Ranjangogoi, Zplussecurity, Former Cjı Ranjan Gogoi, Gogoi Provided Z Plus Vıp Security Cover, Vıp Security Cover, Ranjan Gogoi Update News

Ranjangogoi, Zplussecurity

Ranjan Gogoi: पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई को जेड प्लस सिक्योरिटी, सुरक्षा में रहेंगे CRPF के 12 कमांडो

#RanjanGogoi: केंद्र सरकार का फैसला, पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई को जेड प्लस सुरक्षा #zplussecurity

22-01-2021 13:25:00

RanjanGogoi: केंद्र सरकार का फैसला, पूर्व सीजेआई रंजन गोगोई को जेड प्लस सुरक्षा zplussecurity

Ranjan Gogoi राज्यसभा सदस्य गोगोई को पहले दिल्ली पुलिस सुरक्षा मुहैया करा रही थी। गोगोई नवंबर 2019 में प्रधान न्यायाधीश के पद से सेवानिवृत्त हुए और बाद में सरकार ने उन्हें राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किया। गोगोई 63वें व्यक्ति हैं जिन्हें इस प्रकार की सुरक्षा मिली है।

 भारत के पूर्व प्रधान न्यायाधीश और राज्यसभा सांसद रंजन गोगोई को केंद्र सरकार ने  ‘जेड प्लस’ श्रेणी की सुरक्षा मुहैया कराने का फैसला लिया है। समाचार एजेंसी पीटीआई ने शुक्रवार को इस आशय की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि 66 वर्षीय गोगोई को देश भर में उनकी यात्रा के दौरान केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के सशस्त्र कमांडो सुरक्षा प्रदान करेंगे।

सौरभ गांगुली क्या पीएम मोदी की रैली में जाएंगे, बीजेपी ने कहा- आएं तो स्वागत है - आज की बड़ी ख़बरें - BBC Hindi फिल्मकार अनुराग कश्यप, अभिनेत्री तापसी पन्नू के मुंबई, पुणे स्थित ठिकानों पर इनकम टैक्स का छापा : सूत्र मायावती ने उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए

नवंबर, 2019 में में सेवानिवृत्त हुए थे गोगोईराज्यसभा सदस्य गोगोई को पहले दिल्ली पुलिस सुरक्षा मुहैया करा रही थी। गोगोई नवंबर, 2019 में प्रधान न्यायाधीश के पद से सेवानिवृत्त हुए और बाद में सरकार ने उन्हें राज्यसभा का सदस्य मनोनीत किया। सूत्रों ने बताया कि सीआरपीएफ वीआईपी सुरक्षा ईकाई है और गोगोई 63वें व्यक्ति हैं जिन्हें बल द्वारा सुरक्षा मुहैया कराई जाएगी।  उन्होंने बताया कि सीआरपीएफ के 8 से 12 कमांडो का सशस्त्र सचल दस्ता यात्रा के दौरान पूर्व प्रधान न्यायाधीश की सुरक्षा करेगा। उनके घर पर भी ऐसी ही दस्ता सुरक्षा में तैनात रहेगा।

क्या होती है जेड प्लस श्रेणी की सुरक्षा और पढो: Dainik jagran »

जयपुर में बेरोजगारों की महापंचायत, MP में Corona नहीं लग रहा भ्रष्टाचार का टीका? देखें दस्तक

जयपुर में बेरोजगार पिछले 3 दिनों से अनशन पर हैं. दावा है कि गहलोत सरकार अभी तक उनसे बातचीत का वक्त नहीं निकाल पाई है. वहीं मध्यप्रदेश में कल एक बड़ा सड़क हादसा हुआ. बस का ड्राइवर गलत रूट पर बस को ले गया. संतुलन खोने से बस नहर में गिर गई. ये हादसा कैसे हुआ, कौन इसके लिए जिम्मेदार है, इसकी जांच हो रही है. हादसे ने देश के सामने एक बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है और वो ये कि सरकारी नौकरी का एग्जाम परीक्षार्थी के अपने शहर में क्यों नहीं होता? क्यों परीक्षा देने वाले नौजवानों को अपने ही देश में भटकना पड़ता है? वहीं मध्यप्रदेश में कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण को लेकर बड़ी लापरवाही सामने आई है. स्वास्थ्य विभाग ने बड़ी गलती पकड़ते हुए ऐसे करीब एक लाख 37 हजार कर्मचारियों की सूची तैयार की है जिसमे एक ही मोबाइल नंबर कई सारे फ्रंटलाइन वर्कर्स और हेल्थ केयर वर्कर्स के आगे लिख दिए गए हैं. अब सरकार बोल रही है कि उसकी सतर्कता से गलती पकड़ी गई है जबकि विपक्ष इसमे घोटाले का आरोप लगा रहा है. देखें दस्तक, रोहित सरदाना के साथ.

रंजन गोगोई के सभी अपराधों के बारे में भाजपा की मोदी सरकार को सब पता है इसीलिए वह उनकी सुरक्षा करने में तत्पर है।गोगोई को सरकार की सभी गुंडई अधिकरण कराने में पता है। दोनों एक दूसरे को बचाने कोपति-पत्नी की तरह कार्य करेंगे। सुप्रीम कोर्ट को चोर व्यवस्था पर तुरंत रोक लगानी होगी। Definitely 👌👌 भारत सरकार का सराहनीय व अद्भुत कार्य के लिए शुभकामनाएं एवं बधाई प्रेषित करते हैं।

Congratulations Sir inko to NSG ki सुरक्षा do बिलकुल सही फैसला। खुले में घूमने वाला किसी महिला का यौन शोषण न कर दे। राफेल