IIT और NEET परीक्षा की तारीख़ फिर आगे बढ़ेगी क्या?

IIT और NEET परीक्षा की तारीख़ फिर आगे बढ़ेगी क्या?

09-08-2020 19:30:00

IIT और NEET परीक्षा की तारीख़ फिर आगे बढ़ेगी क्या?

देश भर में आईआईटी के लिए 11 लाख छात्रों ने फ़ॉर्म भरे हैं. जबकि नीट की परीक्षा के लिए 16 लाख छात्रों ने आवेदन किया है.

Image captionराज्य स्तर की परीक्षा में आईदिक़्क़तेंकर्नाटक के बेंगलुरू में रहने वाले मनोज एस उन 11 यचिकाकर्ताओं में से एक हैं, जिन्होंने परीक्षा की तारीख़ आगे बढ़ाने की माँग उठाई है. मनोज इस साल आईआईटी की परीक्षा देने वाले थे. इंजीनियरिंग की पढ़ाई ही उनके जीवन का आगे का लक्ष्य है.

कृषि बिल के विरोध में सुखबीर बादल, बोले- हरसिमरत कौर के इस्तीफे से हिल गई मोदी सरकार महाराष्‍ट्र: पालघर जिले में बढ़े कुपोषण के मामले, एक परिवार ने कहा, 'हम भूखा रह लेते हैं ताक‍ि बच्‍चे खा सकें' सुशांत के साथ कितनी बार ड्रग्स का सेवन किया है? सारा से पूछे जा सकते हैं ये सवाल

बीबीसी से फ़ोन पर बात करते हुए उन्होंने इस याचिका दाख़िल करने के पीछे के कारण गिनाए. मनोज के मुताबिक़ कोरोना के दौरान होने वाली इन परीक्षाओं के लिए राज्य सरकार की तरफ़ से स्टैंडर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिड्यूर तय किए गए थे.नियमों के उलट हर सेंटर पर थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था नहीं थी, ना ही सोशल डिस्टेंसिंग की व्यवस्था थी और ना ही सेंटर कर पहुँचने के लिए यातायात की व्यवस्था थी. उसके बाद कई छात्रों को कोरोना जैसे लक्षण देखने को मिले. मनोज का कहना है कि उस परीक्षा के बाद उनके अंदर एक डर सा बैठ गया है.

कर्नाटक कॉमन एंट्रेंस टेस्ट की परीक्षा राज्य सत्र की परीक्षा थी, जिसमें किसी भी राष्ट्रीय स्तर की परीक्षा के मुक़ाबले कम छात्र शामिल हुए थे. ये परीक्षा 30 और 31 जुलाई को हुई थी.ऐसे में राष्ट्रीय स्तर की किसी परीक्षा के लिए दिए गए सेंटर में कितनी भीड़ होगी, इसका कोई भी अनुमान लगा सकता है. याचिका के माध्यम से मनोज का कहना है कि जब तक कोरोना का ग्राफ़ फ़्लैट नहीं हो जाता और स्थितियाँ पहले जैसे नहीं हो जाती, तब तक आईआईटी जेईई की परीक्षा की तारीख़ आगे बढ़ा दी जाए.

Image captionमानस चन्द्रबिहार में कोरोना और बाढ़ दोनों का कहरबिहार के छपरा के रहने वाले मानस ने भी इस याचिका पर दस्तख़त किए है. वो इस बार मेडिकल में दाखिले के लिए नीट की परीक्षा देने वाले थे.मानस ने 2016 में 12वीं की परीक्षा पास की है और तब से नीट की तैयारी में जुट गए हैं. छपरा से फ़ोन पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि तीन मुख्य वजहों से वो इस एग्ज़ाम की डेट आगे बढ़ाना चाहते हैं.

पहला कारण उन्होंने कोरोना बताया. उनके मुताबिक़ बिहार सरकार की कोरोना से लड़ने की तैयारी किसी से छिपी नहीं है. ऐसे में ख़ुद को एक्सपोज़ करने का रिस्क कोई कैसे उठाएगा.दूसरी वजह वो बिहार में आई बाढ़ को बताते हैं. उनके घर के बाहर पूरा पानी भरा हुआ है. घर से निकल कर बाहर एग्ज़ाम सेंटर तक जाने के लिए ना तो संसाधन है और ना ही पानी भर जाने की वजह से ऐसी स्थिति ही है.

उनका दावा है कि पूरे बिहार में नीट की परीक्षा के लिए दो ही सेंटर हैं- एक गया और दूसरा पटना. दोनों ही सेंटर पर जाने के लिए उन्हें बाढ़ और कोरोना के दौर में काफ़ी परेशानी होगी और एक दिन पहले ही निकलना होगा.तीसरी वजह गिनाते हुए वो कहते हैं कि एक साथ लाखों छात्रों का एक साथ एक जगह पर निकलना सबको परेशानी में डाल सकता है. मानस की दलील है कि अकेले बिहार में लगभग 60 हज़ार छात्र परीक्षा दे रहे हैं. उनके साथ एक अभिभावक भी एक्ज़ाम सेंटर आएँगे तो तकरीबन सवा लाख लोग एक ही दिन सड़कों पर बाहर होंगे.

कोरोना के समय में मानस को ये बेहद ख़तरनाक स्थिति लगती है.इमेज कॉपीरइटPAनेशनल टेस्टिंग एजेंसी का पक्षइन तीनों छात्रों की आशंकाओं को हमने देश के नेशनल टेस्टिंग एजेंसी के महानिदेशक विनीत जोशी के सामने रखी. सुप्रीम कोर्ट में दायर याचिका के बारे में उन्हें अभी तक कोई जानकारी नहीं है.

दीपिका ने किया वकीलों से सलाह मशविरा, कल NCB करेगी सवाल संयुक्त राष्ट्र ने की बिहार के CM की तारीफ, नीतीश कुमार को बताया 'क्लाइमेट लीडर' NCB के सवालों के कटघरे में होंगी 3 टॉप हीरोइनें, कल होगी पूछताछ

उन्होंने बीबीसी को बताया कि कोरोना के दौर में परीक्षा कराने के लिए सरकार के सभी नियमों का पालन किया जाएगा. नेशनल टेस्टिंग एजेंसी ही वो संस्था है, जो देश में आईआईटी और नीट की परीक्षाएँ कराती है.सरकार के दिशा निर्देश परसरकार की गाइडलाइन के मुताबिक़ इस बार आईआईटी के लिए 600 सेंटर बनाए गए हैं, जो पहले 450 हुआ करते थे. उसी तरह से नीट की परीक्षा के लिए तकरीबन 4000 सेंटर इस बार हैं, जो पहले 2500 हुआ करते थे.

इसके अलावा इस साल महामारी की वजह से एग्ज़ाम सेंटर में एक ही समय पर सभी छात्र ना पहुँचे, इसकी बात कही गई है. एडमिट कार्ड में इसका ज़िक्र होगा. हफ़्ते भर में छात्रों को एडमिट कार्ड के साथ ही सारे नियमों की जानकारी दे दी जाएगी.विनीत जोशी आगे कहते हैं कि छात्रों को एग्ज़ाम सेंटर पर थर्मल स्क्रीनिंग की व्यवस्था मिलेगी और सैनिटाइजर की भी व्यवस्था होगी. कंटेनमेंट ज़ोन में एग्ज़ाम का एडमिट कार्ड गेट पास का काम करेगी. स्थानीय प्रशासन को इसके बारे में पहले से सूचित किया जाएगा.

बिहार के बाढ़ पर उनका कहना था कि अभी भी परीक्षा में तकरीबन महीने भर का वक़्त बचा है. उम्मीद की जा रही है कि तब तक परिस्थितियाँ सुधर जाएँगी. जहाँ तक बिहार में दो सेंटर की बात है, विनीत जोशी का कहना है कि बिहार के दो शहरों में सेंटर हैं, लेकिन इन दो शहरों में सेंटर की संख्या काफ़ी ज़्यादा है.

उनका कहना है कि सरकार ने अपनी तरफ़ से पूरी तैयारी की है. इतना ही नहीं एनटीए ने जुलाई के महीने में छात्रों को सेंटर चेंज़ करने का विकल्प भी दिया था. 15 दिन के लिए विंडो भी खोली गई थी, जब छात्र फ़ॉर्म में बदलाव कर सकते थे.इमेज कॉपीरइटREUTERS/Adnan Abidi

कैसे साथ आए 11 छात्रपरीक्षा की तारीख़ आगे बढ़ती है या नहीं, इस पर फैसला सुप्रीम कोर्ट को करना है. लेकिन अलग-अलग प्रदेशों में रहने वाले ये सारे छात्र एक साथ आए कैसे?ये सवाल सबके मन में ज़रूर है. इस पर मनोज ने एक दिलचस्प बात शेयर की है. देश के अलग-अलग शहरों में रहने वाले छात्रों ने ट्विटर और टेलीग्राम पर इस बारे में बात करना शुरू किया.

एक हैशटैग SaveJEE_NEETstudentsPM से बात शुरू हुई. जुड़ते-जुड़ते इस पर पिछले एक सप्ताह में तकरीबन 6 लाख से ज़्यादा ट्वीट देश के अलग-अलग राज्यों से छात्रों ने किया.इस बारे में छात्रों का दावा है कि उन्होंने नेशनल टेस्टिंग एजेंसी और शिक्षा मंत्री को ख़त भी लिखा, लेकिन छात्रों को कोई जवाब नहीं मिला.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कल UNGA के 75वें सत्र में भाषण देंगे, आतंकवाद होगा मुख्य मुद्दा बिहार चुनाव : BJP-JDU में आसान नहीं सीटों का बंटवारा, 30 से ज़्यादा सीटों पर भारी 'तीर', 50 सीटों पर तकरार CSK vs DC: दिल्ली कैपिटल्स की लगातार दूसरी जीत, धोनी की चेन्नई को 44 रनों से रौंदा

इसके बाद छात्रों को एक वकील के सपोर्ट की ज़रूरत थी. जिसके लिए इंडिया वाइड पेरेंट एसोसिएशन की अनुभा श्रीवास्तव सहाय सामने आई. फ़िलहाल ये मामला सुप्रीम कोर्ट में है. याचिका पर सुनवाई की तारीख़ का इंतज़ार है. और पढो: BBC News Hindi »

India-China Clash: तहस-नहस होगा चीन का 'सुपर पॉवर' सपना?

रात होते ही चीन भारतीय सीमाओं के भीतर दखल देने की कोशिश में रहता है. चीन दबे पांव लद्दाख की ऊंची चोटियों पर कब्जा करने की फिराक में है लेकिन कामयाबी नहीं मिल रही है. भारत-चीन के बीच युद्ध ही होगा? क्या युद्ध ही अब एक मात्र विकल्प है? क्या दुनिया को युद्ध की विभीषिका में धकेल कर ही मानेगा चीन? ये तीन बड़े सवाल हैं, और इन तीनों सवालों के जवाब तकरीबन हां है. जानते हैं क्यों, क्योंकि जबतक कमांडर स्तर की बातचीत फेल हो रही थी, तबतक भी एक उम्मीद थी कि बड़े स्तर पर बातचीत में आखिरकार बात बन ही जाएगी. लेकिन नहीं, अपनें मोहरों को पिटता देख चीन, मंत्री स्तर की बातचीत में बिफर रहा है, वार्ता विफल करा रहा है. देखिए खास कार्यक्रम, श्वेता सिंह के साथ.

क्या फर्क पड़ता है रोजगार तो वैसे ही नही है। NTAPOSTPONEJEE_NEET SayNoToSOP SayNoToSOP DG_NTA DrRPNishank क्या करोना की लास्ट डेट कोई है ,जो बता सके अगर नहीं बता सकता, तो कृपया कर बच्चों के जीवन से खिलवाड़ न किया जाए और यथासंभव स्थिति में जेईई मेन एवं नीट के एग्जाम को होने दिया जाए ,ताकि बच्चे मानसिक व्यस्तता से बाहर निकले एवं सरकार से निवेदन है कि इस प्रक्रिया को सुरक्षित अंजाम दें

नहीं, समुचित व्यवस्था के साथ परीक्षा करवाई जाएगी। neetjee must be postponed. दुनिया में कोरोना के सबसे ज्यादा पेशेंट जिस देश में निकल रहे हो उसके सबसे बड़े राज्य में बीएड की परीक्षा आयोजित की गई। ये हालत तब है जब एक दिन में नए केस और मौतो का रिकॉर्ड बन रहा है। लोगों के जीवन को मुश्किल में डालना क्या परीक्षा से ज्यादा जरूरी है। कुछ हुआ तो जिम्मेदारी किसकी?

PostponeJEE_NEETinCovid postpondneetjee NTAPOSPONEJEE_NEET NTA should conduct NEET and JEE exams on scheduled dates Govt should take exams with proper RISK ASSESSMENT. Parents/students sacrified his assets for good education, COVID-19 cases escalating exponentially. Question 1) When COVID-19 cases will be controlled? 2) Is it TOO serious for young aspirats? 3) Govt unable to manage Exams?

आगे जरूर बढ़ने चाहिए जब तक ख़तरा कम न हो जाए PostponedNEET/JEE NTAPOSTPONEJEE_NEET Postponed hona chahiye कोरोना के रवतड़ा को देरवते हुए दिक्कत तो बड़ी है। विकल्प ढेड़ सारे है चिन्ता की बात नहीं है। W h o or humans rights art 21 or nechural right jine ka adhikar kyo up me students ke sath China ja raha he covid 19 jab charmp par he to kyu exjam liye ja rahe he up beo postpone please sanghan lijiye

पूछ रहे हो या बता रहे हो ? Desh Mae unemployment k tpic k upr to koi b bat nhi krta sir ..... Plz support my channel frndz😊 , increase ur knowledge , plz 🙏 Postponedneet jee

कांग्रेस के ‘दिशाहीन’ होने की अवधारणा को तोड़ने के लिए पूर्णकालिक अध्यक्ष की जरूरत: शशि थरूरशशि थरूर बोले, कांग्रेस को एक पूर्णकालिक अध्यक्ष की जरूरत congress INCIndia RahulGandhi ShashiTharoor INCIndia RahulGandhi ShashiTharoor Agree INCIndia RahulGandhi ShashiTharoor बिल्कुल सही INCIndia RahulGandhi ShashiTharoor Good idea! And send Pappu to a good school and let him grow.

केरल विमान हादसाः पायलटों समेत 15 की मौत, NDRF की टीम घटनास्थल के लिए रवानाएनडीआरएफ के 50 जवानों की टीम को कोझिकोड के लिए रवाना कर दिया गया है. एनडीआरएफ की यह टीम केरल के ही मल्लापुरम से कोझिकोड भेजी गई है. एनडीआरएफ की टीम को जल्द से जल्द दुर्घटनास्थल पर पहुंचने के लिए कहा गया है. ग्रह मंत्री जी अभी स्वस्थ कब हुऐ उन्हें स्ट्रेस से बचाऐं समकक्ष देखे काम!👃 एयरइंडिया का बोइंग-737विमान केरल के कालीकटमें हादसे का शिकार होने की खबर अत्यंत दुःखदहै।मृतकों के परिजनों के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करता हूँ और घायलों के जल्द ठीक होने की ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ। भावपूर्ण श्रृद्धांजलि! प्रदेश उप प्रमुख, शिवसेना उत्तर प्रदेश। 🙏🙏

झूठे आरोपों की मानसिक प्रताड़ना के लिए कार्यकर्ताओं को मुआवज़ा दे छत्तीसगढ़ सरकार: एनएचआरसीछत्तीसगढ़ पुलिस ने सुकमा ज़िले के एक शख़्स की हत्या के आरोप में नवंबर 2016 में कुछ मानवाधिकार कार्यकर्ताओं को नामजद किया था. फरवरी 2019 में सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर राज्य सरकार ने मामले की जांच की और हत्या में कार्यकर्ताओं की भूमिका न पाए जाने पर आरोप वापस लेते हुए एफआईआर से नाम हटा लिए.

यात्रियों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए रेलवे की ये है प्लानिंगIndian Railway: इंडियन रेलवे लगातार यात्रियों को महामारी से बचाने के लिए प्रयास कर रहा है। इसी कड़ी में अब रेलवे पोस्ट-कोविड कोच तैयार कर रही है।

डेपसांग पर तनाव, सैनिकों को हटाने के लिए चीन से मेजर जनरल स्तर की वार्ता जारीShivAroor War kra do Godimedia uss pe b acha trp milega fir ShivAroor उम्मीद करता हु सब ठीक हो , ShivAroor “चाईना” से क़ब्ज़ा छुड़ाने के लिए ,संघ करेगा देश मे “यज्ञ” !! !! बेरोज़गार ,गरीब, मंहगाई,भ्रष्टाचार,बेबस देश की बिकती हुई सम्पत्ति पे “फूल बरसाएगा “राफ़ेल “ !!

MOTN: कांग्रेस की वापसी के लिए राहुल गांधी को माना गया सबसे बेस्टYe agar 9 class k montior k liye bhi election ladey to nahi jeet payenga 😑 ❤️day ka survey कोन्ग्रेस अब खत्म हो चुकी है, आगे की सोचिए। 🙏🙏