UP Election 2022: आगरा में जमकर उठा सुरक्षा का मुद्दा, महिलाएं बोलीं- हमें सरकार से नहीं, विकास से मतलब

उत्तर प्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए 'अमर उजाला' का चुनावी रथ 'सत्ता का संग्राम' आज यानी सोमवार

Upelections 2022, Agra

27-11-2021 14:18:00

UP Election 2022: आगरा में जमकर उठा सुरक्षा का मुद्दा, महिलाएं बोलीं- हमें सरकार से नहीं, विकास से मतलब UPElections2022 Agra

उत्तर प्रदेश में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए 'अमर उजाला' का चुनावी रथ 'सत्ता का संग्राम' आज यानी सोमवार

जमकर उठा महिला सुरक्षा का मुद्दाशैलजा दुबे ने कहा कि पहले थोड़ा ज्यादा डर लगता था लेकिन अब थोड़ा सुरक्षित महसूस करती हूं। पुलिस की 112 नंबर की गाड़ी दिखाई देती है। अपराध पर लगाम लगा है लेकिन आगरा में अभी भी नौ बजे के बाद ऐसी लाइफ नहीं है कि लड़कियां आराम से सुरक्षित होकर बाहर जा सके। पूनम लोहिया ने कहा कि काफी हद तक सुधार हुआ है लेकिन इतना नहीं है कि लड़कियां सुरक्षित होकर बाहर जा सके। यहां सड़कें काफी खराब हैं। वो अच्छी होनी चाहिए। आगरा में मेट्रो आ रही है। इससे विकास होगा। उन्होंने आगे कहा कि महिलाएं काफी चीजों में आगे हुईं हैं लेकिन अभी भी महिलाओं को लेकर काफी फ्रीडम नहीं हैं।

NDTV INDIA

ऋचा ने कहा कि आगरा में महिलाओं की सुरक्षा इतनी अच्छी नहीं है, जितनी होनी चाहिए। यहां पर शाम पांच बजे के बाद महिलाएं सुरक्षित नहीं होती हैं। यहां पर कोई पुलिस की गाड़ी नहीं होती, अगर कोई महिला किसी को पुकारे तो वो उनकी बात सुन सके। इस महिला ने आगे कहा कि टोल फ्री नंबर पर कोई फोन किया जाता है तो कोई उठाता नहीं है तो महिलाएं यहां पर असुरक्षित हैं। शैलजा दुबे ने योगी सरकार की तारीफ की। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में योगी सरकार ने अच्छा प्रबंधन किया था। योगी जी सरकार में बाल बाल बचे। शायद और कोई सरकार होती तो पता नहीं किया होता। अनुराधा सिंह ने कहा कि महिलाओं के लिहाज से आगरा बेहतर है। पहले से बेहतर और होता जा रहा है। जब से मोदी और योगी जी की सरकार आई तब से हमलोग सुरक्षित हैं।

70 वर्षीय बुजुर्ग महिला प्रभा ने कहा कि अपराध के मामले बहुत बढ़ रहे हैं। छोटी छोटी बच्चियों के साथ रेप की घटनाएं सामने आ रही हैं। तीन-तीन और चार-चार साल की उम्र की लड़कियों के साथ बलात्कार के मामले सामने आ रहे हैं। हम जब छोटे थे तब इतना नहीं सुनते थे। विकास तो होता जा रहा है पर अपराध पर लगाम लगाना बहुत जरूरी है। यहां गंदगी बहुत ज्यादा है। वर्तमान सरकार से खुश हैं के सवाल पर इस बुजुर्ग महिला ने कहा कि समय के हिसाब से ठीक है। वर्तमान सरकार विकास करने का प्रयास कर रही है और वे किसी में सफल हो पा रहे हैं और किसी में असफल। headtopics.com

वही्, अनुराधा सिंह ने कहा कि पहले हम अपनी जिम्मेदारी समझे तब सरकार को दोष दें। स्वाती ने कहा कि पर्यटन के लिहास से थोड़ा और विकास होना चाहिए। कोरोना की वजह से पिछले दो साल से पर्यटन स्थल बंद थे। सब क्षेत्रों में विकास हो रहा है और वर्तमान सरकार से उम्मीद है कि वह इसमें और बेहतर करने का प्रयास करेगी। अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट की मांग थी लेकिन किसी भी सरकार ने इसको पूरा नहीं कर पाया। उन्होंने आगे कहा कि हां जेवर एयरपोर्ट नजदीक है जिसका फायदा हम उठा पाएंगे।

Republic Day Parade में झारखंड की झांकी को भी जगह नहीं, मंत्री बोले- देश इतिहास जानने से वंचित रह जाएगा

कोई भी सरकार आए पर विकास करेगीता ओझा ने कहा कि यहां पर विकास तो होता है पर बहुत स्लो होता है। काफी कुछ हुआ है पर धीरे धीरे हुआ है। यहां काम को खींचा जाता है। मेट्रो शहर जैसे दिल्ली जयपुर में तेजी के साथ काम होता है। यहां पर खाने वाले ज्यादा हैं और काम करने वाले कम। विकास तो काफी हुआ है लेकिन स्लो हुआ है। हमें सरकार से मतलब नहीं हमे विकास से मतलब। कोई भी सरकार आए पर विकास करे और ढंग से करे।

यहां के लोगों में मानवीय संवेदना की कमी35 साल से आगरा में रह रहीं डॉ सुमन अग्रवाल ने कहा कि यहां के लोगों में मानवीय संवेदना की बहुत कमी है। जो लोग हैं वो किसी भी व्यक्ति की वास्तविकताओं को नहीं समझते हैं और उनको मदद करने की कोशिश भी नहीं करते हैं। मेरा कहना ये है कि हमारे लिए जो भी सरकार आए या जो भी प्रतिनिधि चुना जाए वो ऐसा होना चाहिए, जो व्यक्तिवादी न होकर समाज के हित की सोचे और मानवीय संवेदना से परिपूर्ण हो।

विस्तार को देश की आधी आबादी के बीच पहुंचा। ताज की नगरी आगरा में महिलाओं ने सुरक्षा, विकास सहित अन्य मुद्दों पर खुलकर बात की। इस दौरान देश की आधी आबादी ने वर्तमान सरकार के कामकाज की तारीफ भी और कुछ कमियां भी गिनाई। पढ़िए किसने क्या कहा?विज्ञापनजमकर उठा महिला सुरक्षा का मुद्दा headtopics.com

राहुल का पीएम पर वार: कहा- चीन बना रहा पैंगोंग झील पर पुल, डर है मोदी न चले जाएं उद्घाटन करने

शैलजा दुबे ने कहा कि पहले थोड़ा ज्यादा डर लगता था लेकिन अब थोड़ा सुरक्षित महसूस करती हूं। पुलिस की 112 नंबर की गाड़ी दिखाई देती है। अपराध पर लगाम लगा है लेकिन आगरा में अभी भी नौ बजे के बाद ऐसी लाइफ नहीं है कि लड़कियां आराम से सुरक्षित होकर बाहर जा सके। पूनम लोहिया ने कहा कि काफी हद तक सुधार हुआ है लेकिन इतना नहीं है कि लड़कियां सुरक्षित होकर बाहर जा सके। यहां सड़कें काफी खराब हैं। वो अच्छी होनी चाहिए। आगरा में मेट्रो आ रही है। इससे विकास होगा। उन्होंने आगे कहा कि महिलाएं काफी चीजों में आगे हुईं हैं लेकिन अभी भी महिलाओं को लेकर काफी फ्रीडम नहीं हैं।

ऋचा ने कहा कि आगरा में महिलाओं की सुरक्षा इतनी अच्छी नहीं है, जितनी होनी चाहिए। यहां पर शाम पांच बजे के बाद महिलाएं सुरक्षित नहीं होती हैं। यहां पर कोई पुलिस की गाड़ी नहीं होती, अगर कोई महिला किसी को पुकारे तो वो उनकी बात सुन सके। इस महिला ने आगे कहा कि टोल फ्री नंबर पर कोई फोन किया जाता है तो कोई उठाता नहीं है तो महिलाएं यहां पर असुरक्षित हैं। शैलजा दुबे ने योगी सरकार की तारीफ की। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में योगी सरकार ने अच्छा प्रबंधन किया था। योगी जी सरकार में बाल बाल बचे। शायद और कोई सरकार होती तो पता नहीं किया होता। अनुराधा सिंह ने कहा कि महिलाओं के लिहाज से आगरा बेहतर है। पहले से बेहतर और होता जा रहा है। जब से मोदी और योगी जी की सरकार आई तब से हमलोग सुरक्षित हैं।

70 वर्षीय बुजुर्ग महिला प्रभा ने कहा कि अपराध के मामले बहुत बढ़ रहे हैं। छोटी छोटी बच्चियों के साथ रेप की घटनाएं सामने आ रही हैं। तीन-तीन और चार-चार साल की उम्र की लड़कियों के साथ बलात्कार के मामले सामने आ रहे हैं। हम जब छोटे थे तब इतना नहीं सुनते थे। विकास तो होता जा रहा है पर अपराध पर लगाम लगाना बहुत जरूरी है। यहां गंदगी बहुत ज्यादा है। वर्तमान सरकार से खुश हैं के सवाल पर इस बुजुर्ग महिला ने कहा कि समय के हिसाब से ठीक है। वर्तमान सरकार विकास करने का प्रयास कर रही है और वे किसी में सफल हो पा रहे हैं और किसी में असफल।

आगरा, उत्तर प्रदेश चुनाव 2022, महिलाओं से चर्चा- फोटो : अमर उजालावही्, अनुराधा सिंह ने कहा कि पहले हम अपनी जिम्मेदारी समझे तब सरकार को दोष दें। स्वाती ने कहा कि पर्यटन के लिहास से थोड़ा और विकास होना चाहिए। कोरोना की वजह से पिछले दो साल से पर्यटन स्थल बंद थे। सब क्षेत्रों में विकास हो रहा है और वर्तमान सरकार से उम्मीद है कि वह इसमें और बेहतर करने का प्रयास करेगी। अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट की मांग थी लेकिन किसी भी सरकार ने इसको पूरा नहीं कर पाया। उन्होंने आगे कहा कि हां जेवर एयरपोर्ट नजदीक है जिसका फायदा हम उठा पाएंगे। headtopics.com

कोई भी सरकार आए पर विकास करेगीता ओझा ने कहा कि यहां पर विकास तो होता है पर बहुत स्लो होता है। काफी कुछ हुआ है पर धीरे धीरे हुआ है। यहां काम को खींचा जाता है। मेट्रो शहर जैसे दिल्ली जयपुर में तेजी के साथ काम होता है। यहां पर खाने वाले ज्यादा हैं और काम करने वाले कम। विकास तो काफी हुआ है लेकिन स्लो हुआ है। हमें सरकार से मतलब नहीं हमे विकास से मतलब। कोई भी सरकार आए पर विकास करे और ढंग से करे।

यहां के लोगों में मानवीय संवेदना की कमी35 साल से आगरा में रह रहीं डॉ सुमन अग्रवाल ने कहा कि यहां के लोगों में मानवीय संवेदना की बहुत कमी है। जो लोग हैं वो किसी भी व्यक्ति की वास्तविकताओं को नहीं समझते हैं और उनको मदद करने की कोशिश भी नहीं करते हैं। मेरा कहना ये है कि हमारे लिए जो भी सरकार आए या जो भी प्रतिनिधि चुना जाए वो ऐसा होना चाहिए, जो व्यक्तिवादी न होकर समाज के हित की सोचे और मानवीय संवेदना से परिपूर्ण हो।

विज्ञापनआपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है?

और पढो: Amar Ujala »

चुनावों का सबसे बड़ा Opinion Poll: देखिए #DNA LIVE Sudhir Chaudhary के साथ

Ye news bhi biki hui hai mujhe aaj pata chala...... Yogi Ji abhi jage UP ka 8 line se 12 line hone wala hai

नीट पीजी काउंसलिंग में हो रही देरी से डाक्टर नाराज, कल से करेंगे देशव्यापी हड़तालनेशनल एलिजिबिलिटी एंट्रेंस टेस्ट पोस्टग्रेजुएट (NEET PG) काउंसलिंग 2021 में हो रही देरी से नाराज फेडरेशन आफ रेजिडेंट डाक्टर्स एसोसिएशन (FORDA) ने शनिवार से देशव्यापी हड़ताल का आह्वान किया है। सुप्रीम कोर्ट में ईडब्ल्यूएस कोटा मानदंड पर निर्णय लंबित है। इसी वजह से देरी हो रही है।

फ्रांस में नहीं लगेगा LockDown, कोरोना से जंग में बूस्टर डोज बना हथियारपेरिस। फ्रांस ने देश में कोरोनावायरस संक्रमण के मामले चिंताजनक रूप से बढ़ रहे हैं। लेकिन इसके बावजूद सरकार ने देश में फिर से लॉकडाउन लगाने के बजाय सभी वयस्कों को कोविड-19 रोधी टीके की 'बूस्टर डोज' (अतिरिक्त खुराक) देने का फैसला किया है। फ्रांस में कोविड-19 के दैनिक मामलों की संख्या 30,000 से पार चली गई है। अस्पतालों में भर्ती होने और संक्रमण से मौत के मामले भी बढ़ रहे हैं।

क्या डेल्टा से ज़्यादा ख़तरनाक हो सकता है कोरोना का नया वेरिएंट, भारत में भी अलर्टदुनियाभर में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट को लेकर चिंता जताई जा रही है। इसे अब तक का सबसे ज़्यादा म्यूटेशन वाला वेरिएंट बताया जा रहा है। इसमें इतने ज़्यादा म्यूटेशन हैं कि इसे एक वैज्ञानिक ने डरावना बताया है तो दूसरे वैज्ञानिक ने इसे अब तक सबसे ख़राब वेरिएंट कहा है।

दिल्ली: निगम चुनाव से पहले कांग्रेस में बड़ी सेंधमारी, AAP में शामिल होंगे मुकेश गोयलचुनावों की तैयारियों में जुटे राजनीतिक दल किसी भी सूरत में अपनी पार्टी को मजबूत करना चाहते हैं. दिल्ली में आम आदमी पार्टी ने कांग्रेस में सेंधमारी करते हुए कांग्रेस दल के नेता को झटक लिया है. नगर निगम में कांग्रेस दल के नेता मुकेश गोयल आज आम आदमी पार्टी में शामिल होंगे.

देश में तेजी से बढ़ रहा टीकाकरण का आंकड़ा, बूस्टर डोज को लेकर सरकार पर दबावयूरोपीय संघ का मानना है कि टीके की दोनों डोज लेने के नौ महीने के बाद किसी व्यक्ति के शरीर में कोरोना वायरस के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता खत्म हो जाती है यानी उसके बाद वह फिर से संक्रमित होकर नए सिरे से संक्रमण फैलाने का कारण बन सकता है। *भारत की चुनाव रैलियों की कसम* 'ओमिक्रॉन' अफ्रीका वायरस तुझे इस बार देश में घुसने नहीं देंगे Sirf medicine bechane ke liye hai drug mafia ka Kamal hai

Corona new Variant: दक्षिण अफ्रिका में मिले कोरोना के नए Variant से दुनिया में मचा हड़कंप !कोरोना के नए वेरिएंट की खबर से पूरी दुनिया में एक बार फिर से दहशत फैल गई है। कोरोना का यह नया रूप दक्षिण अफ्रिका में मिला है, जिसे B.1.1.529 नाम दिया गया है।...