Pvsindhu, Tokyoolympics, Olympics 2020, İnspiration, Re, Tokyo Olympics, Badminton, He Bing Jiao, Pusarla V. Sindhu, Bronze Medal Match Results

Pvsindhu, Tokyoolympics

PV Sindhu: आठ साल की उम्र में थाम लिया था रैकेट, अब ओलंपिक में किया 'डबल धमाका'

कहा जाता है कि सिंधु ट्रेनिंग के लिए रोजाना 56 किलोमीटर की दूरी तय कर गोपीचंद की अकादमी पहुंचती थीं #PVSindhu #TokyoOlympics #Olympics2020 #inspiration #RE

02-08-2021 03:30:00

कहा जाता है कि सिंधु ट्रेनिंग के लिए रोजाना 56 किलोमीटर की दूरी तय कर गोपीचंद की अकादमी पहुंचती थीं PVSindhu TokyoOlympics Olympics2020 inspiration RE

पीवी सिंधु ओलंपिक के व्यक्तिगत इवेंट में दो पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी हैं. इससे पहले रियो ओलंपिक 2016 में भी सिंधु ने कमाल का प्रदर्शन करते हुए सिल्वर मेडल अपने नाम किया था. अब इस ओलंपिक में वे सिल्वर तो नहीं जीत पाईं, लेकिन कांस्य जीत भी इतिहास रच गईं.

पीवी सिंधु की शुरुआती जिंदगीसिंधु के बैडमिंटन करियर की बात करें तो उन्होंने खुद को समय के साथ तराशा है. काफी संघर्ष और तकनीक पर काम करने के बाद उन्होंने अपना खुद का स्टाइल डेवलप किया है. पीवी सिंधु का जन्म 5 जुलाई 1995 को हैदराबाद में हुआ था. पीवी सिंधु के पिता पीवी रमन्ना और मां पी विजया नेशनल लेवल पर वॉलीबॉल खेल चुके हैं. रमन्ना को तो उनकी उपलब्धियों के लिए अर्जुन अवॉर्ड से भी सम्मानित किया गया था. 2001 में पुलेला गोपीचंद के ऑल इंग्लैंड चैम्पियनशिप का खिताब जीतने के बाद सिंधु ने बैडमिंटन प्लेयर बनने की ठानी थी. सिंधु ने महज 8 साल की उम्र में बैडमिंटन रैकेट थाम लिया और इस खेल के प्रति उनका जुनून समय के साथ बढ़ता ही चला गया.

Canada election result: कनाडा चुनाव में जस्टिन ट्रूडो की लिबरल पार्टी को जीत, बहुमत से दूर अमेरिकी रेस्तरां में नहीं मिली ब्राजील के राष्ट्रपति को एंट्री, फुटपाथ पर खाया खाना भारत की पहली हाइब्रिड फ्लाइंग कार का मॉडल तैयार, मेडिकल इमरजेंसी में आएगी काम, देखें तस्वीर

उन्होंने अपनी पहली ट्रेनिंग सिकंदराबाद में महबूब खान की देखरेख में शुरू की थी. इसके बाद सिंधु गोपीचंद की अकादमी से जुड़कर बैडमिंटन के गुर सीखने लगीं. कहा जाता है कि सिंधु ट्रेनिंग के लिए रोजाना 56 किलोमीटर की दूरी तय कर गोपीचंद की अकादमी पहुंचती थीं. उन्होंने वहां पर जो पसीना बहाया, उसका फल उन्हें आने वाले सालों में लगातार मिलता रहा और उन्होंने कई टूर्नामेंट जीते.

करियर में कैसा रहा संघर्ष?2009 में सिंधु ने कोलंबो में जूनियर एशियाई बैडमिंटन चैम्पियनशिप में हिस्सा लिया था, जो सिंधु का पहला अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट था. 2012 में सिंधु ने लंदन ओलंपिक की चैम्पियन ली जुरेई को हराते हुए सबका ध्यान खींचा था. सितंबर 2012 में महज 17 साल की उम्र में सिंधु दुनिया की टॉप-20 खिलाड़ियों में शामिल हो गई थीं. 2013 के वर्ल्ड चैम्पियनशिप में ब्रॉन्ज जीतने के साथ ही सिंधु इस चैम्पियनशिप में मेडल जीतने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी बनी थीं. इसके बाद से 2015 को छोड़कर उन्होंने 2019 तक हरेक वर्ल्ड चैम्पियनशिप में मेडल जीता और बैडमिंटन की दुनिया में अपना दबदबा कायम रखा. headtopics.com

टोक्यो ओलंपिक के सफर पर नजरपीवी सिंधु के टोक्यो सफर की बात करें तो उन्होंने खेल के इस महाकुंभ में जीत से शुरुआत की थी. उन्होंने इजरायल की केसनिया पोलिकारपोवा को 21-7, 21-10 से हरा दिया था. इसके बाद हांगकांग की खिलाड़ी पर भी सिंधु काफी भारी पड़ीं और उन्होंने 21-9, 21-16 से जीत हासिल की. फिर बैडमिंटन के राउंड 16 में भी पीवी सिंधु ने अपनी जीत का सिलसिला जारी रखा और उन्होंने डेनमार्क की मिया ब्लिचफेल्ट को आसानी से हरा दिया. उस जीत के साथ सिंधु ने क्वार्टर फाइनल में दस्तक दी और उनका मुकाबला जापान की अकाने से हुआ. टक्कर जोरदार रही लेकिन यहां भी सिंधु के स्किल्स ने उन्हें जीत दिला दी. उस मैच में 21-13, 22-20 से उन्होंने जीत हासिल की. उस जीत के साथ ही सिंधु इतिहास रचने के काफी करीब पहुंच गई थीं. सभी को उम्मीद थी कि वे सेमीफाइनल में जीत हासिल कर गोल्ड के लिए दावेदारी पेश करेंगी. लेकिन उस मैच में वे 21-18, 21-12 से हार गईं और उनका गोल्ड जीतने का सपना टूट गया. अब उस हार के बाद पीवी सिंधु ने रविवार को चीन की बिंगजियाओ को परास्त कर कांस्य पदक अपने नाम कर लिया है.

Live TV और पढो: आज तक »

Delhi में बड़े Terror Module का पर्दाफाश, जांच एजेंसियों ने 6 को दबोचा, देखें स्पेशल रिपोर्ट

दिल्ली में पाकिस्तान की बड़ी साजिश का खुलासा करते हुए एजेंसी ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया है. जानकारी के मुताबिक इस पाकिस्तानी आतंकी मॉड्यूल के लिए काम करने वाले 6 लोगों में से दो ने पाकिस्तान में ट्रेनिंग हासिल की थी. जांच एजेंसियों ने पाकिस्तान द्वारा पोषित एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है. इस मामले में जांच एजेंसियों ने 6 लोगों को गिरफ़्तार किया है. पकड़े गए संदिग्ध भारत में इस आतंकी मॉड्यूल को ऑपरेट कर रहे थे. इन सभी से लगातार पूछताछ की जा रही है. एजेंसी का दावा है कि पकड़े गए इन संदिग्ध आतंकियों के पास से बड़ी मात्रा में हथियार और विस्फोटक बरामद हुए हैं. देखिए स्पेशल रिपोर्ट का ये एपिसोड.

बहुत-बहुत बधाईयाँ, सिन्धू। कहानियां बहुत आती है सितारों की.. कुछ फसाने नाकामियों के भी सुनाओ.. भारत की बिटिया का कठिन परिश्रम का नतीजा है यह मैडम धन्यवाद Kon kuta bhnka aaj take par Yes pagal Sir mere class me81.5%number the class 11me75.20% number the aur class 12ke pre board exam me axi performance the lakin phir bhi 50.40.10%formule ke hisab se to Mera result 75+%ban Raha hai but aaya hai 61%sir hame nyay dilaiye

टोक्यो ओलंपिक: वर्ल्ड नंबर वन के सामने सेमीफ़ाइनल में पीवी सिंधु - BBC Hindiरियो ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाली भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधु शनिवार को टोक्यो ओलंपिक में चीनी ताइपे खिलाड़ी ताई जू यिंग के सामने. Our jobs are on stake anyway, we need to run a campaign to highlight this issue. Government is taking this issue lightly. Start biobubble or fly with 50% capacity or pre quarantine in india. UmangGu11237083 liftflightban umang_gupta support help support करें । लोकतंत्र की रक्षा हेतु ट्विटर पर शांतिपूर्ण आंदोलन आवश्यक। मैं ट्विटर के अपने सभी साथियों से निवेदन करता हूं कि, BanAlldirectsellingcompany को सपोर्ट करें, रिट्वीट_करें और इसे ट्रेंडिंग में लाएं। MLM industry कब तक लूटता रहेगा। रिट्वीट_करें बधाई हो ।

टोक्यो ओलंपिक: पीवी सिंधु सेमीफ़ाइनल में चीनी ताइपे खिलाड़ी से हारीं - BBC Hindiपीवी सिंधु टोक्यो ओलंपिक के सेमीफ़ाइनल मुक़ाबले में चीनी ताइपे खिलाड़ी ताई जू यिंग ने 18-21, 12-21 से हार गई हैं. हालांकि कांस्य पदक की उम्मीद अब भी है. Pv sindhu har gyi 21-12 Every Indian right now

पीवी सिंधु ने टोक्यो ओलंपिक में जीता ब्रॉन्ज, ऐसा करने वाली बनीं पहली भारतीय महिला खिलाड़ीभारत की स्टार महिला शटलर पीवी सिंधु ने ब्रॉन्ज मेडल मैच में चीन की ही बिंगजियाओ को हराकर भारत के लिए टोक्यो ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल जीत लिया है। मीराबाई चानू के सिल्वर के बाद भारत का ये दूसरा मेडल है । इसी के साथ टोक्यो ओलंपिक में भारत के तीन मेडल पक्के हो गए हैं।

टोक्यो ओलंपिक: 41 साल बाद ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुंची भारतीय पुरुष हॉकी टीमभारतीय पुरुष हॉकी टीम ने रविवार को टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रचते हुए 41 साल बाद ओलंपिक के सेमीफाइनल में जगह बनाई है। भारत ने क्वार्टरफाइनल मुकाबले में ब्रिटेन को 3-1 से हराकर अंतिम-4 में अपना स्थान पक्का किया है।

टोक्यो ओलंपिक: 49 साल बाद ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुंची भारतीय पुरुष हॉकी टीमभारतीय पुरुष हॉकी टीम ने रविवार को टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रचते हुए 49 साल बाद ओलंपिक के सेमीफाइनल में जगह बनाई है। भारत ने क्वार्टरफाइनल मुकाबले में ब्रिटेन को 3-1 से हराकर अंतिम-4 में अपना स्थान पक्का किया है। Very nice update

5 PHOTOS में सिंधु की हार की 5 वजह: सेमीफाइनल में ताइजु ने एकतरफा मैच जीता, माइंड गेम, लंबी रैली और लाइन जजमेंट में सिंधु को बुरी तरह हरायाटोक्यो ओलिंपिक में चीनी ताइपे की वर्ल्ड नंबर-1 ताइजु यिंग ने पीवी सिंधु को 21-18, 21-12 से हरा दिया।। पहले गेम में दोनों के बीच कड़ी टक्कर देखने को मिली थी। हालांकि दूसरे गेम में चीनी ताइपे की खिलाड़ी ने एकतरफा अंदाज में जीत हासिल की। सिंधु अब ब्रॉन्ज मेडल के लिए चीन की जियाओ बिंग हे का मुकाबला करेंगी। यह मुकाबला रविवार को शाम 5 बजे से होगा। | PV Sindhu Vs Tai Tzu Ying (India China); Tokyo Olympics Badminton Semifinal Update टोक्यो ओलिंपिक में आज बैडमिंटन की 2 चैंपियन खिलाड़ियों चीनी ताइपे की वर्ल्ड नंबर-1 ताईजु यिंग और वर्ल्ड नंबर-7 पीवी सिंधु के बीच दोपहर 3:20 बजे से मैच शुरू होगा। P V Sindhu-U R The Medal of India-U will Remain Medal of India India is with U India is in U U Inspired The Nation India Put Ur Best of India in U Give Ur Best of India in U Put Ur best in U