Exclusıve, Msdhoni, T20worldcup 2021, Teamındia, Bccı, Indvpak, Cricket, Bouncer, Ms Dhoni, Ms Dhoni Career, Ms Dhoni As Mentor, Mentor Ms Dhoni, T20 World Cup, Icc T20 World Cup 2021, T20 Wc 2021 Bouncer, Team Indian, Jagran Plus, Sports And Recreation, Sports, Cricket

Exclusıve, Msdhoni

EXCLUSIVE: MS Dhoni जीत की गारंटी नहीं हैं, लेकिन टीम इंडिया के लिए हैं ब्रह्मास्त्र

#EXCLUSIVE: एमएस धौनी जीत की गारंटी नहीं हैं, लेकिन टीम इंडिया के लिए हैं ब्रह्मास्त्र #MSDhoni #T20WorldCup2021 #TeamIndia #BCCI #INDvPAK

22-10-2021 06:55:00

EXCLUSIVE : एमएस धौनी जीत की गारंटी नहीं हैं, लेकिन टीम इंडिया के लिए हैं ब्रह्मास्त्र MSDhoni T20WorldCup2021 TeamIndia BCCI INDvPAK

वैसे तो एमएस धौनी टीम इंडिया को टी20 विश्व कप जिताने की गारंटी नहीं देते क्योंकि वे खुद 10 में से सिर्फ 3 बार आइसीसी ट्राफी देश के दिला पाए हैं लेकिन निश्चित रूप से ये बात तय है कि वे टीम इंडिया के ब्रह्मास्त्र साबित होने वाले हैं।

तुम्हारा धौनी बहुत लकी है। हमारे यहां भी उनके बहुत प्रशंसक हैं। जब वह खेलता था तो भाग्य उसके साथ चलता था। ये कहना है पाकिस्तान के लाहौर के रहने वाले मुहम्मद भाई का। जब मैं बुधवार को भारत-आस्ट्रेलिया अभ्यास मैच के लिए दुबई के आइसीसी अकादमी मैदान जा रहा था तो टैक्सी ड्राइवर मुहम्मद ने पूछा, धौनी भी होगा उधर? मैंने कहा, हां, मेंटर है। मुहम्मद ने कहा, ये मेंटर क्या होता है? मैंने कहा, टीम को जीत के मंत्र देता है तो मुहम्मद ने कहा, फिर तो रविवार को पाकिस्तान को बहुत परेशानी होने वाली है क्योंकि धौनी का 'मंतर' तो बहुत काम का होता है।

बिहार में मृत व्यक्ति ने जीता पंचायत चुनाव - BBC Hindi चीन और उत्तर कोरिया पर बोलते हुए जापान के पीएम ने क्यों कही हमला करने की बात - BBC Hindi जम्मू और कश्मीर का विशेष दर्जा वापस दिलाने के लिए अंतिम सांस तक लड़ूंगा: उमर अब्दुल्लाह - BBC Hindi

भारत को टी20 विश्व कप के पहले मैच में चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से भिड़ना है। भारत ने जहां अपने दोनों अभ्यास मैच जीते हैं तो वहीं पाकिस्तान को दक्षिण अफ्रीका से पराजय का सामना करना पड़ा है और वेस्टइंडीज को उसने हराया है। कुल मिलाकर बहुत सालों बाद पाकिस्तान की टी20 टीम काफी मजबूत नजर आ रही है। भारत ने पाकिस्तान को वनडे और टी20 विश्व कप में मिलाकर कुल 12 बार हराया है, लेकिन 13वीं बार ऐसा करना आसान नहीं होगा। धौनी और विराट की सोच में एक बड़ा अंतर है। धौनी यह सोचकर चलते हैं कि किसे खिलाना है, जबकि विराट यह सोचकर चलते हैं कि किसे नहीं खिलाना है। इस चक्कर में कभी-कभी अच्छे खिलाड़ी भी टीम से बाहर हो जाते हैं। कुलदीप यादव इसका ज्वलंत उदाहरण हैं।

यह भी पढ़ेंधौनी मतलब जीत की गारंटी नहींऐसा नहीं है कि धौनी का मेंटर के तौर पर आना भारत के विश्व कप जीतने की गारंटी है क्योंकि उन्होंने 2007, 2009, 2010, 2012, 2014, 2016 टी20 विश्व कप, 2011, 2015 वनडे विश्व कप और 2009, 2013 आइसीसी चैंपियंस ट्राफी में कप्तानी की है, जिसमें 2007 टी-20 विश्व कप, 2011 वनडे विश्व कप और 2013 चैंपियंस ट्राफी जीती हैं। यानी उनकी कप्तानी में भारत ने 10 आइसीसी ट्राफी खेली हैं और तीन जीती हैं। ये जरूर है कि वह भारत को तीनों आइसीसी ट्राफी और टेस्ट में नंबर वन टीम को मिलने वाली गदा दिलाने वाले इकलौते कप्तान हैं। वहीं, विराट की कप्तानी में भारत ने 2017 चैंपियंस ट्राफी, 2019 विश्व कप और 2021 विश्व टेस्ट चैंपियनशिप में भाग लिया है जिसमें उसे निराशाजनक हार का सामना करना पड़ा। उनकी कप्तानी में चैंपियंस ट्राफी के फाइनल में भारत को पाकिस्तान से हार का सामना करना पड़ा। विराट पहली बार टी20 विश्व कप में भारत की कप्तानी करेंगे और इस फार्मेट में कप्तान के तौर पर यह उनका आखिरी टूर्नामेंट होगा। headtopics.com

यह भी पढ़ेंछोटी-छोटी सलाहभारत के पांच में से चार लीग मैच दुबई अंतरराष्ट्रीय स्टेडियम में होने हैं। इस स्टेडियम की सेंटर पिच पर आइपीएल के मैच हुए हैं और इसी कारण इस पर अब एक सेमीफाइनल और फाइनल मुकाबला खेला जाएगा। यानी लीग के मुकाबले साइड की पिचों पर होंगे, जिससे एक तरफ की बाउंड्री छोटी रहेगी। छोटी बाउंड्री के इस्तेमाल में धौनी मास्टर हैं। बल्लेबाजों को उसे कैसे इस्तेमाल करके बड़े शाट खेलने हैं और फील्डिंग के समय गेंदबाजों को कैसे लगाना है इसमें धौनी की सलाह काफी काम आएगी।

यह भी पढ़ेंसही समय पर सही फैसलेभारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) ने कप्तान विराट, उप कप्तान रोहित शर्मा, मुख्य कोच रवि शास्त्री, गेंदबाजी कोच भरत अरुण और फील्डिंग कोच आर श्रीधर के होते हुए धौनी को मेंटर के तौर पर टीम इंडिया से इसलिए जोड़ा, क्योंकि उसे लगता था कि पिछले तीन टूर्नामेंट में इन लोगों के रहते हुए कुछ ऐसे फैसले हुए जो नहीं होते तो टीम जीत सकती थी। हालांकि, इन तीन में से दो में धौनी एक खिलाड़ी के तौर पर मौजूद थे, लेकिन सबको पता है तब वह कोच और कप्तान के फैसले में दखल नहीं देते थे। यहां तक उन्होंने प्रेस कांफ्रेंस में आना बंद कर दिया था और सिर्फ बल्लेबाजी और विकेटकीपिंग तक खुद को सीमित कर लिया था। वह विकेट के पीछे से जरूर गेंदबाज को कहते थे कि यहां पर गेंद को डालो, ये आगे बढ़कर खेलेगा, फील्डिंग यहां लगाओ, लेकिन कभी कप्तान और कोच के अधिकार क्षेत्र में दखल नहीं देते थे। अब वह मेंटर के तौर पर जुड़े हैं तो अपनी सलाह देंगे, क्योंकि बीसीसीआइ की तरफ से उन्हें आधिकारिक तौर पर शक्ति प्रदान की गई हैं। अब वह बता सकते हैं कि टीम संयोजन क्या रखना है, चौथे नंबर पर किसे उतारना है, बल्लेबाजी क्रम को कैसे बदलना है, टास जीतकर क्या करना है, ओस का क्या प्रभाव होगा, अश्विन को शुरुआत में ही गेंदबाजी करानी है या पावरप्ले में दो तेज गेंदबाजों से आक्रमण करना है।

यह भी पढ़ेंपूर्व भारतीय क्रिकेटर और सीएसके के गेंदबाजी कोच लक्ष्मीपति बालाजी का कहना है, "धौनी इस टीम से दो साल पहले भी जुड़े रहे हैं। यह उनके लिए नया नहीं है। मैं उन्हें जितना जानता हूं, वह कभी अपनी सीमा पार नहीं करते हैं। एमएस जब भी टीम में होते हैं तो वह मैच अलग ही हो जाता है। वह चाहे मैदान के अंदर हों या मैदान के बाहर। उनसे कोई भी बात कर सकता है।"

पूर्व मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने कहा, "दरवाजे के पीछे जो होता है वह सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है। रणनीति, होमवर्क और योजना बहुत जरूरी है। धौनी के होने से ये काफी मजबूत होगा और टीम को मदद मिलेगी। धौनी ने भारत और सीएसके के लिए ऐसी कई परिस्थितियों में कप्तानी की है जिसका फायदा टीम को मिलेगा।" headtopics.com

बीजेपी के मंत्रियों, नेताओं ने ये तस्वीर पोस्ट की और मच गया सोशल मीडिया पर हंगामा? - BBC News हिंदी UP की आधी आबादी पर प्रियंका गांधी का फोकस: बांदा के पीड़ित परिवार से मिलीं, दी सांत्वना; हर जगह महिलाओं को लगा रहीं गले हिंदू और हिंदुत्व पर बोले भागवत: हिंदू के बिना भारत और भारत के बिना हिंदू की कल्पना नहीं, इसलिए अखंडता और एकात्मता जरूरी है

यह भी पढ़ेंवहीं, भारतीय टीम के मुख्य कोच रवि शास्त्री का कहना है, "धौनी सफेद गेंद के सर्वश्रेष्ठ कप्तान रहे हैं। वह किंग कांग हैं। उनके आसपास भी कोई नहीं है।" उनसे पहले कप्तान विराट कोहली भी एमएस धौनी को लेकर बयान दे चुके हैं और स्पष्ट कर चुके हैं कि धौनी का अनुभव टीम इंडिया के लिए टी20 विश्व कप में काम आने वाला है।

और पढो: Dainik jagran »

छात्रों से मिले 51 हजार बिजनेस आइडिया, देखें Business Blasters Programme पर क्या बोले Sisodia

दिल्ली सरकार की नई योजना स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों में उद्यमी एवं व्यावसायिक क्षमता को विकसित करने वाले बिजनेस ब्लास्टर्स प्रोग्राम को लेकर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आजतक से खास बातचीत की है. इस दौरान उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम में छात्र बढ़-चढ़कर हिस्सा ले रहे हैं और कई तरह के अनूठे आइडिया दे रहे हैं. इसकी सफलता को देखते हुए दिल्ली सरकार ने भविष्य में प्राइवेट स्कूलों में पढ़ने वाले छात्रों को भी इस प्रोग्राम से जोड़ने की योजना बनाई है. साथ में दिल्ली सरकार के कॉलेजों में भी प्रोग्राम को ले जाने की तैयारी है. देखिए ये वीडियो.

IRCTC के इस Flight Package के तहत कर सकते हैं Tirupati Devasthanam के दर्शनपैकेज के जरिये आप Lord Balaji Temple Padmavathi Temple Sri Kalahasti की यात्रा कर सकते हैं। यह यात्रा 1 रात और 2 दिन के लिए होगा। टूर की तारीख 23 अक्टूबर 2021 और 19 नवंबर और 20 नवंबर 2021 है।

T20 वर्ल्ड कप के बाद कौन होगा टीम इंडिया का कप्तान, नाम आ गया सामने!ICC T20 World Cup 2021 के बाद विराट कोहली टी20 क्रिकेट की कप्तानी छोड़ने वाले हैं और इसके बाद टीम इंडिया का कप्तान कौन होगा ये तस्वीर भी साफ हो गई है। बीसीसीआइ के अधिकारी ने कहा है कि टी20 फार्मेट में अगले कप्तान रोहित शर्मा होंगे। कप्तान वही जो पद को शोभित करे ,ना की बोझा,पीछे सभी कप्तान शानदार रहे,एक से बढकर एक,उम्मीद है,ना उम्मीद नही होगे Sourav Ganguli also every and now Virat Kohli

टीम इंडिया ने दिखाई ताकतजनभागीदारी लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत है।

टी20 वर्ल्ड कप में टीम इंडिया सबसे ज्यादा मैच जीतने वाली दूसरी टीम, धोनी के नाम ये खास रिकॉर्डT20WorldCup: सबसे ज्यादा मैच जीतने के मामले में दूसरे स्थान पर है टीम इंडिया, एमएस धोनी के नाम भी है ये खास रिकॉर्ड MSDhoni TeamIndia T20WC2021 Records T20WorldCupRecords T20WorldCup2021

टीम इंडिया के इन दो खिलाड़ियों से है पाकिस्तान की टीम को खतरा, बल्लेबाजी सलाहकार का आया बयानपूर्व आस्ट्रेलियाई बल्लेबाज हेडन ने टीम इंडिया के ओपनर केएल राहुल और विकेटकीपर बल्लेबाज रिषभ पंत को पाकिस्तान के लिए खतरा बताया। उनका कहना था कि दुबई में पाकिस्तान के खिलाफ 24 अक्टूबर को होने वाले मैच में भारतीय बल्लेबाज लोकेश राहुल और रिषभ पंत बड़ा खतरा होंगे।

T20 WC: पाकिस्तान के वो 5 खिलाड़ी जो महामुकाबले में बढ़ा सकते हैं टीम इंडिया की टेंशन!टी-20 वर्ल्डकप में भारत और पाकिस्तान के मुकाबले का इंतज़ार हर किसी को है. 24 अक्टूबर को जब दोनों टीमें आमने-सामने होंगी, तब पाकिस्तान के इन पांच खिलाड़ियों पर हर किसी की नज़र होगी.