VLSRSAM मिसाइल का सफल परीक्षण, अब आसमानी हमलों का मुंहतोड़ जवाब दे सकेगी भारतीय नौसेना

VLSRSAM मिसाइल का सफल परीक्षण, अब आसमानी हमलों का मुंहतोड़ जवाब दे सकेगी भारतीय नौसेना #VLSRSAMMissile #IndianNavy

Vlsrsammissile, Indiannavy

08-12-2021 18:10:00

VLSRSAM मिसाइल का सफल परीक्षण, अब आसमानी हमलों का मुंहतोड़ जवाब दे सकेगी भारतीय नौसेना VLSRSAMMissile IndianNavy

Successful test of VLSRSAM Missile बालेश्वर के चांदीपुर स्थित आईटीआर के एल सी 3 से मंगलवार शाम वीएलएसआरएसएएम यानी कि जमीन से हवा में प्रहार करने वाले वर्टिकल लॉन्च्ड शॉर्ट रेंज सर्फेस टू एयर मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया। यह मिसाइल नौसेना के लिए बनायी गयी है।

भारत ने आज अपने मिसाइल ई ताकत में इजाफा करते हुए एक नए किस्म के मिसाइल का बालेश्वर के चांदीपुर स्थित आईटीआर के एल सी 3 से वीएलएसआरएसएएम यानी कि जमीन से हवा में प्रहार करने वाले वर्टिकल लॉन्च्ड शॉर्ट रेंज सर्फेस टू एयर मिसाइल का सफल परीक्षण किया है। मंगलवार दोपहर करीब 3 बजकर 10 पर पूरी तरह से स्वदेशी ज्ञान कौशल से निर्मित इस मिसाइल को हवा में उड़ाया गया। इसे भारतीय नौसेना के लिए बनायी गयी है ताकि भारतीय नौसेना आसमानी हमलों का मुंह तोड़ जवाब दे सके।

यह भी पढ़ेंआसमानी हमलों का मुंहतोड़ जवाबइस मिसाइल को वर्टिकल लॉन्च्ड शार्ट रेंज सर्फेस टू एयर मिसाइल कहते हैं। रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन ने सफलतापूर्वक स्वदेशी मिसाइल का परीक्षण किया। मंगलवार को ओडिशा के चांदीपुर स्थित इंटीग्रेटेड टेस्ट रेंज में शार्ट रेंज की जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया। इस मिसाइल को वर्टिकल लॉन्च्ड शॉर्ट रेंज सर्फेस टू एयर (वी एल एस आर एस ए एम)मिसाइल कहते हैं। इस मिसाइल ने अपने निशाने को तय समय में ध्वस्त कर दिया था, पूरी तरह से स्वदेशी निर्मित यह मिसाइल नौसेना के लिए बनाया गया है ताकि भारतीय नौसेना आसमानी हमलों का मुंहतोड़ जवाब दे सके।

यह भी पढ़ेंजाने क्‍या है मिसाइल की खूबियांइस मिसाइल का परीक्षण कम से कम और अधिकतम रेंज के लिए किया गया था। सूत्रों की मानें तो 2022 में इस मिसाइल को नौसेना में शामिल किया जाएगा। इसकी मारक क्षमता 50 किलोमीटर है इस मिसाइल मैं वेपन कंट्रोल सिस्टम भी लगा है जो इसके तह हथियार को नियंत्रित करता है। यह एक साथ कई निशाने पर वार कर सकता है। भारतीय नौसेना के युद्ध पोतों में लगाई जाने वाली स्वदेशी मिसाइल वर्टिकल लॉन्च्ड सिस्टम में एक साथ 8 मिसाइलें तैनात की जा सकती हैं। यह वेपन कंट्रोल सिस्टम 360 डिग्री पर दुश्मन के हमलों को इंटरसेप्ट कर सकता है यानी कि ध्वस्त कर सकता है। यह मिसाइल जहां तैनात होगी उस पर हमला करना असंभव होगा। headtopics.com

छत्तीसगढ़ : कोरोना वायरस के 3318 नए मामले सामने आए, 10 लोगों की मौत

8 गांव के 6500 लोगों को अस्‍थायी शिविरों में भेजा गयाआज इसके परीक्षण के मौके पर रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन तथा अंतरिम परीक्षण परिषद से जुड़े वरिष्ठ वैज्ञानिक और अधिकारियों का दल मौके पर मौजूद था। आज इसके परीक्षण को देखते हुए परीक्षण स्थल एल सी 3 के ढाई किलोमीटर के दायरे में आने वाले करीब 8 गांव के 6500 लोगों को अस्थाई शिविरों में सुबह 7 बजे से ही ला कर रखा गया था। इसके लिए इन लोगों को मुआवजा भी प्रदान किया गया था।

यह भी पढ़ेंपूरे विश्व में भारत मील का पत्थर

और पढो: Dainik jagran »

शत्रु पर विजय का 'गोल्डन जुबली' संदेश! देखिए #Khabardar Sweta Singh के साथ| #ATLivestream

शत्रु पर विजय का 'गोल्डन जुबली' संदेश! देखिए #Khabardar Sweta Singh के साथ| #ATLivestream और पढो >>

BrahMos सुपरसोनिक मिसाइल का सुखोई-30 से सफल परीक्षण, खौफ में रहेगा दुश्मनभारतीय वायुसेना की ताकत में 8 दिसंबर 2021 को इजाफा हुआ है. वायुसेना के लड़ाकू विमान सुखोई-30 एमके-1 में ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल के एयर वर्जन का सफल परीक्षण किया गया. यह टेस्ट ओडिशा के चांदीपुर में सुबह साढ़े दस बजे किया गया. मिसाइल ने तय मानकों को पूरा करते हुए दुश्मन के ठिकाने को ध्वस्त कर दिया. रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने इस सफल परीक्षण के लिए डीआरडीओ और भारतीय वायुसेना को बधाई दी है. डीआरडीओ और वायुसेना इस सफलता के लिए बधाई के पात्र हैं।

डीआरडीओ: जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल का किया सफल परीक्षण, नौसेना के लिए तैयार कर रहा एयर डिफेंस सिस्टमडीआरडीओ: जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल का किया सफल परीक्षण, नौसेना के लिए तैयार कर रहा एयर डिफेंस सिस्टम DRDO MissileTest

शॉर्ट रेंज सरफेस टू एयर मिसाइल का सफल परीक्षण: नेवी के लिए DRDO बना रहा एयर डिफेंस सिस्टम, 15 किमी दायरे के टारगेट तबाह होंगेDRDO ने ओडिशा तट से कम रेंज की जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइल (VL-SRSAM) का सफल परीक्षण किया है। इस मिसाइल को जमीन से 90 डिग्री के एंगल पर भी फायर किया जा सकता है। | Defence Research and Development Organisation, VL-SRSAM, DRDO News, Navy, Barak 1 missiles

Singh Rashi 2022 : सिंह राशि राशि का कैसा रहेगा जनवरी माह 2022 का भविष्यफलLeo Monthly Horoscope 2022: सिंह राशि के लिए जनवरी 2022 में कैसा रहेगा सेहत, नौकरी, व्यापार, करियर, प्रेम विवाह आदि का हाल। भविष्य में क्या करेंगे आप, कैसा रहेगा इस माह का राशिफल ( Singh Rashi January Month Masik Rashifal 2022 in hindi) और किन बातों को लेकर रहना चाहिए सतर्क, जानिए भविष्यफल यहां जानिए संक्षिप्त में।

बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त, सरकार के बयान का इंतज़ार - BBC Hindiतमिलनाडु में बिपिन रावत का हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हुआ है. राज्य के एक मंत्री के मुताबिक़ पाँच लोगों की मौत हुई है. वायु सेना ने हादसे की जाँच का आदेश दिया है. 11 DIED AMONG 14 AS INFORMED BY DM NILGIRI ( Tamilnadu ) ? CDS General BipinRawat is most important person of Indian defence and national security with highest caliber of defence skills and that's why he became first Chief of Defence Staff of India🇮🇳 so it's biggest loss for Indian Army and whole country if the rumours proved right😔 तुम लोग किधर हो यार, Local से कोई अपडेट नहीं मिला था क्या तभी...?

सौरमंडल के बाहर अब तक का सबसे छोटा ग्रह का पता चलाधरती से 31 प्रकाश वर्ष से भी कम दूरी पर स्थित एक ग्रह का पता चला है। यह एक लाल बौने सितारे जीजे 367 की परिक्रमा करता है। यह सितारा पृथ्वी के सूर्य के आधे आकार का है। इसका व्यास धरती के व्यास के 72 फीसद के बराबर है और घन धरती के 55 फीसद के बराबर।