Indiachinafaceoff, Indiachinaborder, India–Nepal Relations, Nepal Pm Kp Sharma Oli, Pm Modi, İndo-Nepal Relations, India-China Border, Link Road To Lipulekh Pass Border, Border Dispute, Kailash Mansarovar, İndo Nepal Relations İnsights, İndia Nepal Relations 2020, Challenges Of İndia-Nepal Relationship, Nepal, Uttarakhand, India China Border Tension, भारत-चीन सीमा विवाद, İndia China Border Dispute, Rishi Gupta Phd Researcher School Of International Studies, Jnu, ऋषि गुप्ता पीएचडी शोधार्थी स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज

Indiachinafaceoff, Indiachinaborder

India–Nepal Relation: भारत से ही खुलेगी नेपाल की तरक्‍की की राह, लेकिन भरोसे में लेकर उठाए हर कदम

India–Nepal Relation: भारत से ही खुलेगी नेपाल की तरक्‍की की राह, लेकिन भरोसे में लेकर उठाए हर कदम #IndiaChinaFaceOff #IndiaChinaBorder @RishiGupta_JNU

03-06-2020 08:49:00

India– Nepal Relation: भारत से ही खुलेगी नेपाल की तरक्‍की की राह, लेकिन भरोसे में लेकर उठाए हर कदम IndiaChinaFaceOff IndiaChinaBorder RishiGupta_ JNU

भारत और नेपाल के आपसी संबंध अन्य देशों के साथ रिश्तों के मुकाबले कहीं अलग हैं। फिलहाल नेपाल की सत्ता पर जो दल काबिज है उसकी वैचारिकी दूसरे दलों की तुलना में भिन्न है।

India–Nepal Relations: हाल ही में नेपाल ने भारत में निर्माणाधीन एक सड़क पर आपत्ति जताई है। यह सड़क उत्तराखंड में धारचूला को लिपुलेख से जोड़ती है जो करीब 80 किलोमीटर लंबी है। दरअसल यह सड़क भारतीय तीर्थयात्रियों के लिए कैलास मानसरोवर यात्र के समय को कम करने के साथ उनकी यात्र को अधिक सुगम बनाएगी। नेपाल का कहना है कि वह भू-भाग नेपाल का हिस्सा है। अपने हालिया वक्तव्य में नेपाली विदेश मंत्रलय ने भारत को चेतावनी भी दी है कि भारत इस जमीन को वापस करे और भविष्य में ऐसा करने से बचे।

राजस्थान: सुलह के मूड में नहीं सचिन पायलट, बोले- समझौते की कोई शर्त नहीं रखी राजस्‍थान में 'सत्‍ता संकट' के बीच राहुल गांधी ने दार्शनिक अंदाज में यूं कही 'मन की बात'.. नेपाल के प्रधानमंत्री ओली का बेतुका बयान, बोले- भारत ने बनाई नकली अयोध्या

पिछले वर्ष भी नेपाल ने उत्तराखंड में स्थित कालापानी इलाके को लेकर विवाद का मुद्दा छेड़ दिया था। दोनों ही अवसरों पर भारत ने नेपाल की आपत्तियों का खंडन किया है। भारतीय सेना प्रमुख ने भी चीन का नाम लिए बिना नेपाल को बाहरी ताकतों के बहकावे में न आने की मित्रवत सलाह भी दी। हालांकि यह पहला अवसर है जब नेपाल ने भारत को खुलेआम धमकी दी है और आधिकारिक तौर पर भारत के खिलाफ सत्तारूढ़ नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी ने आंदोलन किया है। भारत कहता रहा है कि वह उचित समय पर विदेश सचिव स्तर की बातचीत के सहारे मुद्दे का कूटनीतिक हल निकालेगा, लेकिन यह नेपाल को स्वीकार्य नहीं।

भारत ने महत्वपूर्ण शांतिदूत की भूमिका निभाई :इन हालात के बीच नेपाल ने बिना किसी विशेष सर्वेक्षण के आनन-फानन में एक नया राजनीतिक नक्शा जारी किया है जिसमें भारत की सार्वभैमिक सीमा के भू-भाग को अवैधानिक तौर पर अपना दर्शाया है। साथ ही प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने नेपाली सेना को नेपाल-भारत सीमा पर चौकसी बढ़ाने का आदेश भी दिया है। ओली द्वारा उठाए गए इन कदमों से ऐसा झलक रहा है कि इस मुद्दे को सुलझाने से अधिक इसके राजनीतिक फायदे का प्रयास किया जा रहा है। हालांकि जल्दबाजी में उठाए जा रहे कदमों के खिलाफ विपक्षी दल नेपाली कांग्रेस पार्टी और अन्य मधेसी पार्टियों ने सरकार को आड़े हाथों लिया है। नेपाली संसद ने नए नक्शे को लेकर संविधान संशोधन को फिलहाल रोक दिया है। ज्ञात है कि भारत और नेपाल के संबंध दक्षिण एशिया में अन्य देशों की भांति नहीं हैं। यहां दो देशों के बीच खुली सीमा है, वहीं सामाजिक, सांस्कृतिक एवं आर्थिक तौर पर दोनों देशों के बीच गूढ़ संबंध कायम हैं। नेपाल में प्रजातंत्र की स्थापना करने में भारत ने महत्वपूर्ण शांतिदूत की भूमिका निभाई थी। ऐसे में नेपाल द्वारा भारत का विरोध इन तीन महत्वपूर्ण बिंदुओं की ओर इशारा करता है।

यह भी पढ़ेंभारत विरोध पर टिकी केपी की राजनीति:बीते पांच वर्षो में ओली ने भारत विरोध के सहारे ही नेपाल में अपनी राजनीतिक साख मजबूत की है। एक तरह से, भारत विरोध राष्ट्रीय विमर्श का अभिन्न अंग बन गया। वर्ष 2018 के संसदीय चुनावों में भारत विरोध के दम पर नेपाल कम्युनिस्ट पार्टी भारी मतों से विजयी हुई थी, लेकिन बीते कुछ हफ्तों में पार्टी आलाकमान ने ओली के नेतृत्व पर कई सवाल खड़े किए हैं। विशेष तौर पर कोरोना महामारी की रोकथाम और अप्रवासी मजदूरों को तात्कालिक सहायता पहुंचाने को लेकर। ऐसे में भारत के प्रति विषवमन ओली के लिए ध्यान भटकाने और अपना वजूद बचाने का जरिया है।

यह भी पढ़ेंपहाड़ी बनाम मधेसी का मसला:नेपाल की मौजूदा कम्युनिस्ट सरकार अपने ही देश के मधेसी लोगों पर लगातार अत्याचार करती रही है। चूंकि भारत के साथ नेपाल की सीमा खुली है, लिहाजा मधेसी आंदोलनों का असर भारतीय सीमा पर भी रहा है। इसके चलते भारत नेपाल से मधेसियों के प्रजातांत्रिक अधिकारों की वकालत करता रहा है, जो नेपाल को नागवार गुजरता रहा। इधर ओली द्वारा मधेसी जनता को भारत के प्रति उकसाने का भरसक प्रयास विफल ही रहा। अगर ऐसा होता है तो पहाड़ी राजनेताओं का तराई क्षेत्र में वर्चस्व स्थापित हो सकेगा और मधेसियों की आवाज दबाने में कामयाबी मिल सकती है। वर्ष 2015 में नए संविधान को लेकर मधेसी जनता ने तीन महीने तक नेपाल सरकार का विरोध किया था जिससे भारत से आने वाले सामान पर असर पड़ा था। मधेसी आंदोलन में भी नेपाल ने भारत की भूमिका पर अंगुली उठाई थी जो सरासर गलत था।

यह भी पढ़ेंकम्युनिस्ट सरकार का चीन की ओर झुकाव:पिछले पांच वषों में कम्युनिस्ट सरकार ने चीन के साथ कई समझौते किए हैं, जिनमें सैन्य करार भी शामिल हैं। इन समझौतों के बावजूद चीन यह जानता है कि भारत के रहते नेपाल में वह श्रीलंका या पाकिस्तान जैसी मनमानी नहीं कर सकता। इसलिए यह जरूरी है कि कम्युनिस्ट सरकार को माओवादी विचारधारा से जोड़कर, भारत के विरुद्ध खड़ा किया जा सके। इससे न केवल चीन को नेपाल में अपनी साख मजबूत करने में मदद मिलेगी, बल्कि नेपाल में रह रहे तेरह हजार से अधिक तिब्बती शरणार्थियों के दमन का रास्ता तैयार होगा। आश्चर्य की बात है कि वर्ष 2015 में चीन ने भारत के साथ करार में कालापानी और लिपुलेख को भारत का हिस्सा माना था। चूंकि चीन चाहता है कि भारत-नेपाल संबंधों में दरार पड़े, लिहाजा वह नेपाल को अपनी ढाल बना रहा है।

यह भी पढ़ेंवहीं नेपाली नेताओं का भारत विरोध राग अपने फायदे के लिए ही है, क्योंकि चीन द्वारा नेपाल के माउंट एवरेस्ट को अपना बताने पर कोई विरोध या वक्तव्य जारी नहीं हुआ। ऐसे में यह कहना गलत नहीं है कि नेपाल की कम्युनिस्ट सरकार अपने राजनीतिक फायदे और चीन से प्रभावित होकर भारत के साथ विवाद की स्थिति बना रही है। हालांकि ओली सरकार यह भूल रही है कि भारत-नेपाल के संबंध कोई नए नहीं हैं, बल्कि यह सदियों से चले आ रहे दो देशों के बीच अच्छे समन्वय और त्याग पर आधारित है। ओली सरकार सीमा विवाद जैसे मुद्दे के जरिये कुछ समय के लिए भले ही संबंधों को क्षति पहुंचाएं, परंतु भौगोलिक और सांस्कृतिक तौर से वह भारत को दूर नहीं रख सकती। देखा जाए तो विदेशी व्यापार के लिए नेपाल की भारत पर निर्भरता एक सत्य है और ऐसे में कोई भी विवाद नेपाल के लिए ही नुकसानदेह साबित होगा। उसे इन पहलुओं पर विचार करके ही भविष्य के लिए कोई रणनीति बनानी चाहिए।

MP में विभागों के बंटवारे को लेकर दिग्विजय सिंह का ज्योतिरादित्य सिंधिया पर तंज, 'समझदार लोग समझते हैं' किताबों के साथ समय बिता रही सोनम कपूर की पूरी फैमिली, शेयर की बुक लिस्ट - Entertainment AajTak सचिन पायलट ने कड़ी मेहनत से कांग्रेस को दिलाई जीत, फिर क्या हुआ कि बन गए बागी

[पीएचडी शोधार्थी, स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज, जेएनयू] और पढो: Dainik jagran »

RishiGupta_JNU अभी जो हिसाब से करो ना निकल रही है उस हिसाब से स्कूल। खोलना खतरे से खाली क्योंकि एक भी बच्चा करो के दिमाग में घुस गया निकलना बहुत कठिन होगा सरकार से अनुरोध है आपसे हालात सुधरने तक स्कूल नहीं खुला ये सब लोग अपील अपील RishiGupta_JNU Gujrat based company “Azafran Innovacion Ltd”is a sister concern company of Dishman Pharmaceuticals,owner-Ms. Mansi Vyas, Ms. Pooja Srivastava, DGM-HR, Stop The Salary & Expenses Of 700 employees & no picking calls.plz rise the new, I hope we get our salary

RishiGupta_JNU RishiGupta_JNU China and Nepal crisis are the biggest failure of narendramodi government after destroying Indian economy . rajnathsingh DrSJaishankar should resign immediately . ndtv yadavakhilesh priyankagandhi INCIndia rssurjewala MamataOfficial RishiGupta_JNU This is the biggest failure of narendramodi government after destroying Indian economy . rajnathsingh DrSJaishankar should resign immediately . ndtv yadavakhilesh priyankagandhi INCIndia rssurjewala MamataOfficial

RishiGupta_JNU मलेशिया और तुर्की को जैसे जवाब दिया वैसे नेपाल को भी उसकी जगह दिखने की जरूरत हे ! RishiGupta_JNU मौजूदा परिस्थितियों को देखते हुए हमारे नीति नियंताओं को नेपाल के मामले में अपनी नीति फिर से निर्धारित करने की जरूरत है भारत को यह बता देना चाहिए कि यह ब्लैक मेलिंग अब और नहीं चलेगी, RishiGupta_JNU किसी के पास प्रियंका द्वारा राहुल को राखी बांधते हुए बचपन से लेकर आजतक की कोई भी किसी भी तरह की तस्वीर हो तो यहां अपलोड करने की कृपा करें । मैंने राहुल को हिन्दू साबित करना है ।

नेपाल को भारत के साथ बातचीत का इंतजार, सीमा विवाद के सकारात्मक हल के दिए संकेतनेपाल को भारत के साथ बातचीत का इंतजार, सीमा विवाद के सकारात्मक हल के दिए संकेत kpsharmaoli narendramodi PMOIndia DrSJaishankar Indo Nepal India Nepal Indo nepal border lipulekh kpsharmaoli narendramodi PMOIndia DrSJaishankar नेपाल को कड़ा संदेश देने का समय आ गया है. यह चीन के बहकावे मे आ कर भारत का विरोध कर रहा है. kpsharmaoli narendramodi PMOIndia DrSJaishankar The funeral procession of the Royal family of Nepal winds through the streets of Kathmandu, 02 June 2001. King Birendra, Queen Aishwarya along with several members of the royal family were apparently gunned down by their son, Crown Prince Dipendra, late 01 June, during a family kpsharmaoli narendramodi PMOIndia DrSJaishankar Stop Indian occupation of Nepali territory. Lipulekh Kalapani Limpiyadhura Nepal

चीन के साथ नेपाल को लेकर भी भारत अलर्ट, इंडो-नेपाल बॉर्डर किया सीलपश्चिम चंपारण न्यूज़: चीन और नेपाल (China and Nepal ) के साथ जारी विवाद के बीच भारत (India) ने इंडो-नेपाल बॉर्डर पर चौकसी बढ़ा दी है। भारत-नेपाल सीमा (Indo- Nepal border) पर स्थित बिहार के बाल्मीकिनगर (Balmikinagar) में सीमा सुरक्षा बल ने सीमाओं को पूरी तरह से सील करते हुए पेट्रोलिंग को बढ़ा दिया है। ये लोग देश की इज्जत का फलूदा कर के ही रहेगा अब इंडिया 1962 वाला नहीं है

नेपाल-भारत के कड़वे होते रिश्तों के बीच किधर हैं मधेशी?नेपाल के तराई इलाक़ों की बहुसंख्यक मधेशी जनता भारत-नेपाल के तल्ख़ होते रिश्तों में कहाँ है. Madheshiyon ne to sari ladai lagai aur khud alag ho gaye . Inke upar hindustan mein jahan dikhe pahle joote se maaro. अगर पाकिस्तान और ईन्डियाका सिमा रेखा बन सक्ताहे तो सदियौ से अलग अलग देश नेपाल और ईन्डियाके विच सिमा क्यु नहि बन्सक्ता।जो ईन्डिया नेपाका६०००हेक्टर से ज्यादा भुमी कब्जा करचुका हे उसके साथ रोटिबेटिका रिस्ता कबतक कायम रहेगा? उचे सड्क और बाँध के कारण नेपाली हरसाल बर्बाद होरहे हे।

ओपिनियन: चीन के प्रभाव में नेपाल, योगी आदित्‍यनाथ बन सकते हैं भारत के सूत्रधारबाकी एशिया न्यूज़: (india nepal border dispute ) ल‍िपुलेख, कालापानी और लिम्पियाधुरा (Lipulekh Kalapani and Limpiyadhura) को लेकर भारत और नेपाल के र‍िश्‍तों में तल्‍खी (India Nepal Border Issue) बढ़ती नजर आ रही है। नेपाल ने अपना नया नक्‍शा ( Nepal New Map) जारी करके कहा है क‍ि ये तीनों ही भारतीय इलाके उसके ह‍िस्‍सा हैं। अंतरराष्‍ट्रीय मामलों के व‍िशेषज्ञ महेंद्र कुमार स‍िंह बता रहे हैं क‍ि इस पूरे व‍िवाद में यूपी के सीएम योगी आदित्‍यनाथ (Yogi Adityanath ) अहम भूम‍िका न‍िभा सकते हैं। हर हर जोगी हद हो गई अब ढ़ोगी महाराज को महामंडीत की तैयारी, अब तो मान लिया के नेपाल जैंसा पड़ोसी भी हाथ से गया पर चीन पर केंद्र सरकार इतना खामोश क्यों देश को बदनाम करने के लिए ओर चीन के सामने भारत को छोटा दिखाने की कोशिश करोगे मालूम था वहीं न्यूज मै किया शर्म आनी चाहिए ऎशी पत्रकारिता पर

केंद्र सरकार ने 2020-21 के लिए धान के एमएसपी में 53 रुपये की वृद्धि कीसरकार ने फसल वर्ष 2020-21के लिए धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) सोमवार को 53 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाकर 1,868 रुपये प्रति Yahi h modi sarkar ka kisan ko 50 - 83% ka tohfa. ReleaseAzamsFamily SharjeelOurLeader मक्का का क्या भाव है

ससंदीय समिति की 3 जून की बैठक रद्द, कम सांसदों के आने की थी संभावनाकोरोना संकट के बीट गृह मंत्रालय की संसदीय स्थायी समिति को 3 जून को अपने सभी सदस्यों की उपस्थिति के साथ बैठक करनी थी. जिसमें ये स्पष्ट किया गया था कि बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के माध्यम से नहीं होगी. Rahulshrivstv करो भाई जल्दी करो,, एक दो नेताओ को जब corona होगा तभी मानेंगे ये || Rahulshrivstv NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood NextPMSonuSood Rahulshrivstv SumitKumar_MIB

Amitabh Bachchan Covid 19 Positive: अमिताभ बच्चन को कोरोना, मुंबई के नानावटी अस्पताल में किया गया एडमिट राहुल गांधी का हमला, कहा- PM मोदी के रहते भारत की जमीन को चीन ने कैसे छीन लिया सचिन पायलट BJP के संपर्क में, 30 MLA भी छोड़ सकते हैं कांग्रेस का दामन सचिन पायलट के साथ माने जा रहे तीन विधायकों का U-टर्न, कहा- 'हम कांग्रेस के सच्चे सिपाही' कांग्रेस के सचिन अब क्या बीजेपी के लिए 'बल्लेबाज़ी' करेंगे? Coronavirus Vaccine News: कोरोना वैक्‍सीन पर रूस ने मारी बाजी, सेचेनोव विश्वविद्यालय का दावा सभी परीक्षण रहे सफल अमिताभ हुए कोरोना पॉजिटि‍व, सेहत के लिए दुआ मांग रहे नेता-अभिनेता सचिन पायलट बोले- 25 MLA मेरे साथ बैठे हैं, 102 का गलत दावा कर रहे हैं अशोक गहलोत LIVE: खतरे में गहलोत सरकार, पायलट खेमे के विधायक आज देर रात दे सकते हैं इस्तीफा गुजरातः कर्फ्यू नियमों का उल्लंघन करने पर मंत्री के बेटे को रोकने वाले कॉन्स्टेबल का तबादला दिल्ली दंगा: दो शिकायतों में कपिल मिश्रा का नाम, अदालत ने पुलिस से जवाब मांगा