Un, Coronavaccine, Brazil, Uk Travel Guidelines, Uk Quarantine Rules, Us Covid Travel Rules, Covid-Related Travel Rules, F Covid Vaccine, Covid Vaccine Passports, United Nations General Assembly, Un General Assembly

Un, Coronavaccine

UN में कोरोना वैक्सीन पर विवाद: न्यूयॉर्क के अधिकारियों ने महासभा के हॉल में घुसने से पहले वैक्सीनेशन के सबूत मांगे, ब्राजील के राष्ट्रपति ने सड़क पर पिज्जा खाकर गुजारी रात

UN में कोरोना वैक्सीन पर विवाद: न्यूयॉर्क के अधिकारियों ने महासभा के हॉल में घुसने से पहले वैक्सीनेशन के सबूत मांगे, ब्राजील के राष्ट्रपति ने सड़क पर पिज्जा खाकर गुजारी रात #UN @UN #CoronaVaccine #Brazil

24-09-2021 08:01:00

UN में कोरोना वैक्सीन पर विवाद: न्यूयॉर्क के अधिकारियों ने महासभा के हॉल में घुसने से पहले वैक्सीनेशन के सबूत मांगे, ब्राजील के राष्ट्रपति ने सड़क पर पिज्जा खाकर गुजारी रात UN UN CoronaVaccine Brazil

संयुक्त राष्ट्र महासभा का 76वां सालाना सत्र कोरोना के चलते विवादों में घिर गया है। एक तरफ मेजबान न्यूयॉर्क के अधिकारियों ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के मुख्य हॉल में पहुंचने वाले सभी राष्ट्राध्यक्षों, सरकारों के प्रमुखों, राजाओं और राजनेताओं पर पूरी तरह वैक्सीनेटेड होने की शर्त लगा दी, तो दूसरी तरफ वैक्सीन के धुर विरोधी ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो और रूस ने इसका पुरजोर विरोध किया है... | Everything You Need To Know About UK COVID Vaccine Travel Controversy दरअसल, न्यूयॉर्क के स्थानीय अधिकारियों ने कोरोना वैक्सीनेशन के सर्टिफिकेट के बिना किसी भी विदेशी राजनेताओं को न्यूयार्क के रेस्टोरेंट्स में भी डिनर की इजाजत नहीं है।

UN में कोरोना वैक्सीन पर विवाद:न्यूयॉर्क के अधिकारियों ने महासभा के हॉल में घुसने से पहले वैक्सीनेशन के सबूत मांगे, ब्राजील के राष्ट्रपति ने सड़क पर पिज्जा खाकर गुजारी रातएक घंटा पहलेवीडियोसंयुक्त राष्ट्र महासभा का 76वां सालाना सत्र कोरोना के चलते विवादों में घिर गया है। एक तरफ मेजबान न्यूयॉर्क के अधिकारियों ने संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) के मुख्य हॉल में पहुंचने वाले सभी राष्ट्राध्यक्षों, सरकारों के प्रमुखों, राजाओं और राजनेताओं पर पूरी तरह वैक्सीनेटेड होने की शर्त लगा दी, तो दूसरी तरफ वैक्सीन के धुर विरोधी ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो और रूस ने इसका पुरजोर विरोध किया है। आलम यह है कि राष्ट्रपति बोल्सोनारो को अमेरिका में अपनी पहली रात न्यूयॉर्क के साइडवॉक्स (sidewalks) यानी सड़कों पर बिकने वाला पिज्जा खाकर गुजारनी पड़ी। उनके प्रतिनिधिमंडल में शामिल उनके दो मंत्रियों ने साइडवॉक्स में पिज्जा खाते बोल्सोनारो की तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट की हैं।

पाकिस्तान को विराट कोहली की टीम क्या हरा पाने में सक्षम है? - BBC News हिंदी शनिवार को फिर बढ़े दाम, डेढ़ साल में पेट्रोल 36 रुपये और डीज़ल 26.58 रुपये महंगा हुआ - BBC Hindi विराट कोहली पाकिस्तान के ख़िलाफ़ मैच और कप्तानी छोड़ने पर बोले - BBC Hindi

तस्वीर में ब्राजील के राष्ट्रपति जायर बोल्सोनारो अपने साथ न्यूयॉर्क पहुंचे प्रतिनिधिमंडल के साथ सड़क पर पिज्जा खाते नजर आ रहे हैं। ब्राजील के पर्यटन मंत्री गिलसन मचाडो नेटो और एक अन्य मंत्री ने यह फोटो अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर शेयर की है। उन्होंने इसका कैप्शन दिया- “Let’s go for pizza with Coca Cola.”

दरअसल, न्यूयॉर्क के स्थानीय अधिकारियों ने कोरोना वैक्सीनेशन के सर्टिफिकेट के बिना किसी भी विदेशी राजनेता को न्यूयॉर्क के रेस्टोरेंट्स में डिनर तक की इजाजत नहीं दी है।न्यूयॉर्क के मेयर ऑफिस ने वैक्सीन लगवाने के सबूत मांगे15 सितंबर को न्यूयॉर्क के मेयर ऑफिस ने संयुक्त राष्ट्र महासभा को पत्र लिखकर कोरोना गाइडलाइंस के बारे में जानकारी दी। इसके मुताबिक सभी देशों के राष्ट्राध्यक्षों और उनके साथ आने वाले राजनेताओं से संयुक्त राष्ट्र की वार्षिक महासभा के दौरान हॉल में दाखिल होने से पहले पूरी तरह कोरोना वैक्सीनेटेड होने के सबूत देने को कहा गया था। headtopics.com

न्यूयॉर्क के हेल्थ कमिश्नर के सिग्नेचर वाली इस गाइडलाइंस में संयुक्त राष्ट्र के मुख्य हॉल को कन्वेंशन सेंटर घोषित कर दिया गया। मतलब यह कि शहर में होने वाली बाकी इनडोर गतिविधियों की तरह संयुक्त राष्ट्र के हॉल में भी दाखिल होने वाले सभी लोगों को वैक्सीन लगी होनी चाहिए।

महासभा के अध्यक्ष अब्दुल्ला ने किया समर्थनन्यूयॉर्क के अधिकारियों की इस मांग का महासभा के मौजूदा अध्यक्ष और मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने भी समर्थन किया था। बुधवार को जारी एक बयान में न्यूयॉर्क के मेयर बिल डेब्लासियो और अंतरराष्ट्रीय मामलों के कमिश्नर पेनी एबेवर्डेना ने इस मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र के राजनयिकों को धन्यवाद देते हुए उन्हें 'सच्चा न्यूयॉर्कर' कहा।

महासचिव गुतेरेस बोले- नियम लागू करना मुश्किलइसके कुछ घंटों बाद ही संयुक्त राष्ट्र के महासचिव एन्टोनियो गुतेरेस ने कहा कि वे राष्ट्राध्यक्षों पर यह नियम लागू नहीं कर सकते।बोल्सोनारो बोले- वैक्सीन नहीं लगवाएंगेउधर, पिछले साल कोरोना से संक्रमित हो चुके बोल्सोनारो ने कहा कि वैक्सीन लगवाने वाले वो आखिरी ब्राजीलियन होंगे। बोल्सोनारो ने वैक्सीन लगवाने से इनकार करते हुए दावा किया कि वह पहले ही इम्यूनाइज्ड हैं क्योंकि उनके शरीर में एंटीबॉडी की दर काफी अच्छी है।

रूस ने कहा- यह UN चार्टर का उल्लंघन हैसंयुक्त राष्ट्र में रूस के राजदूत वसीली नेबेंज्या ने इसे स्पष्ट रूप से भेदभावपूर्ण करार देते हुए कहा कि यह संयुक्त राष्ट्र संघ के चार्टर का उल्लंघन है। रूसी राजदूत बोले, “हम मानते हैं कि उचित सावधानियों से परे कोई भी ऐसा तरीका नहीं अपनाया जाना चाहिए जो वास्तव में देशों को महासभा के हॉल में होने वाली बैठक में हिस्सा लेने से रोकता हो।” headtopics.com

वंदे मातरम्: 250 गोरखाओं के सामने 4000 पाक सैनिकों का सरेंडर, देखें सिलहट की शौर्यगाथा दो रोमांचक मुक़ाबले के साथ शुरू हुआ वर्ल्ड टी20 महाकुंभ, अगला मैच भारत vs पाकिस्तान - BBC News हिंदी जम्मू और कश्मीर में चुनाव पर गृह मंत्री अमित शाह ने क्या कहा? - BBC Hindi

विदेशी राजनेताओं के वैक्सीनेशन को लेकर यह भी पेचदुनिया के अलग-अलग देश में अलग-अलग तरह की वैक्सीन लगाई जा रही है। इनमें कई वैक्सीन ऐसी भी हैं जिन्हें अमेरिका में इमरजेंसी आथोराइजेशन नहीं दिया गया है। रूस में व्यापक रूप से लगाई जा रही स्पुतनिक V भी ऐसी ही एक वैक्सीन है। स्पुतनिक V को न तो अमेरिका में अनुमति दी गई है और न WHO ने इसे मान्यता दी है।

जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन ऑन अराइवल का प्रपोजलन्यूयॉर्क अधिकारियों ने विदेशी राजनेताओं को जॉनसन एंड जॉनसन की सिंगल शॉट वैक्सीन ऑन अराइवल लगाने की घोषणा की है। इस वैक्सीन को भी तमाम देशों में मान्यता नहीं है। हालांकि इसे WHO ने इमरजेंसी यूज की लिस्ट में शामिल कर रखा है।

अब सबूत नहीं देना पड़ रहा, विशेष ऑनर सिस्टम लागूमहासभा में बोलने से पहले तमाम देशों के नेताओं को कोरोना का टीका लगा हो, यह सुनिश्चित करने के लिए संयुक्त राष्ट्र महासभा ने एक"ऑनर सिस्टम" लागू किया है। इसके तहत राष्ट्रपतियों, प्रधानमंत्रियों, राजा और बाकी महत्वपूर्ण लोगों को टीकाकरण कार्ड या टीकाकरण का कोई दूसरा सबूत नहीं दिखाना होगा। वे महासभा में अपने आईडी बैज को स्वाइप करेंगे तो मान लिया जाएगा कि उनका वैक्सीनेशन हो चुका है।

क्या कहता है extraterritoriality का अंतरराष्ट्रीय कानून?दुनिया के तमाम देशों में कई ऐसे इलाके, बिल्डिंग या लोग होते हैं जिन पर अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत extraterritoriality लागू होती है। मतलब यह कि अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत extraterritorial घोषित इलाकों या लोगों पर उस देश के स्थानीय कानून लागू नहीं होते, जिनमें वो इलाके या लोग मौजूद होते हैं। headtopics.com

आमतौर पर यह छूट विदेशी राजनेताओं, अंतरराष्ट्रीय संगठनों और उनके अधिकारियों, सेना, दूसरे देशों से गुजरने वाली सेना, युद्धपोतों, दूतावासों के परिसर आदि को मिलती है।अमेरिका के सबसे बड़े शहर न्यूयॉर्क में बने संयुक्त राष्ट्र के हेडक्वार्टर को भी extraterritoriality के अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत स्थानीय कानूनों से इम्यूनिटी यानी छूट है। हेडक्वार्टर का पता 760 यूनाइटेड नेशन्स प्लाजा, मैनहैटन, न्यूयॉर्क सिटी है।

1947 में संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका के बीच हुए समझौते के तहत, इस वैश्विक संस्था के पास काफी स्वायत्तता है।पुलिस और अमेरिकी अधिकारियों को UN प्लाजा के अंदर जाने के लिए अनुमति लेनी होती है। इसी तरह अगर अमेरिका का कोई संघीय, राज्य या स्थानीय कानून संयुक्त राष्ट्र के नियमों के विरुद्ध है तो वह इस कैंपस में लागू नहीं होता।

कांग्रेस सदस्यता के नए नियम : शराब और ड्रग्स से दूर रहने की खानी होगी कसम, पार्टी की सार्वजनिक आलोचना न करने की भी शर्त पाकिस्तान और अमेरिका के बीच एक समझौते की चर्चा गर्म - BBC Hindi तृणमूल को राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा दिलाने पर काम कर रहीं ममता, जानिए किन-किन राज्यों में बढ़ाई सक्रियता, पीके की कंपनी कर रही सर्वे

बोल्सोनारो ने सभी नियम दरकिनार कर दिया भाषण, अब क्वारैंटाइनआखिरकार बोल्सोनारो ने UN के सभी नियमों को दरकिनार करते हुए महासभा में भाषण दिया। वे इस साल महासभा में बोलने वाले सबसे पहले राष्ट्राध्यक्ष थे। उनके भाषण से पहले ही उनके साथ न्यूयॉर्क गए ब्राजील के स्वास्थ्य मंत्री मर्सेलो क्विरोगा कोरोना पॉजिटिव पाए गए। उन्हें न्यूयॉर्क में ही आइसोलेट कर दिया गया है। इसके बाद ही राष्ट्रपति बोल्सोनारो समेत उनके साथ गए पूरे प्रतिनिधिमंडल को ब्राजील के हेल्थ रेगुलेटर एनवीजा ने राजधानी ब्रासिलिया में क्वारैंटाइन रहने को कहा है।

इस बार 127 देशों के नेता व्यक्तिगत तौर पर देंगे भाषणइस साल करीब 104 राष्ट्राध्यक्ष/सरकारों के प्रमुखों के अलावा 23 कैबिनेट मंत्री संयुक्त राष्ट्र असेंबली हॉल के मार्बल रोस्ट्रम में व्यक्तिगत रूप से भाषण देंगे।बाकी देशों के नेता वीडियो के जरिए महासभा में बोलेंगे। पिछले साल कोरोना के प्रकोप के चलते सभी नेताओं ने वीडियो के जरिए ही अपनी बात महासभा में रखी थी।

इस बार जो नेता पहुंचेंगे वो अपने साथ ज्यादा से ज्यादा 6 लोगों को ही संयुक्त राष्ट्र के हेडक्वार्टर में ला सकेंगे।हेडक्वार्टर कैंपस में मौजूद संयुक्त राष्ट्र के सभी कर्मचारियों को कोरोना वैक्सीन लगवाई जा चुकी है। और पढो: Dainik Bhaskar »

कामयाबी: सब मेरी शादी कराना चाहते थे, पर मुझे कुछ बड़ा करना था और अब बन गई हूं एंटरप्रेन्योर से इंस्टाग्राम इंफ्लुएंसर

मुझे लगता है मेरा जन्म ही शादी के लिए हुआ था। 12-13 साल की हुई कि घर वालों से लोग बोलने लगे लड़की की शादी नहीं करोगे, इतनी बड़ी हो गई है। गांव जाती तो शादी, गली में निकलती तो शादी, किसी के पास बैठ जाती तो शादी...उफ्फ! हर जगह शादी पुराण सुनकर मैं थक गई थी। मुझे लगता कि क्या मेरी जिंदगी सिर्फ शादी के लिए ही है? मुझे कुछ बड़ा करना था पर क्या! यह नहीं समझ पा रही थी। ये शब्द हैं एंटरप्रेन्योर से इंस्टा... | नेहा नागर बचपन से शादी पुराण से परेशान थीं। सब उनकी शादी के पीछे पड़े थे, लेकिन उन्हें कुछ बड़ा करना था और फिर बन गईं बिजनेसवुमन से इंस्टाग्राम इंफ्लुएंसर

ये दोनो फोटो मैं क्या समझ आता हैं मेरे भारत के प्रधान मंत्री जी की खुशी की कोई सीमा नहीं उनके सात मुलाकात हुई अभी तक ४ ट्वीट कर दिए ओर वोही अमरीका की कमला हैरिस ने एक भी ट्वीट नही डाला इससे क्या प्रतीत होता हैं आपको ? UN Kbi to railway group d ka muda bi uta liya kro aap

जम्मू-कश्मीर के शोपियां में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकवादी ढेरपुलिस ने कहा कि हमले के बाद पूर्ण जांच की गई और सूत्रों से मिली कुछ जानकारियों के आधार पर काशना गांव में एक घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया गया. इस दौरान अनायत ने तलाश दल पर गोलियां चलाईं. rajnathsingh कहा हो आप? देख रहो है ना.... कल कहोगे, कुछ हुवा ही नही,

जनसुनवाई बनी मजाक: सीएमओ के पैरों पर गिरी महिला बोली- साहब मदद करो; बाढ़ में फसल के नुकसान की बात पर एडीएम ने मांगा सबूतMP:जनसुनवाई बनी मजाक! सीएमओ के पैरों पर गिरी महिला बोली नहीं मिल रही बुनियादी सुविधाएं; बाढ़ में गेहूं भीगने की बात पर एडीएम ने मांगा सबूत सबूत स्वरुप, ADM साहब को उसी सड़े हुए गेहूँ की रोटियाँ खिलाई जाएं...

जातिवार जनगणना के सवाल पर सुप्रीम कोर्ट से क्या कहा मोदी सरकार ने - BBC Hindiमहाराष्ट्र सरकार द्वारा राज्य में अन्य पिछड़ा वर्ग के लोगों की जनगणना कराए जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में दायर की गई याचिका पर केंद्र सरकार ने शीर्ष अदालत से कहा है कि इस पर सुनवाई नहीं की जानी चाहिए.

ईशनिंदा के नाम पर पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों से बर्बरता, अंतरराष्ट्रीय कानूनों का हो रहा उल्लंघन29 अप्रैल 2021 को यूरोपीय संघ ने पाकिस्तान के कठोर ईशनिंदा कानूनों पर चिंता जताई थी। दिसंबर 2020 में यूएस हाउस आफ रिप्रेजेंटेटिव ने एक प्रस्ताव पारित किया था जिसमें दुनिया भर में ईशनिंदा कानूनों को निरस्त करने का आह्वान किया गया था। 20 ग्राम पर बवाल करने वाला बिकाऊ मीडिया 3000 किलो पर ख़ामोश है . वाह क्या सीन है .

PM नरेंद्र मोदी के सामने कमला हैरिस ने आतंकवाद पर पाकिस्तान को लताड़ा, 'ऐक्शन लें इमरान'Kamala Harris- PM Modi Meeting: अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के दौरान आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को लताड़ा है। उन्होंने साफ कहा है कि पाकिस्तान में आतंकी संगठनों को पनाह दी गई है और इस पर कार्रवाई की जरूरत है।

Entertainment Live: मनोज मुंतशिर ने कविता चोरी करने के विवाद पर तोड़ी चुप्पी23rd September 2021 Entertainment Live Blog: कवि और गीतकार मनोज मुंतशिर अपनी एक कविता के लिए सोशल मीडिया के निशाने पर हैं. इसकी वजह है 2019 में आई उनकी किताब ‘मेरी फितरत है मस्ताना’ की एक कविता ‘मुझे कॉल करना’. लोगों का कहना है कि ये कविता किसी और ने लिखी है और मनोज मुंतशिर ने सिर्फ इसका हिंदी अनुवाद करके अपनी किताब में छाप दिया है. इस मुद्दे पर मनोज ने आजतक से बात की है.