फ्रांस ऑस्ट्रेलिया पनडुब्बी समझौता, फ्रांस ऑस्ट्रेलिया तनाव, परमाणु पनडुब्बी और डीजल इलेक्ट्रिक पनडुब्बी, परमाणु और परंपरागत पनडुब्बी में अंतर, परमाणु और डीजल इलेक्ट्रिक पनडुब्बी में अंतर, Nuclear Submarine İn Hindi, Nuclear And Diesel Submarine Difference, Nuclear And Diesel Electric Submarine, Nuclear And Conventional Submarine Difference, Australia France Submarine Deal, World News, World News İn Hindi, Latest World News, World Headlines, दुनिया Samachar

फ्रांस ऑस्ट्रेलिया पनडुब्बी समझौता, फ्रांस ऑस्ट्रेलिया तनाव

Nuclear Submarine: परमाणु पनडुब्बी और डीजल पनडुब्बी में फर्क क्या है? समझें ऑस्ट्रेलिया ने फ्रांस के साथ डील क्यों तोड़ी

परमाणु पनडुब्बी और डीजल पनडुब्बी में फर्क क्या है? समझें ऑस्ट्रेलिया ने फ्रांस के साथ डील क्यों तोड़ी

17-09-2021 16:32:00

परमाणु पनडुब्बी और डीजल पनडुब्बी में फर्क क्या है? समझें ऑस्ट्रेलिया ने फ्रांस के साथ डील क्यों तोड़ी

AUKUS ने फ्रांस और ऑस्ट्रेलिया के बीच 43 अरब डॉलर के समझौते को भी खत्म कर दिया है। इस समझौते के जरिए फ्रांस ऑस्ट्रेलिया को 12 परमाणु शक्ति से संचालित पनडुब्बियों को देने वाला था। 2019 में साइन हुए इस डील को फ्रांस से सदी का समझौता बताकर जश्न मनाया था।

अमेरिका, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया ने चीन की बढ़ते दबदबे को कम करने के लिए नया गठबंधन बनाने का ऐलान किया है। ऑस्ट्रेलिया, यूनाइटेड किंगडम और यूनाइटेड स्टेट्स के शुरुआत के अक्षरों के कारण इस समझौते को AUKUS कहा जा रहा है। इस गठबंधन का प्रमुख उद्देश्य हिंद और प्रशांत महासागर में तीनों देशों के हितों की रक्षा करना है। इस समझौते के तहत ऑस्ट्रेलिया को अमेरिका परमाणु शक्ति संपन्न पनडुब्बियों को बनाने की तकनीक प्रदान करेगा। अमेरिका ने इस तरह का समझौता अभी तक सिर्फ ब्रिटेन के साथ ही किया है।

पाकिस्तान की किसी भी वर्ल्ड कप में भारत के ख़िलाफ़ पहली जीत - BBC News हिंदी IND vs PAK: पाकिस्तान ने दी भारत को 10 विकेट से मात, विश्व कप में पहली बार हारा भारत IND vs PAK Live Updates: भारत ने पाकिस्तान के सामने जीत के लिए रखा 152 का लक्ष्य

AUKUS ने फ्रांस-ऑस्ट्रेलिया सबमरीन डील को किया खत्म वहीं अब फ्रांसीसी विदेश मंत्री जीन-यवेस ले ड्रियन ने इसे पीठ में छुरा घोंपने के जैसा बताया है। आखिर क्या बात है कि पूरी दुनिया परमाणु पनडुब्बियों के पीछे दौड़ रही है? यह परंपरागत डीजल-इलेक्ट्रिक पनडुब्बियों से अलग कैसे है? सबकुछ जानिए....

France Australia Tension: 'ऑस्ट्रेलिया ने पीठ में छुरा घोंपा', अमेरिका से परमाणु पनडुब्बी डील पर भड़का फ्रांस, बोला- ट्रंप की याद आईपरमाणु पनडुब्बी क्या है?जब वैज्ञानिकों ने परमाणु को विभाजित किया तब उन्हें यह महसूस हुआ कि हम इसका बम बनाने के अलावा भी किसी काम में इस्तेमाल कर सकते हैं। इसका उपयोग बिजली पैदा करने के लिए किया जा सकता था। ये परमाणु रिएक्टर पिछले 70 वर्षों से दुनिया भर के घरों और उद्योगों को बिजली दे रहे हैं। परमाणु पनडुब्बियां भी इसी समान तकनीक से काम करती हैं। प्रत्येक परमाणु पनडुब्बी में एक छोटा न्यूक्लियर रिएक्टर होता है। जिसमें ईंधन के रूप में अत्यधिक समृद्ध यूरेनियम का उपयोग करते हुए बिजली पैदा की जाती है। इससे पूरी पनडुब्बी को पावर की सप्लाई की जाती है। इतना ही नहीं, परमाणु पनडुब्बियां बिना एयर इंडिपेंडेंट प्रपल्सन (AIP) सिस्टम के ही अपने अंदर मौजूद क्रू के लिए ऑक्सीजन को भी बनाती हैं। इससे ये समुद्र के नीचे महीनों तक छिपी रह सकती हैं। headtopics.com

परमाणु पनडुब्बी, डीजल इलेक्ट्रिक से कैसे अलग?एक पारंपरिक पनडुब्बी या डीजल इलेक्ट्रिक पनडुब्बी बैटरी चार्ज करने के लिए डीजल जनरेटर का उपयोग करती है। इस बैटरी में स्टोर हुई बिजली का का उपयोग मोटर चलाने के लिए किया जाता है। किसी दूसरी बैटरी की तरह इसे रीचार्ज करने के लिए स्नॉर्कलिंग प्रक्रिया को पूरा करने के लिए पनडुब्बियों को सतह पर आना पड़ता है। स्नॉर्कलिंग के जरिए डीजल इलेक्ट्रिक पनडुब्बियां अपने जनरेटर के लिए ऑक्सीजन इकट्ठा करती हैं। कोई भी पनडुब्बी सबसे अधिक खतरे में तब होती है, जब उसे पानी की गहराई से निकलकर सतह पर आना होता है। ऐसे में दुश्मन देश के पनडुब्बी खोजी विमान या युद्धपोत उन्हें आसानी से देख सकते हैं।

China Taiwan Tension: ऑस्‍ट्रेलिया खरीदेगा परमाणु पनडुब्‍बी और ताइवान 9 अरब डॉलर के हथियार, चीन पर चौतरफा वार की तैयारीडीजल की तुलना में परमाणु पनडुब्बियां अधिक ताकतवरएएनयू में परमाणु भौतिक विज्ञानी प्रोफेसर एंड्रयू स्टचबेरी का कहना है कि परमाणु पनडुब्बियां परंपरागत पनडुब्बियों की तुलना में कहीं अधिक ताकतवर होती हैं। ये लंबे समय तक सैकड़ों मीटर गहरे पानी के नीचे छिपी रह सकती हैं। इतना ही नहीं, इन पनडुब्बियों में इतनी ताकत होती है कि पानी की प्रेशर के बावजूद ये अंदर ही अंदर 60 किलोमीटर प्रति घंटे की स्पीड को पकड़ सकती हैं। ऐसे में दुश्मन देश के युद्धपोत इन्हें चाहकर भी पकड़ नहीं सकते हैं। अमेरिका की हमलावर परमाणु पनडुब्बियां 8000 टन से अधिक विस्थापन क्षमता वाली हैं। ये डीजल इलेक्ट्रिक पनडुब्बियों की तुलना में काफी समय तक अपने लक्ष्य के बिलकुल नजदीक रह सकती हैं।

परमाणु पनडुब्बियों का भी पता लगाया जा सकता हैपरमाणु पनडुब्बियों में लगे रिएक्टर को ठंडा करने के लिए पानी का इस्तेमाल किया जाता है। रिएक्टर से यह पानी गर्म अवस्था में समुद्र में आता है। ऐसे में किसी शक्तिशाली थर्मल इमेजर की सहायता से ऐसी पनडुब्बियों को सतह पर आते ही पहचाना जा सकता है। इसके अलावा ऑक्सीजन को पैदा करने वाली सिस्टम भी डीजल इलेक्ट्रिक की एआईपी सिस्टम की तुलना में आवाज ज्यादा करता है।

ऑस्‍ट्रेलिया को परमाणु पनडुब्‍बी और मिसाइलें देंगे अमेरिका-ब्रिटेन, दुनियाभर में बढ़ी हलचलपरमाणु पनडुब्बी का क्या है इतिहासपरमाणु पनडुब्बी बनाने का विचार सबसे पहले 1939 में अमेरिका के नेवल रिसर्च लेबरोटरी के वैज्ञानिक रॉस गन ने प्रस्तुत किया था। जिसके बाद से करीब एक दशक बाद जुलाई 1951 में अमेरिकी कांग्रेस ने पहली बार परमाणु पनडुब्बी के निर्माण के लिए अपनी मंजूरी दी थी। परमाणु पनडुब्बी का रिएक्टर बनाने का काम वेस्टिंगहाउस कॉर्पोरेशन को सौंपा गया। जिसके बाद 30 सितंबर 1954 यूएसएस नॉटिलस (SSN-571) नाम की पहली परमाणु पनडुब्बी को अमेरिकी नौसेना में कमीशन किया गया। headtopics.com

रिश्वत आरोप के बाद मलिक ने कहा- सबको पता है कि कश्मीर में आरएसएस प्रभारी कौन था IND vs PAK Live Updates: पाकिस्तान ने शुरू किया 152 रनों का पीछा, बाबर और रिजवान क्रीज पर एक दिसंबर से माचिस की डिब्बी की कीमत एक रुपये से बढ़कर दो रुपये हो जाएगी

ऑस्ट्रेलिया ने फ्रांस के साथ डील क्यों तोड़ी?दुनिया में कोई भी रक्षा सौदा केवल हथियार की अच्छी क्वालिटी को देखकर नहीं किया जाता है। इसके पीछे भू राजनीतिक स्थिति और कूटनीति का अहम भूमिका भी रहती है। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया को चीन से बढ़ते खतरे को कम करने के लिए हर हाल में अमेरिका की जरूरत है। फ्रांस चाहकर भी प्रशांत महासागर और हिंद महासागर में चीन की आक्रामकता का सामना नहीं कर सकता। इतना ही नहीं, वह ऑस्ट्रेलिया को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उतनी मजबूती नहीं प्रदान कर सकता है जितना कि अमेरिका के पास ताकत है। ऐसे में ऑस्ट्रेलिया ने अंतरराष्ट्रीय नियमों के खिलाफ जाकर इस डील को तोड़ा और अमेरिका के साथ नया समझौता किया है।

बाल्टिक सागर में दिखी रूसी किलर परमाणु पनडुब्बी, पुतिन के गुस्से से घबराए अमेरिका-ब्रिटेनऑस्ट्रेलिया के फैसले के खिलाफ लड़ेगा फ्रांसफ्रांसीसी विदेश मंत्री ने इशारा किया कि उनका देश ऑस्ट्रेलिया के इस फैसले के खिलाफ लड़ेगा। उन्होंने कहा कि यह खत्म नहीं हुआ है। हमें स्पष्टीकरण की आवश्यकता होगी। हमारे पास अनुबंध हैं। आस्ट्रेलियाई लोगों को हमें यह बताना होगा कि वे इससे कैसे बाहर निकल रहे हैं। हमारे पास एक अंतर सरकारी समझौता है जिस पर हमने 2019 में बड़ी धूमधाम से हस्ताक्षर किए, सटीक प्रतिबद्धताओं के साथ, क्लॉज के साथ, वे इससे कैसे बाहर निकल रहे हैं? उन्हें हमें बताना होगा। तो यह कहानी का अंत नहीं है।

फ्रांस बोला- बाइडन ने ट्रंप की याद दिला दी और पढो: NBT Hindi News »

वारदात: अब जेल में ही कटेगी Ram Rahim की सारी जिंदगी, तीसरी बार उम्र कैद

25 अगस्त 2017, दो साध्वियों से यौन शोषण में राम रहीम को पहली उम्र क़ैद. 17 जनवरी 2019, पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के क़त्ल में राम रहीम को दूसरी उम्र क़ैद. और अब 18 अक्टूबर 2021, मैनेजर रंजीत सिंह के मर्डर में राम रहीम को तीसरी उम्र क़ैद. बीस साल वाली पहली उम्र क़ैद को छोड़ दें, तो बाक़ी उम्र क़ैद उम्र भर की है. 60 से ऊपर के हो चुके गुरमीत राम रहीम की बची कुची उम्र क़ायदे से अब जेल की चारदिवारी के अंदर ही गुज़रेगी. राम रहीम की सज़ाओं की फेहरिसत में नई फेहरिस्त सोमवार को जुड़ी, पंचकूला सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने डेरा सच्चा सौदा के पूर्व मैनेजर रंजीत सिंह के क़त्ल के इल्ज़ाम में राम रहीम को उम्र कैद की सज़ा दी है. देखिए वारदात का ये एपिसोड.

ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका पर बुरा भड़का फ्रांस, कहा- पीठ में छुरा भोंका हैऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन ने कहा है कि उन्होंने अमेरिकी परमाणु सबमरीन में निवेश करने और फ्रांस के साथ हुए डीजल-इलेक्ट्रिक सबमरीन्स अनुबंध से अलग होने का फैसला किया है. मॉरिसन ने कहा कि उन्होंने यह फैसला बदले रणनीतिक माहौल के कारण लिया है. अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने बुधवार को ऑस्ट्रेलिया और ब्रिटेन के साथ नए सुरक्षा समझौते की घोषणा की है. उत्तर प्रदेश सरकार से रिक्वेस्ट है कृपया करके इंटरनेशनल फ्लाइट चालू करवाएं बनारस में पर्यटक ना आने की वजह से काफी ज्यादा घाटा हो रहा है जनता को कृपया करके इस मुद्दे को सॉल्व करें मेरे उत्तर प्रदेश सरकार पीएम सर विश्व में भारत जैसा देश नहीं जो मानवता, जनतंत्र, शांति चाहता है। फितरत ही ऐसी ही

France Australia Tension: 'ऑस्ट्रेलिया ने पीठ में छुरा घोंपा', अमेरिका से परमाणु पनडुब्बी डील पर भड़का फ्रांस, बोला- ट्रंप की याद आईफ्रांस के विदेश मंत्री जीन-यवेस ले ड्रियन ने गुरुवार सुबह फ्रांसइन्फो को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि यह हमारी पीठ में छुरा घोंपने की तरह है। हमने ऑस्ट्रेलिया के साथ एक भरोसेमंद संबंध स्थापित किया था और उन्होंने हमारे विश्वास के साथ विश्वासघात किया। The Australians just laughed at the French.Although France itself has not always fulfilled its obligations.Everything in this world comes back like a boomerang.

नाराजगी: AUKUS की नई साझेदारी से भड़का फ्रांस, अमेरिका के साथ रद्द किया कार्यक्रमनाराजगी: AUKUS की नई साझेदारी से भड़का फ्रांस, अमेरिका के साथ रद्द किया कार्यक्रम France Australia America NuclearSubmarine AUKUS

'अमेरिका ने पीठ में छुरा भोंका': ऑकुस समझौते पर बोला फ्रांस | DW | 17.09.2021चीन का ऑकुस समझौते पर कहना है कि ऐसी साझीदारियां किसी अन्य देश के खिलाफ नहीं होनी चाहिए. ऐसे समझौते इलाके में हथियारों की होड़ को बढ़ावा दे सकते हैं. China Australia America Britain

FIFA rankings: बेल्जियम की बादशाहत कायम, इंग्लैंड ने फ्रांस को पछाड़ा, जानें टॉप-10 में कौन-कौन सी टीमेंFIFA rankings: बेल्जियम की बादशाहत कायम, इंग्लैंड ने फ्रांस को पछाड़ा, जानें टॉप-10 में कौन-कौन सी टीमें FIFARankings England France

France Australia Tension: 'ऑस्ट्रेलिया ने पीठ में छुरा घोंपा', अमेरिका से परमाणु पनडुब्बी डील पर भड़का फ्रांस, बोला- ट्रंप की याद आईफ्रांस के विदेश मंत्री जीन-यवेस ले ड्रियन ने गुरुवार सुबह फ्रांसइन्फो को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि यह हमारी पीठ में छुरा घोंपने की तरह है। हमने ऑस्ट्रेलिया के साथ एक भरोसेमंद संबंध स्थापित किया था और उन्होंने हमारे विश्वास के साथ विश्वासघात किया। The Australians just laughed at the French.Although France itself has not always fulfilled its obligations.Everything in this world comes back like a boomerang.