Kisanandolan, Farmersprotests, Kisanparade, Republicday, ट्रैक्‍टर रैली रूट, ट्रैक्‍टर मार्च रूट, ट्रैक्‍टर परेड रूट, ट्रैक्टर मार्च दिल्ली, ट्रैक्टर मार्च किसान, किसान ट्रैक्टर रैली, किसान ट्रैक्टर मार्च, किसान ट्रैक्टर परेड, किसान आंदोलन दिल्ली, किसान आंदोलन की ताजा खबर, Tractor Rally Today, Tractor Rally On Republic Day, Tractor Rally On 26 January, Tractor Rally İn Support Of Farm Laws, Tractor Rally Delhi, Tractor Rally, Tractor Parade Delhi, Tractor Parade 26 January, Tractor Parade, Tractor March Today, Tractor March Pics, Tractor March News, Tractor March Kisan Andolan, Tractor March, Kisan Tractor Rally, Kisan Tractor March, Metro News, Metro News İn Hindi, Latest Metro News, Metro Headlines, मेट्रो Samachar

Kisanandolan, Farmersprotests

Tractor Rally LIVE: अलग रूट से ट्रैक्‍टर रैली निकालने पर अड़े किसान, दिल्‍ली पुलिस पहले ही बता चुकी थी रास्‍ते

रैली निकालने के लिए रूट को लेकर फंसा पेंच #KisanAndolan #FarmersProtests #KisanParade #RepublicDay

25-01-2021 12:56:00

रैली निकालने के लिए रूट को लेकर फंसा पेंच KisanAndolan FarmersProtests KisanParade RepublicDay

गणतंत्र दिवस ट्रैक्टर परेड में शामिल होने के लिए कई राज्‍यों से किसान दिल्‍ली पहुंच रहे हैं। परेड तीन जगहों से शुरू होगी जिनमें सिंघु, टिकरी और गाजीपुर बॉर्डर शामिल हैं। पुलिस ने ट्रैक्‍टर रैली के लिए तीन रूट पर करीब 170 किलोमीटर लंबी सड़क दी है। हालांकि किसान मजदूर संघर्ष समिति एसएस पंढेर के मुताबिक, किसानों ने जो रूट तय किए थे, वे इससे अलग हैं। उन्‍होंने कहा कि वे ट्रैक्‍टर परेड पहले से तय रूटों पर ही निकलेगी। ऐसे में अब देखना यह है कि दिल्‍ली पुलिस इसपर मानेगी या नहीं। इस ट्रैक्‍टर रैली में मुख्य तौर पर पंजाब, हरियाणा और पश्चिमी उत्तर प्रदेश के हजारों किसान शामिल होंगे। हालांकि इसके अलावा भी कई राज्‍यों के किसान आंदोलन का हिस्‍सा बने हुए हैं। आइए जानते हैं कि ट्रैक्‍टर रैली में कौन-कौन शामिल होगा और क्‍या व्‍यवस्‍थाएं की गई हैं।

पुलिस के हिसाब से ये है रैली का रूटदिल्‍ली पुलिस ने जो प्‍लान तैयार किया है, उसके मुताबिक ट्रैक्‍टर रैली कुछ तरह होगी।सिंघु बॉर्डर से निकलकर ट्रैक्‍टर रैली कांजावाला, बवाना, औचंदी बॉर्डर, केएमपी एक्‍सप्रेस से होकर निकलेगी और फिर वापस लौटेगी।गाजीपुर बॉर्डर से ट्रैक्‍टर रैली निकलकर 56 फुट रोड, अप्‍सरा बॉर्डर, हापुर जाएगी। वापसी में केएमपी/वेस्‍टर्न पेरिफेरल एक्‍सप्रेसवे होते हुए लौटेगी।

Rome Ranking Series: बजरंग पूनिया ने जीता स्वर्ण पदक, फाइनल में मंगोलिया के पहलवान को हराया यूपी: अखिलेश ने चाचा शिवपाल के छुए पैर, नजर आई तल्खी, नहीं हुई बातचीत स्विट्ज़रलैंड में सार्वजनिक तौर पर चेहरा ढँकने पर प्रतिबंध का लोगों ने किया समर्थन - BBC News हिंदी

टिकरी बॉर्डर से ट्रैक्‍टर्स पहले नागलोई जाएंगे। इसके बाद नजफगढ़ और वेस्‍टर्न पेर‍िफेरल एक्‍सप्रेसवे होते हुए वापस लौटेंगेचिल्‍ला बॉर्डर ट्रैक्‍टर्स क्राउन प्‍लाजा रेड लाइन तक जाएंगे और फिर बाएं मुड़कर डीएनडी फ्लाईवे की ओर चले जाएंगे। फिर वे दादरी मेन रोड की तरफ जाएंगे और फिर वापस चिल्‍ला आ जाएंगे।

पंजाब, हरियाणा से भारी संख्‍या में कूच कर चुके किसानदिल्‍ली में आंदोलन कर रहे किसानों में सबसे ज्‍यादा संख्‍या पंजाब और हरियाणा के किसानों की है। ट्रैक्‍टर रैली में शामिल होने वहां से हजारों किसान और आ रहे हैं। ट्रैक्‍टर्स पर तिरंगा लगाए, डीजे पर गाने बजाते ये किसान दिल्‍ली की तरफ कूच कर चुके हैं। किसान नेता सुखदेव सिंह कोकरी के अनुसार, खनौरी और डबवाली बॉर्डर के जरिए करीब 20 हजार ट्रैक्‍टर निकल चुके हैं। दोनों राज्‍यों से दिल्‍ली आने वाले हाइवेज पर ट्रैक्‍टर्स की लंबी कतारें देखी जा सकती हैं। headtopics.com

गाजीपुर बॉर्डर पर जुट रहे यूपी के किसानयूपी और दिल्‍ली के बीच स्थित गाजीपुर बॉर्डर पर भी ट्रैक्‍टर लेकर पहुंचे किसानों का जमा होना जारी है। यहां उत्‍तराखंड और यूपी से आए किसान जमा हो रहे हैं। भारतीय किसान यूनियन (BKU) के प्रवक्‍ता राकेश टिकैत के अनुसार, इन दोनों राज्‍यों से करीब 25 हजार ट्रैक्‍टर दिल्‍ली में होने वाली रैली में हिस्‍सा लेंगे।

पंजाब से AAP विधायक भी दिल्‍ली आएंगेदिल्‍ली की ट्रैक्‍टर रैली में हिस्‍सा लेने के लिए पंजाब से आम आदमी पार्टी के सभी विधायक भी आएंगे। चूंकि मुख्‍य सड़कों पर ट्रैफिक ज्‍यादा है, इसलिए सभी विधायक अपने-अपने क्षेत्र से निकलेंगे और शंभु बॉर्डर पर इकट्ठा होंगे। यहां से वे सामूहिक रूप से ट्रैक्‍टर्स पर सवार होकर दिल्‍ली की तरफ बढ़ेंगे।

यूपी सरकार दिखा रही सख्‍ती, रोके जा रहे ट्रैक्‍टरकिसानों को दिल्ली जाने से रोकने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने सख्ती दिखाई है। आगरा क्षेत्र में करीब 100 से अधिक किसान नेताओं को कथित तौर पर "हाउस अरेस्ट" किया गया है। आगरा बॉर्डर पर पुलिस वाहनों की कड़ी जांच कर रही है। ट्रैक्टरों को दिल्ली की ओर जाने से रोका जा रहा है। पढ़ें

पूरी खबरराजस्‍थान से भी ट्रैक्‍टर लेकर आ रहे हैं किसानराजस्‍थान से भी कई किसान ट्रैक्‍टर लेकर दिल्‍ली पहुंच रहे हैं। इसके अलावा, सत्‍ताधारी कांग्रेस ने अपने विधायकों को भी ट्रैक्‍टर रैली निकालने का फरमान दिया है। शाहजहांपुर बॉर्डर पर पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी के पहुंचने की संभावना भी जताई जा रही है। headtopics.com

Brigade मैदान में दिखा Modi मैजिक, क्या वोटों में तब्दील होगी भीड़? ताइवान की फोटो के बाद कांग्रेस ने झारखंड के वीडियो को असम में हुई गोलीबारी बताकर किया इस्तेमाल दिलीप घोष: 45 साल से बंगाल में लोकतंत्र गायब, टीएमसी सरकार पर साधा निशाना

कैसे चलेगी परेड? क्‍या होगी व्‍यवस्‍था?परेड के दौरान किसान नेता अपनी कार में सबसे आगे चलेंगे। किसान नेताओं ने कहा कि प्रत्येक ट्रैक्टर पर तिरंगा झंडा लगा रहेगा और इस दौरान लोक संगीत और देशभक्ति गीत बजेंगे। हर ट्रैक्टर पर केवल पांच लोगों के सवार होने की अनुमति रहेगी लेकिन ट्रॉली नहीं जाएगी। किसान नेताओं ने रैली में शामिल होने वालों से अपील की है कि वे अपने साथ 24 घंटे का राशन पानी पैक करके चलें। जाम में फंसने पर ठंड से बचाव का इंतजाम भी रखें। किसी भी पार्टी का झंडा नहीं लगेगा। अपने साथ किसी भी तरह का हथियार ना रखें, लाठी या जेली भी ना रखें। किसी भी भड़काऊ या निगेटिव नारे वाले बैनर ना लगाएं।

नासिक के क‍िसान पहुंच चुके हैं मुंबईदिल्‍ली में डटे किसानों के समर्थन में अन्‍य राज्‍यों के भीतर भी प्रदर्शन हो रहे हैं। नासिक से हजारों की संख्‍या में किसान मुंबई आ चुके हैं। फिलहाल उन्‍होंने आजाद मैदान में डेरा डाला हुआ है। वे राज्‍यपाल भवन की तरफ कूच करेंगे।

किसान रैली में दिखेंगे ग्रामीण भारत के रंग‘गणतंत्र दिवस ट्रैक्टर परेड’ में कई राज्यों की कई झांकियां होंगी। एक किसान नेता ने पीटीआई को बताया कि प्रदर्शन में शामिल होने वाले सभी संगठनों को परेड के लिए झांकी तैयार करने का निर्देश दिया गया है। महाराष्ट्र के विदर्भ क्षेत्र के कुछ बच्चों ने किसानों की आत्महत्या पर एक झांकी की योजना बनाई है। हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर और उत्तराखंड जैसे राज्यों की झांकी से पता चलेगा कि पहाड़ी क्षेत्रों में फलों और सब्जियों की खेती कैसे की जाती है। पंजाब और हरियाणा के प्रतिभागी पारंपरिक और आधुनिक कृषि तकनीक और महिलाओं द्वारा गाय का दूध निकालने और किसानों द्वारा बैलगाड़ी चलाने का प्रदर्शन करेंगे।

Navbharat Times News App: और पढो: NBT Hindi News »

पिता की नौकरी गई, कतर से लौट किसान बनीं इंजीनियर: हर तरफ इस जुनून की खबर, इलेक्ट्रिकल इंजीनियर भावना अब 'मशरूम गर्ल'

एक झोपड़ी से शुरुआत के बाद बनाया मुकाम, अब बड़े बिजनेस के लिए सरकार से लेंगी मदद | Bihar News; Engineer Bhawna from Vaishali left Qatar job to produce Mushroom in Corona Lockdown after Father's Job Loss\r\n\r\nलॉकडाउन में पिता की नौकरी छूटी और इसी बीच इलेक्ट्रिकल इंजीनियर बेटी भावना भी कतर की नौकरी छोड़ आई। फिर भावना ने मन पक्का किया और मां-बहन के साथ मिलकर मशरूम की खेती शुरू की।

Jai hind