Rrts Trains Entirely Being Manufactured Under ‘Make İn India’ Policy, Says Mohua Secretary

Rrts Trains Entirely Being Manufactured Under ‘Make İn India’ Policy, Says Mohua Secretary

RRTS trains entirely being manufactured under ‘Make in India’ policy, says MoHUA Secretary

RRTS trains entirely being manufactured under ‘Make in India’ policy, says MoHUA Secretary

25-09-2020 23:44:00

RRTS trains entirely being manufactured under ‘Make in India’ policy, says MoHUA Secretary

Housing and Urban Affairs secretary Durga Shankar Mishra today said that high-speed commuter trains Regional Rapid Transit System, RRTS are entirely being manufactured under the government’s Make in India policy.

The Delhi-Ghaziabad-Meerut RRTS corridor is one of the three prioritised RRTS corridors being implemented in phase-1. The 82 km long Delhi-Ghaziabad-Meerut Corridor is the first RRTS corridor being implemented in India. The corridor will bring down the travel time between Delhi to Meerut by around one third.

राम मंदिर के लिए निधि समर्पण अभियान प्रारंभ, लोकसभा चुनाव-2024 के पहले तक निर्माण पूरा होने की उम्‍मीद आज तक @aajtak कृषि कानून: किसान संगठनों-सरकार के बीच 9वें राउंड की बातचीत भी बेनतीजा खत्‍म, अगली वार्ता 19 जनवरी को

The prototype is scheduled to roll off the production line in 2022 and will be put into public use after extensive trials. The state-of-the-art RRTS rolling stock will be first of its kind in India with a design speed of 180 kilometre per hour. और पढो: All India Radio News »

10तक: नौकरी के नाम पर वोट मांगने वाले क्यों करवाते हैं सालों तक नौकरी का इंतजार?

रोहित सरदाना के साथ दस्तक में आज आप देखेंगे वो राजनीति जो नौकरी के नाम पर वोट तो मांगती है लेकिन नौकरी के लिए 22 साल तक इंतजार करा देती है. इसके साथ ही देखिये मौत देने वाले चाइनीज एप पर कैसे आपकी दी हुई दस्तक का असर हुआ है. दस्तक उस अव्यवस्था के खिलाफ भी जो जनता से सुरक्षित इलाज पाने का हक छीनती है.

India China Border News: सैन्य वापसी जटिल प्रक्रिया, यथास्थिति बनाये रखना जरूरी : भारतविदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव के मुताबिक जब विवाद वाले इलाके से पूरी तरह से सैन्य वापसी के लिए बातचीत की जा रही है तब दोनों पक्षों की तरफ से एलएसी पर किसी भी स्थल पर यथास्थिति बदलने की अपनी तरफ से कोशिश न की जाए।

India-China standoff: भारत ने कहा- जमीनी स्थिरता सुनिश्चित करना जरूरी, चीन के साथ कमांडर्स की मीटिंग जल्‍दनई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में सीमा संबंधी गतिरोध को दूर करने के लिए चीन के साथ सैन्य वार्ता के दो दिन बाद भारत ने गुरुवार को कहा कि आगे का रास्ता यह होगा कि यथास्थिति में बदलाव के किसी भी एकतरफा प्रयास से परहेज किया जाए और दोनों पक्ष संघर्ष वाले सभी क्षेत्रों से सैनिकों को पीछे हटाने के लिए वार्ता जारी रखें।

India-China Standoff: नहीं चलेगी ड्रैगन की चालबाजी, चीन के पीछे हटने के जब तक साफ संकेत नहीं मिल जाते, रणनीतिक तौर पर अहम चोटियों पर डटा रहेगा भारतभारत न्यूज़: India-China Face-off: पूर्वी लद्दाख सेक्टर में कुछ रणनीतिक तौर पर बेहद अहम चोटियों को नियंत्रण में लेने के बाद भारतीय सुरक्षा बलों को इलाके में स्पष्ट बढ़त मिल चुकी है। तनाव कम करने की लगातार कोशिशें चल रही हैं लेकिन ड्रैगन की किसी भी चालबाजी को नाकाम करने के लिए भारतीय जवान तब तक इन चोटियों पर डटे रहेंगे जब तक चीनी सेना पीछे नहीं हटती। Good

India China Border News : भारत की चीन से दोटूक- जरूरत पड़ी तो गोलियां चलाने से नहीं हिचकेंगेभारत न्यूज़: Ladakh Standoff : ध्यान रहे कि पीएलए ने पैंगोंग सो-चुशूल में 29-30 अगस्त की रात हासिल कई रणनीतिक चोटियों को हटाने की कोशिश की तो भारतीय सैन्य दल ने चेतावनी देने के लिहाज से कम-से-कम चार गोलियां दागीं। तब से वहां पीएलए ने कुछ नहीं किया है, लेकिन माहौल तनावपूर्ण है। मोदी ने आजतक नाम तक नहीं लिया चीन का अपनी जुबान से फेक न्यूज़ है गलबहियां करते हुए बातचीत करते रहो अपनी औरतों को उनके पास भेजते रहो तो यही हाल होगा ।जबर्दस्त बमबारी कर दो सब दिमाग ठिकाने आ जाएगा। मरने या नष्ट होने की दुविधा दिमाग से निकाल दो।

PM Modi to address BJP workers from all over India on Pandit Deendayal Upadhyaya's birth anniversary todayPrime Minister Narendra Modi will address BJP workers from all over India on the occasion of Pandit Deendayal Upadhyaya&39;s birth anniversary today.

coronavirus india and world latest live updates unlock 4 at 24th september 2020 - पिछले 24 घंटों में 86,508 नए मामलों के साथ देश में कुल मामलों की संख्‍या 5,732,519 हो गई है। इस दौरान 1,129 लोगों की मौत हुई है। देश में कोरोना के 9,66,382 केस अब भी ऐक्टिव हैं। कुल 46,74,988 मरीज अब | Navbharat Timesकेंद्र सरकार के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, भारत में कोरोना वायरस के कुल 5,732,519 मामले सामने आए हैं। इनमें से 9,66,382 केस अब भी ऐक्टिव हैं। देश में कोविड-19 के चलते अबतक 91,149 लोगों की मौत हुई है। अबतक 46,74,988 को अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है। पिछले 24 घंटों में 86,508 नए मामले सामने आए हैं जबकि 1,129 लोगों की मौत हुई।