NASA ने कहा- अब खत्म हो रहा है 1700 साल से अंतरिक्ष में घूम रहा भगवान का पंजा

#NASA ने हाल ही में अंतरिक्ष में कई सालों से दिख रहे 'भगवान का पंजा' आकार और अन्य खासियतों की जानकारी निकाली #Science #RE

27-09-2021 23:30:00

NASA ने हाल ही में अंतरिक्ष में कई सालों से दिख रहे 'भगवान का पंजा' आकार और अन्य खासियतों की जानकारी निकाली Science RE

NASA ने हाल ही में अंतरिक्ष में कई सालों से दिख रहे 'भगवान का पंजा' के आकार और अन्य खासियतों की जानकारी निकाली. इस दौरान की खूबसूरत तस्वीरों को उसने अपने इंस्टाग्राम एकाउंट पर शेयर किया है. ये तस्वीरें कई तरह के कैमरों से ली गई हैं, जिसमें किसी में यह हाथ पीले रंग का दिख रहा है तो किसी में नीले रंग, किसी में धुंधला हो रहा है तो किसी में इसके अंदर से रोशनी निकलती दिखाई दे रही है. आखिर अंतरिक्ष में 'भगवान का पंजा' कर क्या रहा है? ये कैसे बना?

4/10नासा के वैज्ञानिकों का मानना है कि यह एक सुपरनोवा विस्फोट (Supernova Explosion) था, जिसकी रोशनी करीब 1700 साल पहले धरती पर पहुंची थी. उस समय माया सभ्यता धरती पर मौजूद थी. या यूं कहें कि चीन में जिन साम्राज्य का शासन था. तारे के विस्फोट से कई बार पल्सर (Pulsar) बनते हैं. जिनके बादल काफी ज्यादा चुंबकीय शक्ति रखते हैं. ये काफी ज्यादा घने होते हैं. इन्हें खत्म होने में काफी ज्यादा समय लगता है. हालांकि, ये धीरे-धीरे खत्म हो रहा है.

क्रूज ड्रग्स केस: आर्यन ने पूछा- जुगाड़ हो सकती है, अनन्या ने कहा- अरेंज कर दूंगी; NCB को शक वे गांजे की बात कर रहे थे NIA Raids In Kashmir : एनआइए ने फिर मारे कश्मीर में कई जगहों पर छापे, गिरफ्तारियां भी की ये कैसा PM: सऊदी प्रिंस से मिली 16 करोड़ की घड़ी-झुमके इमरान ने बेच खाए; मुल्क को नहीं दी तोहफों की जानकारी

(फोटोः ट्विटर/Astroimage) 5/10इसकी गति, आकार और रंग-रूप बदलने की स्टडी वैज्ञानिकों ने साल 2004 से शुरु की. तब से लेकर अब तक इसकी साल 2004, 2008, 20017 और 2018 में ली गई थीं. इन तस्वीरों में लगातार ये दिखाई दे रहा है कि इस पंजे के बादलों का घनत्व लगातार कम हो रहा है. अभी जारी की गई तस्वीरें भी साल 2018 के आसपास की हैं, लेकिन इस बार उनके आकार का डिटेल पता किया गया है. क्योंकि इसके बादलों के कम होने की वजह से ये भगवान का पंजा अब खत्म हो रहा है.

(फोटोः NASA)6/10असल में यह 'भगवान का पंजा' हमारी आकाशगंगा में हुए एक सुपरनोवा विस्फोट का अवशेष है. अंतरिक्ष में दिखने वाला यह हाथ धरती से करीब 17 हजार प्रकाशवर्ष दूर स्थित है. यह हाथ 33 प्रकाशवर्ष के बड़े इलाके में फैला है. चंद्र एक्स-रे ऑब्जरवेटरी से ली गई तस्वीरों में इसमें लाल, पीला और नीला रंग दिखता है. यह सिरसिनस नक्षत्र (Circinus Constellation) में स्थित है. headtopics.com

(फोटोः गेटी)7/10'भगवान का पंजा' अगर आप ध्यान से देखेंगे तो आपको इसमें पांच उंगलियां नहीं दिखेंगी, इसमें तीन उंगलियां और एक अंगूठा बना हुआ दिखाई देगा. कलाई और थोड़ा सा हाथ दिखेगा. उंगलियों के ऊपर रोशनी का जमावड़ा दिखाई देगा. जो अलग होते हुए बादलों का समूह है. जिसमें अब भी भारी मात्रा में टकराव हो रहे हैं, जिसकी वजह से रोशनी ज्यादा दिखाई दे रही है. जबकि पंजे और हाथ में इतनी रोशनी नहीं है.

(फोटोः Caltech)8/10नासा के वैज्ञानिकों की नई स्टडी ओर डेटा के मुताबिक अब यह पंजा तेजी से घूम रहा है. अपनी धुरी पर भी और अलग-अलग दिशाओं में भी. यह हाथ जिस चमकते हुए बादलों के समूह से टकराया है उसका नाम है RCW 89. इन बादलों का केंद्र उनके विस्फोट वाले मुख्य स्थान से 35 प्रकाशवर्ष की दूरी पर स्थित है. 

(फोटोः गेटी)9/10'भगवान के पंजे' के पास चुंबकीय शक्ति बहुत ज्यादा है. यह धरती के चुंबकीय शक्ति से 15 ट्रिलियन गुना ज्यादा ताकतवर है. यानी 15 लाख करोड़ गुना ज्यादा ताकतवर चुंबकीय शक्ति. इसका मतलब ये हुआ कि इसमें जो भी वस्तु जाएगी, वो उसी में रह जाएगी. तेजी से हो रहे घुमाव और इतनी ज्यादा चुंबकीय शक्ति की वजह से यह 'भगवान का पंजा' हमारी आकाशगंगा का सबसे ताकतवर इलेक्ट्रोमैग्नेटिक जेनरेटर है.

(फोटोः NASA)10/10पिछले साल इस पर एक स्टडी एस्ट्रोफिजिकल जर्नल लेटर्स में प्रकाशित हुई थी. इन स्टडी में शामिल वैज्ञानिकों ने लोगों को बताया था कि जल्द ही इसके आकार, रंग-रूप और उम्र का पता लगाने की कवायद की जाएगी. अब यह हाथ लगातार धुंधला हो रहा है. लेकिन इसकी उम्र का पता वैज्ञानिक नहीं लगा पाए. ऐसा माना जा रहा है कि अभी यह कुछ सौ साल तो और रहेगा ही. headtopics.com

भास्कर LIVE अपडेट्स: हरियाणा में किसानों का पुलिस पर पथराव, सरकारी गाड़ियां तोड़ीं; खाद की किल्लत को लेकर जाम लगाया मुंबई के लालबाग इलाके में बहुमंज़िला इमारत में लगी आग, दमकल की 8 गाड़ियां मौके पर बांग्लादेश: दुर्गा पूजा स्थल पर क़ुरान रखने वाला संदिग्ध इक़बाल हुसैन गिरफ़्तार - BBC News हिंदी

(फोटोः NASA)पिछली गैलरी और पढो: आज तक »

दैनिक भास्कर से बोलीं कश्मीर की बेटी श्रद्धा बिंद्रू: मैं दुनिया को बताना चाहती हूं कि कश्मीर हमारा है, कोई डरा-धमकाकर हमारे हौसले को पस्त नहीं कर सकता

‘तुम सिर्फ शरीर को मार सकते हो, मेरे पिता की आत्मा को नहीं। अगर हिम्मत है तो सामने आओ, तुम लोग केवल पत्थर फेंक सकते हो या पीछे से गोली चला सकते हो। मैंने हिंदू होते हुए भी कुरान पढ़ी है। कुरान कहती है कि शरीर का जो चोला है, यह तो बदल जाएगा, लेकिन इंसान का जो जज्बा है, वह कहीं नहीं जाएगा। माखनलाल बिंद्रू इसी जज्बे में हमेशा जिंदा रहेंगे।’ यह कहना है आतंकियों को सरेआम ललकारने वालीं श्रीनगर में कश्मीर... | वुमन भास्कर ने श्रद्धा बिंद्रू से बात की। उन्होंने कश्मीर और कश्मीरियत का हवाला देते हुए कहा-हम इसी मिट्‌टी में पैदा हुए हैं, हमें इससे प्यार है। हमारे पिता ने भी इसी के लिए जान दी।