SKM में सरकार के रवैये से नाराजगी: वार्ता का न्यौता नहीं मिलने पर 5 मेंबरी कमेटी की इमरजेंसी मीटिंग, कल दिल्ली कूच पर फैसला

SKM में सरकार के रवैये से नाराजगी: वार्ता का न्यौता नहीं मिलने पर 5 मेंबरी कमेटी की इमरजेंसी मीटिंग, कल दिल्ली कूच पर फैसला #SKM #MSP #Farmers #RakeshTikait @Kisanektamorcha @RakeshTikaitBKU

Skm, Msp

07-12-2021 11:20:00

SKM में सरकार के रवैये से नाराजगी: वार्ता का न्यौता नहीं मिलने पर 5 मेंबरी कमेटी की इमरजेंसी मीटिंग, कल दिल्ली कूच पर फैसला SKM MSP Farmers RakeshTikait Kisanektamorcha RakeshTikaitBKU

किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ( SKM ) ने केंद्र सरकार पर उसकी अनदेखी करने का आरोप लगाया है। खेती कानून वापस होने के बाद SKM ने न्यूनतम समर्थन मूल्य ( MSP ) सहित दूसरे मुद्दों पर वार्ता के लिए जो 5 मेंबरी कमेटी बनाई थी। जिसे केंद्र सरकार की तरफ से बातचीत का कोई निमंत्रण नहीं मिला। ऐसे में कमेटी मेंबरों ने सोमवार को कुंडली बॉर्डर पर इमरजेंसी मीटिंग कर आंदोलन को तेज करने का फैसला लिय... | किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा ( SKM ) ने केंद्र सरकार पर उसकी अनदेखी करने का आरोप लगाया है। खेती कानून वापस होने के बाद SKM ने न्यूनतम समर्थन मूल्य( MSP ) सहित दूसरे मुद्दों पर वार्ता के लिए जो 5 मेंबरी कमेटी बनाई थी, उसे केंद्र सरकार की तरफ से बातचीत का कोई निमंत्रण नहीं मिला।

SKM में सरकार के रवैये से नाराजगी:वार्ता का न्यौता नहीं मिलने पर 5 मेंबरी कमेटी की इमरजेंसी मीटिंग, कल दिल्ली कूच पर फैसलालुधियानाकॉपी लिंककुंडली बार्डर पर पत्रकारवार्ता करते किसान नेता।किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा (SKM) ने केंद्र सरकार पर उसकी अनदेखी करने का आरोप लगाया है। खेती कानून वापस होने के बाद SKM ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) सहित दूसरे मुद्दों पर वार्ता के लिए जो 5 मेंबरी कमेटी बनाई थी। जिसे केंद्र सरकार की तरफ से बातचीत का कोई निमंत्रण नहीं मिला। ऐसे में कमेटी मेंबरों ने सोमवार को कुंडली बॉर्डर पर इमरजेंसी मीटिंग कर आंदोलन को तेज करने का फैसला लिया है। कमेटी ने चेतावनी दी कि अगर सरकार का यही रवैया रहा तो किसान दिल्ली कूच का फैसला ले सकते हैं।

UP Elections: 'समाजवादी पेंशन योजना फिर से करेंगे शुरू', चुनाव से पहले अखिलेश ने किए ये वादे

कानून वापस लिए जाने के बाद MSP, किसानों पर दर्ज केस, जान गंवाने वाले किसानों के परिवारों के मुआवजे सहित दूसरे पेंडिंग मुद्दों पर केंद्र और राज्य सरकारों से बातचीत के लिए SKM ने 4 दिसंबर को बैठक करके 5 मेंबरी कमेटी का गठन किया था। इस कमेटी ने दो दिन सरकार के निमंत्रण का इंतजार किया लेकिन सरकार ने कोई प्रतिक्रिया ही नहीं दी। ऐसे में इस कमेटी ने सोमवार को कुंडली बॉर्डर पर आगे की रणनीति बनाने के लिए SKM की पहले से गठित 9 मेंबरी कमेटी के साथ मीटिंग भी की।

कुंडली बॉर्डर पर जानकारी देते हुए SKM के नेता।मंगलवार की मीटिंग बेहद अहममीटिंग के बाद कमेटी मेंबर युद्धवीर सिंह, गुरनाम सिंह चढ़ूनी, शिवकुमार कक्का और अशोक धवले ने सरकार के रवैये को शर्मनाक बताते हुए कहा कि उनके पास सरकार से बातचीत का कोई निमंत्रण नहीं आया। इसलिए मंगलवार-7 दिसंबर- को कुंडली बॉर्डर पर होने वाली SKM की बैठक बेहद अहम रहेगी। इस बैठक में सभी किसान संगठनों के बीच सहमति बनी तो दिल्ली कूच का फैसला लिया जा सकता है। headtopics.com

सरकार ही चाहती थी छोटी कमेटीकक्का ने कहा कि केंद्र सरकार की शुरू से मंशा रही कि SKM की छोटी कमेटी बातचीत के लिए आए। इसी मंशा के तहत SKM ने 5 मेंबरी कमेटी बना दी। चूंकि सरकार ने फिलहाल कोई संदेश नहीं भेजा इसलिए किसानों का आंदोलन जारी रहेगा। धवले ने कहा कि उन्हें उम्मीद थी कि कमेटी गठन के बाद बाकी मसलों को लेकर बातचीत आगे बढ़ेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

Aparna Yadav Joins BJP: 'भाजपा ही सरकार बनाएगी', आजतक से बोलीं मुलायम की बहू अपर्णा यादव

जारी रहेंगे SKM के पहले से तय कार्यक्रमकमेटी मेंबर युद्धवीर सिंह ने कहा कि यह भ्रम फैलाने का प्रयास किया जा रहा है कि किसानों की मांग पूरी हो गई है। मगर किसान स्पष्ट करना चाहते हैं कि उनकी पेंडिंग मांगों में से कोई भी ऐसी नहीं है जो किसान संगठनों के शुरुआती मांगपत्र से बाहर की हो। बचे हुए विषयों पर सरकार ने जो उदासीनता दिखाई है, वह निराशाजनक है। यदि सरकार उनकी बाकी मांगों का निराकरण नहीं करती तो SKM के पहले से तय कार्यक्रम जारी रहेंगे। इनमें दिल्ली कूच भी शामिल है।

युद्धवीर सिंह ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चा का मिशन यूपी कार्यक्रम जारी है। सरकार किसानों की कमेटी की अनदेखी कर रही है इसलिए अब आंदोलन तेज किया जाएगा ताकि किसानों की बात सरकार के कानों तक पहुंचाई जा सके।

और पढो: Dainik Bhaskar »

UP Elections: 5 साल में क्या बदला, अब किसे मिलेगा आर्शीवाद? जानें गाजियाबाद के लोगों की राय

गाजियाबाद, यूपी का वो जिला है जो अलग-अलग चीजों के लिए पहचान रखता है. इसे यूपी का औद्योगिक जिला भी कहा जाता है. जिले की आबादी 50 लाख से ज्यादा है. यहां की करीब 70 फीसदी आबादी हिंदू है जबकि करीब 25 फीसदी मुस्लिम आबादी है. दलित और मुस्लिम गाजियाबाद में काफी निर्णायक रहा है. जिले में ब्राह्मण, वैश्य, गुर्जर, ठाकुर, पंजाबी और यादव वोटर भी हैं. देखें यूपी में आने वाले चुनाव पर क्या है यहां के लोगों की राय और 5 सालों में कितना बदला गाजियाबाद.

Kisanektamorcha RakeshTikaitBKU गीताजी_के_गूढ़_रहस्य Kisanektamorcha RakeshTikaitBKU गीताजी_के_गूढ़_रहस्य

परमबीर सिंह पर राज्य सरकार से समझौता करने का दबाव नहीं बनाया: DGP संजय पांडेआज सुप्रीम कोर्ट में परमबीर सिंह की अर्जी पर सुनवाई है और महाराष्ट्र सरकार को भी अपना जवाब दाखिल करना है. इससे पहले 2 दिसंबर को राज्य सरकार ने परमबीर सिंह को उनके खिलाफ दर्ज मामलों और सेवा नियमों के उल्लंघन के चलते उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया था. RailwayExamCalendarDo RailwayExamCalendarDo RailwayExamCalendarDo RailwayExamCalendarDo

Akhilesh Yadav के गढ़ में CM Yogi, सपा सरकार पर क‍िया तीखा प्रहारउत्तर प्रदेश के अगामी विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने पूरी ताकत झोंक दी है. बीजेपी के बड़े-बड़े दिग्गज मिशन पूर्वांचल पर लगे हैं. मंगलवार को पीएम नरेंद्र मोदी गोरखपुर जाएंगे. वहां वो गोरखपुर को कई सौगात देंगे. तो उसके पहले आज सीएम योगी आदित्यनाथ अखिलेश यादव के संसदीय क्षेत्र आजमगढ़ पहुंचे. आजमगढ़ में उन्होंने अखिलेश पर जमकर निशाना साधा. वैक्सीन को लेकर भी सीएम ने अखिलेश पर तंज कसा. देखें वीडियो.

अमरिंदर ने चन्नी सरकार को लिया निशाने पर, कहा- 2 महीने में बढ़ा भ्रष्टाचारचंडीगढ़। पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने सोमवार को चरणजीत सिंह चन्नी की अगुवाई वाली सरकार को निशाने पर लेते हुए आरोप लगाया कि पिछले 2 महीने में राज्य में भ्रष्टाचार बढ़ गया है। अमरिंदर सिंह ने यह भी आरोप लगाया कि राज्य सरकार कल्याणकारी कामों को लेकर 'नाटक' कर रही है और दावा किया कि उनके शासनकाल में अधिकतर चुनावी वादों को पूरा कर दिया गया है।

नीतीश सरकार का अनूठा कारनामा, पीएम मोदी, शाह समेत सोनिया गांधी को लगा दी गई वैक्सीनयह कारनामा अरवल जिले के करपी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में हुआ है। करपी स्वास्थ्य केंद्र पर वैक्सीन लेने वालों और कोरोना जांच कराने वालों की लिस्ट में गलत तरीके से एंट्री की गई है। नेहरू तो बचा है ना नही तो उसका मालिक गुस्सा हो जाता की जिस पे उसका हक है उसे भी लगा दिया

Bigg Boss 15: घरवालों पर व्यवहार पर भड़के सलमान खान, घरवालों को दे डाली ये सजाBigg Boss 15: घरवालों पर व्यवहार पर भड़के सलमान खान, घरवालों को दे डाली ये सजा BeingSalmanKhan TandonRaveena ShamitaShetty TheRashamiDesai WeekendKaVaarSalmanKhan BiggBoss15

Amazon पर इस आसान सवाल का जवाब देकर आप जीत सकते हैं iPhone 13 MiniAmazon December Edition Spin and Win contest के जरिए आप iPhone 13 Mini या 30,000 रुपये कैश प्राइज जीत सकते हैं.