Kadak, Digitalprimetime, Gyankibaat, Pok, Pakistan Occupied Kashmir, Kashmir, Loc, Pakıstan, Anger İn Pok, Condition Of Pok

Kadak, Digitalprimetime

Pok में पाकिस्तान के खिलाफ गुस्सा, छला महसूस करते हैं लोग

पीओके में होने वाले प्रदर्शनों में भारत समर्थक नारे लगते हैं और भारतीय झंडे भी लहराए जाते हैं #Kadak #DigitalPrimeTime #GyanKiBaat

11.9.2019

पीओके में होने वाले प्रदर्शनों में भारत समर्थक नारे लगते हैं और भारतीय झंडे भी लहराए जाते हैं Kadak DigitalPrimeTime GyanKiBaat

pakistan occupied kashmir in anger and feel bettered against pakistan। news18hindi। पीओके में पाकिस्तान के खिलाफ गुस्सा, छला महसूस करते हैं लोग। पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में असंतोष का माहौल करीब उसी तरह है, जिस तरह कभी पूर्वी पाकिस्तान में था, जहां पाकिस्तानी भेदभाव और सेनाओं के दमन की प्रतिक्रिया बांग्लादेश के तौर पर नए राष्ट्र के रूप में सामने आई | knowledge News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी

Updated: September 11, 2019, 9:21 PM IST चार दिन पहले पाकिस्तान (Pakistan) अधिकृत कश्मीर (PoK) में बहुत बड़ी रैली निकली. रैली में मौजूद हजारों भीड़ पाकिस्तान से आजादी के नारे लगा रही थी. उनके हाथों में बैनर और पोस्टर्स थे, जो उनकी आजादी से संबंधित मांग को जाहिर कर रहे थे. रैली पर पुलिस ने जमकर बल प्रयोग किया. आंसू गैस के गोले छोड़े. काफी लोग घायल हो गए. 25 से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी की गई. पीओके में ऐसे विरोध प्रदर्शन लगातार होते रहते हैं. 70 साल पहले सीक्रेट"कराची एग्रीमेंट" के जरिए पाकिस्तान ने पीओके पर पूरी तरह नियंत्रण कर लिया था, जिसके बारे में लंबे समय तक यहां के लोगों को मालूम नहीं हो सका कि इस सीक्रेट एग्रीमेंट है क्या. इस करार के बाद से पाकिस्तान के भेदभाव भरे रवैये और दमन से यहां के लोग खुद को ठगा हुआ पाते हैं. दरअसल, 1949 में पाकिस्तान सरकार के तत्कालीन प्रधानमंत्री जम्मू-कश्मीर मुस्लिम कांफ्रेंस के प्रमुख चौधरी गुलाम अब्बास और पीओके के फाउंडर प्रेसीडेंट सरदार इब्राहिम खान के बीच एक करार हुआ. जो कई दशकों तक सीक्रेट ही रहा. हस्ताक्षर करने वालों के अलावा किसी को नहीं मालूम था कि इसमें क्या प्रावधान थे. इस करार के बाद पाकिस्तान का शिकंजा पीओके पर कसने लगा. साथ ही पीओके की अवाम को महसूस होने लगा कि उनके साथ छल हुआ है. पाकिस्तान ने बड़ा धोखा किया है. बाद के बरसों में पाकिस्तान के रवैये के चलते पीओके के बड़े नेताओं को विदेश जाकर शरण लेनी पड़ी. ये नेता अब यूरोप या अमेरिका में रह रहे हैं. वहीं से अपने इलाके को पाकिस्तान से आजादी का आंदोलन चला रहे हैं. ये भी पढें - कौन हैं मिलेनियल्स, जो हैशटैग के ज़रिए वित्त मंत्री से ले रहे हैं लोहा इसीलिए इस इलाके में नियमित तौर पर पाकिस्तान विरोधी प्रदर्शन होते रहते हैं. कई बार इन प्रदर्शनों में भारत समर्थक नारे लगते हैं और भारतीय झंडे भी लहराए जाते हैं. इन विरोध प्रदर्शनों में लगातार पाकिस्तान से अलग होकर नया देश बनाने की मांग उठती है. हालांकि पाकिस्तान इसे पूरी ताकत से दबाता रहा है. पीओके में अक्सर पाकिस्तान के खिलाफ रैलियां होती हैं. इसमें कई बार भारत के पक्ष में नारे और झंडे भी नजर आते हैं Loading... पीओके में मानवाधिकार और अन्य अधिकारों का हनन पीओके में मानवाधिकार और अन्य अधिकारों का लगातार हनन होता रहा है. बड़े पैमाने पर पाकिस्तान का दमनचक्र भी चलता है. पिछले कुछ सालों में यहां पाकिस्तान के खिलाफ गुस्सा ज्यादा बढ़ा है. हालात बिल्कुल उस पूर्वी पाकिस्तान की तरह है, जो पाकिस्तान के दमन और भेदभाव का शिकार हुआ. फिर वहां गृह युद्ध जैसे हालात बने और फिर एक नए देश का जन्म हुआ, जिसे आज हम बांग्लादेश के रूप में जानते हैं. पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में लगातार बड़े पैमाने पर सेना का जमावड़ा बना रहता है. खूबसूरत इलाका पीओके का सबसे बड़ा इलाका गिलगिट बालटिस्तान है. ये पूरा इलाका बेहद खूबसूरत और प्राकृतिक संसाधनों से भरपूर है. हालांकि इसका फायदा इलाके के लोगों को नहीं मिल पाता. उलटे पाकिस्तान के साथ चीन भी इस इलाके में प्राकृतिक संसाधनों का विपुल तौर पर दोहन करने में लगा है. अक्सर यहां मोबाइल सर्विस और इंटरनेट बंद कर दिये जाते हैं. प्रदर्शनकारी आमतौर पर जम्मू एंड कश्मीर लिबरेशन फ्रंट (जेकेएलएफ) के होते हैं, जो पीओके की प्रमुख सियासी पार्टी है. जेकेएलएफ के सीनियर नेता तौकीर गिलानी ने अल जजीरा से कहा- हमारी मुख्य मांग आजादी है. पीओके का इलाका काफी खूबसूरत और उर्वरा इलाका है लेकिन इस इलाके के प्राकृतिक संसाधनों का दोहन ना केवल पाकिस्तान बल्कि चीन भी कर रहा है कभी शियाओं की बहुलता थी लेकिन अब डेमोग्राफी बदली किसी जमाने में कश्मीर के इस इलाके में शियाओं की बहुलता थी, जो यहां के मूल वाशिंदे हैं. लेकिन पाकिस्तान ने चालाकी से बड़े पैमाने पर दूसरे इलाके से पाकिस्तानियों को लाकर यहां बसा दिया है. इससे शिया खफा रहते हैं. इसके चलते इलाके की डेमोग्राफी भी काफी हद तक बदल गई. पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान कहते हैं कि भारत ने कश्मीरियों पर नियंत्रण लगा रखा है लेकिन हकीकत ये है कि पीओके में पाकिस्तान का दबाव और दमन बहुत बड़े पैमाने पर हैं. इस साल के शुरू में भी जब जेकेएलफ ने पाकिस्तानी सेना को यहां हटाने के लिए अभियान छेड़ा तो बड़े पैमाने पर उनकी गिरफ्तारियां हुईं. ये भी पढ़ें - जानिए कहां जमा होता है ट्रैफिक चालान का पैसा, अब तक कितने की हुई 'वसूली' विलय पत्र के अनुसार ये भारत का हिस्सा अगर तथ्यों की बात की जाए तो 22 अक्टूबर 1947 को जब पाकिस्तान सेना के समर्थन से कबायलियों ने कश्मीर पर हमला किया था, तब जम्मू-कश्मीर के शासक महाराजा हरिसिंह ने अपने राज्य के भारत में विलय का फैसला किया. इसके बाद भारतीय फौजें वहां पहुंचीं और उन्होंने कबायलियों के पैर उखाड़ दिये. तब कश्मीर की सबसे बड़ी सियासी पार्टी नेशनल कांफ्रेंस ने भी कश्मीर के भारत में विलय का पुरजोर समर्थन किया. उस समय कबायली कश्मीर के एक बड़े इलाके पर काबिज रहे, जिसमें गिलगिट और बालटिस्तान शामिल थे, तब से यही स्थिति बनी हुई है. कश्मीर का कुछ इलाका पाकिस्तान के नियंत्रण में है जबकि विलय पत्र पर महाराजा के हस्ताक्षर के बाद ये पूरा राज्य भारत के अधीन होना चाहिए था. गिलगित में भी पाकिस्तान से अलग होने की मांग को लेकर अक्सर बड़े प्रदर्शन होते रहते हैं हर साल 22 अक्टूबर को पाकिस्तान के विरोध में प्रदर्शन और रैलियां हर साल 22 अक्टूबर को पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में पाकिस्तान के कब्जे के विरोध में बड़े पैमाने पर रैलियां निकलती हैं, जनसभाएं होती हैं और विरोध प्रदर्शन होते हैं. ये प्रदर्शन मुजफ्फराबाद, रावलकोट, कोठ, गिलगिट और हजीरा में होते हैं. शायद ही पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में कोई जगह ऐसी बचती हो, जहां कश्मीर में पाकिस्तानी कब्जे का विरोध नहीं होता हो. तब बड़े पैमाने पर पाकिस्तानी सेना के खिलाफ नारे भी लगाए जाते हैं. पीओके के नेताओं को विदेश भागना पड़ा वैसे पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर के बहुत से बड़े नेता पाकिस्तान के दमन के चलते यहां से भागकर विदेश चले गए. वो वहां से अपना अभियान चलाते रहते हैं. हाल के बरसों में पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में चीन ने कॉरीडोर बनाने की आड़ में प्राकृतिक संसाधनों का दोहन शुरू किया है. इस इलाके में कई प्रोजेक्ट बना रहा है. साथ ही पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर और गिलगित से हाल के बरसों में चीन तक के लिए कई लेन की शानदार चौड़ी सड़क तैयार हो चुकी है. पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में जहां कहीं चीन के प्रोजेक्ट चल रहे हैं, वहां चाइनीज सेना उसकी सुरक्षा में तैनात रहती है. लोगों को शक है कि ये चीनी सेना यहां से वापस जाएगी. लिहाजा कहा जा सकता है कि पाकिस्तान ने बहुत चालाकी से इस इलाके में फायदे के लिए चीन की घुसपैठ करा दी है. मीडिया को यहां से दूर रखा जाता है यहां आमतौर पर मीडिया की पहुंच नहीं है. ना ही इंटरनेशनल मीडिया को इस इलाके में आने दिया जाता है. वैसे ये वो इलाका भी है, जहां पाकिस्तान ने बड़े पैमाने पर आतंकवादियों के कैंप बना रखे थे. बालाकोट इसी इलाके में था, जहां इस साल के शुरू में भारतीय वायुसेना ने एयर स्ट्राइक कर बड़ी कार्रवाई की थी. भारत को मिल सकता है असंतोष का फायदा फिलहाल पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में असंतोष की जो स्थिति है, उसका फायदा भारत को मिल सकता है. अगर कश्मीर में धारा 370 खत्म किए जाने के बाद नए उद्योग धंधे शुरू होते हैं और उनसे रोजगार के अवसर बढते हैं तो निश्चित तौर पर पीओके में भी पाकिस्तान के खिलाफ असंतोष और गुस्सा भी बढ़ेगा. भारत के पक्ष में एक नया माहौल तैयार हो सकता है. हालांकि भारत में लगातार मांग होती रही है कि सैन्य कार्रवाई करके इस इलाके को वापस कश्मीर में मिलाया जाए. ये कब तक होगा, ये तो पता नहीं लेकिन भारत को रणनीति तौर पर यहां अपना दखल और मौजूदगी दोनों बढाने का समय जरूर आ गया है. और पढो: News18 India

दिल्ली हिंसा: चांदबाग में मिला IB कर्मी का शव, ड्यूटी से लौटा था घर, पथराव में हत्या कर नाले में फेंक दिया शव



धर्म साबित करने के लिए 'रुद्राक्ष' दिखाया, जान बचाने के लिए गिड़गिड़ाया - अब ऐसी हो गई है दिल्ली

शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों को हटाने पर सुनवाई मार्च तक टली, SC ने कहा- सभी पार्टियां अपना-अपना पारा नीचे कर लें



हमारे अल्पसंख्यक बराबर के नागरिक: इमरान ख़ान

हिंसा पर सोनिया के 5 सवाल- दिल्ली जल रही थी तो कहां थे अमित शाह और केजरीवाल?



दिल्‍ली में हिंसा के लिए गृह मंत्रालय जिम्‍मेदार, अमित शाह को इस्‍तीफा देना चाहिए: सोनिया गांधी

दिल्ली हिंसा के बीच PM मोदी ने की 'शांति और भाईचारे' की अपील, कहा- शांति का बहाल होना अहम



He is Indian that's part of India Neha9963 भारत के लिहाज से अच्छा संदेश है अगर नेहरू जी युद्ध विराम की नादानी ना करते तो आज पीओके नाम की कोई चीज होती ही नहीं ओर इंदिरा जी को भी मौका मिला था पीओके का खेल खत्म करने का लेकिन मुर्खतापूर्ण तरीक़े से पाकिस्तान के जीते हुए क्षेत्रों को वापस कर दिया आज मोदी सरकार चरणबद्ध तरीके से सही दिशा में काम कर रही हैं

Rajeev06292799 Pok है ही भारत का हिस्सा साथ मे अक्साई चीन ऐसा हम नहीं मानते!हमने उनको ये कभी भी बोलते नहीं देखा कि हम भी हिंदुस्तान का हिस्सा बनेंगे। Aab IMRANKHAN BINAMALIK Chup kiu hai ? PAKISTAN ALWAYS SAYING POK IS OK , THEY ARE HAPPY 🤣🤣 PAKISTAN IS ALWAYS CRUEL ON OTHERS. BANGLADESH IS LIVING EXAMPLE OF THAT. AAB POK BHI HATH SE JAYEGA. JO DUSRO KE GHAR AAG LAGATE HAIN USKA KHUD KA GHAR PAHELE JAL JATA HAI

वाह Please post the videos of human rights violation in Pakistan strongly and repeatedly to show the world what's the actuality of minorities and terrorist activities. Expose Pakistan more and more till 27 September. क्या वो घर वापसी चाहने लगे है? हालातों से मजबूर होकर l जीवन, सुरक्षा, आत्म सम्मान व् मूलभूत जरूरतें प्रथम होती है l

ममता सरकार के खिलाफ BJP का प्रदर्शन, बिजली के दामों में बढ़ोतरी का विरोधविरोध प्रदर्शन के दौरान बीजेपी कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने वाटर कैनन का इस्तेमाल किया. बिजली के दामों में हुई बढ़ोतरी के खिलाफ कार्यकर्ता प्रदर्शन कर रहे हैं. manogyaloiwal बिजली के दाम तो यूपी में भी बड़े हैं वहां पर विरोध क्यों नहीं करते बीजेपी वालों manogyaloiwal सत्ता में आने पर bjp भी यूपी की तरह बिजली के दाम बढ़ाएगी manogyaloiwal Up me bhi virodh kab karo ge..

INDIA IS THE BEST COUNTRY IN THE WORLD, A COUNTRY OF 33 CRORE GODS & GODDESSES. mdhaka21 POK अब भारत का हिस्सा जल्द ही बनने वाला है🚩🚩 Jai Hind SatyadeoPawar जय हिंद जय भारत। Hona v chahiye kui ki pok to bharat ka hi hissa hey. भारत के अंग पर कोई कब्जा कर लें तो भारत का झंडा ही लहरायेगा कब्जा करने वाले का नहीं।जिसका है उसी का रंग ही तो दौड़ेगा।

खून पानी से गाढ़ा होता है ! उनको पता है की उनके पूर्वज भारतीय थे न की पाकिस्तानी, उनका उज्जवल भविष्य भी भारत ही होगा न की Pakistan विजयी विश्व तिरंगा प्यारा, झंडा ऊँचा रहे हमारा KashmirAtDecisionPoint Article370 JammuKashmir POK हमारा है AmitShah PMOIndia Ramlal byadavbjp MlaTiwary BJPNagendraji nityanandoffice nityanandraibjp कश्मीर तो झांकी है पीओके की अब बारी है

भाई पीओके भारत का अभिन्न अंग है इसलिए वहां भारत के समर्थन में नारे नहीं लगेंगे तो क्या इंग्लैंड के समर्थन में लगेंगे, हद है

फिल्‍म व सोशल मीडिया के जरिए पाकिस्‍तान में सॉफ्ट पावर को बढ़ा रहा चीनपाकिस्‍तान में सॉफ्ट पावर को बढ़ा रहा चीन, चीनी दुल्‍हन का इंटरव्‍यू प्रसारित करने की तैयारी Pakistan ChinaPakRelation ChineseFlim

पाकिस्तान चुतिया देश। भारत से तुलना न करें। यहां पे जितनी स्वतंत्रता है, सभी को ,वो असाधारण। पाकिस्तान अपना घर देखे। जयहिंद। जयभारत। Ye jhoot bol rhe ha POK mein aisa kuch nhi hua. Haan lekin Lahore mein kuch log Pakistan Murdabad ke baare lagaa rhe the... Jai hind

आईएमए घोटाले में सीबीआई ने मंसूर खान व 24 अन्य कंपनियों के खिलाफ दायर किया आरोपपत्रआईएमए घोटाले में सीबीआई ने आठ दिन की जांच के बाद मुख्य आरोपी मंसूर खान व 24 अन्य कंपनियों के खिलाफ आरोपपत्र दायर किया।

‘चंद्रयान-2’ मिशन की पूरी दुनिया में तारीफ, चीन और पाकिस्तान के लोगों ने दी बधाईChandrayaan 2 Moon Landing Live, ISRO Chandrayaan 2 Vikram Lander Loc ation Now Live Updates: कश्मीर को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच तीखी बयानबाजी के बीच पाकिस्तान की पहली महिला अंतरिक्ष यात्री नमिरा सलीम ने भारत और इसरो को चंद्रयान- 2 मिशन के लिए बधाई दी है।

UNHRC में पाकिस्तान के झूठ का सहारा बने राहुल गांधी और उमर अब्दुल्लापाकिस्तान ने यूएनएचआरसी में कश्मीर पर झूठ बलोने के लिए 115 पेज का डोजियर तैयार किया है। इसमें उसने राहुल गांधी और उमर अब्दुल्ला के बयान का इस्तेमाल किया है। RahulGandhi well done pakistani boy Sharmnaak!! kuch sharm aaye to please thoda aatmmanthan kar Lena pappu RahulGandhi Bhaiya..... राहुल गांधी,डॉ मन मोहन सिंह को पाकिस्तान क्यों न भेजदिया जाये।उन्हें जाकर आर्थिक हालात सुधारने की राय दें तथा यहां से मोदी को उखाड़ने हेतु प्रत्यक्ष मदद लें।

पाकिस्तान ने दुनिया के सामने स्वीकारा सच, यूएन में कश्मीर को माना भारत का राज्यइस तरह से पाकिस्तान (Pakistan) ने कश्मीर ( Kashmir ) पर उस सच्चाई को स्वीकार कर लिया है. जिसे दुनिया लंबे अर्से से जानती और मानती आई है. | world News in Hindi - हिंदी न्यूज़, समाचार, लेटेस्ट-ब्रेकिंग न्यूज़ इन हिंदी prateektv 👌👍 prateektv Nothing else just shouting and ignorance. Shallow observations !



डोनाल्ड ट्रंप के लिए आयोजित डिनर का कांग्रेस ने किया बायकॉट, मनमोहन सिंह भी नहीं जाएंगे

गौतम गंभीर ने कपिल मिश्रा पर कार्रवाई की मांग की

शांति बहाली के लिए केजरीवाल ने राजघाट पर की प्रार्थना, बोले- हिंसा पर पूरा देश चिंतित

दिल्ली हिंसा में मारे गए फुरकान के भाई ने कहा- वो तो बच्चों के लिए खाना लेने गया था

Delhi Violence: BJP सांसद गौतम गंभीर बोले- कपिल मिश्रा हो या कोई और, जो भड़काए वह नपे

ट्रंप के भारत दौरे के दौरान हिंसा फैलाने की रची गई थी साजिश, खुफिया सूत्रों ने किया बड़ा खुलासा

Delhi Violence: विवादित बयान देने वाले कपिल मिश्रा बोले, 'जान से मारने की दी जा रही है धमकी'

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

11 सितम्बर 2019, बुधवार समाचार

पिछली खबर

चालान पर नया ज्ञान! BJP के डिप्टी सीएम बोले- अच्छी सड़कें हैं एक्सीडेंट की वजह

अगली खबर

महाराष्ट्र सरकार ने जुर्माना कम करने की बात कही तो नितिन गडकरी ने दिया यह पावरफुल जवाब
दिल्ली हिंसा: चांदबाग में मिला IB कर्मी का शव, ड्यूटी से लौटा था घर, पथराव में हत्या कर नाले में फेंक दिया शव धर्म साबित करने के लिए 'रुद्राक्ष' दिखाया, जान बचाने के लिए गिड़गिड़ाया - अब ऐसी हो गई है दिल्ली शाहीन बाग प्रदर्शनकारियों को हटाने पर सुनवाई मार्च तक टली, SC ने कहा- सभी पार्टियां अपना-अपना पारा नीचे कर लें हमारे अल्पसंख्यक बराबर के नागरिक: इमरान ख़ान हिंसा पर सोनिया के 5 सवाल- दिल्ली जल रही थी तो कहां थे अमित शाह और केजरीवाल? दिल्‍ली में हिंसा के लिए गृह मंत्रालय जिम्‍मेदार, अमित शाह को इस्‍तीफा देना चाहिए: सोनिया गांधी दिल्ली हिंसा के बीच PM मोदी ने की 'शांति और भाईचारे' की अपील, कहा- शांति का बहाल होना अहम दिल्ली हिंसा: बिलखते हुए बोले मृतक राहुल के पिता- कपिल मिश्रा ने भड़काई आग 'दिल्ली में एक और 1984 नहीं होने देंगे', हिंसा पर हाईकोर्ट की सख्त टिप्पणी दिल्ली हिंसा: हाई कोर्ट ने घायलों को बचाने के लिए आधी रात दिया आदेश दिल्ली हिंसा पर बोलीं सोनिया गांधी- यह एक साजिश है, कहां थे गृह मंत्री अमित शाह, उन्हें इस्तीफा दे देना चाहिए रामपुर के सांसद आजम खां को विधायक पत्नी और बेटे के साथ कोर्ट ने दो मार्च तक भेजा जेल
डोनाल्ड ट्रंप के लिए आयोजित डिनर का कांग्रेस ने किया बायकॉट, मनमोहन सिंह भी नहीं जाएंगे गौतम गंभीर ने कपिल मिश्रा पर कार्रवाई की मांग की शांति बहाली के लिए केजरीवाल ने राजघाट पर की प्रार्थना, बोले- हिंसा पर पूरा देश चिंतित दिल्ली हिंसा में मारे गए फुरकान के भाई ने कहा- वो तो बच्चों के लिए खाना लेने गया था Delhi Violence: BJP सांसद गौतम गंभीर बोले- कपिल मिश्रा हो या कोई और, जो भड़काए वह नपे ट्रंप के भारत दौरे के दौरान हिंसा फैलाने की रची गई थी साजिश, खुफिया सूत्रों ने किया बड़ा खुलासा Delhi Violence: विवादित बयान देने वाले कपिल मिश्रा बोले, 'जान से मारने की दी जा रही है धमकी' दिल्ली हिंसा की चिदंबरम ने की निंदा, CAA को वापस लेने की मांग दिल्ली हिंसाः पुलिस पर गोली तानने वाला शख़्स CAA समर्थक प्रदर्शन का हिस्सा था?- फ़ैक्ट चेक CAA हिंसा पर बोले मनीष सिसोदिया- तीन दशक से दिल्ली में हूं, इतना डर कभी नहीं लगा दिल्ली हिंसा पर अब आया दिल्ली BJP अध्यक्ष मनोज तिवारी का बयान, कहा- लोगों को भड़काने वालों की हो पहचान Delhi Violence LIVE: हिंसा प्रभावित नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने का आदेश