Asaduddin Owaisi, Dr Kafeel Khan, Cm Yogi, Nsa, Nsa Kafeel Khan, Asaduddin Owaisi News, Kafeel Khan News

Asaduddin Owaisi, Dr Kafeel Khan

UP पुलिस ने डॉ. कफील पर लगाया NSA तो औवेसी बोले- एक डॉक्टर नहीं, 'ठोक देंगे' बयान देने वाले हैं राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा

UP पुलिस ने डॉ. कफील पर लगाया NSA तो औवेसी बोले- एक डॉक्टर नहीं, 'ठोक देंगे' बयान देने वाले हैं राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा

15-02-2020 07:17:00

UP पुलिस ने डॉ. कफील पर लगाया NSA तो औवेसी बोले- एक डॉक्टर नहीं, 'ठोक देंगे' बयान देने वाले हैं राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा

सीएए के खिलाफ अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के सिलसिले में मथुरा जिला कारागार में कैद डॉ कफील खान की जमानत पर शुक्रवार को रिहाई से पहले ही उन पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) लगा दिया गया है.

बता दें, संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के खिलाफ अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय में कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के सिलसिले में मथुरा जिला कारागार में कैद डॉ कफील खान की जमानत पर शुक्रवार को रिहाई से पहले ही उन पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) लगा दिया गया है.

भोपाल में फ़्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों के ख़िलाफ़ प्रदर्शन में क्या क्या हुआ - BBC News हिंदी ‘महाभारत’ में ‘दुर्योधन’ बने पुनीत इस्सर बनाएंगे पालघर घटना पर फिल्म, संतों ने किया समर्थन तुर्की और अमरीका के बीच क्यों बढ़ रहा है तनाव - BBC News हिंदी

In UP, NSA has been repeatedly used by Yogi to target & persecute Dalits, Muslims & dissidents. A doctor is not a threat to national security. A CM saying “thok denge” & “boli nahi toh goli” is definitely a threat to national security#RepealNSA#ReleaseDrKafeel

— Asaduddin Owaisi (@asadowaisi) February 14, 2020उप्र स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने खान को मुम्बई हवाईअड्डा से 29 जनवरी को गिरफ्तार किया था. शुक्रवार को मथुरा के जिला कारागार से रिहा किए जाने से पहले उन पर रासुका लगा दिया गया. इस तरह, 10 फरवरी को अलीगढ़ के मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा उन्हें जमानत पर रिहा किए जाने के लिए दिए गए आदेश पर अमल की उम्मीद समाप्त हो गई.

डॉ कफील की मुश्किलें बरकरार, ज़मानत मिलने के बावजूद रिहाई के बजाय लगा NSAजेल अधीक्षक शैलेंद्र कुमार मैत्रेय ने बताया था, ‘डॉ. कफील खान, पुत्र शकील खान की रिहाई का आदेश गुरुवार देर शाम मिला था. इसलिए उनकी रिहाई आज (शुक्रवार) सुबह की जानी थी. लेकिन इससे पहले ही राज्य सरकार द्वारा उनके खिलाफ रासुका लगाए जाने की जानकारी मिली, जिसके अनुसार उन्हें रिहा करना संभव नहीं था. इसलिए रिहाई की कार्यवाही टाल दी गई.' उन्होंने एक सवाल के जवाब में बताया, ‘‘रासुका के तहत डॉ. कफील को अगले एक साल तक जेल में ही निरुद्ध रखा जा सकता है.'

वहीं, डॉ कफील के भाई अदील अहमद खान ने बताया, ‘...जिस तरह से रिहाई में देर की जा रही थी, उससे हमें पहले से ही आशंका हो गई थी कि राज्य सरकार उन पर रासुका की कार्यवाही कर सकती है.'डॉक्टर कफील खान को यूपी STF ने मुंबई से किया गिरफ्तार, AMU में भड़काऊ भाषण देने का आरोप

उन्होंने बताया, (मथुरा) जेल शुक्रवार सुबह छह बजे रिहा करने वाला था. मेरे भाई कशीफ वकील के साथ जेल पहुंचे लेकिन सुबह नौ बजे तक जेल में पुलिस की मौजूदगी बढ़ा दी गई और हमें जेल अधिकारियों ने मौखिक रूप से कहा कि उन पर (कफील पर) रासुका लग गया है.' उन्होंने कहा, ‘यह कार्यवाही गैरकानूनी है. हम उच्च न्यायालय जाएंगे, जहां इस आदेश को निरस्त कर दिया जाएगा.'

रवीश कुमार का ब्लॉग: सरकार जब पीछे पड़ जाए तो क्या होता है?टिप्पणियांएएमयू में सीएए विरोधी एक प्रदर्शन के दौरान पिछले साल 12 दिसंबर को कथित तौर पर भड़काऊ भाषण देने के सिलसिले में डॉ कफील के खिलाफ अलीगढ़ के सिविल लाइंस थाने में मामला दर्ज किया गया था. डॉक्टर कफील खान को अगस्त 2017 में गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में कथित रूप से ऑक्सीजन की कमी की वजह से हुई 60 से ज्यादा बच्चों की मौत के मामले में गिरफ्तार किया गया था. करीब 2 साल के बाद जांच में खान को सभी प्रमुख आरोपों से बरी कर दिया गया था.

नो रिस्‍क का बेस्‍ट ऑप्‍शन बना गोल्‍ड ETF, इस साल न‍िवेशकों ने लगाए 6 हजार करोड़ मुंबई: फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ प्रदर्शन, BJP ने शिवसेना को घेरा चुनाव आयोग ने कमलनाथ का स्टार प्रचारक का दर्जा छीना, अब प्रचार किया तो पूरा खर्च कैंडिडेट उठाएगा और पढो: NDTVIndia »

Bihar Election 2020: पहले चरण की वोटिंग से पहले क्या सोचती है बिहार की जनता? देखें श्वेतपत्र

बिहार में चुनाव है, इसलिए हर तरफ वादों की बौछार है. चुनावों की दो तस्वीरें होती हैं. एक वो तस्वीर होती है, जिसे सत्ता पक्ष दिखाना चाहता है, दूसरी तस्वीर वो होती है, जो हकीकत में जमीन पर नजर आती है. गांव से शहर तक लोगों के लिए वे मुद्दे कौन से हैं, जो निर्णाय होगें? कोरोना की जिम्मेदारियों ने रूप रंग बदल लिया लेकिन चुनावी मैदान के तेवर नहीं बदले. नवरात्रि के कठिन उपवास के दौरान भी पीएम मोदी चुनावी मैदान में एनडीए का रथ हांकते रहे. देखिए चुनाव में क्या है बिहार की जनता का मूड, श्वेतपत्र में, श्वेता के साथ.

महराज जी चर्बी कम करने कि दवा जानते हैं आप समझ लीजिए dr. Kafeel. का ईलाज चालू है 100% सही है डा. कफिल के साथ नाइंसाफी हो रही है Absolutely right 💯👍 I totally agree with you Sir 🙏🇮🇳🙏🇮🇳🙏 Very good step takeing by Up police. Jo insan bihar me flood victims ko bina fee lilaj karta tha sirf insaniyat k liye uski ye saja they hate only muslims name Islamicfobia is spreading by this govt...

Do. Kafeel ko riha karo ओवैसी ही देश का खतरा है यह हमें बताएगा कौन सही है कौन गलत है Those who doesn't care for communal harmony, discriminates with public and are dividing the society, on religious lines, restricting the freedom of movements have became the advocates of public safety as well as national security

बहुत बुरा लग रहा है लेकिन एक डाक्टर की ने क्या किया ये नहीं समझा! DrKafeel_ko_RihaKaro इसके भाई का बयान ही इनकी तहजीब है हिन्दू समझ रहा है इनका शाहीनबाग से एक और पाकिस्तान बनाने के सपने को कुचला जाएगा ? asadowaisi is absolutely right. 100% correct, Then why no action through court, I hope the court judge wants to go out from India as per yesterday statement

usko sirf isliye giraftar kiya hai kyuki wo ek musalman hai . yeh sanghi mere musalman bhaiyo p itna tashadud kr rahe hai, mere apne muslman bhaiyo s yehi kehna hai yeh waqt b beet jayega , hum honge kamyab is mulk ko bachayenge yeh karz hai hum sab par .ap log hosla na harei यह डॉक्टर नहीं है यह जल्लाद है डॉक्टर के नाम पर एक धब्बा है

दिल्ली में हार के बाद कांग्रेस में बदलाव की मांग, राज्यसभा सीटों पर खींचतान के आसारइस साल कांग्रेस के18 सदस्य राज्यसभा से सेवानिवृत्त हो रहे हैं, हालांकि कांग्रेस राज्यसभा में सिर्फ 9 सदस्य भेज सकती है. 😂क्यू मजाक करते हो भाई अभी दो चार दिन पहले तो ये सब अपनी हार को सेलिब्रेट कर रहे थे सभी सैलरी पेड नौकर चाकर हैं बौस तो राहुल गांधी है। बीजेपी को रोकने के चक्कर में काग्रेंस खत्म हो गई, चमचों ने बाप बदल लिया,

महबूबा-उमर के बाद कश्मीर में अब शाह फैसल पर एक्शन, PSA के तहत मुकदमापूर्व आईएएस शाह फैसल पर जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने पब्लिक सिक्योरिटी एक्ट लगाया गया है. शाह फैसल पर PSA के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. IAS की नौकरी छोड़कर राजनीति में आने वाले शाह फैसल जम्मू एंड कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट के अध्यक्ष हैं. बता दें कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के बाद शाह फैसल को पिछले साल 14 अगस्त को सीआरपीसी की धारा 107 के तहत गिरफ्तार किया गया था. ShujaUH ShujaUH बहुत मजे ले लिए थे इन गद्दारो ने कश्मीर में अब वक्त है इन गद्दारो को इन्ही की भाषा मे समझाने का ShujaUH KLPD ho gaya 🤣😂

डॉ कफील की मुश्किलें बरकरार, ज़मानत मिलने के बावजूद रिहाई के बजाय लगा NSA29 जनवरी की रात को उप्र की स्पेशल टास्क फोर्स द्वारा मुम्बई एयरपोर्ट से गिरफ्तार कर कफील को अलीगढ़ में मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया था. NSA he hi musalmano or dalito ke liye Good one yogi! Up Police has never detained it's CM for so called Bhadkaau Bhashan. Selective Law Enforcement is so deadly for a country.

असम में डाटा गायब होने के मामले में पूर्व एनआरसी अधिकारी के खिलाफ एफआईआरअसम में डाटा गायब होने के मामले में पूर्व एनआरसी अधिकारी के खिलाफ एफआईआर CAA Assam FIR CAA_NRCProtests DetentionCenter HMOIndia HMOIndia केवल उस है बली का बकरा बनाया क्यूं जा रहा है ? Chronology master के खिलाफ भी कार्रवाई होनी चाहिए। HMOIndia जान बूझकर गायब किया होगा। HMOIndia Important information/data is handled by contract employee,what is going on.

सचिन के फैंस के लिए खुशखबरी, इस दिग्गज के साथ बैटिंग करते दिखेंगे मुंबई मेंCricket: क्रिकेट फैंस को भारत में होने वाली रोड सेफ्टी वर्ल्ड सीरीज सचिन लारा सहित कई दिग्गजों को खेलते देखने को मिलेगा. sachin_rt Wow

छत्तीसगढ़ जिला पंचायत चुनाव में 20 जिलों में कांग्रेस और 7 में भाजपा के अध्यक्ष निर्वाचितछत्तीसगढ़ जिला पंचायत चुनाव में 20 जिलों में कांग्रेस और 7 में भाजपा के अध्यक्ष निर्वाचित Chhattisgarh ChhattisgarhZillaPanchayatElection जनता जाग गयी है