Ncb

Ncb

Inside Story: माथे पे शिकन, चेहरे पर घबराहट, दिल में बेचैनी, पूछताछ में ऐसा था तीनों एक्ट्रेस का हाल

#NCB पूछताछ में ऐसा था तीनों एक्ट्रेस का हाल..

28-09-2020 19:40:00

NCB पूछताछ में ऐसा था तीनों एक्ट्रेस का हाल..

बॉलीवुड के इतिहास में ये पहला मौका था, जब तीन तीन हीरोइन एक साथ बिना किसी स्क्रिप्ट के रीयल पुलिस वालों के सामने बैठी थी. असली जिंदगी की इस फिल्म में तीनों की कहानी का सब्जेक्ट ड्रग्स और नशा था. दीपिका पादुकोण, सारा अली खान और श्रद्धा कपूर इससे पहले कभी इस तरह से किसी से मिलने नहीं आई.

शम्स ताहिर खानमुंबई,(अपडेटेड 28 सितंबर 2020, 9:50 PM IST)स्टोरी हाइलाइट्सदीपिका पादुकोण से NCB गेस्ट हाउस में पूछे गए थे सवालश्रद्धा और सारा से एनसीबी ऑफिस में हुई थी पूछताछएनसीबी ने तीनों अभिनेत्रियों के मोबाइल किए जब्तड्रग्स का नशा जब धीरे धीरे नसों के ज़रिए दिमाग की तरफ परवाज़ करने लगता है. तो वहां सोई हुई ये बत्तियां अचानक जगमगा कर बेचैन हो उठती हैं. बिजलियां इस तरह कौंधना शुरु करती हैं. जैसे दूर कोई बादल कांपता है. दिमाग का पूरा का पूरा निज़ाम रुई के फुए की तरह हल्का महसूस होने लगता है. दिमाग खाली. जिस्म खाली. ऐसा लगता है जैसे सब हवा में है. बस इसे ही ड्रग्स के तलबगारों की ज़बान में फील हाई कहते हैं. यानी वो फीलिंग वो एहसास जो आपको सितारों के पार पहुंचा दे. सारा दीवानापन इसी हाई को फील करने का है.

PM Modi Speech : जब तक वैक्‍सीन नहीं आती, तब तक कोरोना से जंग जारी रहेगी : पीएम मोदी मोदी ने कहा लॉकडाउन से घटा कोरोना, क्या सहमत हैं जानकार? - BBC News हिंदी पीएम मोदी का संबोधन: जब तक दवाई नहीं, ढिलाई नहीं - BBC News हिंदी

इसी हाई को फील करने के चक्कर में कुछ हाई प्रोफाइल लोग ऐसे फंसे कि कुछ दिन के लिए ही सही पर नशा हिरन हो गया. बॉलीवुड के इतिहास में ये पहला मौका था, जब तीन तीन हीरोइन एक साथ बिना किसी स्क्रिप्ट के असली पुलिस वालों के सामने बैठी थी. असली जिंदगी की इस फिल्म में तीनों की कहानी का सब्जेक्ट ड्रग्स और नशा था. दीपिका पादुकोण, सारा अली खान और श्रद्धा कपूर इससे पहले कभी इस तरह से किसी से मिलने नहीं आई. माथे पे शिकन, चेहरे पे घबराहट, दिल में बेचैनी, सितारे जमीन पर थे और ज़मीन पर पैर कांप रहे थे.

दीपिका से साढ़े 5 घंटे हुई थी पूछताछकभी-कभी दो लोगों की बीच हुई ऐसी बातचीत क्या गुल खिला सकती है, ये दीपिका को अब समझ आया. तीन साल पहले दिए ड्रग्स के ऑर्डर ने, तीन साल बाद दीपिका को एनसीबी के दफ्तर पहुंचा दिया. दीपिका पर इल्ज़ाम है कि वो ड्रग्स लेती है. इस इल्ज़ाम की गवाही ये चैट दे रहा था. फिर क्या था, एनसीबी के दफ्तर की दूसरी मंज़िल पर बिना फीस लिए दीपिका को साढ़े पांच घंटे बैठना पड़ा. दीपिका ने ड्रग्स को लेकर अपने सारे बयान दिए. बीच-बीच में अदाकारी भी दिखाने की कोशिश की. पर एनसीबी की एसआईटी मुंबई फिल्म देखने नहीं बल्कि फिल्म बनाने आई है.

दीपिका को याद दिलाया कि यहां शूटिंग नहीं चल रही है. तीन बार पूछताछ के दौरान दीपिका टूट पड़ी, तीन बार बाकायदा उनकी आंखें नम हुईं. लेकिन आंसू भी काम ना आए. एनसीबी अपना काम करती रही. दीपिका के पास कोई चारा नहीं था. ड्रग्स चैट की बात कबूल कर ली. पर कहा मैं तो सिगरेट पीती हूं. जिस ड्रग्स का नाम आप ले रहे हैं, मुझे उसके बारे में कुछ नहीं पता. दीपिका पूरी तैयारी से आई थी.

पूछताछ के बाद एनसीबी की टीम ने दीपिका का मोबाइल अपने पास रख लिया. दीपिका परेशान हो उठी. कहा इस मोबाइल में उनके सारे डेटा और कॉन्टेक्ट नंबर हैं. एनसीबी ने कहा कि थोड़ा इंतज़ार कीजिए. कुछ वक्त के लिए फोन हमारे पास रहने दीजिए. अब एनसीबी दीपिका के इस मोबाइल में घुस कर डेटा वीडियो चैट और उन नंबरों को खंगालेगी, जिनके ज़रिए शायद नशे का कोई सुराग मिल जाए. क्या पता इस मोबाइल में कुछ और सितारों की तकदीर बंद हो. मोबाइल से राज खुल गया तो वो भी ज़मीन पर होंगे.

दीपिका की लोकेशन एनसीबी का अस्थाई गेस्ट हाउस था. वहां से पांच मिनट की दूरी पर एनसीबी के मुंबई दफ्तर में एक दूसरा सेट लगा हुआ था. जहां सारा अली खान और श्रद्धा कपूर मौजूद थीं. इन दोनों पर भी नशा सिर चढ़ाने का इल्ज़ाम था. ये दोनों भी खुद को नशे के गुबार से दूर बता रही थी. करीब छह घंटे इन दोनों ने भी एनसीबी के इस दफ्तर में गुज़ारे. सुशांत समेत दूसरे लोगों के ड्रग्स लेने की बात कही. पर खुद पे बात आई तो कहा कि तौबा-तौबा. मैं और नशा? हो ही नहीं सकता. जुबान ने जो कहा वो झूठ था सच, एनसीबी की टीम को समझ नहीं आ रहा था.

लिहाजा उन्होंने इन दोनों के भी मोबाइल को कब्ज़े में ले लिए. ताकि मोबाइल में घुस कर असली बोली सुन सकें. सारा एक बड़ी मोबाइल कंपनी की ब्रैंड अंबेस्डर हैं. वो उसी कंपनी का मोबाइल लेकर आई थी. लेकिन एनसीबी को उनका एक साल पुराना मोबाइल चाहिए था. पूछा वो मोबाइल कहां है, सारा ने बड़ी मासूमियत से एनसीबी के उस अफसर से उल्टा सवाल पूछ लिया. अफसर ने कहा, नहीं. सारा ने कहा फिर मुझे कहां से याद रहेगा.

लोगों को पसंद नहीं आया राष्ट्र के नाम संदेश, यूट्यूब पर डिसलाइक बढ़े तो भाजपा ने नंबर छुपाए TRP स्कैम मामला: लखनऊ पुलिस ने सीबीआई के हवाले किया केस - BBC News हिंदी संस्कृति मंत्री बोलीं- सारे आतंकवादी मदरसों में पले, कश्मीर को आतंक की फैक्ट्री बना दिया

सारा का नया मोबाइल तो एनसीबी के पास है. लेकिन कहते हैं कि असली राज पुराने मोबाइल में ही है, जो बकौल सारा उन्हें याद नहीं कि वो मोबाइल कहां है. एनसीबी सारा से केदारनाथ फिल्म की शूटिंग के दौरान ड्रग्स के इस्तेमाल का सच जानना चाहती थी. सारा का नाम रिया चक्रवर्ती ने अपने बयान में लिया था. सारा ने जवाब दिया कि सुशांत तो ड्रग्स लेते थे. मैंने कभी नहीं लिया.

तीसरी हीरोइन श्रद्धा कपूर भी परेशान हाल में एनसीबी दफ्तर पहुंची थी. एनसीबी उनसे पावना डैम पर हुई छिछोरी पार्टी का सच जानना चाहती थी. ये भी जानना चाहती थी कि पावना डैम के उन्होंने सुशांत के साथ कई चक्कर लगाए, वहां ड्रग्स का खुल कर इस्तेमाल हुआ, आपने कितना इस्तेमाल किया. श्रद्धा ने मासूमियत से जवाब दिया मैं तो बस पार्टी में थी. ड्रग्स से मेरा कोई वास्ता नहीं. हां, सीबीडी ऑयल मैंने जरूर इस्तेमाल किया. लेकिन एक्सटरनल यूज़ के लिए. श्रद्धा होम वर्क करके आई थी शायद. क्योंकि उन्हें पता था कि सीबीडी ऑयल मुंह से लिया तो एनडीपीएस एक्ट में फंस जाएंगी, एक्सटर्नल यूज बताया तो फिर ये किसी जुर्म में आता ही नहीं.

लगभग छह-छह घंटे तीनों हीरोइन रियल लाइफ की पुलिस के सामने बैठी रहीं. बोलती रहीं. बयान दर्ज कराती रहीं और फिर निकल गईं. इन तीनों के हिसाब से पिक्चर खत्म हो गई. मगर एनसीबी के हिसाब से पिक्चर का क्लाइमेक्स अभी बाकी है. और पढो: आज तक »

गुजरात सीएम से ग्लोबल लीडर तक, ऐसे बढ़ती रही पीएम नरेंद्र मोदी की साख

वो जो सामने मुश्किलों का अंबार है, उसी से तो मेरे हौसलों की मीनार है. चुनौतियों को देखकर घबराना कैसा, इन्हीं में तो छिपी संभावनाएं अपार हैं. कई मौकों पर कविता की इन पंक्तियों को पीएम मोदी ने बोला है. बारीकी से देखें तो लगता है कि यही पंक्तियां उनके जीवन का संविधान हैं. जिसे उन्होंने खुद लिखा है. वे लगातार बीस साल बिना ब्रेक के काम करने का दावा करते हैं तो जनता ने भी उन्हें बीस साल से लगातार सत्ता में बिठाए रखा है. पीएम मोदी ने देश को बीस साल दिए तो जनता ने भी उन्हें अमूल्य बीस साल सौंप दिए. ये बीस साल मील के पत्थर से कम नहीं, ऐसे में ये देखना लाजमी हो जाता है कि बीस साल में क्या खोया, क्या पाया. देखिए खास कार्यक्रम, श्वेता सिंह के साथ.

Dum maro Dum mit Jaye gum Haa tum sab chutiye wanhi to khade the.. Patrakarita ki wat laga k rakhi he tum sabhi farzio ne.. Sala dhandha bana rakha he journalism ko.. NCB के अधिकारियों ने कहा कि थोड़ी नौटंकी बिहार चुनाव होने तक हमारे और मीडिया के साथ कर लो फिर चुनाव के बाद सब ठीक हो जायेगा . प्लीज आज तक को यह बात फेकू जी ने बताई क्या?

अभी सब को समझ में आगाया की गाजा का मतलब मोटा सिगरेट ओर कोकीन का मतलब पतला सिगरेट RanveerOfficial अब ये लोग को एनसीबी सही शे मतलब समझाएगा किया है नशेडी चरसी ड्रग्सी वालीवुड 👞👞❌❌ और फालतू चैनल आजतक ❌❌❌❌❌ खुद को मिलती नहीं तो चिरकुट लोग भी एक्ट्रेस पर बात कर रहे ..😃😃😃 Yahi maal fukne ke itne itne pese lete h ye actors, ab to news anchors bhi lakho charge krte he

कुछ नहीं होगा सब नौटंकी ही। 2 जी मेे क्या हुआ सिर्फ हल्ला। 6 साल से हम क्या देख रहे हैं हल्ले के सिवा। Life Enjoy 😃😃😃😃 और यह बात आपको कैसे पता चले थोड़ा तो शर्म कर ले faltutak rakh lo channel ka naam Feko kum .. Bahut jayda.. Favour kar rahe ho.. Actress ka Hamara codeword inko apni agli movies me dikhega Gaddar DeepikaMaalChat ShraddhaMaalChat AIIMSBeFairWithSSRReport

अब आप इनका हाल NCB आफिस के अंदर जाकर देखे तो हो नही,और इन्होंने अपना हाल आपको बताया नही फ़र्ज़ी खबर क्यूँ परोस रहे हो मोदी की दी हुई हड्डी चाट कर सो क्यूँ नही जाते RamMilanSinghR6 सीधा लिखो न कि चेहरे की हवाइयां उड़ी हुई थी। ये क्या शब्दो का मायाजाल फैला रहे हो 😂😂👎👎

बिहार के पूर्व डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे जेडीयू में हुए शामिल, हाल ही में लिया था वीआरएसBihar Assembly Election 2020: बिहार के पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडे (Gupteshwar Pandey) रविवार की शाम राज्य की सत्ताधारी पार्टी जनता दल यूनाइडेड (JDU) में शामिल हो गए. गुप्तेश्वर पांडे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास पर पार्टी में शामिल हुए. ओके। ठीक है। Bhagwan kare election haar jaaye ye😂 प्यार तो होना ही था

रिपोर्ट में खुलासा: उइगरों के सफाये के लिए चीन में 8,500 मस्जिदें ध्वस्त या बंदचीन ने अपने देश में उइगर जातीय समुदाय को खत्म करने का अभियान छेड़ते हुए हाल के वर्षों में कई प्रमुख धर्मस्थल और मस्जिदों जो हिटलर की राह चलेगा वो कुत्ते की मौत मरेगा फारूक अब्दुल्ला को चीन बहुत अच्छा लग रहा है इसको भेजो उधर वैसे भी ये सिर्फ आतंक ही फैलाते है10 में से 7 तो उसी काम लगे रहता है ।यदि मुसलमानों को अपनी और अपने कोम कि इज्जत प्यारी है तो इनको अपने सोच में बदलाव करना होगा ।धर्म के आधार पर सोचना बंद करना होगा ।अपने कि साबित करना होगा कि वो कहीं भी रहे वो मानवता के साथ है ना कि नरसंहार के साथ

Kshitij Prasad के आरोपों के बाद जांच एजेंसी भी सवालों के घेरे में, देखें रिपोर्टकरण जौहर के पूर्व कर्मचारी क्षितिज के वकील के सनसनीखेज बयान से एनसीबी भी घिर गई. बडे वकील सतीश मानशिंदे ने कहा कि - क्षितिज को करण जौहर का नाम लेने के लिए टॉर्चर किया गया. एनसीबी ने मानशिंदे के आरोप को गलत बता दिया. लेकिन अब जांच एजेंसी भी सवालों के घेरे में जरूर आ गई. रविवार को कोर्ट में पेशी के दौरान क्षितिज प्रसाद ने मजिस्ट्रेट के सामने सनसनीखेज आरोप लगाकर करण जौहर का मामला फिर से गर्मा दिया. क्षितिज प्रसाद के वकील सतीश मानेशिंदे ने आरोप लगाया कि NCB क्षितिज पर करण जौहर का नाम लेने का दबाव बना रही है. उनको परेशान किया गया, थर्ड डिग्री का इस्तेमाल किया गया, ब्लैकमेल भी किया गया. देखें वीडियो. ये माल शब्द भी कमाल हैं. हम गांव वाले माल अपने पालतू पशुओं को कहते हैं. अमली लोग नशे को माल कहते हैं. परन्तु ये दीपिका जी पता नहीं किस समाज से आई हैं जो सिगरेट को माल, पतली सिगरेट को हेश कहती हैं पर गांजा, और कोकीन के अर्थ भी बता देगी. 😂😂😂 WHO SAVE TO WHOM & WHY DELHI POLICE BEHIND HIWARKAR WHY !

सर्जिकल स्ट्राइक: जब भारतीय शूरवीरों ने PoK में घुसकर आतंकियों में मचा दिया था कोहरामपीएम मोदी ने मन की बात कार्यक्रम के दौरान सर्जिकल स्ट्राइक को याद करते हुए कहा था कि चाल साल पहले इस समय पूरी दुनिया ने सर्जिकल स्ट्राइक के दौरान हमारे जवानों के साहस, बहादुरी और पराक्रम को देखा था, अब उनका एक ही लक्ष्य और मिशन है भारत माता की जय और उनके सम्मान की रक्षा. Property in indore call me 8269278367 Farmer macha rahe hain kohraam. Nahi mil raha godi media ko koi bhi diversion. To yahi sahi SAHEB ke liye किसान आंदोलन कर रहा दलाल मीडिया दलाली कर रहा

अटल सरकार में विदेश, रक्षा और वित्त तीनों पोर्टफोलियो संभाले, 1999 में हाईजैक प्लेन छुड़ाने में अहम रोल निभाया था1998 में परमाणु परीक्षण के बाद अमेरिका ने भारत पर सख्त प्रतिबंध लगाए थे, तब जसवंत ने ही अमेरिका से बातचीत की थी,2014 में उन्हें भाजपा ने लोकसभा चुनाव का टिकट नहीं दिया, इसके बाद उन्होंने भाजपा छोड़ दी, निर्दलीय लड़े लेकिन चुनाव हार गए | Jaswant Singh, who was a minister in the Atal government, died at the age of 82, Modi said - he will be known for different kinds of politics Sat sat naman उनका तो भाजपा को मजबूत करने में बहुत बड़ा योगदान था लेकिन भाजपा और मोदी ने उनके साथ क्या किया यह नहीं बताओगे क्योंकि दलाली जो करनी है आप लोगों को ।। ॐ शान्ति ॐ वंदेमातरम

कोरोना के भारत में 24 घंटे में 88,000 से अधिक मामले - BBC News हिंदीस्वास्थ्य मंत्रालय के दिए आंकड़ों के मुताबिक़ पिछले 24 घंटे में कोरोना से 1,124 मौतें हुई हैं. दलाल कारपोरेट मीडिया और मोदी की यारी 90 हजार कोरोना मौतों पर एक सुशांत सिंह की मौत भारी 'अबकी बार दलाल मीडिया का अंतिम संस्कार' कोरोना संकट से निकलने मे दुनिया की मदद करेगा भारत = पीएम मोदी मोदी जी = जब दस्त हो रहें हो तो शंख नहीं बजाया करतें Thanks to an early lockdown imposed by narendramodi ji, there is no trace yet of the community transmission of virus in India. सनातन धर्म की इस पावन भूमि में, जिसके कण-कण में दिव्यता व्याप्त है, यहां कोई वायरस क्षण भर भी टिक नहीं सकता। जय हिंदुत्व।