Governmentjobsforwomen, Job, Government Jobs For Women, Sarkari Naukri For Women, Government Jobs For Female Candidates, Teaching Government Jobs For Women, Banking Government Jobs For Women, Medical Government Jobs For Women, Jagran Plus

Governmentjobsforwomen, Job

Government Jobs for Women: फीमेल कैंडिडेट्स के लिए ये हैं बेस्ट सरकारी नौकरियां, इन पदों पर होती है भर्ती

फीमेल कैंडिडेट्स के लिए ये हैं बेस्ट सरकारी नौकरियां, इन पदों पर होती है भर्ती #GovernmentJobsForWomen

19-09-2021 06:00:00

फीमेल कैंडिडेट्स के लिए ये हैं बेस्ट सरकारी नौकरियां, इन पदों पर होती है भर्ती GovernmentJobsForWomen

Government Job s for Women वैसे तो आज की महिलाएं हर क्षेत्र में अच्छा काम कर रही हैं लेकिन कुछ ऐसे सेक्टर हैं जहाँ महिलाओं की इसमें शामिल होने की अधिक रुचि होती है या इन्हें महिलाओं के लिए अच्छा सरकारी नौकरी (Best Government Job s for Women) विकल्प माना जाता है।

हर क्षेत्र में लगातार बढ़ते शिक्षा के स्तर और घटते महिलाओं और पुरुषों के बीच कैरियर गैप के चलते महिलाएं अब हर पुरुषों से हर स्तर पर प्रतिस्पर्धा में आगे आ रही हैं। शायद ही कोई ऐसा सेक्टर या जॉब बची हो जिसके लिए महिलाओं ने अपनी काबिलियत न साबित की हो। बालिका कन्या को बोझ मानने के समय के मुकाबले आज की परिस्थितियां काफी बदल चुकी हैं और फीमेल कैंडीडेट्स को मेल कैंडीडेट्स की अपेक्षा अधिक निष्ठावान, परिश्रमी और काम को लेकर अधिक फोकस वाला वर्कफोर्स माना जाता है। इसी के चलते न सिर्फ निजी सेक्टर में महिलाओं की भागीदारी बढ़ी है, बल्कि केंद्र व विभिन्न राज्यों की सरकारी नौकरियों में महिला उम्मीदवार अब पहले से कही अधिक चयनित हो रही हैं।

गोवा में ममता बनर्जी की बढ़ी दिलचस्पी की वजह क्या है? - BBC News हिंदी मोदी हारे तो भी बीजेपी दशकों तक रहेगी, राहुल नहीं समझ रहे- प्रशांत किशोर - BBC News हिंदी PHOTOS: बेटे आर्यन खान को जमानत मिलने के बाद अपनी लीगल टीम के साथ मुस्‍कुराते दिखे शाहरुख खान

केंद्र सरकार के साथ-साथ और विभिन्न राज्यों की सरकारें और उनके सेवा चयन बोर्ड या संगठनों द्वारा सभी क्षेत्रों में सरकारी नौकरियां में महिलाओं को बढ़ावा दे रहे हैं। हालांकि, महिलाएं हर क्षेत्र में अच्छा काम कर रही हैं, कुछ विशिष्ट क्षेत्र हैं जहाँ महिलाओं की इसमें शामिल होने की अधिक रुचि होती है या इन्हें महिलाओं के लिए सबसे अच्छा सरकारी नौकरी (Best Government Jobs for Women) विकल्प माना जाता है। हमने कुछ क्षेत्रों को चुना है जो महिला उम्मीदवारों के लिए उपयुक्त माने जाते हैं।

यह भी पढ़ेंटीचिंग में सरकारी नौकरियां (Teaching Government Jobs for Women)भले ही महिलाओं ने हर क्षेत्र में अपनी उपस्थिति दर्ज कराई हो लेकिन अभी भी उनसे उम्मीद की जाती है कि वे कैरियर के साथ-साथ घर-परिवार भी संभालें और बच्चों की देख-रेख करें। ऐसे में टीचिंग में सरकारी नौकरी (Teaching Government Jobs for Women) महिलाओं के लिए उपयुक्त मानी जाती है, क्योंकि दोपहर तक विद्यालय में शिक्षण कार्यों के बाद उन्हें घर-परिवार को भी देखने का समय मिल जाता है। दक्षिणी दिल्ली स्थित ग्लोरी पब्लिक स्कूल में हिंदी पढ़ाने वाली शिक्षिका प्रज्ञा श्रीवास्तव कहती हैं, “सरकारी हो या प्राइवेट टीचिंग की नौकरी महिलाओं के लिए बेस्ट है क्योंकि वर्किंग वूमेन होने के साथ-साथ इससे फैमिली को भी टाईम दे सकते हैं। यदि स्वयं के बच्चे भी उसी स्कूल में ही पढ़ रहे हों तो इससे बेहतर कुछ और हो ही नहीं सकता।” headtopics.com

यह भी पढ़ेंबात करें अगर टीचिंग में सरकारी नौकरियों (Teaching Government Jobs for Women) की तो विद्यालयी स्तर पर नर्सरी टीचर, प्राइमरी टीचर, ट्रेंड ग्रेजुएट टीचर (टीजीटी), पोस्ट ग्रेजुएट टीचर (पीजीटी) के पदों पर आमतौर पर भर्ती की जाती है। केंद्रीय स्तर पर केंद्रीय विद्यालयों, जवाहर नवोदय विद्यालयों, सैनिक स्कूलों, एकलव्य मॉडल रेजीडेंशियल स्कूल आदि में भर्ती होती है तो विभिन्न राज्यों में सम्बन्धित सेवा चयन बोर्ड / आयोग द्वारा टीचिंग के पदों पर समय-समय पर भर्ती की जाती हैं।

यह भी पढ़ेंबैंकिंग में सरकारी नौकरियां (Banking Government Jobs for Women)बैंकिंग सेक्टर में सरकारी नौकरियों को भी महिलाओं के लिए बेस्ट माना जाता है क्योंकि बैंकों में अच्छा कार्यस्थल का माहौल व अच्छी सैलरी और कैरियर ग्रोथ मिलती है। सरकारी बैंकों में महिलाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए एक संसदीय समिति ने अपनी ‘वर्किंग कंडीशंस ऑफ वूमेन इन पब्लिक सेक्टर बैंक्स’ में, समाचार एजेंसी पीटीआई के अपडेट के अनुसार, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों की कम से कम 15 फीसदी शाखाओं में सभी महिला कर्मचारी ही नियुक्त करने की सिफारिश की थी।

यह भी पढ़ेंबैंकों में महिलाओं के लिए सरकारी नौकरियों (Banking Government Jobs for Women) में जिन पदों पर भर्ती के विकल्प हैं, उनमें ऑफिस असिस्टेंट, मल्टी-टास्किंग स्टाफ, क्लर्क, ऑफिसर (स्केल 1, 2 और 3) और स्पेशलिस्ट ऑफिसर शामिल हैं। देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक, भारतीय स्टेट बैंक को छोड़कर, ज्यादातर राष्ट्रीयकृत बैंकों में इन पदों पर सीधी भर्ती इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकिंग पर्सोनेल यानि आईबीपीएस द्वारा की जाती है। वहीं, क्षेत्रीय स्तर ग्रामीण बैंकों में भी सरकारी नौकरियां निकाली जाती हैं और इनकी भी भर्ती आईबीपीएस द्वारा ही अलग से की जाती है।

यह भी पढ़ेंमेडिकल क्षेत्र में सरकारी नौकरियां (Medical Government Jobs for Women)महिलाओं के लिए बेस्ट सरकारी नौकरियों की कड़ी में अगला क्षेत्र चिकित्सा का आता है, जिसमें मेडिकल और पैरा-मेडिकल दोनो शामिल हैं। मेडिकल में सरकारी नौकरी (Medical Government Jobs for Women) के अंतर्गत विभिन्न रेलवे, पीएसयू, डिफेंस आदि जैसे केंद्रीय सगठनों के साथ-साथ राज्य सरकारों के अधीन सरकारी अस्पतालों में सर्जन, रेजीडेंट डॉक्टर, मेडिकल ऑफिसर, जूनियर डॉक्टर आदि समेत पैरा-मेडिकल स्टाफ नर्स, फिजियोथेरेपिस्ट, लैब टेक्निशियन, आदि की भर्ती की जाती है। जहां केंद्रीय संगठनों के लिए ग्रुप ए पदों पर संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएसससी) द्वारा कंबाईंड मेडिकल सर्विस (सीएमएस) एग्जाम के माध्यम से हर साल भर्ती की जाती है तो वहीं, ग्रुप बी पदों पर सम्बन्धित संगठन द्वारा भर्ती निकाली जाती है। राज्य स्तर पर सम्बन्धित चिकित्सा विभाग या मेडिकल रिक्रूटमेंट बोर्ड द्वारा भर्ती निकाली जाती है। headtopics.com

आर्यन खान को ड्रग्स केस में जमानत मिलते ही नवाब मलिक ने किया ट्वीट, 'पिक्चर अभी बाकी है मेरे दोस्त' पूर्व सीएजी विनोद राय ने संजय निरुपम से किस बात के लिए माँगी माफ़ी - BBC Hindi आगरा: PAK की जीत का जश्न मनाने वाले 3 कश्मीरी छात्रों को वकीलों ने जड़े थप्पड़ और पढो: Dainik jagran »

PM को भगवान माननेवालों में अब मंत्री उपेंद्र तिवारी भी: हरदोई में बोले- नरेंद्र मोदी कोई आम आदमी नहीं, वह भगवान का अवतार

यूपी सरकार में मंत्री उपेंद्र तिवारी ने एक बार फिर अपना बड़बोलापन दिखाया है। हरदोई में उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सर्वशक्तिमान बताया। कहा कि नरेंद्र भाई मोदी कोई आम आदमी नहीं, वो भगवान का अवतार हैं। अपने बयान से उन्होंने वहां मौजूद लोगों की तालियां जरूर लूट ली, लेकिन अब विवादों में घिर गए हैं। उन्होंने अपना यह बयान मंगलवार को हरदोई में एक कार्यक्रम के दौरान दिया। | Prime Minister praised in Hardoi, said - Narendra Modi is not a common man, he is an incarnation of God: यूपी सरकार में मंत्री उपेंद्र तिवारी ने एक बार फिर अपना बड़बोलापन दिखाया है। हरदोई में उन्होंने प्रधानमंत्री का इस कदर गुणगान किया कि उनके बयानों को चौतरफा आलोचना मिलने लगी है। दरअसल, उन्होंने नरेंद्र मोदी को भगवान का अवतार बताया दिया।

नए आईटी नियम: सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के ख़िलाफ़ कितने यूज़र शिकायत दायर कर रहे हैं?फेसबुक-ट्विटर जैसी सोशल मीडिया कंपनियों की अनुपालन रिपोर्ट से पता चलता है कि फ़िलहाल काफ़ी कम यूज़र नए आईटी नियमों के तहत शिकायतें दायर करा रहे हैं. ज़्यादातर कंपनियों को हर महीने एक हज़ार से कम शिकायतें मिल रही हैं.

जन्मदिन विशेष : कर्तव्य पथ पर अविचल कर्मयोगी हैं मोदी जी: शिवराज सिंह चौहानश्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में नए भारत का निर्माण हो रहा है एक ऐसा भारत जो आधुनिकता के साथ अपनी सांस्कृतिक विरासत पर गर्व करता हो, एक ऐसा भारत जो आत्मनिर्भर बनने को संकल्पित है, जनसंघ के आदर्शों को आज हम जिन कृतिरूप में देख पा रहे, उसमें उनके अथक परिश्रमों का योगदान अप्रतिम है। मुझे उनके नेतृत्व के कई आयामों को नजदीक से अनुभव करने का अवसर मिला। एकता यात्रा हो, गुजरात का महाविनाशक भूकम्प हो, गुजरात का सर्वांगीण विकास हो या फिर अंतिम व्यक्ति तक विकास पहुँचाने के लिये आवश्यक कठोर प्रशासक के रुप में मोदी जी ने प्रत्येक दायित्व को निष्ठा से निभाया है।

iPhone 13 Series: आखिर भारत में इतने महंगे क्यों बिकते हैं आईफोन, क्या है इसकी वजहIPhone 13 Pro Max सीरीज का सबसे महंगा फोन है। आईफोन 13 प्रो मैक्स के 128 जीबी वेरियंट की कीमत 1,29,900 रुपये, 256 जीबी वेरियंट की कीमत 1,39,900 रुपये, upbasicblocktransfer बेसिक शिक्षा विभाग में जनपद के अंदर एक लंबे समय से एक ब्लॉक से दूसरे ब्लॉक मैं ट्रांसफर नही हुए है। जिस से सैकड़ों दिव्यांग अपने मूल ब्लॉक से 100 किलोमीटर से अधिक दूरी के विद्यालयों मैं अद्यापन का कार्य कर रहे हैं जहाँ आने जाने के साधन भी नही

अपनी सैलरी से निजी जरूरतें पूरी करते हैं मोदी, PMO से नहीं लेते एक रुपयाप्रधानमंत्री मोदी 71 साल के हो गए हैं। प्रधानमंत्री होने के बावजूद वह अपने निजी खर्च खुद की सैलरी से ही करते हैं। हालांकि किसी प्रधानमंत्री को कुछ खर्च के लिए पीएमओ से फंड भी दिया जाता है। लेकिन पीएम मोदी इस फंड से एक रुपया नहीं लेते।

डेल्टा और ड्रैगन: चीन की जीरो कोविड पॉलिसी की कीमत चुका रहे हैं मासूम बच्चेएक वीडियो में नजर आने वाला चार साल का बच्चा लोगों को भावुक कर रहा है। साथ ही चीन की सख्त नीति पर भी सवाल उठा रहा है।

'मुझे अपमान महसूस हुआ, भविष्य के विकल्प खुले हैं' : इस्तीफे के बाद बोले कैप्टन अमरिंदर सिंहमुझे अपमान महसूस हुआ, भविष्य के विकल्प खुले हैं : इस्तीफे के बाद बोले कैप्टन अमरिंदर सिंह मोदी - हैलो, बाबुल तुम कहाँ जा रहे हो ? बाबुल - TMC मे 😀😜😀😜😀 These politicians are like diapers which need be changed if there is bad smell in the working atmosphere खेल शुरू हो चुका है मित्रों