Ott, Television, Inthe Desire Of Original Content, Big Cities Have Joined Ott, Yet The Status Of Family Entertainer İs Still With Tv.

Ott, Television

OTT vs TV में किसका पलड़ा भारी: ओरिजिनल कंटेंट की चाहत में बड़े शहरों ने ओटीटी का दामन थामा, लेकिन फैमिली एंटरटेनर का रुतबा अभी भी टीवी के पास

OTT vs TV में किसका पलड़ा भारी: ओरिजिनल कंटेंट की चाहत में बड़े शहरों ने ओटीटी का दामन थामा, लेकिन फैमिली एंटरटेनर का रुतबा अभी भी टीवी के पास #OTT #Television @hirenantani

24-06-2021 06:33:00

OTT vs TV में किसका पलड़ा भारी: ओरिजिनल कंटेंट की चाहत में बड़े शहरों ने ओटीटी का दामन थामा, लेकिन फैमिली एंटरटेनर का रुतबा अभी भी टीवी के पास OTT Television hirenantani

इंटरनेट ग्रोथ और कंटेंट स्ट्रैटजी से ओटीटी प्लेटफॉर्म्स टीवी की व्यूअरशिप में सेंध लगाएंगे | In the desire of original content, big cities have joined OTT , yet the status of family entertainer is still with TV.

OTT vs TV में किसका पलड़ा भारी:ओरिजिनल कंटेंट की चाहत में बड़े शहरों ने ओटीटी का दामन थामा, लेकिन फैमिली एंटरटेनर का रुतबा अभी भी टीवी के पासमुंबईलेखक: हिरेन अंतानीकॉपी लिंकइंटरनेट ग्रोथ और कंटेंट स्ट्रैटजी से ओटीटी प्लेटफॉर्म्स टीवी की व्यूअरशिप में सेंध लगाएंगे

महिला खिलाड़ियों के तन दिखने और ना दिखने, दोनों ही पर तिलमिलाहट क्यों? - BBC News हिंदी टोक्यो ओलंपिक: पीवी सिंधु पहुंची क्वार्टरफ़ाइनल में - BBC Hindi दिल्ली पहुंची ममता के इरादे जाहिर: ममता ने नेशनल मीडिया से कहा- हम देश के साथ मिलकर 2024 का चुनाव लड़ेंगे, देश जवाब देगा

देश के छोटे शहरों और कस्बों की ऑडियंस पर टीवी का राज है, मगर अब ओटीटी वहां भी अपनी पहुंच बढ़ाने के लिए आक्रामक तरीके से आगे बढ़ रहा है। भारत में मनोरंजन के मैदान में एक दिलचस्प मुकाबले का बिगुल बज चुका है।लॉकडाउन में फिल्मों और टीवी पर फ्रेश कंटेंट बंद हो गया। लिहाजा देश में चलना सीख रहे ओटीटी ने एकदम से दौड़ लगा दी है। ऐसे में थिएटर एक्सपीरियंस की ताकत फिल्मों को तो आगे बचा लेगी, मगर घर के टीवी स्क्रीन के लिए जनरल एंटरटेनमेंट चैनल्स और ओटीटी के बीच मुकाबला तय है।

टीवी के लिए खतरे की घंटीटीवी को सास-बहू और पारिवारिक झगडों के सीरियल्स के लिए काफी कोसा गया है, लेकिन कुछ पारिवारिक सीरियल्स आज भी टीवी को बचा रहे हैं। हालांकि अब यह दृश्य बदल सकता है।ओटीटी मतलब एडल्ट कंटेंट, ऐसी मान्यता है। मगर हकीकत ये भी है कि ओटीटी पर अभी जो शो पॉपुलर हैं, उनमें से ज्यादातर फैमिली के साथ देखे जा सकते हैं। यह टीवी के लिए खतरे की घंटी है। सत्यजीत रे से लेकर स्पोर्ट्स तक, ओटीटी पर सब आ रहा है। headtopics.com

सत्यजीत रे की कहानियों पर आधारित ‘रे’ सीरीज नेटफ्लिक्स पर आ रही है।नेटफ्लिक्स ही स्पोर्ट्स ड्रामा ‘स्कैट गर्ल’ ला रहा है।जी-5 पर क्राइम थ्रिलर ‘सनफ्लावर’ चल रही है।हॉटस्टार पर 1984 के सिख विरोधी दंगों की कहानी ‘ग्रहण’ आ रही है।ओटीटी ने शायद शुरू में एकदम से लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए एडल्ट कंटेंट पर जोर दिया था, मगर अभी के टॉप शो या आने वाले शोज में ज्यादातर फैमिली कंटेंट ही है। कुछ-कुछ एडल्ट भी आता रहेगा, पर उसके लिए पेरेंटल कंट्रोल भी संभव है।

टीवी एक आदत बन चुका है‘भाभीजी घर पर हैं..’ सीरियल की प्रोड्यूसर बिनेफर कोहली ने बताया कि डेली सोप ओपेरा का अपना ऑडियंस है। लोग शो के तय समय पर टीवी देख लें और बाकी के समय में ओटीटी देखें, ऐसा भी हो सकता है। एक परिवार सारे ओटीटी के सब्सक्रिप्शन नहीं ले सकता, मगर एक ही डीटीएच के बुके में अपनी पसंद के कई चैनल देख सकता है।

टीवी कंटेंट में कुछ बदलाव तो लाना ही होगाहालांकि बेनिफर मानती हैं कि टीवी कंटेंट में कुछ तो बदलाव लाना ही होगा। ऑडियंस के पैरामीटर में रहकर कहानियों और किरदारों को बदलना होगा। टीवी पर सिगरेट पीने वाली या अभद्र शब्दों का प्रयोग करने वाली महिलाएं नहीं आएंगी। फिर भी, महिला किरदारों को सशक्त तो बनाना ही होगा।

आगे की लड़ाई मुश्किल, छोटे शहरों का बड़ा रोल‘बालिका वधु’ और ‘दीया और बाती हम ’ जैसी कई सुपरहिट टीवी सीरियल्स के राइटर रघुवीर शेखावत ने बताया कि ओटीटी के लिए आगे की लडाई मुश्किल है। छोटे शहरों और कस्बों के ऑडियंस में पैठ बनाना कोई आसान काम नहीं है। छोटे शहरों में जॉइंट फैमिली होती हैं। यहां प्राइवेसी नाम की चीज नहीं होती। ओटीटी का कंटेंट देखना है तो अलग कमरे में बंद हो जाना पड़ेगा। हमारे घरों में अलग कमरे सबको नसीब नहीं होते। headtopics.com

IPS राकेश अस्थाना की नियुक्ति पर हंगामा, AAP विधायक दिल्ली विधानसभा में उठाएंगे मुद्दा आज का जीवन मंत्र: भक्त होने का अर्थ है, जो भी काम करो पूरे होश में करो Tokyo Olympics Live: हॉकी में टीम इंडिया ने चैम्पियन अर्जेंटीना को हराया, तीरंदाज अतनु दास ने भी किया कमाल

टीवी वही दिखाता है जो घर में होता हैटीवी में वो चीजें आती हैं, जो शायद हर फैमिली में होती है। शेखावत कहते हैं कि यही टीवी की सबसे बड़ी ताकत है। सास-बहू के पारिवारिक क्लेश, दूसरी ओर पूरे परिवार का प्यार, नई पीढ़ी और परंपरा में टकराव आज कहां नहीं है? और यही तो टीवी दिखाता है।

रघुवीर का यह भी मानना है कि ओटीटी की वजह से टीवी के सालों साल लंबे चलने वाले सीरियल के फॉर्मेट को अभी खतरा नहीं है। वह कहते है कि कोई टीवी शो लंबा चलेगा या नहीं, यह टीआरपी तय करती है। ज्यादा टीआरपी वाला शो कोई क्यों खत्म करेगा।हालांकि रघुवीर स्वीकार करते हैं कि आज युवा के हाथ में मोबाइल का पावर है। उसे कोई परवाह नहीं कि घर में टीवी का रिमोट किसके पास है। हॉटस्टार नहीं मिला तो वह यूट्यूब देख लेगा। इस पीढ़ी के दर्शकों को वापस लाने के प्रयास सफल नहीं हुए है।

टीवी का पलड़ा आज भारी है, मगर कल नहीं रहेगाप्रोड्यूसर और ट्रेड एनालिस्ट गिरीश जौहर ने माना कि लॉन्ग टर्म में ओरिजिनल फाइट ओटीटी और टीवी के बीच ही होगी। आज इंफ्रास्ट्रक्चर और प्राइस के हिसाब से टीवी का पलड़ा भारी है। टीवी घर-घर पहुंच चुका है। रेट्स भी अफोर्डेबल हैं। दूसरी तरफ ओटीटी का सारा आधार इंटरनेट कनेक्टिविटी है। अगर सही स्पीड नहीं है, तो वेब सीरीज देखने का कोई मजा नहीं।

5G के बाद और बढ़ेगा ओटीटीओटीटी के लिए इंटरनेट स्पीड की समस्या कुछ ही समय की मेहमान है। 5G आ रहा है। ओटीटी अपनी कंटेंट लाइब्रेरी भी रिच कर रहे हैं। वह हर क्लास की कंटेंट ले आएंगे। रीजनल ओटीटी भी तेजी से बढ़ रहा है।दर्शक का टेस्ट भी बदलेगा। आज जो टीनएजर्स मोबाइल पर गेम खेलते रहते हैं, वे कल कंटेंट कंज्यूम करेंगे। ये नए दर्शक ओटीटी ज्यादा पसंद करेंगे। headtopics.com

प्राइस के इश्यू पर जौहर ने बताया कि वैसे भी लोग ज्यादातर ओटीटी मोबाइल कंपनियों के बंडल पैकेज के साथ देखते हैं। आने वाले समय में पूरी तरह से पे-पर-व्यू मॉडल आएगा। जो देखना है, उतने ही पैसे देने होंगे। टीवी पर बुके के नाम पर आधे चैनल वो ही थमा दिए जाते हैं, जो हमारे किसी काम के नहीं होते।

ओटीटी फैमिली शो लाएगा, टीवी एडल्ट कंटेंट नहीं ला पाएगाकंटेंट एक्सचेंज के हिसाब से ओटीटी का पलड़ा भारी है। ओटीटी पर ‘बंदिश बैंडिट्स’ और ‘पंचायत’ आ चुका है। आगे भी ऐसे शो आएंगे, लेकिन टीवी पर कभी एडल्ट कंटेंट नहीं आएगा। ओटीटी टीवी चैनल के कंटेंट ला सकता है, लेकिन टीवी ओटीटी की जगह कभी नहीं ले पाएगा।

अमेरिकी वैज्ञानिकों का दावा: चीन परमाणु मिसाइलों को स्टॉक करने के लिए बना रहा है साइलो फील्ड, सामने आई सैटेलाइट तस्वीरें West Bengal: मिथुन चक्रवर्ती को कलकत्ता हाई कोर्ट से बड़ी राहत, जज ने कहा-फिल्मी डायलॉग से नहीं फैलती हिंसा महाराष्ट्र कैबिनेट का बड़ा फैसला, छात्रों को राहत, निजी स्कूलों को करनी होगी फीस में 15% कटौती

गिरीश जौहर कहते हैं कि टीवी को बच कर रहना है, तो बदलना होगा। टी-20 आने के बाद लोग वन-डे भी भूल रहे हैं। 10 एपिसोड वाली सीरीज आदत बन जाएगी तो सालों तक एक कहानी में लोगों का इंटरेस्ट बनाए रखना मुश्किल हो जाएगा। और पढो: Dainik Bhaskar »

देशभर में खराब मौसम से हाल बेहाल: जम्मू-कश्मीर में बादल फटने से 4 की मौत, 40 लापता; महाराष्ट्र के 7 जिलों में यलो अलर्ट, हिमाचल में भारी बारिश से बाढ़ जैसे हालात

जम्मू कश्मीर में किश्तवाड़ के होंजर डच्चन गांव में बादल फटने से 4 लोगों की मौत हो गई। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, अब तक 17 लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका है। 30 से 40 लोग अब भी लापता बताए जा रहे हैं। खराब मौसम की वजह से बचाव के लिए पुलिस और सेना के जवानों को मौके पर पहुंचने के लिए दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। घायलों का एयरलिफ्ट करने के लिए एयरफोर्स की भी मदद ली जा रही है। | Weather Forecast Update; Jammu Kashmir Cloudburst, Mumbai Delhi Rain Alert Today | Himachal Pradesh Flood Situation

HirenAntani I see a movie on OTT in four or five sittings. In TV you have to stick for 3 to 4 hours & bear the pain of frequent long disturbance of advertisement despite the fact these are paid channels. Looting both way. HirenAntani policebharti

2024 में तैयार हो जाएगा मंदिर, इन 7 तस्वीरों में देखें कैसा होगा रामलला का दरबारमंदिर निर्माण का मॉडल तैयार है, जिसके हिसाब से मंदिर बनाने की तैयारी जोर शोर से चल रही हैं. मंदिर बनाने तक जो संघर्ष देखा गया वो अब भव्यता में तब्दील होने वाला है. कैसा होगा राम लला का दरबार? इस वीडियो में हम आपको वो 7 तस्वीरें दिखाएंगे जिन्हें देखकर हर राम भक्त का मन प्रसन्न हो जाएगा. भविष्य में साकार होने वाले राम मंदिर की भव्यता इन तस्वीरों में दिखाई दे रही है. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो. 2024 ke chunav ki taiyaari chalu iska saraay media ko jaayega jisne desh पहले बनाया म्रतक को मुन्नू लाल कनौजिया को अध्यक्ष ,,,अब बनाया समाजवादी पारी से हसनगंज विधानसभा से चुनाव लड़ चुके भगवती प्रसाद रावत को अवध क्षेत्र अध्यक्ष,,,कार्यकर्ताओ के लिए समर्पित पार्टी में आयातित लोग हावी,,कहा जाए जमीनी कार्यकर्त्ता,,,हमेशा जिन्दगी भे दरी बिछाये और मीटिंग्स पहले से क्या कम मन्दिर हैं जो और मन्दिर बनवा रहे हैं।

रिपोर्ट: वाट्सएप, फेसबुक, यूट्यूब का समाचार पाने में व्यापक इस्तेमाल, गलत सूचनाओं का खतरा भीरिपोर्ट: वाट्सएप, फेसबुक, यूट्यूब का समाचार पाने में व्यापक इस्तेमाल, गलत सूचनाओं का खतरा भी Report WhatsApp FaceBook Youtube Information Galat suchnao se jada amar ujla ke astitva pe khatra h 😀😀

गुजरात में भी बारिश बनी आफत, तेज धार में फंसे शख्स का वीड‍ियो वायरलदेश के कई राज्यों में बाढ़ ने प्रलय मचा दी है. बिहार, बंगाल, गुजरात, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश के कई जिलों में बाढ़ का पानी लोगों के घरों में घुस गया है. गुजरात में भी कई गांवों में घर कमर तक पानी में डूब गए हैं. लोगों को एक जगह से दूसरी जगह जाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. राजकोट में सड़कें पानी से लबालब हैं. इसी बीच एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें तेज धार में फंसा शख्स जान बचाने के लिए संघर्ष करता दिख रहा है. देखें वीड‍ियो.

मप्र में 1 दिन में सबसे ज्यादा Vaccination, महाराष्ट्र में अब तक सर्वाधिकभारत में कोरोनावायरस वैक्सीन के अब तक 28 करोड़, 87 लाख, 66 हजार से ज्यादा डोज लग चुके हैं। इनमें 23 करोड़ 66 लाख 81 हजार 488 सिंगल डोज हैं, जबकि 5 करोड़ 20 लाख 84 हजार से ज्यादा HindiNews CoronaVirus CoronaNews Covid19 CoronaVaccination Maharashtra

Mi TV 6 सीरीज़ चीन में 28 जून को होगी लॉन्चXiaomi ने साल 2019 में चीन में Mi TV 5 सीरीज़ रेंज को लॉन्च किया था। इस सीरीज़ में Mi TV 5 और Mi TV 5 Pro स्मार्ट टीवी को लॉन्च किया गया था। यह टीवी मॉडल्स मार्केट में तीन स्क्रीन साइज़ में आए थे वो हैं... 55 इंच, 65 इंच और 75 इंच।

पुणे: NCP दफ्तर के उद्घाटन में कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन, पार्टी के शहर अध्यक्ष पर एक्शनएनसीपी दफ्तर के उद्घाटन के वक्त कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन किए जाने के मामले में पुणे शहर के एनसीपी अध्यक्ष प्रशांत जगताप समेत पार्टी के छह पदाधिकारियों को सोमवार के दिन गिरफ्तार किया गया.