लखनऊ में तेजी से ठीक हो रहे कोरोना मरीज, लखनऊ में कोरोना रिकवरी रेट, लखनऊ में कोरोना महामारी, उत्‍तर प्रदेश में कोरोना वायरस का प्रकोप, Up Corona Update Lucknow, Up Corona Update, Recovery Rate Of Lucknow, New Coron Case Of Lucknow, Lucknow Coronavirus Update, Metro News, Metro News İn Hindi, Latest Metro News, Metro Headlines, मेट्रो Samachar

लखनऊ में तेजी से ठीक हो रहे कोरोना मरीज, लखनऊ में कोरोना रिकवरी रेट

Lucknow Coronavirus Update: कोरोना से कराह रहे लखनऊ में गुड न्‍यूज, 24 घंटे में ज्‍यादा लोग ठीक हुए, नए केस कम आए

Lucknow Coronavirus Update: कोरोना से कराह रहे लखनऊ में गुड न्‍यूज, 24 घंटे में ज्‍यादा लोग ठीक हुए, नए केस कम आए ऐप में डाउनलोड और पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें : via @NavbharatTimes

22-04-2021 19:25:00

Lucknow Coronavirus Update : कोरोना से कराह रहे लखनऊ में गुड न्‍यूज, 24 घंटे में ज्‍यादा लोग ठीक हुए, नए केस कम आए ऐप में डाउनलोड और पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें : via NavbharatTimes

लखनऊ में कोरोना वायरस संक्रमण के 5200 मामले सामने आए हैं। दूसरी ओर 6208 मरीज ठीक होकर अपने घर चले गए। इससे कोरोना के खौफ में जी रहे राजधानवासियों का मनोबल बढ़ा है। पूरे राज्‍य में 24 घंटे के दौरान 16,514 लोग इस बीमारी से उबर चुके हैं।

लखनऊउत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में इस बार कोरोना वायरस ने अपना भयंकर रूप दिखाया है। मरीज इतने ज्‍यादा बढ़ गए हैं कि अस्‍पतालों में ऑक्‍सीजन खत्‍म हो जा रही है। बेड पाने के लिए बड़े नेताओं और अफसरों से सिफारिश करनी पड़ रही है। इन सबके बीच, गुरुवार को यहां से एक अच्‍छी खबर आई है। पिछले 24 घंटे में लखनऊ में 5200 नए केस आए जबकि 6208 लोग इस बीमारी से ठीक हुए। लंबे अरसे बाद नए मरीजों की तुलना में ठीक होने वाले लोगों की संख्‍या ज्‍यादा मिली है। पूरे उत्‍तर प्रदेश की बात करें तो इस अवधि में 16,514 लोग कोरोना से ठीक होकर अपने घर जा चुके हैं।

असम चुनावः कैसे एक बूढ़ी मां ने जेल में बंद अपने बेटे को जीत दिलाई? - BBC News हिंदी देश को पूर्ण लॉकडाउन की ओर धकेला जा रहा है: राहुल गांधी - BBC Hindi कोरोना: भारत को मिल रही आपातकालीन विदेशी मदद आख़िर जा कहाँ रही है? - BBC News हिंदी

प्रयागराज में 1459, कानपुर नगर में 721, वाराणसी में 1516, गाजियाबाद में 168 और मेरठ में 188 मरीज पिछले 24 घंटे में ठीक हुए हैं। वहीं, इस दौरान पूरे प्रदेश में रेकॉर्ड 34379 नए मरीज सामने आए हैं। कुल 195 लोगों की मौत भी हुई है। इसके साथ राज्य में इस वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,541 हो गई है। प्रदेश में इस वक्त 2,59,810 कोविड-19 संक्रमित मरीजों का इलाज किया जा रहा है।

यूपी को मिलेगी रेमडेसिविर की सवा लाख शीशीदूसरी ओर, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 संक्रमण की स्थिति की समीक्षा की। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि योगी ने बैठक में कहा कि प्रदेश के कुछ जिलों से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की आवश्यकता जताई गई है। स्वास्थ्य विभाग आज ही संबंधित जिलों को ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराए। इसकी उपलब्धता बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार से भी सहयोग लिया जा सकता है। योगी ने कहा कि कोविड संक्रमित मरीजों के परिजनों के साथ यथोचित सम्मान के साथ संवेदनशील व्यवहार किया जाए। उन्होंने निर्देश दिया कि अंतिम संस्कार की क्रिया कोविड प्रोटोकॉल के अनुरूप पूरे सम्मान के साथ संपन्न कराई जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार के सहयोग से प्रदेश को बहुत जल्द रेमडेसिविर की सवा लाख शीशी प्राप्त हो जाएंगी। headtopics.com

लगातार अस्‍पतालों को हो ऑक्‍सीजन सप्‍लाई: योगीयोगी ने सभी अस्पतालों में ऑक्सीजन की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए कहा कि ऑक्सीजन रीफिल केंद्रों पर जिम्मेदार अधिकारियों की तैनाती की जाए। ऑक्सीजन टैंकरों को जीपीएस से जोड़ा जाए और प्लांट पर पर्याप्त पुलिस बल तैनात किया जाए। हर ऑक्सीजन टैंकर के साथ सुरक्षा के जरूरी इंतज़ाम किए जाएं। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि बढ़ती मांग के अनुरूप राज्य सरकार द्वारा ऑक्सीजन आपूर्ति बढ़ाने के लिए सभी जरूरी प्रयास किए जा रहे हैं। वर्तमान में स्थिति पूरी तरह नियंत्रित है। उन्होंने कहा कि सभी छोटे-बड़े अस्पतालों की स्थिति पर हर वक्त नजर रखी जाए।

Navbharat Times News App: और पढो: NBT Hindi News »

10 तक: Corona की तीसरी लहर में बच्चों को कितना खतरा, एक्सपर्ट्स से जानिए

कोरोना महामारी के बीच ऑक्सीजन की कमी को लेकर सुप्रीम कोर्ट में आज फिर सुनवाई हुई. इस दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना की तीसरी लहर को लेकर चिंता जताई . अदालत ने केंद्र से कहा कि वैज्ञानिक कोरोना की तीसरी लहर की बात कह रहे हैं . उसमें बच्चों के प्रभावित होने की आशंका है. ऐसी स्थिति में मां-बाप क्या करेंगे. अदालत ने केंद्र से इसका प्लान पूछा. साथ ही कहा कि टीकाकरण अभियान में बच्चों के लिए भी सोचा जाना चाहिए. एक्सपर्ट से जानिए तीसरी लहर बच्चों के लिए कितनी खतरनाक है. देखें दस्तक.

नेता कोरोना त्रस्त हुए तो सरकार जागी झूठ की पराकाष्टा होती है।