Indian Railways, Hpcommanmanıssue, Indian Railways Updates, Railways Ticket, Railway Ministry, Indian Railways Fare, Railway Fare, Unlock 5, User Charge, इंडियन रेलवे, मंहगी होने वाली है टिकट, ज्यादा किराया वसूलने की तैयारी में रेलवे

Indian Railways, Hpcommanmanıssue

Indian Railways: अब महंगा होने वाला है आपका टिकट, ज्यादा किराया वसूलने की तैयारी में रेलवे

Indian Railways: अब महंगा होने वाला है आपका टिकट, ज्यादा किराया वसूलने की तैयारी में रेलवे

28-09-2020 20:23:00

Indian Railways : अब महंगा होने वाला है आपका टिकट, ज्यादा किराया वसूलने की तैयारी में रेलवे

Indian Railways इस अतिरिक्त किराये को यूजर चार्ज का नाम दिया है जो ट्रेन की अलग-अलग श्रेणी के लिए अलग-अलग होगा। यह 10 रुपये से लेकर 35 रुपये तक होगा। एसी फ‌र्स्ट क्लास के यात्रियों से ज्यादा यूजर चार्ज लिया जाएगा।

रेल यात्रियों से 10 से 35 रुपये तक ज्यादा किराया वसूला जा सकता है। दरअसल रेलवे यह ज्यादा किराया इसलिए वसूल रहा है ताकि वह उस खर्च की भरपाई कर सके जो कुछ स्टेशनों के विकास और वहां अत्याधुनिक सुविधाएं उपलब्ध कराने पर व्यय कर रहा है। यात्रियों से एकत्र की गई इस राशि से रेलवे कई और स्टेशनों का विकास और उनका आधुनिकीकरण करना चाहता है।

कांग्रेस के लिए प्रचार करने ग्वालियर पहुंचे सचिन पायलट से मिले ज्योतिरादित्य सिंध‍िया, कहा - लोकतंत्र में... Saran: रवि किशन बोले- राम मंदिर देख कर मरूंगा, जीते जी मोक्ष मिल गया Bihar Election 2020: नालंदा की जंग में वोटर हैं किसके संग? देखें बुलेट रिपोर्टर

सूत्रों ने बताया कि इस तरह के एक प्रस्ताव को रेलवे द्वारा अंतिम रूप दिया जा रहा है और शीघ्र इसे मंजूरी के लिए कैबिनेट के पास भेजा जाएगा। सूत्रों ने इस अतिरिक्त किराये को यूजर चार्ज का नाम दिया है जो ट्रेन की अलग-अलग श्रेणी के लिए अलग-अलग होगा। यह 10 रुपये से लेकर 35 रुपये तक होगा। एसी फ‌र्स्ट क्लास के यात्रियों से ज्यादा यूजर चार्ज लिया जाएगा। रेलवे ने स्पष्ट किया है कि यह अतिरिक्त किराया केवल उन यात्रियों से ही वसूला जाएगा जिनके रूट में वे स्टेशन आएंगे जिनका विकास किया जाना है।

स्टेशनों में यात्रियों की बढ़ाई जाएगी सुविधादेश में इस समय 7000 रेलवे स्टेशन हैं। अतिरिक्त किराया करीब 700-1000 स्टेशन के यात्रियों से ही वसूला जाएगा। इस तरह यह पहला ऐसा शुल्क है जो रेल यात्रियों से लिया जाएगा। ऐसा शुल्क विभिन्न हवाई अड्डों में अलग-अलग राशि में लिया जाता है। यूजर चार्ज बहुत कम राशि में लिया जाएगा और इसका इस्तेमाल उन रेलवे स्टेशनों में यात्रियों की सुविधाएं बढ़ाने के लिए किया जाएगा जहां वे उतरेंगे।

यह भी पढ़ें और पढो: Dainik jagran »

निकिता हत्याकांड: बेटी की हत्या पर घिरी हरियाणा सरकार! देखें स्पेशल रिपोर्ट

हरियाणा के निकिता हत्याकांड ने समूचे देश को हिलाकर रख दिया है. कॉलेज से पेपर देकर निकली, 21 साल की निकिता का पहले अपहरण करने की कोशिश होती है और जब वो काबू में नहीं आती तो उसे गोली मार दी जाती है. ये सब होता है, सरेआम, बीच सड़क पर. अब परिवार इंसाफ मांग रहा है. बल्लभगढ़ में निकिता के साथ जो कुछ हुआ, अब आपको उसकी इनसाइड स्टोरी दिखाते हैं. जिस तौसीफ नाम के गुंडे ने निकिता को बीच सड़क पर गोली मारी, परिवार का आरोप है कि वो लव जेहाद करना चाहता था. जबरन निकिता का धर्मपरिवर्तन करवाकर उससे शादी करना चाहता था. जब निकिता नहीं मानी तो उसने गोली मार दी. देखिए स्पेशल रिपोर्ट, श्वेता सिंह के साथ.

यह कदम रेलवे का उचित नहीं है। 😂😂😂😂😂जिस हिसाब की ये फैसिलिटी देते है ......उस हिसाब से पहले ही महंगा है टिकट....बाकी ट्रैन का तो हाल मुझे पता नही लेकिन राजधानी में तो सच मे लूट है..... Ye sab nautanki sirf isliye hi ki ja rahi hai...............paise batorne hai bas. Lock down me jitna bhi paisa diye hain sab janta se hi wasula jayega

बहुत हुई मंहगाई की मार अबकी बार फेंकू सरकार Par aisa kyun... pp2247 कभी सस्ते की भी खबर दीजिए सर जी Lekin tum pattechaati karte rahna abe sale.. sarkar likhne me fat ti hai? सस्ता क्या होने वाला है वो भी बता दो। Modi hain to mumkin hai... 😀 Bhugte public ab I think people of india want everything in free ?

Modi hai to Mumkin hai 🤣🤣 बस बहुत हुआ अत्याचार अबकी बार INCIndia सरकार ❤️✌️✌️✌️ सरकार को यात्री टिकट महंगा कर देना चाहिए और माल ढुलाई सस्ता कर देना चाहिए ताकि जरूरी खाद्य सामग्री एवं अन्य चीजें सस्ती दर पर मिले। तो क्या हुआ? रोज थोड़ी ना यात्रा करना है ट्रेन से।

किसान बिल के मुद्दे पर अकाली दल का NDA से अलग होने का एलानबीजेपी और शिरोमणि अकाली दल का करीब दो दशक से भी लंबा साथ टूट गया है. किसान बिल के मुद्दे पर अकाली दल ने एनडीए से अलग होने का एलान कर दिया. अकाली दल की कोर कमिटी की बैठक में पार्टी के अध्यक्ष सुखबीर बादल ने NDA से अलग होने का फैसला लिया. पिछले कई दिनों से अकाली दल सरकार के कृषि बिल का विरोध कर रहा था. कुछ दिन पहले ही अकाली सांसद और केंद्र में मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कृषि बिल के खिलाफ मंत्रिमंडल से इस्तीफा दे दिया था. पंजाब और हरियाणा में कृषि बिल के खिलाफ जोरदार प्रदर्शन हो रहे हैं. देखें रिपोर्ट. आप किसी की सुनते नहीं अतिपूंजीवाद पर चल रहे जबकि पूंजीवादी देश भी आपसे बेहतर कर रहे! पता नहीं आप हरियाणा के किस इलाके में गए हैं प्रदर्शन देखने। मैं दक्षिण हरियाणा से हूँ, लेकिन यहां कोई एक भी प्रदर्शन नहीं दिखाई दिया। , BjP ki उलटी गिनती शुरू 😠😠😠😠😠😠

कृषि विधेयकों का विरोधः अब एनडीए से भी अलग हुआ शिरोमणि अकाली दल - BBC News हिंदीकेंद्र सरकार के कृषि विधेयकों का विरोध कर रही शिरोमणि अकाली दल ने अब एनडीए से अलग होने का ऐलान किया है. बहुत सुन्दर अच्छे दिन, भाजपा और अंधभक्तों को समझने के लिए इससे अच्छा वीडियो कोई हो ही नहीं सकता। अब साहिब अकाली दल को भी कभी दिल से माफ नहीं कर पाएंगे 😉😀

NDA से अलग हुआ अकाली दल, किसान ब‍िल के विरोध में तोड़ा 22 साल का नातामोदी सरकार के जरिए लाए गए कृषि बिल का देश में विरोध देखा जा रहा है. किसानों के साथ विपक्ष की ओर से भी मोदी सरकार के कृषि बिल का विरोध किया जा रहा है. इस बीच मोदी सरकार को उसके सहयोगी दल शिरोमणि अकाली दल ने एक और झटका दे दिया है. कृषि बिल के विरोध में शिरोमणि अकाली दल ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का साथ छोड़ दिया है. देखें नाचो। आप लोगों को बता दूं की अकाली डाल की लोकसभा में 2 और राज्य सभा में 3 सीट हैं Thank god...good for India,Punjab and BJP...Akalis are finished..👌😄

मोदी सरकार को झटका, कृषि बिल के विरोध में NDA से अलग हुआ अकाली दलकृषि बिल के विरोध में शिरोमणि अकाली दल ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) का साथ छोड़ दिया है पूरी खबर: ATCard BreakingNews FarmBills2020 NDA AkaliDal आजतक वाले बोलेंगे की अकाली दल देश द्रोही हो गया Now navikakumar ji and republic will soon be releasing next drugs related what's app chat of SAD leaders...😂😂🤦 एक बार जरूर सुने Yah desh ke kishan aur hum garib logo ki baat hai

किसान बिल पर वोटिंग को लेकर सरकार ने तोड़े नियम? सरकार के दावे से अलग कहानी बयां करता राज्यसभा का VIDEONDTV को मिली फुटेज में बिलों के पारित होने के समय सदन की कार्यवाही के दौरान नियमों का पालन करने को लेकर सरकार के बयान पर सवाल खड़े हो रहे हैं. दरअसल राज्यसभा नियमावली के नियम-37 के अनुसार, सभापति सदन की कार्यवाही की समय सीमा में बदलाव सबकी सहमति से सेन्स ऑफ द हाउस लेकर ही कर सकते हैं. कृषि बिलों पर चर्चा के दौरान विपक्ष के नेता ने यह सवाल उठाया था लेकिन सभापति ने उसे नहीं माना. जो सांसदो ने गलती की वो तो माफ हो सकती हैं, लेकिन जो deputy chairman ने अपराध किया है वो माफ नहीं हो सकता। ये deputy chairman ने voting के बिना ही बिल पास करा दिया। विपक्ष की पार्टियों को जरूर अविश्वास प्रस्ताव लाना चाहिए। Bjp desh barbaad karke hi dam legi दूनिया में सबसे बड़ा पाप गरीब होना है? गरीबी एक अभिशाप है~ भगत सिंह मोदी जी ये 3 कानून किसानों को गरीब बनाकर छोड़ेंगे इन्हें वापस लो। Pay_MSP_Save_Farmers

'कृषि बिल को समर्थन देना किसानों के साथ धोखा', AIADMK पर बरसे कमल हासनतमिलनाडु में अगले साल 2021 में विधान सभा चुनाव होने हैं. AIADMK बीजेपी की सहयोगी पार्टी है जिसकी केंद्र में सरकार है. बकवास मत कर अब साहब या तो हम लोग को समझ नहीं रहे हैं समझना नहीं चाहते ,या समझ समझ के परेशान हो गए ,सही कह रहे हैं साहब लोगों के पास घर चलाने के लिए पैसे नहीं है काम धंधे नहीं है घर में बैठकर एक दूसरे को कहानियां किस्से ही तो सुनाएंगे🙏