Biharnews, Patna-City-Common-Man-İssues, Important News For Farmers, Big Alert For Farming, Nitrogen Deficiency İn Bihar Land, Excessive Use Of Urea, Urea Spoiling Soil, Soil Test İn Bihar, Bihar Soil, Bihar Agriculture, Bihar Commonmanissues, Bihar News, बिहार समाचार, बिहार में कृषि, मिट्टी में नाइट्रोजन की कमी, यूरिया का इस्‍तेमाल, Bihar News

Biharnews, Patna-City-Common-Man-İssues

Important News For Farmers: बिहार के 72 फीसद खेतों में नाइट्रोजन की कमी, मिट्टी खराब कर रहा यूरिया का बेहिसाब इस्तेमाल

बिहार के 72 फीसद खेतों में नाइट्रोजन की कमी, मिट्टी खराब कर रहा यूरिया का बेहिसाब इस्तेमाल #BiharNews

27-07-2021 20:30:00

बिहार के 72 फीसद खेतों में नाइट्रोजन की कमी, मिट्टी खराब कर रहा यूरिया का बेहिसाब इस्तेमाल BiharNews

Important News For Farmers बिहार में खेती को लेकर यह सावधान करने वाली खबर है। राज्‍य के 72 फीसद खेतों में नाइट्रोजन की जबरदस्‍त कमी है। वहां किसानों द्वारा यूरिया का बेहिसाब इस्तेमाल मिट्टी की उर्वरता को खराब कर रहा है।

पटना, रमण शुक्ला। Important News For Farmersपटना के बिहटा के पास कंचनपुर गांव (kanchanpur Village) है। यहां के किसानों ने अपने खेतों की मिट्टी जांच (Soil Test) कराई। रिपोर्ट आई। कार्ड भी थमा दिया गया। फिर किसान जानें कि उन्हें क्या करना है। मिट्टी जांच का जमीनी हस्र इसी गांव के प्रगतिशील किसान सुधांशु कुमार बताते हैं। सिफारिश के आधार पर बाजार में खाद (Fertilizer) उपलब्ध नहीं हुई तो अधिकतर किसानों ने कार्ड को बक्से में रख दिया और अपनी औकात के हिसाब से खेतों में यूरिया (Urea) डालना शुरू कर दिया। कट्ठा में दो किलो-चार किलो...10-15 दिनों में फसलें लहलहाने लगीं तो सपने हरे हो गए। खेतों की सेहत की चिंता गायब हो गई। कंचनपुर गांव नजीर है खेतों की दुर्गति की ओर प्रस्थान करने की। यह व्यवस्था पर सवाल भी खड़ा करता है। ऐसा नहीं कि सरकार ने प्रयास नहीं किया और किसानों ने रुचि नहीं ली। दोनों अपनी जगह सही हैं। बस प्रयास में लोचा है।

Kohli, Dhoni और Ganguly में तुलना क‍रना क‍ितना सही? व‍िक्रांत गुप्ता ने बताया Lucknow Rain: चंद घंटों की बारिश में शहर में सैलाब सा नजारा! देखें क्या हैं हालात बिहार: दो छात्रों के खाते में आए 960 करोड़, बैंक ने बताया तकनीकि खराबी

यह भी पढ़ेंबिहार की मिट्टी में नाइट्रोजन की जबर्दस्त कमीमिट्टी के तीन प्रमुख पोषक तत्व माने जाते हैं- नाइट्रोजन, फास्फोरस और पोटाश। बिहार के विभिन्न जिलों से एकत्र किए गए मिट्टी के करीब आठ लाख नमूनों की जांच रिपोर्ट बताती है कि यहां के खेतों में नाइट्रोजन की जबर्दस्त कमी है। औसतन सौ नमूने में से 72 में नाइट्रोजन की मात्रा मानक से कम है। जबकि, 12 नमूनों में पोटाश और 11 में फास्फोरस की कमी है। जाहिर है, फास्फोरस और पोटाश की ज्यादा कमी नहीं है। कंचनपुर गांव का सबक है कि बिहार के किसानों को संभलने और मिट्टी की सेहत को ठीक रखने की जरूरत है।

यह भी पढ़ेंअत्यधिक फसल की लालच में यूरिया का इस्तेमालऔरंगाबाद जिले के पिसाय गांव के वरुण पांडेय का भी यही कहना है कि अत्यधिक फसल लेने के लालच में यूरिया का इस्तेमाल बेहिसाब किया जा रहा है। यह नहीं देखा जा रहा कि मिट्टी को किस पोषक तत्व की जरूरत है और हम दे क्या रहे हैं। कृषि विज्ञानियों की सलाह है कि उर्वरकों का इस्तेमाल बेधड़क नहीं करना चाहिए। सस्ते के चक्कर में सभी खेतों में आंख बंदकर यूरिया डालना ठीक नहीं। headtopics.com

यह भी पढ़ेंमिट्टी के साथ उर्वरक को संतुलित करना जरूरीकृषि विभाग के उपनिदेशक अनिल कुमार झा के मुताबिक रिपोर्ट से यह भी पता चलता है कि करीब 28 फीसद खेतों में नाइट्रोजन की पर्याप्त मात्रा है। ऐसे में मिट्टी में मौजूद पोषक तत्वों को जाने बिना रासायनिक उर्वरकों का बढ़ता इस्तेमाल उत्पादन को तो एकबारगी बढ़ा सकता है, लेकिन मिट्टी की उर्वरता को चौपट कर देगा। बाद में धीरे-धीरे उपज भी गिरती जाएगी। पर्यावरण को भी कीमत चुकानी होगी। जिन क्षेत्रों में दो से ज्यादा फसलें ली जाती हैं, वहां मिट्टी के साथ उर्वरक को संतुलित करना जरूरी है। भले ही खाद की कुछ मात्रा बढ़ाने की जरूरत पड़ जाए।

यह भी पढ़ेंयूरिया की तय मात्रा से ज्यादा इस्तेमाल घातकपौधों के विकास के लिए नाइट्रोजन जरूरी है। यूरिया इसका प्रमुख स्रोत है, जिसमें 46 फीसद नाइट्रोजन होता है। खेतों में पड़ते ही एक-दो दिनों में फसलें तेजी से गहरे हरे रंग की हो जाती हैं। मगर तय मात्रा से ज्यादा इस्तेमाल का असर उल्टा पड़ सकता है। ऐसा नहीं कि किसान अज्ञानता में यूरिया डाल रहे हैं। दाम के मुताबिक खेतों की जरूरत पूरी की जा रही है। पहले डीएपी सस्ती थी तो उसे दिया जाने लगा। अब यूरिया सस्ती हुई तो उसे भी बेतहाशा डाला जा रहा है।

यह भी पढ़ेंचार जिलों की मिट्टी को तुरंत इलाज की जरूरतवैसे तो अधिकांश हिस्सों की मिट्टी में नाइट्रोजन कम है। परंतु कृषि विवि सबौर की रिपोर्ट के अनुसार भागलपुर, मधेपुरा, नालंदा और अररिया जिले के 90 फीसद मिट्टी के नमूनों में इसकी कमी पाई गई है। भागलपुर जिले की मिट्टी में 50 फीसद फास्फोरस की कमी पाई है। यही नहीं, पोटाश की मात्रा भी कम है। सल्फर की 30 फीसद कमी है। सूक्ष्म पोषक तत्वों की बात करें तो 25 से 30 फीसद तक जिंक और बोरन की कमी पाई गई है। जैविक कार्बन जैसे अहम तत्व भी मध्यम स्तर या इससे भी नीचे हैं। पटना, रोहतास, पूर्णिया, कटिहार और सहरसा जिलों की मिट्टी में सूक्ष्म पोषक तत्वों की कमी है। पोटेशियम और सल्फर का सबसे ज्यादा अभाव है।

यह भी पढ़ेंअभी सतर्क नहीं हुए तो बंजर हो जाएंगे खेत और पढो: Dainik jagran »

एज-गैप का फंडा: पार्टनर्स के बीच उम्र का फर्क सेक्शुअल रिलेशनशिप को कैसे बिगाड़ता है, जानें एक्सपर्ट की राय

जिन कपल्स के बीच 5 साल का एज-गैप है, उनके अलग होने की संभावना 18%,पुरुष आमतौर पर उम्र में अपने से छोटी महिलाओं को पसंद करते हैं, और महिलाएं खुद से उम्र में बड़े पुरुषों को। | पुरुष आमतौर पर उम्र में अपने से छोटी महिलाओं को पसंद करते हैं, और महिलाएं खुद से उम्र में बड़े पुरुषों को।

गाजियाबाद के मोदीनगर में युवक की गला रेतकर हत्या, गन्ने के खेत में मिला शवगाजियाबाद के मोदीनगर की कादराबाद चौकी क्षेत्र रोरी ग्राम की रेलवे क्रॉसिंग के पास गन्ने के खेत में 25 वर्षीय सुशील भारद्वाज का शव मिला. वह कृष्णापुरी मोदीनगर के रहने वाले थे. इसकी सूचना किसान श्याम पाल ने पुलिस को फोन करके दी. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए जिला अस्पताल भेज दिया है. TanseemHaider शव की शिनाख्त हो गयी है शव को पोस्टमार्टम हेतु भिजवाया गया है , थाना मोदीनगर पर अभियोग पंजीकृत कर घटना के अनावरण हेतु टीमे गठित की गई है ।

बिहार में नीतीश सरकार के ख़िलाफ़ इतने मुखर क्यों हैं BJP विधायक?नीतीश कुमार ने विधायकों की नाराजगी के बाद अपने भाषण में मंत्रियों को सलाह भी दिया कि विधायकों के अनुरोध का ख़्याल रखा जाना चाहिए और काम ना हो तो उन्हें बुलाकर स्थिति स्पष्ट किया जाना चाहिए. NitishKumar कर्नाटक हो गया हैं।अब नीतीश जी आप की बारी हैं।BJP विधायकों ने सुरुआत कर दी। बहुत जल्द आपको को हटाए जाने की अग्रिम बधाई। NitishKumar अड़ियल है NitishKumar

नॉर्वे में गिरा उल्का पिंड: आसमान में तेज आवाज के साथ दिखी रोशनी, कुछ हिस्सा ओस्लो के पास गिरने की रिपोर्ट; किसी नुकसान की खबर नहींनॉर्वे के आसमान में रविवार को एक बड़ा उल्का पिंड दिखाई दिया। लोगों को आसमान में इस उल्का पिंड की गड़गड़ाहट सुनाई दी और रोशनी नजर आई। एक्सपर्ट का कहना है कि हो सकता है कि इसका कुछ हिस्सा राजधानी ओस्लो के करीब गिरा हो। हालांकि अभी तक किसी तरह के नुकसान की कोई खबर नहीं है। | Rumbling meteor lights up Norway, Part of it may have landed near Oslo उत्तर प्रदेश के ब्राह्मण वोटरों का सर्वे बीजेपी के लिए निराशा भरी खबर। वीडियो अंत तक देखे और हमे अपने विचार बताएं। या तो सभी जातिगत रेजिमेंट हटाया जाए या तो अहीररेजिमेंट को बनाया जाए अहीर_रेजिमेंट_हक़_है_हमारा Dainik Bhaskar सोशल मीडिया के मेरे फेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पेज को लाइक और फॉलो करे फेसबुक - इंस्टाग्राम - ट्विटर - व्हाट्सएप्प - समीर श्रीवास्तव

तेज रफ्तार कार की टक्कर से उड़े बाइक के परखच्चे, VIDEO में देखें खौफनाक मंजरटक्कर लगते ही बाइक के परखच्चे उड़ जाते हैं. दोनों युवक सड़क पर गिर पड़ते हैं. इनमें से एक युवक बेहोश हो जाता है, दूसरा उसके पास जाता है और उसे जगाने की कोशिश करता है. Ok

Coronavirus in Delhi: दिल्ली में कोरोना के केवल 39 नए मामले, 1 मरीज की हुई मौतदिल्ली में सोमवार को कोरोना संक्रमण के 39 नये मामले रिपोर्ट हुए, जबकि एक मरीज की मौत हुई है। राजधानी में पॉजिटिविटी रेट गिरकर 0.07 फीसदी पर पहुंच गया है।

पेगासस से जासूसी की लिस्ट में और नाम बढ़े: रिपोर्ट में दावा- ED ऑफिसर, BSF के पूर्व DG और केजरीवाल के चीफ एडवाइजर की भी जासूसी हुईपेगासस जासूसी केस में नए-नए खुलासे हो रहे हैं। जासूसी किए जाने वालों की लिस्ट में कुछ और नाम जुड़ते नजर आ रहे हैं। द वायर की रिपोर्ट के मुताबिक बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स (BSF) के पूर्व डायरेक्टर जनरल (DG) केके शर्मा, इंफोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ED) के वरिष्ठ अधिकारी राजेश्वर सिंह और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के मुख्य सलाहकार वीके जैन की भी जासूसी किए जाने की संभावना है। | Pegasus Phone Tapping List India; Arvind Kejriwal Chief Secretary BSF Ex-DG, To ED Officer, रिपोर्ट में दावा- BSF के पूर्व DG, ED ऑफिसर और केजरीवाल के मुख्य सचिव की भी जासूसी हुई UK High Court issues bankruptcy order against Vijay Mallya, allowing Indian banks to pursue his assets worldwide Fugitive businessman Vijay Mallya denied any right to appeal against the bankruptcy decision made by the UK High Court Aap log modi ko nanga karke he rahoge.. Great work dainikbhaskar Wah Wah Tarakki khub ho rahi hai.