Farmersprotest, Farmersbill, Farmlaws, Farmers Protest, Farmers Delhi Protest, Agricultural Law, Farm Law 2020, Farmers Organization, Republic Day Parade

Farmersprotest, Farmersbill

Farmers Protest: आंदोलन पर फैसला कर सकते हैं किसान संगठन, कल होनी है सरकार के साथ बैठक

#FarmersProtest: आंदोलन पर फैसला कर सकते हैं किसान संगठन, कल होनी है सरकार के साथ बैठक #FarmersBill #FarmLaws

21-01-2021 14:58:00

FarmersProtest: आंदोलन पर फैसला कर सकते हैं किसान संगठन, कल होनी है सरकार के साथ बैठक FarmersBill FarmLaws

नए कृषि कानूनों के डेढ़ साल तक स्‍थगित करने के केंद्र सरकार के प्रस्‍ताव पर किसान संगठन आंदोलन वापसी का फैसला कर सकते हैं। केंद्र सरकार के प्रस्ताव पर किसान संगठन गुरुवार को मंत्रणा करेंगे। दोनों पक्षों के बीच शुक्रवार को 11वें दौर की बैठक होगी।

नए कृषि कानूनों के डेढ़ साल तक स्‍थगित करने के केंद्र सरकार के प्रस्‍ताव पर किसान संगठन आंदोलन वापसी का फैसला कर सकते हैं। किसान नेताओं ने सरकार के प्रस्‍ताव का स्‍वागत किया है। केंद्र सरकार के प्रस्ताव पर किसान संगठन गुरुवार को मंत्रणा करेंगे। दोनों पक्षों के बीच शुक्रवार को 11वें दौर की बैठक होगी। बुधवार को 10वीं दौर के बातचीत में केंद्र सरकार ने किसानों को यह भी प्रस्ताव दिया था कि कानून को लेकर एक कमेटी बना देते हैं। अब किसान इसी प्रस्ताव पर बात करने के लिए इकट्ठा हो रहे हैं।

नेपाल: एसिड अटैक पीड़िता मुस्कान ख़ातून को मिला इंटरनेशनल वुमन ऑफ़ करेज अवॉर्ड - BBC News हिंदी किसान आंदोलन: गर्मियों की तैयारी में जुटे किसान, कहा नहीं रुकेगा आंदोलन - BBC News हिंदी आंध्र प्रदेश में गधे के मांस की माँग इतनी ज़्यादा क्यों है? - BBC News हिंदी

बैठक के बाद किसान गुरुवार शाम 5 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताएंगे कि उनकी आगे की रणनीति क्या होगी? इधर, ट्रैक्टर रैली को लेकर किसानों और पुलिस के बीच बातचीत बेनतीजा रही है। किसान दिल्ली में रिंग रोड पर ट्रैक्टर रैली करने पर अड़े हैं, जबकि पुलिस ने रैली की इजाजत देने से साफ मना कर दिया है। पुलिस ने पलवल-मानेसर में रैली का प्रस्‍ताव दिया है।

यह भी पढ़ेंपुलिस और किसान यूनियनों के बीच 26 जनवरी को प्रस्तावित ट्रैक्टर रैली के संबंध में दूसरे दौर की बैठक गुरुवार को बेनतीजा रही क्योंकि किसान दिल्ली की व्यस्त आउटर रिंग रोड पर रैली निकालने की अपनी मांग पर अड़े हुए थे। बैठक के बाद पत्रकारों से बात करते हुए स्वराज अभियान के नेता योगेंद्र यादव ने कहा कि पुलिस चाहती है कि किसान नेता राष्ट्रीय राजधानी के बाहर अपनी ट्रैक्टर रैली निकालें। headtopics.com

यादव ने कहा कि हम दिल्ली के अंदर शांतिपूर्वक अपनी परेड करेंगे। वे चाहते हैं कि हम दिल्ली के बाहर ट्रैक्टर रैली आयोजित करें, जो संभव नहीं है। योगेंद्र यादव केंद्र के नए कृषि कानूनों के खिलाफ चल रहे आंदोलन में सक्रिय रूप से भाग ले रहे हैं। और पढो: Dainik jagran »

'एक लड़की को पिलाना चाहता था जहर', देखें उन्नाव केस के बड़े खुलासे

उन्नाव में दलित परिवार की दो लड़कियों की संदिग्ध मौत के मामले में यूपी पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है. उन्होंने बताया कि शुक्रवार को दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. मुख्य आरोपी का नाम विनय उर्फ लंबू है. वहीं दूसरा आरोपी विनय का दोस्त है जो नाबालिग है. पुलिस ने बताया कि विनय एक लड़की से प्रेम करता था. उसने उसके सामने प्रस्ताव भी रखा था. लेकिन उसने ठुकरा दिया.

जय हिन्द😂😂😂भाजपा नेतृत्व में भारत सरकार बेबस नज़र आ रही है उसकों चलाने के लिए किसान के पहियों कि ज़रूरत है ये कितनी बड़ी लाचारी भाजपा राज में भारत सरकार कि हो गयी है देश के लोकतंत्र में ये किसान आंदोलन भाजपा को करारी चपेट के रूप में याद रहेगा😂😂😂