किसान आंदोलन, Kisan Andolan News, Farmers Strike, Farmers Protest Update, Farmers Protest Traffic Alert, Farmers Protest News, Farmers Protest Latest News, Farmers Protest India, Farmers Protest Delhi, Farmers Protest 2020, भारत Samachar

किसान आंदोलन, Kisan Andolan News

Farmers Agitation : शनिवार से और उग्र होगा किसान आंदोलन, जानें आम लोगों को हो सकती है कैसी-कैसी परेशानियां

शनिवार से और उग्र होगा किसान आंदोलन, जानें आम लोगों को हो सकती है कैसी-कैसी परेशानियां : via @NavbharatTimes

11-12-2020 20:33:00

शनिवार से और उग्र होगा किसान आंदोलन , जानें आम लोगों को हो सकती है कैसी-कैसी परेशानियां : via NavbharatTimes

भारत न्यूज़: Farmers Protest Update s : किसानों ने कृषि कानून के खिलाफ सरकार को साफ कर दिया है कि जब तक केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को रद्द नहीं करेगी, तब तक वे वापस नहीं जाएंगे। भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि 12 दिसंबर और 14 दिसंबर के विरोध प्रदर्शन के लिए रणनीति बनाई जा रही है।

11 Dec 2020, 10:58:00 PMFarmers Protest Updates : किसानों ने कृषि कानून के खिलाफ सरकार को साफ कर दिया है कि जब तक केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को रद्द नहीं करेगी, तब तक वे वापस नहीं जाएंगे। भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि 12 दिसंबर और 14 दिसंबर के विरोध प्रदर्शन के लिए रणनीति बनाई जा रही है।

टेम्पो ड्राइवर की बेटी बनीं ओपनर बल्लेबाज: नागौर की संध्या 7 साल पहले पिता के साथ पहुंची हैदराबाद, स्टेडियम में मैच देखा तो क्रिकेट खेलना शुरू किया, अब हैदराबाद टीम के लिए खेलेगी Quad Summit Updates: मौलिक अधिकारों में क्वाड का विश्वास, आस्ट्रेलिया-जापान ने दिया मुक्त और खुले इंडो पैसिफिक क्षेत्र पर जोर चीन ने सीमा विवाद पर भारत से की शांतिपूर्ण समाधान की पेशकश, कहा- मुद्दों को विवाद नहीं बनने देना चाहिए - BBC Hindi

Kisan Andolan Latest News: कृषि मंत्री ने फिर की बातचीत की अपील, किसानों ने दिया टका सा जवाबSubscribe Us Onहाइलाइट्स:सरकार से बातचीत फेल होने के बाद प्रदर्शनकारी किसान आंदोलन को उग्र बनाने जा रहे हैंकिसान संगठन सरकार पर दबाव बढ़ाने के लिए आंदोलन तेज करने की रणनीति बना रहे हैं

इसी रणनीति के तहत 12 और 14 दिसंबर के लिए अलग-अलग योजनाएं तैयार कर ली गई हैंऐसे हालात में शनिवार से आम आदमी की मुश्किलें बढ़ने की आशंका खारिज नहीं की जा सकती हैनई दिल्लीदिल्ली बॉर्डर और अन्य जगहों पर प्रदर्शन कर रहे किसान अब अपने आंदोलन को तेज करने जा रहे हैं। इसे लेकर रणनीति तय की जा रही है। गाजीपुर बॉर्डर पर भारतीय किसान यूनियन (BKU) के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने भी अपनी रणनीति साफ कर दी है। उन्होंने कहा कि 12 दिसंबर और 14 दिसंबर के विरोध प्रदर्शन के लिए रणनीति बनाई जा रही है। वहीं, बीकेयू एक अन्य नेता गुरविंदर सिंह ने भी कहा कि जब तक तीनों कृषि कानून वापस नहीं होंगे किसानों का यह आंदोलन चलता रहेगा। उन्होंने कहा कि आगे आंदोलन और तेज करने की तैयारी जोरों पर चल रही है। आइए समझते हैं कि शनिवार से आपको किन-किन परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है... headtopics.com

12 दिसंबर और 14 दिसंबर के लिए रणनीति तैयारदरअसल किसानों ने कृषि कानून के खिलाफ सरकार को साफ कर दिया है कि जब तक केंद्र सरकार तीनों कृषि कानूनों को रद्द नहीं करेगी, तब तक वे वापस नहीं जाएंगे। भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा, "12 दिसंबर को देश भर के टोल प्लाजा पर हम अपना विरोध जताएंगे। ये विरोध केंद्र सरकार और मल्टीनैशनल कंपनी के खिलाफ भी होगा। हमारे कार्यकर्ता विभिन्न जगहों पर प्रदर्शन करेंगे।"

टिकैत ने बताया, "14 दिसंबर को देशभर के सभी जिलाधिकारियों को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा जाएगा, जिसमें इन कानूनों को वापस लेने की मांग की जाएगी।" उन्होंने कहा, "जब तक केंद्र सरकार ये कानून वापस नहीं ले लेती तब तक हर रोज 11 बजे किसान क्रांति मार्च निकालेंगे और अपना विरोध दर्ज कराएंगे।" इसके अलावा गाजीपुर बॉर्डर पर बैनर, पोस्टर भी लगाए जाएंगे।

ऑल इंडिया किसान सभा के पंजाब में जनरल सेक्रेटरी मेजर सिंह पुनावाल ने कहा, ''हमारा अगला कार्यक्रम 12 दिसंबर से पहले जयपुर-दिल्ली एक्सप्रेसवे को जाम करना है और 14 दिसंबर को देशभर में जिला स्तर पर डीसी के दफ्तरों के सामने मोर्चे निकाल कर धरना-प्रदर्शन करना है। बीजेपी के दफ्तरों के आगे भी धरना दिया जाएगा।'' उन्होंने कहा कि पंजाब की तरह देशभर में टोल फ्री किया जाएगा और रिलायंस के पेट्रोल पंप को बंद किया जाएगा।

इन बयानों से स्पष्ट है कि...1.देशभर में 12 दिसंबर को नौ बजे से लेकर शाम तक सारे टोल फ्री करवाने की जद्दोजहद होगी।2.रिलायंस के पेट्रोल पंप भी बंद किए जाएंगे।3.भारतीय किसान यूनियन के प्रभाव वाले इलाकों में कार्यकर्ता विभिन्न जगहों पर प्रदर्शन करेंगे।4.मल्टीनैशनल कंपनियों के खिलाफ भी प्रदर्शन के कारण कुछ मॉल्स भी प्रभावित रह सकते हैं। headtopics.com

Quad Summit LIVE Updates: मौलिक अधिकारों में क्वाड का विश्वास, आस्ट्रेलिया-जापान ने दिया मुक्त और खुले इंडो पैसिफिक क्षेत्र पर जोर बाइडेन के किस्से, मोदी के ठहाके...व्हाइट हाउस में दिखी दोनों नेताओं की जबरदस्त बॉन्डिंग मोदी-बाइडेन मुलाकात: US प्रेसिडेंट बोले- मैंने 15 साल पहले कह दिया था, 2020 तक भारत-अमेरिका सबसे करीबी देश होंगे

5.14 दिसंबर को देशभर के सभी जिला मुख्यालयों में धरना-प्रदर्शन का कार्यक्रम है।6.मांग माने जाने तक हर रोज 11 बजे किसान क्रांति मार्च निकालेंगे और अपना विरोध दर्ज कराएंगे।किसान के खेत छीन लिए..मिला क्या कश्मीर में जमीन, अलका लांबा ने बीजेपी पर किया अटैक

कहीं अफवाहों में आकर अराजक न हो जाएं प्रदर्शनकारीउधर, हरियाणा के किसान नेता और बीकेयू के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह चढ़ूनी की तरफ से जताई गई चिंता ने कुछ और आशंकाएं पैदा कर दी हैं। चढ़ूनी ने कहा, ''हमें शिकायतें मिली हैं कि कुछ लोग अपनी मर्जी से रिलायंस के टावर काटने, रिलायंस के मॉल बंद करने या वहां कुछ और करने के लिए अफवाहें फैला रहे हैं।'' प्रदर्शनकारियों से इन अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील करते हुए उन्होंने कहा, ''मेरी विनती है कि यह आंदोलन टूट न जाय और इसका हश्र जाट आंदोलन की तरह न हो, इसलिए ऐसा कोई कदम न उठाएं।''

किसान नेता गुरनाम सिंह की चेतावनीउन्होंने कहा कि सरकार ऐसा करवाना चाहती है। उन्होंने किसानों से अपील की है कि वे उतना ही काम करें जितना कमिटी द्वारा कहा जाए। चढ़ूनी ने प्रदर्शनकारियों से सिर्फ कमिटी द्वारा दिए गए आदेशों और निदेर्शों का पालन करने की अपील की। उन्होंने कहा, ''आंदोलन के दौरान जो भी तोड़फोड़ करेगा या आगजनी करेगा वह हमारा आदमी नहीं होगा, उसको पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया जाएगा।'' चढ़ूनी ने कहा, ''हमारी पंचायत में आंदोलन को आगे बढ़ाने के लिए तीन फैसले लिए गए हैं।'' ये फैसले हैं: 1. रिलायंस की सीम पोर्ट करवाना है 2. देशभर में 12 दिसंबर को नौ बजे से लेकर शाम तक सारे टोल फ्री करवाना है और रोडजाम नहीं करना है। 3. देशभर में 14 दिसंबर को सभी जिला मुख्यालयों पर धरना देना है।

Farmers Agitation : अंबानी-अडाणी के खिलाफ आक्रोश में भटक ना जाए किसान आंदोलन, किसान नेता ने दी हिदायततीनों कृषि कानून रद्द करने की मांग पर अड़े किसानबता दें कि किसान संगठन केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानून, कृषक उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्धन और सुविधा) कानून 2020, कृषक (सशक्तीकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन और कृषि सेवा करार कानून 2020 और आवश्यक वस्तु (संशोधन) कानून 2020 को निरस्त करवाने की मांग कर रहे हैं। इसके लिए वो 26 नवंबर से दिल्ली की सीमाओं पर पिछले 14 दिनों से डटे हुए हैं। headtopics.com

सरकार के प्रस्ताव खारिज कर आंदोलन उग्र करने जा रहे किसानदरअसल, केंद्र सरकार ने किसान नेताओं को नये कृषि कानूनों के साथ-साथ, एमएसपी पर फसलों की खरीद जारी रखने से लेकर पराली से जुड़े अध्यादेश और बिजली संशोधन विधेयक 2020 के आने से बिजली सब्सिडी को लेकर किसानों की आशंकाओं का समाधान करने के लिए बुधवार को प्रस्तावों का एक मसौदा भेजा था, जिसे किसान यूनियनों ने सिरे से खारिज करते हुए आंदोलन आगे और तेज करने का ऐलान कर दिया। किसान न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर सभी फसलों की खरीद की गारंटी भी चाहते हैं। इसके अलावा, उनकी मांगों में पराली दहन से जुड़े अध्यादेश में कठोर दंड और जुर्माने के प्रावधानों को समाप्त करने और बिजली (संशोधन) विधेयक को वापस लेने की मांग भी शामिल है।

(आईएएनएस और भाषा के इनपुट के साथ)आंदोलन उग्र करने की रणनीति बना रहे हैं किसान (सांकेतिक तस्वीर)Navbharat Times News App: और पढो: NBT Hindi News »

हल्ला बोल: मिलेंगे दो महाबली, 'आतंकिस्तान' में खलबली!

आज अमेरिका में दुनिया के दो महाबलियों की मुलाकात होनी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी प्रेसिडेंट जो बाइडेन से मिलने वाले हैं. इस मुलाकात में कई मुद्दों को लेकर बात होगी लेकिन सबसे अहम मुद्दा होगा आतंकवाद का. और आतंक के माई-बाप तालिबान और पाकिस्तान का. अमेरिका की उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के साथ प्रधानमंत्री मोदी की दमदार मुलाकात के बाद अब बारी है. सबसे बड़ी मुलाकात की. ये पहला मौका होगा जब बतौर अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ प्रधानमंत्री मोदी की मुलाकात होगी. मोदी और बाइडेन की मुलाकात में दोनों देशों के आपसी पांच मुद्दों के अलावा कुछ अहम मसलों पर चर्चा की उम्मीद है. ये ऐसे मुद्दे हैं जिनसे भारत और अमेरिका, दोनों के हित जुड़े हैं. देखें हल्ला बोल का ये खास एपिसोड.

दिल्ली-नोएडा के बीच होंगे ताजमहल, बनारस के घाट और सारनाथ के स्तूप के दर्शननोएडा से दिल्ली के सफर में अब आपको मार्गों पर ताजमहल, बनारस के घाट और सारनाथ के स्तूप की मोहक कला​कृतियां दिखाई देंगी. इसके लिए नोएडा विकास प्राधिकरण ने तेजी से कार्य शुरू कर दिया है. TanseemHaider TanseemHaider

Yogi Adityanath | कोरोनावायरस के नए स्ट्रेन के दृष्टिगत योगी के स्थानीय प्रशासन को सतर्कता के निर्देशलखनऊ। उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विश्व में सामने आए कोरोनावायरस के नए स्वरूप के दृष्टिगत पूरी सावधानी व सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिन देशों में वायरस का नया स्वरूप सामने आया है, ऐसे देशों से पिछले 15 दिन में प्रदेश में आए लोगों के संपर्क में आए व्यक्तियों का पता लगाया जाए तथा उन्हें क्वारंटाइन में भेजने की प्रभावी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

कृषि कानूनों को लेकर किसानों के तेवर सख्त, 14 को करेंगे भूख हड़ताल। Farmers Protestकिसानों को कृषि बिल वापसी से कम कुछ भी मंजूर नहीं... Watch 'कृषि कानूनों को लेकर किसानों के तेवर सख्त, 14 को करेंगे भूख हड़ताल। FarmersProtest Delhichalo Farmers Protest' on YouTube

बहन और बहनोई के सरकारी गवाह के बाद और बढ़ेंगी नीरव मोदी की मुसीबतेंनीरव मोदी लंदन की जेल में हैं और ब्रिटेन की अदालत में उन्हें भारत प्रत्यर्पित करने को लेकर सुनवाई चल रही है. पूर्वी मोदी और उनके पति भी मामले में आरोपी हैं और पीएनबी बैंक धोखाधड़ी मामले में उनके खिलाफ इंटरपोल नोटिस जारी किया गया है. MunishPandeyy 👍 MunishPandeyy MunishPandeyy

बैठक टली : अब 19 को नहीं 20 जनवरी को होगी केंद्र और किसानों के बीच वार्ताकिसान यूनियनों और केंद्र सरकार के बीच 19 जनवरी को होने वाली बैठक अब 20 जनवरी तक के लिए स्थगित कर दी गई है। कृषि और किसान PMOIndia nstomar Warta ho rahi hai yeh Rajniti ho rahi hai ?

सिंघु बॉर्डर : केंद्र के न्योते को लेकर बैठक करेंगे पंजाब और देश भर के किसान नेताकिसान नेताओं के मुताबिक, सरकार बार-बार बातचीत की बात कहकर लगातार किसानों की मांगों को टाल रही है. सरकार फौरन कृषि बिल रद्द करे. किसान नेताओं का कहना है कि हम 6 महीने यहीं बैठे रहेंगे.