Dengue, Severe Dengue, Dengue Cases İn Delhi, Delhi Dengue Cases, Dengue Cases İn Delhi Today, Dengue Cases İn Delhi 2021, Dengue Symptoms, Dengue Cases İn İndia, Dengue Mosquito, Covid Cases İn Delhi Today, Dengue Fever, Symptoms Of Dengue, Dengue Treatment, Dengue Cases İn Noida, Dengue Cases İn İndia 2021, Dengue Cases İn Up, Dengue Cases İn Gurgaon 2021, Dengue Symptoms İn Hindi, Dengue Mosquito Bite Time

Dengue, Severe Dengue

Dengue Fever: डेंगू बुखार कब हो जाता है घातक? इन लक्षणों को ना करें नजरअंदाज

डेंगू बुखार कब हो जाता है घातक? इन लक्षणों को ना करें नजरअंदाज #Dengue

28-10-2021 08:00:00

डेंगू बुखार कब हो जाता है घातक? इन लक्षणों को ना करें नजरअंदाज Dengue

Dengue Symptoms: डेंगू बुखार ( Dengue fever) डेंगू वायरस से संक्रमित एडीज मच्छर ( Dengue mosquito)के काटने से फैलता है. डेंगू बुखार की चपेट में बड़े-बुजुर्ग से लेकर बच्चे तक भी आसानी से आ जाते हैं. इसके लक्षण हल्के से लेकर गंभीर भी होते हैं जो कभी-कभी जानलेवा हो जाते हैं. आइए जानते हैं कि डेंगू बुखार कब गंभीर हो जाता है.

स्टोरी हाइलाइट्सगंभीर डेंगू के लक्षणलापरवाही पड़ सकती है भारीलक्षणों पर जल्दी दें ध्यानDengue Symptoms: पिछले कई सालों की तुलना में इस साल पूरे देश में डेंगू के मामले (Dengue cases in india 2021) तेजी से बढ़ रहे हैं. डेंगू बुखार (Dengue fever)डेंगू वायरस से संक्रमित एडीज मच्छर (Dengue mosquito) के काटने से फैलता है. डेंगू बुखार की चपेट में बड़े-बुजुर्ग से लेकर बच्चे तक भी आसानी से आ जाते हैं. इसके लक्षण हल्के से लेकर गंभीर भी होते हैं जो कभी-कभी जानलेवा हो जाते हैं. आइए जानते हैं कि डेंगू बुखार कब गंभीर हो जाता है.

Petrol, Diesel Price : एक महीने में 14 डॉलर सस्ता हुआ कच्चा तेल, यहां पेट्रोल-डीजल के दाम जस के तस केरल में CPM नेता की हत्या, पार्टी ने RSS को ज़िम्मेदार ठहराया - BBC Hindi पिछले पांच सालों में छह लाख से अधिक हिंदुस्तानियों ने छोड़ी भारतीय नागरिकता: केंद्र

डेंगू के घातक रूप (Severe dengue)-डेंगू संक्रमण चार अलग-अलग स्ट्रेन के वायरस से फैलता है जिन्हें सीरोटाइप कहा जाता है. ये चारों अलग-अलग तरीके से एंटीबॉडी को प्रभावित करते हैं. स्ट्रेन के हिसाब से डेंगू घातक रूप भी ले सकता है जैसे कि डेंगू हेमरेजिक फीवर (DHF) और डेंगू शॉक सिंड्रोम (DSS). इन्हें गंभीर डेंगू भी कहा जाता है. हालांकि, डेंगू का ये रूप बहुत कम लोगों में मिलता है. गंभीर डेंगू किसी को भी हो सकता है लेकिन इसका सबसे ज्यादा खतरा बच्चों को होता है. WHO के मुताबिक, शुरुआती लक्षणों को पहचान कर सही से इलाज कराने से मृत्यु दर एक फीसदी से कम हो जाता है.

घातक डेंगू के लक्षण (Symptoms of severe dengue)-डेंगू की शुरुआत तेज बुखार, सिर दर्द, आंखों के पीछे दर्द, जोड़ों और मांसपेशियों में तेज दर्द, थकान, मितली, उल्टी, त्वचा पर लाल चकत्ते और भूख ना लगने जैसे लक्षणों से होती है. कई दिनों के बाद, आमतौर पर 3-7 दिनों के बाद मरीज में गंभीर डेंगू के लक्षण आ सकते हैं. जैसे कि पेट में तेज दर्द, तेजी से सांस लेना, लगातार उल्टी, उल्टी में खून आना, पेशाब में खून आना, बॉडी में लिक्विड जम जाना, मसूड़ों और नाक से खून बहना, लिवर में दिक्कत, प्लेटलेट काउंट का तेजी से गिरना और सुस्ती, बेचैनी महसूस होना. ऐसी स्थिति में मरीज को तुरंत अस्पताल में भर्ती करने जरूरत पड़ती है. headtopics.com

गंभीर डेंगू होने पर क्या होता है-अगर मरीज को गंभीर डेंगू हो जाता है तो उसकी स्किन और शरीर के अन्य हिस्सों में ब्लीडिंग स्पॉट पड़ने लगते हैं और ब्लड प्लाज्मा से रिसाव होने लगता है. गंभीर डेंगू बुखार से फेफड़े, लीवर या दिल को नुकसान पहुंचता है. मरीज अचेत अवस्था में पहुंच जाता है. कभी-कभी ब्लड प्रेशर अचानक खतरनाक स्तर पर नीचे चला जाता है कि जिससे मरीज को शॉक लग जाता है और कुछ मामलों में इससे मौत भी हो सकती है. जिन लोगों को पहले से कोई बीमारी हो उनमें गंभीर डेंगू होने का खतरा ज्यादा होता है.

गंभीर डेंगू का इलाज (Treatment for severe dengue)-गंभीर डेंगू का कोई सटीक इलाज नहीं है. डेंगू बुखार के इस रूप से पीड़ित व्यक्ति को आईसीयू में इलाज की जरूरत पड़ सकती है. यहां लक्षणों के आधार पर ब्लड या प्लेटलेट ट्रांसफ्यूजन, इंट्रावेनस फ्लूइड और ऑक्सीजन थेरेपी से मरीज का इलाज किया जा सकता है. इलाज में देरी से मरीज के कई अंग फेल हो सकते हैं और जान जाने का खतरा बढ़ जाता है. इसलिए डॉक्टर्स डेंगू के किसी भी लक्षण को गंभीरता से लेने की सलाह देते हैं.

हल्के लक्षण वाले डेंगू का इलाज (Dengue treatment)-अगर डेंगू ज्यादा गंभीर नहीं है तो कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है. इसमें खूब आराम करना चाहिए. खून में प्लेटलेट्स की नियमित रूप से जांच करवाएं. शरीर में पानी की बिल्कुल कमी ना होने दें और खूब सारा लिक्विड डाइट लें. इस समय नारियल पानी पीना सबसे अच्छा होता है. ये प्लेटलेट्स बढ़ाने का भी काम करता है. इसके अलावा गिलोय, पपीता, कीवी, अनार, चुकंदर और हरी सब्जियों को डाइट में शामिल करें. डॉक्टर के संपर्क में रहें और अपने प्लेटलेट्स की जानकारी उन्हें देते रहें. किसी भी तरह की दिक्कत होने या प्लेटलेट्स गिरने पर डॉक्टर आपको अस्पताल में भर्ती होने की भी सलाह दे सकते हैं.

Live TV और पढो: आज तक »

जरूरत की खबर: मोबाइल पर ज्यादा समय बिताने से बच्चे हो रहे ओवर डेवलपमेंट का शिकार ; जानिए क्या हैं इससे बचने के तरीके

आजकल बच्चे क्लास के अलावा असाइनमेंट, रिसर्च और एंटरटेनमेंट के लिए मोबाइल या लैपटॉप का इस्तेमाल करते हैं। इससे उनका स्क्रीन टाइम कहीं ज्यादा बढ़ गया है। बच्चों का मोबाइल के साथ ज्यादा वक्त बिताने से उन पर नेगेटिव असर हो रहा है। | Children are becoming victims of over development due to spending more time on mobile. Know what are the ways to avoid it

खांसी-जुकाम-बुखार से राहत देंगी ये 7 नेचुरल चीजेंसर्दी के मौसम में बैक्टीरियल इंफेक्शन की वजह से खांसी, सर्दी, जुकाम और बुखार जैसी दिक्कतें बढ़ जाती है. ठंड के मौसम में इम्यूनिटी स्लो होने की वजह से भी हमारा शरीर इन बीमारियों से लड़ नहीं पाता है.आइए यहां हम आपको हम 7 ऐसी नैचुरल चीजों के बारे में बताते हैं जो सर्दियों में ऐसी बीमारियों से हमारा बचाव कर सकती हैं.

Platelet Count: प्लेटलेट काउंट तेजी से बढ़ाती हैं ये चीजें, डेंगू जैसी बीमारी में ये 5 गलती करने से बचेंPlatelet Count: कुछ लोगों को थ्रोम्बोसाइटोपेनिया होता है या डेंगू जैसे बुखार में शरीर की प्लेटलेट्स घट जाती हैं जिसे बढ़ाना बहुत जरूरी है. डॉक्टर्स कहते हैं कि शरीर का प्लेटलेट्स काउंट डेढ़ लाख से साढ़े चार लाख तक होना चाहिए. फोलेट, विटामिन-बी12, विटामिन-सी, विटामिन-डी और विटामिन-के से भरपूर चीजें प्लेटलेट काउंट को बढ़ा सकती हैं.

Coronavirus LIVE News : अस्पतालों में 80 फीसदी मरीज... दिल्ली में तेजी से बढ़ रहे डेंगू केस, यूपी में भी दहशतचीन में कोरोना वायरस के मामले फिर से बढ़ रहे हैं। चीनी अधिकारी इसके पीछे डेल्टा के नए वैरिएंट को वजह बता रहे हैं। वहीं भारत में कोरोना वायरस के नए वैरिएंट एवाई.4 से अभी कोई खतरा नहीं है। कोशिकीय एवं आणविक जीव विज्ञान केंद्र (सीसीएमबी) के पूर्व निदेशक राकेश मिश्रा ने सोमवार को कहा कि कोरोना वायरस के डेल्टा प्रकार के ‘सब-लिनियेज’ एवाई.4 की संक्रामक दर डेल्टा से अधिक होने का कोई साक्ष्य मौजूद नहीं है। उन्होंने कहा कि यह उक्त वायरस का कोई नया प्रकार नहीं है। मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में छह लोग एवाई.4 से संक्रमित पाए गए हैं। कोरोना से जुड़े पल-पल के अपडेट के लिए बने रहिए नवभारतटाइम्स ऑनलाइन के साथ

अलीगढ़ में डेंगू का प्रकोप, बाजार से गायब हो रहा मलेरिया का इंजेक्शन, जानिए वजह Aligarh newsचौंकिए नहीं यह सच है। जिले में भले ही डेंगू का प्रकोप हो लेकिन बाजार से गायब एंटी मलेरियल इंजेक्शन ‘आर्टिसुनेट’ हो रहा है। दरअसल कोरोना की तरह डेंगू की कोई निर्धारित दवा या उपचार नहीं है। लिहाजा झोलाछाप और कुछ डाक्टर रोगियों को विकल्प ‘आर्टिसुनेट’ इंजेक्शन दे रहे हैं। गंदा पानी न जमा होने दें साफ सफाई का ध्यान रखें narendramodi PMOIndia AmitShah BBCHindi BBCBreaking BBCNews BBCIndia BBCPolitics PMOIndia_RC myogiadityanath myogioffice OfficeofSSC RajatSharmaLive BJP4UP AMISHDEVGAN Republic_Bharat BJP4UP RajatSharmaLive

Mobile Data Usage: कोरोना और डेंगू ने बढ़ा दी 45 गुना मोबाइल डाटा खपत, तभी आटा से सस्‍ता हुआ डाटाआगरा में हर महीने एक यूजर 880 म‍िनट करता है उपयोग 129.93 रुपए खर्च कर 12.15 जीबी डाटा का लेता है लाभ। आगरा जिला में भारतीय दूरसंचार विनियामक प्राधिकरण (ट्राई) के अनुसार अगस्‍त तक मोबाइलधारक व टेलीफोन धारक की संख्‍या क्रमश 49.3 लाख व 85 हजार हो चुकी है।

केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने दी शाहरुख खान को सलाह- बेटे आर्यन को एक महीने के लिए नशा मुक्ति केंद्र भेजेंकेंद्रीय मंत्री रामदास अठावले (Union Minister Ramdas Athawale) ने मंगलवार को कहा कि फिल्म उद्योग में सबसे ज्यादा ड्रग्स की बिक्री होती है. इसमें बदलाव लाने की जरूरत है. उन्होंने कहा कि ड्रग्स लेने वालों को अरेस्ट नहीं करना चाहिए. बल्कि उन्हें रिहैबिलिटेशन सेंटर भेजा जाना चाहिए. Follow the twitter handles of 'All India Trinamool Congress' from all over India 👇👇👇 AITCofficial AITC4Gujarat AITC4Goa AITC4Tripura AITC4Jharkhand AITC4Assam AITC4Bihar AITC4UP AITC4Delhi BanglarGorboMB AITC_Parliament ANewDawnForGoa जब कोई बड़ा आदमी फसता है तो कानून में संशोधन होने लगता है। केंद्रीय मंत्री रामदास अठावाले जी को.... सबसे पहले नशा मुक्ति केंद्र भेजना चाहिए.... क्योंकि मंत्रीजी नशे की हालत में कुछ तो भीं बयान दे देते हैं.... 😂😄😁😃