Omicron को रोकने के लिए क्या फिर पड़ेगी भारत में लॉकडाउन की जरूरत? जानें एक्सपर्ट्स के जवाब

डेल्टा वैरिएंट से तीन गुना तेज ओमिक्रॉन, वैक्सीनेट लोगों पर भी ओमिक्रॉन का असर | #OmicronVariant #coronavirus

Omicronvariant, Coronavirus

06-12-2021 19:10:00

डेल्टा वैरिएंट से तीन गुना तेज ओमिक्रॉन, वैक्सीनेट लोगों पर भी ओमिक्रॉन का असर | OmicronVariant coronavirus

नए वेरिएंट की रफ्तार पिछले डेल्टा वेरिएंट से भी तीन गुना ज्यादा बताई जा रही है. ऐसे में क्या वायरस की रफ्तार पर ब्रेक लगाने का लॉकडाउन ही एकमात्र रास्ता है? या क्या तीसरी डोज पर भी सरकार को विचार करना शुरू कर देना चाहिए? आइए जानते हैं इन सवालों के जवाब में एक्सपर्ट्स का क्या कहना है.

स्टोरी हाइलाइट्सडेल्टा वैरिएंट से तीन गुना तेज ओमिक्रॉनवैक्सीनेट लोगों पर भी ओमिक्रॉन का असरएक्सपर्ट्स ने कहा- लॉकडाउन जरूरी नहींकोरोना वायरस के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन ने एक बार फिर लोगों को गहरी चिंता में डाल दिया है. नए वैरिएंट की रफ्तार पिछले डेल्टा वैरिएंट से भी तीन गुना ज्यादा बताई जा रही है. ऐसे में क्या वायरस की रफ्तार पर ब्रेक लगाने का लॉकडाउन ही एकमात्र रास्ता है? या क्या तीसरी डोज पर भी सरकार को विचार करना शुरू कर देना चाहिए? आइए जानते हैं इन सवालों के जवाब में एक्सपर्ट्स क्या कहते हैं.

नई संसद की लागत में 29% का हुआ इजाफा, 1250 करोड़ रुपये के पार पहुंची

इंफेक्शन डिसीज एक्सपर्ट डॉ. चंद्रकांत लहरिया कहते हैं कि किसी भी वैरिएंट के खिलाफ वैक्सीन निश्चित रूप से सुरक्षा चक्र प्रदान करती है. यानी एक वैक्सीनेटेड इंसान वैक्सीन ना लेने वाले से ज्यादा सुरक्षित है. लेकिन पूरी सुरक्षा के लिए दोनों डोज लेना जरूरी है. जिन्होंने सिर्फ एक डोज लिया है, वे जितना जल्दी हो सके दूसरा डोज लगवा लें. देश में अभी भी करीब 15 फीसद वयस्क हैं जिन्होंने कोई डोज नहीं लिया है. ऐसे में लोगों को वैक्सीन के प्रति जागरुक करने की आवश्यकता है. बूस्टर डोज यानी तीसरी डोज पर डॉ. लहरिया ने कहा कि सबसे पहले देश की अनवैक्सीनेटेड आबादी को शॉट देने की जरूरत है. बाकी बूस्टर शॉट पर वैज्ञानिक और टेक्निकल एक्सपर्ट्स बात कर रहे हैं.

क्या लॉकडाउन लगाना जरूरी है?नए वैरिएंट को पिछले डेल्टा वैरिएंट से ज्यादा खतरनाक बताया जा रहा है. एक्सपर्ट्स का कहना है कि ओमिक्रॉन वैक्सीनेटेड लोगों पर असर कर रहा है. ऐसे में कहीं शादियों का मौसम, पार्टीज और बाजार में बढ़ती भीड़ एक बार फिर लोगों को तबाही के मोड़ पर ना ले जाए. इस बारे में वायरोलॉजिस्ट डॉ. दीपक आचार्य ने कहा, 'ओमिक्रॉन से निपटने का लॉकडाउन एकमात्र विकल्प नहीं है. इससे ज्यादा जरूरी है कि लोग व्यक्तिगत रूप से खुद सतर्क रहें. बेवजह घर से बाहर ना निकलें. लॉकडाउन से ज्यादा सेल्फ रिस्ट्रिक्शन आपको वायरस से बचाएगा.' headtopics.com

कोविड टास्क फोर्स के सदस्य डॉ. राहुल पंडित ने इस बारे में कहा, 'कोरोना के नए वैरिएंट के मामले सामने आने से लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है. इसके नए मामले पकड़ में आना भारत के लिए अच्छी बात है. ऐसा करके हम इसे कम्यूनिटी में फैलने से रोक सकते हैं. इस खतरे से बचने के लिए चेहरे पर अच्छे से मास्क पहनिए. बाहर निकलने से पहले आप डबल मास्क पहन सकते हैं. इसके अलावा जिन लोगों ने वैक्सीन डोज नहीं लिए हैं, वो जल्द से जल्द इसे लगवा लें.'

UP Election: महिलाओं के बाद अब युवाओं के लिए मेनिफेस्टो लाएगी कांग्रेस, राहुल और प्रियंका गांधी आज करेंगे घोषणा

डॉ. राहुल ने कहा कि सेहत के साथ-साथ हमारा अर्थचक्र भी बहुत जरूरी है. देश में आप फ्लाइट या कैब से सफर कर सकते हैं, लेकिन इस बीच अपनी सामाजिक जिम्मेदारी भी याद रखें. अगर आप किसी कोरोना संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आते हैं तो तुरंत इसकी जांच कराइए. अगर आप पॉजिटिव होते हैं तो खुद को क्वारनटीन करने में बिल्कुल देरी ना करें. अगर सभी लोग ये नैतिक जिम्मेदारी निभाते हैं तो लॉकडाउन या किसी तरह के प्रतिबंध की आवश्यक्ता नहीं पड़ेगी.

Live TV

और पढो: AajTak »

सिद्धू से कितना नुक़सान ? चरणजीत सिंह चन्नी EXCLUSIVE, देखिए #DNAWeekendEdition LIVE Sudhir Chaudhary के साथ

नगालैंड में सुरक्षा बलों के उग्रवाद विरोधी अभियान के दौरान 13 आम लोगों की मौतनगालैंड के मोन ज़िले के ओटिंग और तिरु गांवों के बीच यह घटना उस समय हुई, जब कुछ दिहाड़ी मज़दूर शनिवार शाम पिकअप वैन से एक कोयला खदान से घर लौट रहे थे. पुलिस ने बताया कि प्रतिबंधित संगठन ‘एनएससीएन-के’ के युंग ओंग धड़े के उग्रवादियों की सूचना मिलने के बाद इलाके में अभियान चला रहे सैन्यकर्मियों ने वैन पर कथित रूप से गोलीबारी की थी. मामले की एसआईटी जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

मुनव्वर फ़ारूक़ी के साथ खड़े होना कलाकारों की अभिव्यक्ति की आज़ादी के पक्षधरों का कर्तव्य है‘हिंदुत्ववादी’ संगठनों की अतीत की अलोकतांत्रिक करतूतों के चलते उनकी कार्रवाइयां अब किसी को नहीं चौंकातीं. लेकिन एक नया ट्रेंड यह है कि जब भी वे किसी कलाकार के पीछे पड़ते हैं, तब लोकतांत्रिक होने का दावा करने वाली सरकारें, किसी भी पार्टी या विचारधारा की हों, कलाकारों की अभिव्यक्ति की आज़ादी के पक्ष में नहीं खड़ी होतीं, न ही उन्हें संरक्षण देती हैं. वायर का कहने का अर्थ यह है बाकी विदूषक भी फारुखी की तरह हिन्दू धर्म का अपमान करें, 59 हिन्दू तीर्थयात्रियों को जिंदा जलाने पर विदुषिकी करें। क्योंकि हिन्दू केवल शोर मचा सकते हैं 'सर तन से जुदा' नही करते। 😂😂😂😂🤪🤪🤪 तुम हो ना😢😢

एक दिन में ओमिक्रॉन के 18 केस: राजस्थान में एक परिवार के 4 सदस्यों समेत 9 लोगों में नए वैरिएंट की पुष्टि, महाराष्ट्र में 8 और दिल्ली में एक केस मिलादेश में रविवार को ओमिक्रॉन के एक साथ 18 केस मिले हैं। इनमें राजस्थान में सबसे ज्यादा 9 मरीज हैं। यहां एक परिवार के 4 सदस्य हाल में दक्षिण अफ्रीका से लौटे थे। उनके संपर्क में आए 5 और लोगों में ओमिक्रॉन की पुष्टि हुई है। इससे पहले पुणे में एक और इससे सटे जिले पिंपरी चिंचवाड़ में 7 लोगों में नया वैरिएंट मिला था। दिल्ली में भी एक मरीज इससे संक्रमित मिला है। इसके साथ ही देश में इस वैरिएंट के 5 राज्यों ... | Corona new Variant| Omicron variant in India| 5th omicron case found in Indian in Delhi|तंजानिया से लौटे यात्री में मिला संक्रमण, 4 दिन में देश में 5वां केस मिला MoHFW_INDIA PMOIndia MoHFW_INDIA PMOIndia ashokgehlot51 गहलोत जी क्या करवा रहे हो राजस्थान में MoHFW_INDIA PMOIndia

एक दिन में ओमिक्रॉन के 17 केस: राजस्थान में एक परिवार के 9 सदस्यों में नए वैरिएंट की पुष्टि, महाराष्ट्र में 7 और दिल्ली में एक केस मिलाकोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रॉन राजस्थान भी पहुंच गया है। यहां के एक परिवार 4 सदस्यों में इसकी पुष्टि हुई है। यह परिवार 25 नवंबर को दक्षिण अफ्रीका से दुबई और मुंबई होते हुए जयपुर पहुंचा था। यहां इनकी रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई थी। इनके सैंपल जीनोम सीक्वेंसिंग के लिए भेजे गए थे। उसकी रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है। यह परिवार राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय (RUHS) में भर्ती है। इनमें माता-पिता के स... | Corona new Variant| Omicron variant in India| 5th omicron case found in Indian in Delhi|तंजानिया से लौटे यात्री में मिला संक्रमण, 4 दिन में देश में 5वां केस मिला aajtak ZakiyaKINC LambaAlka MrinalPande1 bainjal romanaisarkhan इसका मतलब ये है कि ना तो बाहर से आने वाले लोग 14 दिन के क्वारंटाइन पालन कर रहे है, ना ही सरकार क्वारंटाइन का पालन करवाने के प्रति गंभीर है mansukhmandviya narendramodi PMOIndia AAI_Official समय रहते मास्क और दो गज दूरी का सख्ती से पालना सुनिश्चित करें और भीड़ को कम करने का प्लान बनाया जाए। बाहर से आने वालों को सीधा क्वारेंटाइन करना चाहिए 🙏🏻🙏🏻 नहीं तो परिणाम ठीक नहीं होंगे। रैलियां पूर्णत बंद होनी चाहिए

नगालैंड में सेना के ऑपरेशन में आम लोगों की मौत से तनाव - BBC News हिंदीनगालैंड के मोन ज़िले के ओटिंग इलाक़े में शनिवार रात को सुरक्षाबलों की कार्रवाई में कई आम लोगों के मारे जाने की ख़बर है. पंजाब आज से पैंतीस साल पहले यह सब देख चुका है.. SackTeni4LakhimpurJustice तोबा तोबा सेना जनता की हिफाजत के लिए है ना कि उन्हें मारने के लिए۔ (((माँ काली की शक्तिः मेरी भक्ति)))� (,.शक्तियो और साधना का मात्र एक स्थान 100%चमत्कार_देखें_घर_बैठे_72_घंटो_में_100_%_ गरंटीड_उपाय +91-8764713798 just call me ((*स्पेसलिस्ट_प्रेमी_वशीकरण))(मनचाहा प्यार )� (काम-कारोबार)� ( पति - पत्नी में अनबन)' समस्या है तो समाधान भी है '

वसीम रिजवी के सनातन धर्म में शामिल होने पर क्या बोले मुस्लिम और हिंदू धर्मगुरु?शिया वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने मुस्लिम धर्म को त्याग कर हिंदू धर्म अपना लिया. इसको लेकर देवबंदी उलेमा मुफ्ती असद कासमी का बयान आया है. उन्होंने कहा कि वसीम रिजवी इस्लाम से पहले ही खारिज हो चुके थे और उनके खिलाफ फतवा भी दिया गया था. वसीम रिजवी के जो कारनामे थे, वह मुसलमान के नहीं थे. RailwayExamCalendarDo Jai Shree Ram murge ko bhi mantra padkar, shudh krdo aur veg bana do kam se kam vegetarian kha to lenge