UN सुरक्षा परिषद में भारत को मिलेगी अस्थाई सदस्यता? चीन-पाकिस्तान भी समर्थन में

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में सदस्यता को लेकर भारत को मिल सकती है कामयाबी

26-06-2019 11:17:00

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में सदस्यता को लेकर भारत को मिल सकती है कामयाबी

ये सदस्यता 2021-22 यानी दो साल के लिए होगी. ऐसा पहली बार नहीं है, जब भारत सुरक्षा परिषद का अस्थाई सदस्य बनेगा. इससे पहले भी वह सात बार इस श्रेणी में शामिल हो चुका है.

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थाई प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने बुधवार सुबह ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी. उन्होंने एक वीडियो ट्वीट किया है जिसमें जानकारी दी गई है कि एशिया-पैसेफिक ग्रुप के 55 देश भारत की सदस्यता का समर्थन कर रहे हैं. इन देशों में अफगानिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, सउदी अरब, ईरान, चीन और पाकिस्तान शामिल हैं.

बिहार चुनाव: मोदी की सभा से लौटती भीड़, राहुल की रैली में तेजस्वी की गूँज - BBC News हिंदी पश्चिम बंगाल : TMC सांसद का राज्यपाल पर निशाना, बोले- जगदीप धनखड़ 'BJP के लाउडस्पीकर' फ़्रांस: चाकू से हमले में तीन लोगों की मौत, एक महिला का सिर काटा गया - BBC News हिंदी

A unanimous step.Asia-Pacific Group @UN unanimously endorses India’s candidature for a non-permanent seat of the Security Council for 2 year term in 2021/22.Thanks to all 55 members for their support. 🙏🏽 pic.twitter.com/ekNhEa19U1— Syed Akbaruddin (@AkbaruddinIndia) June 26, 2019 सैयद अकबरुद्दीन ने इन सभी देशों को भारत की सदस्यता का समर्थन करने के लिए शुक्रिया भी अदा किया है.

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में कुल 15 सदस्य होते हैं. इनमें 5 सदस्य स्थाई होते हैं, तो वहीं बाकी 10 अस्थाई होते हैं. जो 10 सदस्य अस्थाई होते हैं, वह लगातार 2-2 साल के लिए चुने जाते हैं. इनमें दुनिया के अलग-अलग हिस्सों के लिए 2-2 सीटें चुनी जाती हैं, एशिया पैसेफिक देशों में से दो सदस्यों को चुना जाएगा.

सुरक्षा परिषद में जो पांच सदस्य स्थाई हैं उनमें चीन, फ्रांस, रूस, ब्रिटेन और अमेरिका शामिल हैं. ऐसा पहली बार नहीं है, जब भारत सुरक्षा परिषद का अस्थाई सदस्य बनेगा. इससे पहले भी वह सात बार इस श्रेणी में शामिल हो चुका है.इससे पहले भारत 1950-51, 1967-68, 1972-73, 1977-78, 1984-85, 1991-92 और 2011-12 UNSC का अस्थाई सदस्य रहा था. 2011-12 में हरदीप सिंह पुरी, UN में भारत के प्रतिनिधि थे. जो अब मोदी सरकार में मंत्री हैं.

और पढो: आज तक »

Bihar Election 2020: पहले चरण की वोटिंग से पहले क्या सोचती है बिहार की जनता? देखें श्वेतपत्र

बिहार में चुनाव है, इसलिए हर तरफ वादों की बौछार है. चुनावों की दो तस्वीरें होती हैं. एक वो तस्वीर होती है, जिसे सत्ता पक्ष दिखाना चाहता है, दूसरी तस्वीर वो होती है, जो हकीकत में जमीन पर नजर आती है. गांव से शहर तक लोगों के लिए वे मुद्दे कौन से हैं, जो निर्णाय होगें? कोरोना की जिम्मेदारियों ने रूप रंग बदल लिया लेकिन चुनावी मैदान के तेवर नहीं बदले. नवरात्रि के कठिन उपवास के दौरान भी पीएम मोदी चुनावी मैदान में एनडीए का रथ हांकते रहे. देखिए चुनाव में क्या है बिहार की जनता का मूड, श्वेतपत्र में, श्वेता के साथ.

UNSCN un still in WW mode, US, Fra, UK, Rus & Chn the allies controlling world. ? बकवास। Kab se sun rha hu ye paid news Very good news for our nation Joy hind Jai Hind

राज्यसभा में बोले गुलाम नबी आजाद- नए भारत में आदमी एक-दूसरे के दुश्मनवरिष्ठ कांग्रेसी नेता गुलाम नबी आजाद ने राज्यसभा में बोलते हुए कहा कि पुराने भारत में नफरत, मॉबलिंचिंग और जनता में गुस्सा नहीं था. नए भारत में आदमी ही आदमी का दुश्मन है. Acha in chacha jaan se pucho duniya Mai atank felaake aur stone pelting karke nirdosho par kon lynching kara hai 😢😰😢 भड़वे गुलाम, कभी कश्मीरी पंडित के बारे मे भी बोलदेते ये भी झूठा है कश्मीर में पंडितो के साथ हुआ वो क्या मॉब लिंचिंग ओर नफ़रत नहीं थी ।

भारत के सेमी फ़ाइनल में पहुंचने के रास्ते में क्या हैं रोड़े- विश्व कप क्रिकेटइंग्लैंड में चल रहे मौजूदा विश्व कप क्रिकेट में अफ़ग़ानिस्तान पर बांग्लादेश की जीत और दक्षिण अफ़्रीका पर पाकिस्तान की जीत ने समीकरण को काफ़ी रोचक बना दिया है। अंक के आधार पर टॉप चार टीमें सेमी फ़ाइनल के लिए क्वालिफ़ाई करेंगी। इस प्रतियोगिता में 10 टीमें हिस्सा ले रही हैं। सभी टीमों को नौ-नौ मैच खेलने हैं।

भारत के सेमी फ़ाइनल में पहुँचने के रास्ते में क्या हैं रोड़ेइंग्लैंड में चल रहे मौजूदा विश्व कप में कुछ उलटफेर पूरे समीकरण बदल सकते हैं. जानिए कैसे. BBC की कल्पना 😛😂 गांन मार लिया aussi ने इंग्लैंड की.. उनकी चिंता कर भोस्दी के I want to say for BBC Nikal India se 👿

बिहार में डॉक्टर की लापरवाहीः बाएं हाथ में फ्रैक्चर और दाएं हाथ में चढ़ाया प्लास्टरबिहार के अस्पतालों में लापरवाही की जड़ें कितनी गहरी हो चुकी हैं इसकी गवाह है बच्चे के साथ हुई एक घटना। फैजान नाम का NitishKumar Aarakshan ka kamal NitishKumar और बैठाओ आरक्षण वालों को।। NitishKumar चिकित्सक ऐसी लापरवाही कैसे कर सकता है।

रिपोर्ट में दावा- जैश सरगना मसूद अजहर रावलपिंडी के आर्मी हॉस्पिटल में हुए धमाके में जख्मीरिपोर्ट्स में दावा- मसूद अजहर किडनी के इलाज के लिए सेना के अस्पताल में भर्ती था सेना और सरकार ने घटना पर कोई बयान नहीं जारी किया मीडिया को रिपोर्टिंग से रोका गया, किसी को अस्पताल में जाने की इजाजत नहीं | Masood Azhar pakistan army : आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद का सरगना पाकिस्तान आर्मी के एक हॉस्पिटल में हुए धमाके में घायल हो गया है। मीडिया रिपोर्ट्स में यह दावा किया गया है। 72 हूरो के पास नहीं गया Jaisee karni. Vaisee bharni.

मुश्किल में चंद्रबाबू: पहले बंगला तोड़ने का आदेश, अब जगन मोहन सरकार ने वापस ली सुरक्षामुश्किल में चंद्रबाबू: पहले बंगला तोड़ने का आदेश, अब जगन मोहन सरकार ने वापस ली सुरक्षा chandrababunaidu jaganMohanReddy Yeh galat kiya boss, naidu ke upar risk hai, naxal wale piche hai 👆🤔 Bahut hi sunder Good Ab aaegi akal thikane