकत्ता हाई कोर्ट से बड़ी राहत, जज ने कहा-फिल्मी डायलॉग से नहीं फैलती हिंसा #WestBengal #Politics

29-07-2021 05:30:00

मिथुन चक्रवर्ती को कलकत्ता हाई कोर्ट से बड़ी राहत , जज ने कहा- फिल्मी डायलॉग से नहीं फैलती हिंसा WestBengal Politics

West Bengal अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती को बुधवार को कथित भड़काऊ भाषण मामले में कलकत्ता हाई कोर्ट ने बड़ी राहत दी। इस मामले की सुनवाई कर रहे न्यायाधीश कौशिक चंद ने कहा कि किसी फिल्म के डायलॉग से हिंसा नहीं फैलती। न ही अशांति होती है।

उल्लेखनीय है कि बंगाल चुनाव से पहले कोलकाता के ऐतिहासिक ब्रिगेड परेड ग्राउंड में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जनसभा में भाजपा का दामन थामने वाले बॉलीवुड के स्टार अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती ने अपनी फिल्म के डायलॉग बोले थे। उन्होंने कहा था- ‘मारबो एखाने, लाश पोड़बे सशाने,’ यानी मारूंगा यहां, तो लाश गिरेगा श्मशान में। मिथुन के इस डायलॉग को सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने भड़काऊ बयान करार दिया था और चुनाव बाद हुई हिंसा के लिए इस बयान को जिम्मेदार ठहराया।

कार्टून: इस ड्रग्स में वो बॉलीवुड वाली बात कहाँ? - BBC News हिंदी आकाशवाणी के रामानुज प्रसाद सिंह का निधन, 86 साल की उम्र में ली आखिरी सांस US दौरे पर PM मोदी, अब होगा आतंक पर वार! देखें हल्ला बोल

यह भी पढ़ेंतृणमूल नेता ने मिथुन के खिलाफ दर्ज कराई थी शिकायततृणमूल युवा कांग्रेस के एक नेता ने कोलकाता के मानिकतला थाने में भड़काऊ भाषण देने का आरोप लगाते हुए मिथुन के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई थी। अपनी शिकायत में उन्होंने कहा था कि सात मार्च को भाजपा में शामिल होने के बाद आयोजित रैली में चक्रवर्ती ने जो डॉयलॉग बोले थे, उसकी वजह से राज्य में चुनाव के बाद हिंसा हुई। इस शिकायत के बाद मानिकतला थाना की पुलिस ने मिथुन से कई बार वर्चुअल माध्यम से पूछताछ भी की। अब जाकर इस मामले में मिथुन को बड़ी राहत मिली है। हालांकि इस मामले का अभी निपटारा नहीं हुआ है।मिथुन ने हाई कोर्ट से एफआइआर को खारिज करने की मांग की थी, लेकिन अदालत ने उन्हें जांच में पुलिस को सहयोग करने का निर्देश दिया था। 

और पढो: Dainik jagran »

गुजरात में सियासी भूचाल, कौन होगा अगला मुख्यमंत्री? देखें दंगल में बड़ी बहस

गुजरात में शनिवार को बड़ा सियासी उलटफेर हुआ है. विजय रुपाणी (Vijay Rupani) ने मुख्यमंत्री (Chief Minister) के पद से इस्तीफा (Resign) दे दिया. उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और पार्टी आलाकमान को आभार प्रकट किया. कुछ देर पहले ही रुपाणी ने राज्यपाल आचार्य देवव्रत से मुलाकात करते हुए उन्हें इस्तीफा सौंप दिया. गुजरात के मुख्यमंत्री पद से विजय रुपाणी के इस्तीफा देने के बाद अब यह सवाल उठने लगा है कि राज्य का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा? देखें दंगल में बड़ी बहस.

Filmi dialogue bolo apke 100 khoon maf 😜😜😜😂 What a joke दैनिक जागरण बहुत ही अच्छा न्यूजपेपर है. ... पूरे समोसे का तेल सोख लेता है.😆😆 JUDGE KO PATA NAHI THA, WOH FILMY DIALOGUE FILM STUDIO MAI KHADA HO K NAHI DIYA THA, POLITICAL STAGE MAI KHADA HO K DIYA THA. वैसे भी हम सापो 🐍 का फन कुचल देते हैं

ओलंपिक: मैच से पहले कोच ने महिला खिलाड़ी को मारे थप्पड़, वीडियो वायरलजर्मनी की महिला जूडो एथलीट को एक अनचाहे विवाद का सामना करना पड़ रहा है. दरअसल टोक्यो ओलंपिक्स में फाइट से पहले मार्टेना त्रेजदोस (Martyna Trajdos)की एक तस्वीर वायरल हुई थी जिसमें उनके कोच उन्हें गाल पर थप्पड़ मारते हुए नजर आए थे.

जयशंकर ने कहा: एकतरफा इच्छाओं को थोपने से अफगानिस्तान में नहीं आएगी स्थिरताविदेशमंत्री एस जयशंकर ने बुधवार को कहा कि युद्धग्रस्त अफगानिस्तान में एकतरफा इच्छाओं को थोपने से कभी भी स्थिरता नहीं

टोक्यो ओलंपिक: हॉकी में भारत ने स्पेन को 3-0 से हराया - BBC Hindiइससे पहले ऑस्ट्रेलिया से भारतीय टीम 7-1 से हार गई थी. अगला मुकाबला अर्जेंटीना से है. Congratulations Congrats team India jai ho

पेगासस पर दंगल जारी, राहुल ने सरकार को घेरा तो BJP ने याद दिलाया यूपी-कर्नाटकमॉनसून सत्र में अबतक कई बार संसद की कार्यवाही को रद्द करना पड़ा है, क्योंकि सदन में ज़बरदस्त विरोध प्रदर्शन जारी है. इसी गतिरोध पर अब कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सरकार पर हमला बोला है, तो वहीं भारतीय जनता पार्टी ने राहुल गांधी पर पलटवार किया है. Himanshu_Aajtak ये पेगासुस कोनसे राक्षस का नाम है जो देश के गंभीर मुद्दे को भी खा रहा। Himanshu_Aajtak यह बिदेशी लग रहा है!

स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों से ऑक्सीजन की कमी से होने वाली मौतों का डेटा मांगा : सूत्रकेंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्यों से ऑक्सीजन की कमी के कारण होने वाली मौतों का डेटा मांगा है. सूत्रों ने मंगलवार को यह जानकारी दी. एक असंवेदनशील सरकार ही हो सकती है जो अब जा के ऐसा डेटा मांग रही है, कोई दूसरी सरकार होती तो अब तक पीड़ित परिवारों को मद्त का ऐलान कर चुकी होती। स्वास्थ्य मंत्रालय को अब नींद खुला.. तो पहले सदन में बाँसुरी बजाई थी क्या

केंद्र सरकार ने राज्यों से मांगे ऑक्सीजन की कमी से हुई मौतों के आंकड़े - BBC Hindiऑक्सीजन की कमी से एक भी मौत ना होने की जानकारी देने के बाद केंद्र सरकार विपक्ष के निशाने पर आ गई थी. If you Follow me I will give you Follow back 💯% followme NFTGiveaway followback WearAMask webdevelopment WednesdayMotivation tuesdayvibe tuesdaymotivations trending followback Fortnite FaTejo FolloForFolloBack twitter जब ऑक्सीजन की कमी से किसी की मौत हुई ही नही तब क्यो ये झूठ मुठ का आंकड़ा ? ये आंकड़ा किसको फिर से मूर्ख बनाए रखने मांगा जा रहा है। अब क्या नयें मुर्दे पैदा करोगे..! मोदी ने राष्ट्र को भटकाने,भरमाने और टहलाने की ठान रखी हैं..!