Lıcıpo, Retail, Lıcıpo Minimum Shareholding, Minimum Share Holding Rule For Psu, Life İnsurance Corporation Ipo, İnitial Public Offer

Lıcıpo, Retail

LIC IPO से पहले एक और बड़ा बदलाव: सरकारी कंपनियों में पब्लिक होल्डिंग का नियम खत्म होगा, रिटेल निवेशकों के लिए झटका

LIC IPO से पहले एक और बड़ा बदलाव: सरकारी कंपनियों में पब्लिक होल्डिंग का नियम खत्म होगा, रिटेल निवेशकों के लिए झटका #LICIPO #Retail

01-08-2021 12:51:00

LIC IPO से पहले एक और बड़ा बदलाव: सरकारी कंपनियों में पब्लिक होल्डिंग का नियम खत्म होगा, रिटेल निवेशकों के लिए झटका LICIPO Retail

वित्त मंत्रालय के इकोनॉमिक अफेयर्स ने जारी किया नोटिफिकेशन,एलआईसी के पास 1 लाख से ज्यादा कर्मचारी और 12 लाख एजेंट हैं | LIC IPO minimum shareholding , minimum share holding rule for PSU, Life insurance corporation IPO, initial public offer

LIC IPO से पहले एक और बड़ा बदलाव:सरकारी कंपनियों में पब्लिक होल्डिंग का नियम खत्म होगा, रिटेल निवेशकों के लिए झटकामुंबईलेखक: अजीत सिंहकॉपी लिंकवित्त मंत्रालय के इकोनॉमिक अफेयर्स ने जारी किया नोटिफिकेशनएलआईसी के पास 1 लाख से ज्यादा कर्मचारी और 12 लाख एजेंट हैं

IT जांच के बाद बोले सोनू सूद, 'कर' भला, हो भला, अंत भले का भला, सीएम केजरीवाल ने किया सपोर्ट मुंद्रा पोर्ट से आंध्र की कंपनी ने 72,000 करोड़ रुपये की हेरोइन मंगवाई थी -प्रेस रिव्यू - BBC News हिंदी पीएम मोदी से बाइडन व्हाइट हाउस में अलग से क्यों करेंगे मुलाक़ात - BBC Hindi

देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी भारतीय जीवन बीमा निगम (LIC) के IPO से पहले सरकार ने एक और बड़ा फैसला किया है। इसके तहत लिस्टेड सरकारी कंपनियों में कम से कम पब्लिक होल्डिंग के नियम को खत्म किया जा सकता है। सरकार ने इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। यह रिटेल निवेशकों के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है।

कंपनी भी रिटेल निवेशक की ही कैटेगरी में आती हैहालांकि किसी भी IPO में जो भी हिस्सा बिकता है, उसमें जो भी निवेशक आता है, वह रिटेल की ही कैटेगरी में आता है। चाहे भले वह कोई कंपनी ही क्यों न हो। जहां तक LIC की बात है तो यह शुरू में 10% हिस्सेदारी ही इश्यू में बेच सकती है। इसके बाद यह बाकी हिस्सेदारी बेच सकती है। इसके पीछे यह कारण है कि पहले थोड़ी हिस्सेदारी बेचकर बाजार का मूड समझा जाए और सही तरीके से इसके वैल्यूएशन को निकाला जाए। headtopics.com

कई चरणों में हिस्सेदारी बिकेगीइश्यू के बाद सरकार इसे कई चरणों में बेच सकती है। आगे चलकर हो सकता है कि इश्यू की तुलना में ज्यादा वैल्यूशएन कंपनी को मिल जाए और सरकार को ज्यादा पैसा भी हिस्सेदारी बेचने पर मिल जाए। इस मामले में बीमा सेक्टर की एक बड़ी कंपनी के पूर्व अधिकारी ने कहा कि यह तो सीधे-सीधे रिटेल निवेशकों को दूर रखने की योजना है। जब जनता की कम से कम हिस्सेदारी को खत्म कर दिया जाएगा, तो उसमें जनता कैसे हिस्सा लेगी? यानी LIC जैसी बड़ी कंपनियों में रिटेल निवेशकों को दूर किया जा रहा है। यही नहीं, इसके बाद बड़ी कंपनियां या बड़े निवेशक इस तरह की कंपनियों में शेयर होल्डर बन जाएंगे।

बड़े निवेशकों को मिलेगी ज्यादा हिस्सेदारीइस अधिकारी ने कहा कि इसका असर यह होगा कि बड़े निवेशकों को ज्यादा हिस्सेदारी दे दी जाएगी और हजारों निवेशकों की बजाय महज कुछ गिनती के बड़े निवेशक ही इसके हिस्सेदार होंगे। LIC के इश्यू से पहले सरकार का यह फैसला रिटेल निवेशकों के लिए एक बड़ी कमाई का अवसर गंवा सकता है।

कम से कम 25% हिस्सेदारी जनता के पास होनी चाहिएअभी तक सेबी के नियमों के मुताबिक, किसी भी लिस्टिंग कंपनी में कम से कम 25% हिस्सेदारी जनता के पास होनी चाहिए। 2010 तक यह नियम 10% का था, पर उसी साल इसे बढ़ाकर 25% कर दिया गया था। हालांकि यह हिस्सेदारी कंपनी के लिस्ट होने के 3 साल के भीतर करनी होती थी। लेकिन जैसे ही LIC IPO की तैयारी शुरू हुई, सरकार ने हाल में इस नियम को सरकारी कंपनियों के लिए बदल दिया। नए नियम में यह कहा गया है कि इसे 5 साल में पूरा करना होगा, न कि तीन साल में।

सरकार का यह दूसरा बदलाव हैदूसरी बार सरकार यह बदलाव कर रही है कि इस नियम को ही सरकारी कंपनियों के लिए खत्म कर दिया जाए। यानी LIC की लिस्टिंग के बाद उसमें जनता की कम से कम हिस्सेदारी का मामला न रहे। वित्त मंत्रालय के डिपॉर्टमेंट ऑफ इकोनॉमिक अफेयर्स ने यह नोटिफिकेशन जारी किया है। अभी तक नियमों के मुताबिक, अगर कोई कंपनी इसे पूरा नहीं करती है तो उस पर 10 हजार रुपए हर दिन की पेनाल्टी स्टॉक एक्सचेंज लगा सकते हैं। साथ ही प्रमोटर और प्रमोटर ग्रुप की पूरी होल्डिंग को भी डिपॉजिटरी के जरिए फ्रीज करवाया जा सकता है। headtopics.com

Petrol-Diesel Price : कच्चा तेल गिरावट में, लेकिन पेट्रोल-डीजल में कोई कटौती नहीं, चेक करें ताजा रेट पंजाब में दलित 32 प्रतिशत, फिर वो राजनीतिक शक्ति क्यों नहीं बन पाए? - BBC News हिंदी पहले ''हाथी'' का पेट इतना बड़ा था कि पता नहीं लगता था कि राशन कहां गया : योगी

मार्च तक आएगा इश्यूLIC का इश्यू अगले साल मार्च के पहले आने की तैयारी में है। इसके जरिए सरकार 80 हजार से 1 लाख करोड़ रुपए जुटाने की योजना बना रही है। लिस्टिंग के बाद इसका मार्केट कैपिटलाइजेशन 10-12 लाख करोड़ रुपए होने की उम्मीद है। यानी देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज के करीब यह होगी। कंपनी ने योग्य पॉलिसीधारकों का डेटा बेस बनाना शुरू कर दिया है। कई लोगों के पास LIC की एक से ज्यादा पॉलिसी है कंपनी की प्रक्रिया से सिंगल बेनेफिशिएरी तय होगा। एलआईसी में सरकार की कैपिटल महज 100 करोड़ रुपए है। हालांकि पिछले 50 सालों से यह केवल 5 करोड़ रुपए थी और 2012 में इसे बढ़ाकर 100 करोड़ रुपए किया गया।

सरकारी कंपनियों में हिस्सेदारी बेचने के लिए काम करने वाले डिपॉर्टमेंट ऑफ इन्वेस्टमेंट एंड पब्लिक असेट मैनेजमेंट (DIPAM) ने 15 जुलाई को IPO के लिए बुक रनिंग लीड मैनेजर, कानूनी सलाहकार और शेयर ट्रांसफर एजेंट्स को नियुक्त करने के लिए आवेदन मंगाया है।1 लाख से ज्यादा कर्मचारी

एलआईसी के पास इस समय एक लाख से ज्यादा इसके पास कर्मचारी हैं। 12.08 लाख एजेंट हैं और 28.92 करोड़ से ज्यादा पॉलिसीज हैं। कुल 28 प्लान इंडिविजुअल बिजनेस के तहत एलआईसी ऑफर करती है। इसमें एंडोमेंट, टर्म इंश्योरेंस, चिल्ड्रेन, पेंशन, माइक्रो इंश्योरेंस आदि हैं। अभी एलआईसी का एक ही शेयर है। इस शेयर को ही बांटा जाएगा और फिर करोड़ों शेयरों का निर्माण होगा।

और पढो: Dainik Bhaskar »

अमेठी में स्मृति ने पकौड़ी संग चाय पर की चर्चा: दुकानदार से पूछा- क्या हाल है, बोला- बेटे के दिल में छेद है, बोलीं- दिल्ली लेकर आइए, इलाज की चिंता मत करिए

स्मृति ईरानी अमेठी में हैं। केंद्रीय मंत्री गुरुवार सुबह अचानक नहर कोठी चौराहा पर राम नरेश की दुकान पर पहुंच गईं। वहां उन्होंने पकौड़ी खाई और चाय पी। दुकानदार से उसका हालचाल पूछा। साथ ही क्षेत्र की समस्याओं के बारे में जाना। रामनरेश ने केंद्रीय मंत्री को बताया कि क्षेत्र में सब ठीक चल रहा है, लेकिन वह निजी समस्या से परेशान हैं। उनके बच्चे के दिल में छेद है, जिसका इलाज कराने में वह असमर्थ है। | Discussion on Smriti Irani's tea in Amethi, After drinking tea at the shop, ate dumplings, asked - how are you; After hearing the problem of Ram Naresh called to Delhi, amethi news, political news, यूपी चुनाव से पहले गांधी परिवार अमेठी से दूर है, इसका फायदा स्मृति ईरानी बखूबी उठा रही हैं। बुधवार की रात अमेठी पहुंची केंद्रीय मंत्री गुरुवार सुबह अचानक नहर कोठी चौराहा पर राम नरेश की दुकान पर पहुंच गईं। यहां उन्होंने चाय पीकर और पकौड़ी खाकर चर्चा की। दुकानदार से उसका हालचाल पूछा। साथ ही क्षेत्र की समस्याओं के बारे में जाना। रामनरेश ने केंद्रीय मंत्री को बताया कि क्षेत्र में सब ठीक चल रहा है, लेकिन वह निजी समस्या से परेशान है। उसने बताया कि उसके बच्चे के दिल में छेद है। जिसका इलाज कराने में वह असमर्थ है।

Ye kya ho raha tarikh pe tarikh Nyay kab milega ? ashokgehlot51 Sos_Sourabh GovindDotasra zeerajasthan_ 1stIndiaNews TheUpenYadav REET reet2018_नियुक्ति_दो REET2018_धरनाप्रदर्शन_बीकानेर REET2018_JOINING_DO इतना बेच रहा मुझे भी एक करोड़ दे दो🙈😁

पहाड़ों से छेड़छाड़ के घातक नतीजे: नष्ट किए गए पहाड़ों से पूरा पर्यावरणीय तंत्र होता ध्वस्तपहाड़ों पर हरियाली न होने से मिट्टी तेजी से कटती है और नीचे आकर नदी-तालाब में गाद के तौर पर जमा होकर उसे उथला बना देती है। पहाड़ पर हरियाली बादलों को बरसने का न्योता होती है। पहाड़ अपने करीब की बस्ती के तापमान को नियंत्रित करते हैं। विकास के नाम पर हम प्रकृति को नश्ट कर रहे है । मानव अपने स्वार्थ के कारण एक दिन प्रथवी को नस्ट कर देगा ।इसके लिए पाठयपुस्तकों में प्रकृति की जानकारी दी जाए।

दुनिया के 130 देशों से महंगा पेट्रोल राजस्थान के श्रीगंगानगर में, पड़ोसी देशों में काफी सस्तादुनियाभर में पेट्रोल के दामों की तुलना करें, तो इस वक्त सबसे कम कीमत वेनेजुएला और ईरान में है, लेकिन प्रतिबंधों के चलते भारत इनसे या तो सीमित ईधन आयात करता है, या बिल्कुल नहीं करता।

टोक्यो ओलंपिक: हारने के बावजूद अपनी बहादुरी से छाए भारत के सतीश - BBC Hindiभारतीय बॉक्सर सतीश कुमार बॉक्सिंग के सुपर हैवी वेट वर्ग के क्वार्टर फ़ाइनल में हारकर बाहर हो गए हैं. हालाँकि इस दौरान सतीश के प्रदर्शन की तारीफ़ हो रही है क्योंकि उन्होंने घायल होने के बावजूद इस मुकाबले में हिस्सा लिया. Great moment for INDIA जन गण मन अधिनायक जय हे...🇮🇳🇮🇳 बेसिक शिक्षा विभाग में जनपद के अंदर एक लंबे समय से एक ब्लॉक से दूसरे ब्लॉक मैं ट्रांसफर नही हुए है। जिस से सैकड़ों दिव्यांग अपने मूल ब्लॉक से 100 किलोमीटर से अधिक दूरी के विद्यालयों मैं अद्यापन का कार्य कर रहे हैं जहाँ आने जाने के साधन भी नही है महोदय संज्ञान में ले। M

मानसून सत्र: अध्यादेश से जुड़े विधेयकों के नाम होगा अगला हफ्ता, विपक्ष दिखा रहा कड़े तेवरमानसून सत्र: अध्यादेश से जुड़े विधेयकों के नाम होगा अगला हफ्ता, विपक्ष दिखा रहा कड़े तेवर MonsoonSession Parliament Opposition BJP4India INCIndia

नए नियम: आज से टैक्स और बैंकिंग के नियमों में होंगे ये बदलाव, बैंक सेवाएं महंगीनए नियम: आज से टैक्स और बैंकिंग के नियमों में होंगे ये बदलाव, बैंक सेवाएं महंगी NewRules Taxandbankingrules 1stAugust ATMcharges RBI RBI RBI Modi time me bank and tex ke rule daily change ho rahe hai.esko khud hi nhi pta hai ki tex thik se lag rahe hai ya nhi . RBI Ye har baar tex ko increase hi karte hai.ya phir pehle janta ko dikhne ke liye tex ko increase krti hai phir vote lene ke lalch me tex ko kam kar deti hai.jisse ki janta ko lge ki BJP unka diyan rakh rahi hai.

अफगानिस्तानः कंधार एयरपोर्ट पर रॉकेट से हमला, सेना और तालिबान के बीच संघर्ष जारीकंधार एयरपोर्ट पर हमले की खबर आई है. न्यूज एजेंसी के मुताबिक, कंधार एयरपोर्ट पर रॉकेट से हमला किया गया है. इसके बाद कई उड़ानों को रद्द किए जाने की भी खबर है. Taliban ki galti nahi thi sahab... Woh toh airport ki galti thi ki rocket k raaste k bich mein aa gaya... Kya karen to?