Risingındia, Jeetegaındia, Coronaviruspandemic, Covıd 19, Jeetegabharat, Rising India, Polymeric Superhydrophobic Coating, Polymeric Superhydrophobic, Clothes Protective Shell, Rising India, Covid19, Coronavirus İn İndia, Coronavirus Update News, Coronavirus Latest News Hpjagranspecial

Risingındia, Jeetegaındia

Rising India: जादुई कोटिंग से आपके कपड़े बन जाएंगे 'कोरोना रोधी कवच'

#RisingIndia: जादुई कोटिंग से आपके कपड़े बन जाएंगे 'कोरोना रोधी कवच' #JeetegaIndia #CoronavirusPandemic #COVID19 @PMOIndia @Facebook

28-05-2020 21:02:00

RisingIndia: जादुई कोटिंग से आपके कपड़े बन जाएंगे 'कोरोना रोधी कवच' JeetegaIndia CoronavirusPandemic COVID19 PMOIndia Facebook

वैज्ञानिकों ने नैनो प्रौद्योगिकी के सहारे पॉलीमेरिक सुपर हाइड्रोफोबिक कोटिंग तैयार की है। इस तकनीक में कोरोना वायरस जैसे सूक्ष्मजीवों को नष्ट करने की क्षमता है।

अगर आपके कपड़े कोरोना वायरस के संपर्क में आ जाएं तो आप कोरोना संक्रमित हो सकते हैं। इसलिए वायरस से बचने के लिए चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मी पर्सनल प्रोटेक्टिव इक्विपमेंट (पीपीई) का प्रयोग कर रहे हैं। पीपीई किट आपके कपड़े और आपको वायरस से बचाती है। हालांकि, यह किट सभी के लिए उपलब्ध कराना संभव नहीं। इस समस्या का समाधान धनबाद (झारखंड) के आइआइटी आइएसएम (इंडियन स्कूल ऑफ माइंस) के वैज्ञानिकों ने तलाशा है।

10तक: ह‍िंदुस्तान ने LAC पर दिखाया दम तो चीन ने पीछे ल‍िए कदम सैटेलाइट तस्वीरों से सामने आया उइगर मुसलमानों को लेकर चीन का क्रूर चेहरा कोरोना अपडेट: कई देशों में एड्स की जीवनरक्षक दवा ख़त्म होने की कगार पर - BBC Hindi

इन वैज्ञानिकों ने नैनो प्रौद्योगिकी के सहारे पॉलीमेरिक सुपर हाइड्रोफोबिक कोटिंग तैयार की है। यह विशुद्ध स्वदेशी तकनीक है। इस तकनीक में कोरोना वायरस जैसे सूक्ष्मजीवों को नष्ट करने की क्षमता है। इस परत को कपड़ों पर सुसज्जित कर दिया जाए तो उसके संपर्क में आने वाला वायरस, जीवाणु, फफूंदी जैसे सूक्ष्मजीव नष्ट हो जाएंगे। इस तरह कोटिंग के जरिए आपका हर ड्रेस और कपड़ा पीपीई किट की तरह काम करने लगेगा। फिर, आसानी से आपका संक्रमण से बचाव हो जाएगा।

इस कोटिंग के अंतिम चरण का परीक्षण प्रयोगशाला में चल रहा है। अब तक के परीक्षणों के परिणाम सकारात्मक आए हैं। उम्मीद है कि सबकुछ आशानुरूप रहा तो जल्द ही यह चलन में आ सकती है। सुपर हाइड्रोफोबिक कोटिंग बनाने वाले आइएसएम के रसायन अभियंत्रण विभाग के प्रो. आदित्य कुमार बताते हैं कि कई परीक्षणों के बाद इसे तैयार करने में सफलता मिली है। प्रयोगशाला में अंतिम चरण का परीक्षण हो रहा है। उसमें भी परिणाम आशातीत आएगा। यदि आम लोग इस परत से लैस कपड़े पहनेंगे, तो वस्त्र के संपर्क में आते ही कोरोना नष्ट हो जाएगा। संक्रमण से उनका बचाव होगा। दूसरे भी संक्रमण से बच सकेंगे।

वायरस के बाहरी आवरण को तोड़ देते हैं सिल्वर नैनो कण प्रो. कुमार ने बताया कि रसायन विज्ञान के सामान्य सिद्धांत आयनन के आधार पर यह कोटिंग काम करेगी। इसको तैयार करने में सिल्वर नाइट्रेट का प्रयोग किया गया है। इस यौगिक को अवक्षेपित किया जाता है। इसके बाद रासायनिक अभिक्रियाओं से सिल्वर के नैनो कण बनाए जाते हैं। इनसे ही कोटिंग तैयार की जाती है। जीवाणु और कोरोना वायरस जैसे सूक्ष्मजीव जब इन नैनो कण के संपर्क में आते हैं तो ये उसके प्रोटीन के बाहरी खोल को तोड़ देते हैं। इससे अंदर मौजूद राइबो न्यूक्लिक एसिड (आएनए) निष्क्रिय हो जाता है। ऐसी कोटिंग संभवत: पहली दफा भारत में तैयार हुई है।

क्या होते हैं नैनो कण और नैनो तकनीक100 नैनोमीटर या इससे छोटे कणों को नैनो कण कहते हैं। नैनो मीटर की सूक्ष्मता को इस उदाहरण से समझ सकते हैं कि मनुष्य के बालों का व्यास 60 हजार नैनोमीटर होता है। वहीं, नैनो टेक्नोलॉजी वह अप्लाइड साइंस है, जिसमें नैनो कणों पर काम किया जाता है। इस तकनीक का इस्तेमाल उपभोक्ता उत्पाद, चिकित्सा उपकरणों, सौंदर्य प्रसाधन, रसायन, इलेक्ट्रॉनिक्स एवं प्रकाशिकी, पर्यावरण, भोजन,पैकेजिंग, ईंधन, ऊर्जा, कपड़ा, पेंट और प्लास्टिक आदि में हो रहा है।

तकनीक को कराया जाएगा पेटेंट...इस तकनीक को पेटेंट कराया जाएगा। इसके बाद इस प्रौद्योगिकी को कपड़े बनाने वाली कंपनियों को हस्तांतरित किया जाएगा, ताकि आम लोगों तक इसका लाभ पहुंच सके। ऐसे कपड़े तैयार हो सकें जो इस कोटिंग से लैस हों। ऐसे प्रयोगों को प्रोत्साहित करना चाहिए

महामारी से निपटने की पुख्ता कोशिशें उत्साहवर्धक हैं। आइएसएम, धनबाद के छात्रों ने बेहतरीन प्रयोग कर इस जानलेवा बीमारी से बचाव के लिए विशेष फैब्रिक उत्पाद तैयार करने में सफलता पाई है। ऐसे ही प्रयासों से कोरोना पर जीत हासिल की जा सकती है। ऐसे प्रयोगों को प्रोत्साहित करना चाहिए। दैनिक जागरण का अभियान राइजिंग इंडियाः जीतेगा भारत हारेगा कोरोना सकारात्मकता का संदेश देता है। लोग इससे प्रेरणा लेंगे। इसके लिए बहुत-बहुत शुभकामनाएं। हम इस जानलेवा बीमारी से उत्‍पन्‍न चुनौतियों से निपटने में जरूर कामयाब होंगे।

कोरोना की वजह से देश में बीते 24 घंटे में अमेरिका से ज्यादा लोगों ने गंवाई जान, भारत में 425 की मौत जबकि... सूबे में रही हो क‍िसी की भी सरकार, सबमें रहे व‍िकास दुबे के 'वफादार' चीनी सेना का गलवान में पीछे हटना शांति की पहल या एक और साज‍िश?

-हेमंत सोरेन,मुख्यमंत्री, झारखंड।मुझे पूरा भरोसा है कि आने वाला समय भारत का हैभय भरे माहौल में उत्‍साह का बहुत महत्‍व है। हम सबको कुछ न कुछ ऐसा करना चाहिए जो एक-दूसरे को सकारात्‍मक ऊर्जा दे सके। युवाओं के लिए यह अवसर है कि वह अपनी क्षमता का प्रदर्शन कर देश के लिए कुछ करें। रोज समाज में कुछ बेहतर हो रहा है। कोरोना से लड़ने के नए तरीके इजाद किए जा रहे हैं। मुझे पूरा भरोसा है कि आने वाला समय भारत का है। विश्‍वपटल पर वह और मजबूत देश बनकर उभरेगा। दैनिक जागरण की पहल स्‍वागत योग्‍य है, सकारात्‍मक और ऊर्जा देने वाली खबरें सबको मजबूत करेंगी। प्रेरणा देंगी।

-दीपिका कुमारी,अंतरराष्ट्रीय तीरंदाज।(अस्वीकरणः फेसबुक के साथ इस संयुक्त अभियान में सामग्री का चयन, संपादन व प्रकाशन जागरण समूह के अधीन है।) और पढो: Dainik jagran »

कोरोना बुलेटिन LIVE : विज्ञान और तकनीक से जीती जाएगी कोरोना से अंतिम लड़ाईकोरोना बुलेटिन LIVE : विज्ञान और तकनीक से जीती जाएगी कोरोना से अंतिम लड़ाई CoronaBulletin NITIAayog CoronaUpdate Lockdown Coronavirus drharshvardhan MoHFW_INDIA drharshvardhan MoHFW_INDIA तो फिर लोग गौमूत्र से इलाज बन्द कर दे

फाइलों की दौड़ से दिल्ली के NDMC बिल्डिंग में ऐसे फैल गई कोरोना की चेनन्यू दिल्ली म्युनिसिपल कारपोरेशन (एनडीएमसी) के ज्वाइंट डायरेक्टर स्टेट भी कोरोना की चपेट में आ गए हैं. उनकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इसके बाद गोल मार्केट स्थिति शहीद भगत सिंह प्लेस को 48 घंटे के लिए सील कर दिया गया है.

कोरोना वायरस: भारत के मुकाबले क्या है पाकिस्तान का हाल?भारत के मुकाबले क्या है पाकिस्तान का हाल? ImranKhanPTI pid_gov DrSJaishankar DefenceMinIndia PIBHomeAffairs CoronavirusLockdown Covid_19india ImranKhanPTI pid_gov DrSJaishankar DefenceMinIndia PIBHomeAffairs देखा महामारी में भी पाकिस्तान से तुलना ImranKhanPTI pid_gov DrSJaishankar DefenceMinIndia PIBHomeAffairs अपने भारत में ही रह भाई पाकिस्तान जाने की जरूरत नहीं है उनकी वह जाने

कोरोना संकटः तुर्की को पछाड़ नौवां सबसे प्रभावित देश बन सकता है भारतकोरोना वायरस को लेकर दुनिया के सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में भारत धीरे धीरे आगे बढ़ रहा है। WHO DrHVoffice drharshvardhan AyushmanNHA ICMRDELHI MoHFW_INDIA CoronaVirusUpdates CoronavirusLockdown Covid_19india COVID19Pandemic StayHomeIndia

कोरोना अपडेट: लॉकडाउन पीढ़ी पर 'दशकों तक रह सकता है असर' - BBC Hindiअंतरराष्ट्रीय श्रम संगठन की चेतावनी, दशकों तक रहेगा युवाओं पर कोरोना का असर. चलती हुईं ट्रेन मिलीं तो 6 साल चला ली... एक बार 'शुरू' करना पडा़ तो 40 ट्रेन 'रास्ता' भटक गई गजब का मैनेजमेंट हैं !! 🤔 chinaindiaborder Dchautala We need leaders like Dushyant narendramodi अच्छा है कम से कम कुछ को पौकेट तो भरेगा न🙄

कोरोना वायरस ने भारतीय राजनीति को कितना बदला है?यह कोई पहला मौका नहीं है जब किसी महामारी से भारतीय राजनीति प्रभावित हुई है लेकिन मौजूदा समय में क्या कुछ बदलाव आए हैं. जय श्री राम दोस्तो🙏🙏 इस वीडियो में मैंने बताया है कि चीन क्यो इतना बौखलाया हुआ जिसके कारण वो सीमा पर विवाद को बढ़ा रहा है। आप से गुजारिश है कि वीडियो को जरूर देखें और चैनल को भी जरूर सब्सक्राइब करे🙏🙏। IndiaChinaFaceOff Pura ka pura patallok dikhaya hai Use niche nahi ja sakte ye log Jay hind 🙏 Unhone Bharat ko badal Diya magar yahi Nahin badle

VIDEO: आफरीदी बोले- टीम इंडिया की धुनाई करती थी PAK टीम, मैच के बाद मांगते थे माफी - Sports AajTak स्वदेशी वैक्सीन के ह्युमन ट्रायल को अनुमति, सरकार ने कहा ‘कोरोना के अंत की शुरुआत’ - BBC Hindi राहुल का मोदी सरकार पर निशाना- तीन चीजें ज्यादा देर छिप नहीं सकतीं- सूर्य, चंद्रमा और सत्य विकास दुबे का कानपुर में घर किस ‘क़ानूनी तरीक़े’ से ढहाया गया? दिल्ली से सटे सोनीपत में 7 मुस्लिम परिवारों ने अपनाया हिंदू धर्म प्रियंका का योगी पर निशाना- क्राइम में टॉप पर यूपी, CM के प्रचार में हुआ 'अपराधमुक्त' LAC से चीन का पीछे हटना पीएम मोदी की आक्रामक रणनीति का असर? देखें दंगल विकास दुबे मुठभेड़: देवेंद्र मिश्र ऐसा जज़्बा दिखाकर बने थे सिपाही से डीएसपी 'चीन को दूध पिलाकर 6 साल तक मोटा किया', पीएम पर भड़के कांग्रेस प्रवक्ता ओवैसी ने पूछा, ना कोई घुसा है, ना कोई घुसा हुआ है तब 'डी-एस्केलेशन' क्यों? राहुल का वार- फेलियर पर स्टडी में शामिल होंगी 3 चीज़ें, कोविड-19, GST और नोटबंदी