Coronavirusındia, Covidındia, Oxygencrisis, मेडिकल कॉलेज में कोरोना मरीजों का इलाज नहीं, पीपल के पेड़ के नीचे लेटे कोरोना मरीज, ज्‍यादा ऑक्सिजन देता है पीपल, Uttar Pradesh Samachar, Shahjahapur Oxyegen Crisis, Shahjahanpur Corona Update, Oxygen Crisis Latest News, Corona Patients Under Peepal Tree, Shahjahanpur News, Shahjahanpur News İn Hindi, Latest Shahjahanpur News, Shahjahanpur Headlines, शाहजहांपुर Samachar

Coronavirusındia, Covidındia

Shahjahanpur Oxygen Crisis: मेडिकल कॉलेज ने नहीं किया भर्ती तो पीपल के पेड़ के नीचे कोरोना मरीजों ने लगा लिया बिस्‍तर, वीडियो वायरल

शाहजहांपुर के सीएमओ का कहना है कि पीपल के पेड़ के नीचे सिर्फ एक मरीज मिला था जिसे अस्‍पताल में भर्ती करवा दिया गया है... #CoronavirusIndia #CovidIndia #OxygenCrisis

01-05-2021 17:40:00

शाहजहांपुर के सीएमओ का कहना है कि पीपल के पेड़ के नीचे सिर्फ एक मरीज मिला था जिसे अस्‍पताल में भर्ती करवा दिया गया है... CoronavirusIndia CovidIndia OxygenCrisis

शाहजहांपुर न्यूज़: मरीजों का कहना है कि पीपल के पेड़ से चूंकि अधिक मात्रा में ऑक्सिजन निकलती है, इसलिए वे इसके नीचे बैठे हैं। स्‍थानीन बीजेपी विधायक का कहना है कि इन मरीजों को सांस लेने में समस्‍या है और मेडिकल कॉलेज में उन्‍हें भर्ती नहीं किया जा रहा है।

Subscribeमरीजों का कहना है कि पीपल के पेड़ से चूंकि अधिक मात्रा में ऑक्सिजन निकलती है, इसलिए वे इसके नीचे बैठे हैं। स्‍थानीन बीजेपी विधायक का कहना है कि इन मरीजों को सांस लेने में समस्‍या है और मेडिकल कॉलेज में उन्‍हें भर्ती नहीं किया जा रहा है।कोरोना के बीच आखिरकार मिल गए UP के 'लापता' मंत्री! लोगों ने सवाल पूछा तो दौड़ा लिया

Coronavirus In India Update: नए कोरोना मामलों में तेजी ने बढ़ाई टेंशन, 43 हजार नए मरीज, अकेले केरल में 50% से ज्यादा नए केस 8 महीने की बच्ची को रौंदते हुए दुकान में जा घुसी कार, फिर हुआ 'चमत्कार' नीतीश कुमार की बालू के अवैध खनन मामले पर बड़ी कार्रवाई, 18 अधिकारियों को किया निलंबित

Subscribeहाइलाइट्स:यूपी के शाहजहांपुर में बदहाल स्‍वास्‍थ्‍य व्‍यवस्‍था का एक नमूना सामने आया हैमेडिकल कॉलेज में नहीं मिली भर्ती तो कोरोना मरीज पीपल के नीचे लेट गएपीपल से ज्‍यादा मात्रा में ऑक्सिजन निकलती है, सांस की समस्‍या से परेशान हैं मरीजशाहजहांपुर

उत्‍तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में अस्पताल में उपचार नहीं मिलने पर कोविड-19 मरीजों के पीपल के पेड़ के नीचे अपना बिस्तर लगा लेने का मामला सामने आया है। हालांकि, सीएमओ का कहना है कि जहां की बात की जा रही है वहां सिर्फ एक व्‍यक्ति कोरोना संक्रमित मिला जिसे अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। पीपल के पेड़ नीचे बिस्‍तर लगा लेने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। मरीजों का कहना है कि उन्‍हें सांस लेने में समस्‍या है। अस्‍पताल में भर्ती न किए जाने पर वे लोग पीपल के पेड़ के नीचे बैठे हैं। headtopics.com

बीजेपी विधायक रोशनलाल वर्मा ने शनिवार को बताया, 'हमें सूचना मिली कि तिलहर क्षेत्र में कुछ लोग ऑक्सिजन की समस्या के चलते पीपल के पेड़ के नीचे बिस्तर लगा कर रह रहे हैं। इसके बाद वह वहां गए तो देखा कि वहां आठ-नौ लोगों के बिस्तर लगे हैं।' उन्होंने बताया कि उन्हें देखते ही कई लोग भाग गए क्योंकि लोगों को भय था कि पुलिस पकड़ लेगी और जेल भेज देगी। वर्मा ने बताया, 'मौके पर तिलहर निवासी रामनिवास, मुस्कान और उर्मिला मिले। उन्होंने उन्हें बताया कि वे लोग कोविड-19 संक्रमित हैं और उनकी ऑक्सीजन कम हो गई है, सांस लेने में दिक्कत हो रही है।'

विधायक का फोन तक नहीं उठा रहे मंत्री सुरेश खन्‍नाविधायक ने बताया, 'वे लोग मेडिकल कॉलेज गए परंतु उन्हें भर्ती नहीं किया गया तो उन्होंने आकर पीपल के पेड़ के नीचे ही बिस्तर लगा कर लेट गए क्योंकि कहा जाता है कि पीपल के पेड़ से ज्‍यादा मात्रा में ऑक्सिजन निकलती है। ये लोग पांच दिनों से पीपल के पेड़ के नीचे ही रात-दिन बिता रहे हैं।' उन्होंने बताया 'मैं शाहजहांपुर के विधायक और प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री सुरेश खन्ना को कई दिनों से फोन लगा रहा हूं परंतु वह फोन नहीं उठाते हैं। आज भी जब उन्हें फोन लगाया तो उन्होंने फोन नहीं उठाया। इसके बाद जिलाधिकारी इंद्र विक्रम सिंह को फोन पर पूरी घटना बताई और उन्होंने गंभीरता से लेते हुए घटनास्थल पर ही एंबुलेंस को भेज दिया।'

हमारे पास पर्याप्‍त ऑक्सिजन, कोई समस्‍या नहीं: सीएमओवर्मा ने बताया तिलहर क्षेत्र निवासी मुस्कान और उर्मिला को सांस लेने में ज्यादा दिक्कत थी तो उन्हें शाहजहांपुर लाकर ओसीएफ में बने कोरोना अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां उनका उपचार शुरू हो गया है। इस बारे में पूछे जाने पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एसपी गौतम ने बताया, 'सूचना पर हमने एक टीम भेजी थी वहां पर केवल एक व्यक्ति ही मिला था जिसकी जांच कराई गई तब वह कोरोना वायरस से संक्रमित मिला। उसे अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है।' उन्होंने कहा, 'हमारे पास पर्याप्त मात्रा में ऑक्सिजन उपलब्ध है। जो लोग घरों में रहकर स्वयं अपना इलाज कर रहे हैं, उन्हें ऑक्सिजन दे पाना संभव नहीं है, लेकिन अस्पताल में जो भी मरीज भर्ती हो रहे हैं उन्हें ऑक्सिजन दी जा रही है।'

पीपल के नीचे लेटे कोरोना मरीजNavbharat Times News App: और पढो: NBT Hindi News »

जानिए UP Cabinet Expansion में किन-किन समीकरणों का रखा जा सकता है ध्यान? देखें शंखनाद

संगठन की ओर से 25,26 और 30 जुलाई की तारीख का प्रस्ताव भी दिया गया है. जिस पर योगी आदित्यनाथ फैसला करेंगे .जाहिर सी बात है कि मंत्रिमंडल विस्तार में उन सारे समीकरण को ध्यान में रखा जाएगा, जिसे साधकर यूपी में जीत की राह आसान हो सके. संजय निषाद के सांसद बेटे प्रवीण निषाद को मोदी कैबिनेट में शामिल किए जाने की चर्चा थी,लेकिन उन्हें जगह नहीं मिली तो अब निषाद वोटों को जोड़े रखने के लिए संजय निषाद कैबिनेट में शामिल किए जा सकते हैं. निषाद समाज के अलावा राजभर समाज पर भी योगी सरकार की नजर है, जिसका पूर्वांचल में काफी दबदबा है. देखें वीडियो.

Fatty Liver के मरीजों के लिए लाभकारी है किशमिश, मुट्ठी भर खाने से होंगे अनेकों फायदेKishmish khane ke fayde: किशमिश में भरपूर मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट्स पाए जाते हैं जो पूरे शरीर को संक्रमण से बचाने में मददगार हैं

झारखंड: ऑक्सीजन सप्लाई रुकने से रांची के अस्पताल में 5 मरीजों की मौत, जांच के आदेशरांची के सदर अस्पताल में लीकेज के कारण मोक्स रेगुलेटर फटने से, करीब सवा घंटे तक आईसीयू में ऑक्सीजन की सप्लाई रुकी Jharkhand Ranchi CoronavirusPandemic CovidCrisis OxygenCrisis अय्याश और हड़िया पीकर मस्त मुख्यमंत्री को समझ ही नही है क्या करना है,सिर्फ झूठी घोषणा।पूरे झारखंड के आदिवासी को ईसाई बनाने का खेल चल रहा है हेमंत के सरकार में। 😝सिर्फ मोदी विरोध🤣 Kam band hai kharche chalu Hain school fees kiraya kaise de school band hai fir fee kyu mang the Hain Kam band hai to fees kaaise den . Koi Kisi ki help Nahi Kar rha

बिहार के बक्सर के बाद अब यूपी के गाजीपुर में नदी में तैरते दिखे शवबिहार के बक्सर के बाद अब उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में गंगा के किनारे शव नजर आए. मंगलवार को गाजीपुर के गंगा तट पर कुछ शव दिखाए दिए. गाजीपुर और बक्सर के बीच करीब 55 किलोमीटर की दूरी है. बक्सर में सोमवार को करीब 100 शव पानी में तैरते हुए दिखाई दिए थे. इन लाशों को देखने के बाद बिहार के अधिकारियों ने तर्क दिया था कि यह उत्तर प्रदेश से आई हैं. अधिकारियों के अनुसार बिहार में शवों को पानी में डालने की परंपरा नहीं है. देश के हालात खराब कर दिए मोदी सरकार ने bycotmodgoverment मैली होती गंगा, रोती हुई जनता, मौत के सौदागर और तमाशेबाज प्रधान लाशों पर महल बनाने में व्यस्त! गंगा_मे_बहतीं_लाशें मोदी_है_तो_मातम_है मोदीजी_इस्तीफा_दो

धन्य है डॉक्टर, पिता की मौत, मां-भाई अस्पताल में, फिर जुटा है सेवा में...पुणे। महामारी के दौर में एक तरफ रेमडिसिवर इंजेक्शन, ऑक्सीजन सिलेंडर एवं अन्य दवाइयों की कालाबाजारी की खबरें मानवता को शर्मसार कर रही हैं, वहीं एक डॉक्टर ऐसे भी हैं जो मरीजों की सेवा में लगातार जुटे हुए हैं।

सूप से लेकर सेब का सिरका तक, Sinus के मरीजों के लिए लाभकारी होंगे ये उपायSinus ke gharelu upay: हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि गर्म पानी या फिर चाय में दिन भर में 2 चम्मच मिलाकर पीने से बलगम दूर करने में मदद मिलेगी

कोरोना मरीजों के मसीहा बने टीवी के 'राम' गुरमीत, खोला कोविड हॉस्पिटलगुरमीत चौधरी ने गरीबों और मिड‍िल क्लास लोगों को ध्यान में रखते हुए हाल ही में महाराष्ट्र के नागपुर में ‘आस्था’नाम का एक कोविड हॉस्पिटल खोला है. गुरमीत कहते हैं कि ये लोगों का प्यार है कि मैं अपनी जिंदगी में कलाकार के रूप में सफल हो पाया और मुझे लगता है कि अब मेरी बारी है.