Business, Re, Reliance Industries, Reliance Industries New Venture, Reliance Industries Share Price, Reliance Industries Stock Price, Reliance Industries Profit, Mukesh Ambani Reliance Industries, Mukesh Ambani, Mukesh Ambani New Investment, Reliance Industries New Company, Reliance Industries Work For Environment Protection, Reliance Industries Recycle Plan, Reliance Industries Pet Bottles Recycle, Reliance Industries Recron, Pet Bottles Recycling In India, Pet Recycling In India, Pet Bottles Recycle Plants In India

Business, Re

Reliance Industries बचाएगी पर्यावरण, 500 करोड़ प्लास्टिक बोतलों को रिसाइकिल कर बनाएगी ये प्रोडक्ट

Reliance Industries Limited पर्यावरण बचाने की दिशा में बड़ा कदम उठाने जा रही है #Business #RE

05-08-2021 22:30:00

Reliance Industries Limited पर्यावरण बचाने की दिशा में बड़ा कदम उठाने जा रही है Business RE

उद्योगपति मुकेश अंबानी ( Mukesh Ambani ) के नेतृत्व वाली Reliance Industries Limited पर्यावरण बचाने की दिशा में बड़ा कदम उठाने जा रही है. कंपनी अपनी प्लास्टिक बोतलें (PET Bottles) रिसाइकिल करने की क्षमता को दोगुना करेगी. इससे करोड़ों प्लास्टिक बोतलों का सफाया होगा. जानें पूरी बात...

1/7उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के नेतृत्व वाली Reliance Industries Limited पर्यावरण बचाने की दिशा में बड़ा कदम उठाने जा रही है. कंपनी अपनी प्लास्टिक बोतलें (PET Bottles) रिसाइकिल  करने की क्षमता को दोगुना करेगी. इससे करोड़ों प्लास्टिक बोतलों का सफाया होगा. जानें पूरी बात...

'इमरान और बाजवा का दोस्त, राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा', इस्तीफा देते ही सिद्धू पर बरसे कैप्टन UP Tak Baithak: आप सांसद संजय सिंह बोले- दिल्ली में हमने गुड गवर्नेंस पर चुनाव जीता था, यहां भी ऐसे ही जीतेंगे SpaceX: चार आम लोग, तीन दिन अंतरिक्ष में गुजारने के बाद वापस लौटे, जानें कितना आया खर्च?

(Photo : Reuters)2/7Reliance Industries ने बुधवार को जानकारी दी कि उसकी इस योजना के लिए प्लास्टिक रिसाइक्लिंग और कचरा प्रबंधन कंपनी Srichakra Ecotex India Pvt Ltd आंध्र प्रदेश में एक नया प्लांट लगाएगी. ये प्लांट एक्सक्लूसिव तौर पर Reliance Industries के लिए काम करेगा. (File Photo)

3/7Reliance Industries के लिए आंध्र प्रदेश में लगाए जाने वाले प्लांट में PET बोतलों को रिसाइकिल कर पॉलिएस्टर स्टेपल फाइबर (PSF) बनाया जाएगा. इस प्लांट में PSF- Recron GreenGold और PET Flakes की वाश-लाइन होगी. Recron ब्रांड नाम से कंपनी रूई जैसा फाइबर तैयार करती है जो तकियों इत्यादि में भरने के लिए काम आता है. (File Photo) headtopics.com

4/7Reliance Industries की इस योजना का टारगेट PET Bottle रिसाइकिल करने की अपनी क्षमता को बढ़ाकर को दोगुने से अधिक करना है. उसके इस कदम से इस्तेमाल की हुई करीब 500 करोड़ PET Bottles रिसाइकिल होंगी.  (Photo : Getty)5/7Reliance Industries के इस कदम से देश में ग्राहक के इस्तेमाल बाद 90% से अधिक PET Bottles का रिसाइकिल होना सुनिश्चित होगा. अभी भी इस्तेमाल के बाद प्लास्टिक बोतल इत्यादि (PET) रिसाइकल करने की दर भारत में सबसे अधिक है. (File Photo)

6/7Reliance Industries के इस प्लान से देश में नए उद्यमियों को बढ़ावा मिलेगा. वो कचरे के ढलावों से इस्तेमाल की हुई प्लास्टिक पैकिंग को रिसाइकिल के लिए एकत्रित करेंगे. नई रिसाइकिल फैसिलिटी लगाने के लिए भी प्रोत्साहित होंगे. (File Photo)7/7 और पढो: आज तक »

खबरदार: मुख्यमंत्री ने दिया इस्तीफा, पंजाब कांग्रेस में विवाद सुलझा या उलझा?

पंजाब में अगामी विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस पार्टी को बड़ा झटका लगा है. मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. राज्‍यपाल ने उनका इस्‍तीफा मंजूर कर लिया है. कैप्टन ने इस्तीफा देने के बाद मीडिया के साथ वार्ता के दौरान कहा- वो अपमानित महसूस कर रहे थे. हालांकि, कैप्टन ने अपने अगले कदम को लेकर सस्पेंस रखा है. लेकिन, विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को डेंट लगना लगभग तय है. क्योंकि कैप्टन कांग्रेस के दिग्गज नेता हैं. और करीब कुल साढ़े नौ साल पंजाब में मुख्यमंत्री रह चुके हैं. देखें वीडियो.

Ye Parsi Gang ka Member hai Anil Ambani pehle ye log apne hi members se Environment ko ganda karte hai or Bottles Produce karte hai or phir accha banne ke liye Recycle 🚮 karte hai - Goodwill of Business ko badhane ke liye

TV: ‘बालिका वधू’ के दूसरे सीजन पर टिकी ‘कलर्स’ की नंबर वन बनने की आस, इसके बाद खुलेगा रणवीर का पिटाराबालिका वधू’ के दूसरे सीजन पर टिकी ‘कलर्स’ की नंबर वन बनने की आस, इसके बाद खुलेगा रणवीर का पिटारा ColorsTV BalikaVadhu2 RanveerSingh KhatronKeKhiladi ColorsTV इसे बंद क्यों नही कर देते फालतू का ड्रामा

आज का कार्टून: ये कौनसी बेटी की बात कर रहे हैं? - BBC News हिंदीदिल्ली में नाबालिग बच्ची की रेप के बाद हत्या पर आज का कार्टून. I don't know . जिम्मेदारी पर बात करना कौन चाहता है?

नाक के बाल जरूरी हैं: बात नाक के बाल की नहीं, अस्थमा जैसी बीमारियों का जोखिम घटाने की है; इन्हें वैक्स करने से रेस्पिरेटरी इन्फेक्शन का खतरा बढ़ेगाआजकल सोशल मीडिया पर एक नया ट्रेंड दखने को मिल रहा कि लोग नोज वैक्सिंग करवा रहे हैं। अक्सर जब लोग ऐसी कोई नई चीज देखते हैं तो उसे एक बार करने को जरूर सोचते हैं। अगर आप भी ऐसा कोई वीडियो देख कर नोज वैक्सिंग करवाने के बारे में सोच रहे हैं तो पहले यह जान लीजिए कि ये फैसला आपकी हेल्थ के लिए खतरनाक हो सकता है। | एक्सपर्ट के मुताबिक नाक के बाल उस हवा को फिल्टर करते हैं जिसमें हम सांस लेते हैं। ये बाल हवा में मौजूद वायरस, बैक्टीरिया और अन्य बीमारी फैलाने वाले रोगजनक से बचाते हैं। मेडिकल साइंस यह बात सदियों पहले से कह रहा है कि रेस्पिरेटरी सिस्टम को हेल्दी रखने के लिए नाक के बाल जरूरी हैं। कुछ गलत बोला क्या?🙄🙄

Budhwar Donts: बुधवार को भूलवश भी न करें ये काम, आर्थिक संकट आ सकता हैBudhwar Donts भगवान गणेश की पूजा से व्यक्ति के जीवन में यश धन वैभव समृद्धि और खुशहाली का आगमन होता है। भगवान गणेश की कृपा से जीवन में कोई दुख नहीं आता है लेकिन बुधवार को कुछ काम नहीं करने चाहिए।

सहारा विवाद: नौ साल में निवेशकों के 129 करोड़ ही लौटाए जा सके, सामने नहीं आ रहे दावेदार, सेबी के खाते में है 23 हजार करोड़ रुपयेसहारा चिटफंड: नौ साल में सेबी निवेशकों को 129 करोड़ ही लौटा सका, सामने नहीं आ रहे दावेदार SEBI Sahara Money Investors Paisa to mera bhi dooba hai, milega kaise ye to batao कहाँ से आयंगे मायावती और मुलायम का माल था

आज की पॉजिटिव खबर: राजस्थान और गुजरात के 3 दोस्त मिलकर किसानों के प्रोडक्ट घर-घर पहुंचा रहे, 4 साल में 1.25 करोड़ का बिजनेस, 15 लोगों को नौकरी भी दीपिछले कुछ सालों में ऑर्गेनिक प्रोडक्ट्स की डिमांड बढ़ी है। लोग अपनी रूटीन लाइफ में ऐसे प्रोडक्ट्स को शामिल कर रहे हैं। हालांकि सबसे बड़ी दिक्कत इनकी उपलब्धता को लेकर है। ज्यादातर लोग न तो सीधे किसानों तक पहुंच सकते हैं और न ही किसान लोगों तक अपने प्रोडक्ट पहुंचा सकते हैं। बड़े शहरों में यह मुसीबत और भी बड़ी है। | 3 friends from Rajasthan and Gujarat are bringing the products grown by farmers from door to door, business worth Rs 1.25 crore in 4 years, also gave jobs to 15 people