Rahulgandhi, Farmersprotest, Traitornottractor, नक्सली_खालिस्तानी_षड़यन्त्र, Khalistaniexposed, Rahulgandhi, Formerpresidentofcongress, Agriculturallaw, Mahatmagandhi, Rahul Gandhi, Former President Of Congress, Agricultural Law, Mahatma Gandhi, राहुल गांधी, पूर्व अध्यक्ष कांग्रेस, कृषि कानून, महात्मा गांधी

Rahulgandhi, Farmersprotest

Rahul Gandhi | राहुल ने फिर की कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग, महात्मा गांधी के कथन का दिया हवाला

राहुल ने फिर की कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग, महात्मा गांधी को किया याद #RahulGandhi #FarmersProtest #TraitorNotTractor #नक्सली_खालिस्तानी_षड़यन्त्र #KhalistaniExposed

27-01-2021 14:08:00

राहुल ने फिर की कृषि कानून ों को वापस लेने की मांग, महात्मा गांधी को किया याद RahulGandhi FarmersProtest TraitorNotTractor नक्सली_खालिस्तानी_षड़यन्त्र KhalistaniExposed

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को केंद्र सरकार से फिर आग्रह किया कि तीनों 'कृषि विरोधी कानूनों' को वापस लिया जाए। उन्होंने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के एक कथन का हवाला देते हुए ट्वीट किया कि 'विनम्र तरीके से आप दुनिया हिला सकते हैं- महात्मा गांधी ।' एक बार फिर मोदी सरकार से अपील है कि तुरंत कृषि-विरोधी कानून वापस लिए जाएं। कांग्रेस नेता ने मंगलवार को हुई हिंसा की पृष्ठभूमि में महात्मा गांधी के कथन का उल्लेख किया।

और पढो: Webdunia Hindi »

जयपुर में बेरोजगारों की महापंचायत, MP में Corona नहीं लग रहा भ्रष्टाचार का टीका? देखें दस्तक

जयपुर में बेरोजगार पिछले 3 दिनों से अनशन पर हैं. दावा है कि गहलोत सरकार अभी तक उनसे बातचीत का वक्त नहीं निकाल पाई है. वहीं मध्यप्रदेश में कल एक बड़ा सड़क हादसा हुआ. बस का ड्राइवर गलत रूट पर बस को ले गया. संतुलन खोने से बस नहर में गिर गई. ये हादसा कैसे हुआ, कौन इसके लिए जिम्मेदार है, इसकी जांच हो रही है. हादसे ने देश के सामने एक बड़ा सवाल खड़ा कर दिया है और वो ये कि सरकारी नौकरी का एग्जाम परीक्षार्थी के अपने शहर में क्यों नहीं होता? क्यों परीक्षा देने वाले नौजवानों को अपने ही देश में भटकना पड़ता है? वहीं मध्यप्रदेश में कोरोना वैक्सीन के टीकाकरण को लेकर बड़ी लापरवाही सामने आई है. स्वास्थ्य विभाग ने बड़ी गलती पकड़ते हुए ऐसे करीब एक लाख 37 हजार कर्मचारियों की सूची तैयार की है जिसमे एक ही मोबाइल नंबर कई सारे फ्रंटलाइन वर्कर्स और हेल्थ केयर वर्कर्स के आगे लिख दिए गए हैं. अब सरकार बोल रही है कि उसकी सतर्कता से गलती पकड़ी गई है जबकि विपक्ष इसमे घोटाले का आरोप लगा रहा है. देखें दस्तक, रोहित सरदाना के साथ.

इस लंगूर के कहने से कानून वापस होंगे क्या ?इसको पता भी है कि क्या कानून बना है