Delhi Violence: दिल्ली विधानसभा में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का पूरा बयान यहां पढ़ें

Caa, Delhi, Delhiviolence, Caaprotests, Delhicaaclashes, दिल्ली हिंसा, अरविंद केजरीवाल, Delhi Cm, दिल्ली के मुख्यमंत्री, Caa, Caa का विरोध

नई दिल्ली. उत्तर पूर्वी दिल्ली में नागरिकता कानून (CAA) को लेकर फैली हिंसा में अब तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हो चुके हैं.

Caa, Delhi

2/27/2020

CAA को लेकर Delhi में फैली हिंसा में अब तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हो चुके हैं. Delhi Violence Delhi Police CAA Protests Delhi CAA Clashes ArvindKejriwal

नई दिल्ली. उत्तर पूर्वी दिल्ली में नागरिकता कानून ( CAA ) को लेकर फैली हिंसा में अब तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हो चुके हैं.

Feb 27, 2020, 07:18 AM IST ट्रेंडिंग न्यूज़ नई दिल्ली. उत्तर पूर्वी दिल्ली में नागरिकता कानून (CAA) को लेकर फैली हिंसा में अब तक 27 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हो चुके हैं. इस मामले की जानकारी देते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को विधानसभा में क्या कहा, यहां पढ़ें उनका पूरा भाषण... "माननीय उपराज्यपाल महोदय ने बहुत ही सुंदर अभिभाषण दिया था, जिसमें उन्होंने एक सुंदर विकसित आधुनिक दिल्ली का नक्शा देश के सामने प्रस्तुत किया। पिछले तीन दिन में दिल्ली के बारे में पूरी दुनिया भर में दो किस्म की तस्वीरें सामने आई हैं. पूरी दुनिया भर में दो तरह की खबरें छपी हैं. एक खबर है, ‘‘दिल्ली की खुशी के बारे में, दिल्ली के बच्चों के बारे में, दिल्ली के सरकारी स्कूलों के बारे में. इस दुनिया के सबसे शक्तिशाली व्यक्ति यूएसए के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प की पत्नी श्रीमती मेलानिया ट्रम्प दिल्ली के सरकारी स्कूल में आईं. मुझे लगता है कि आजाद भारत के 70 साल के इतिहास में पहली बार हुआ कि अमेरिका के राष्ट्रपति क्या, पूरी दुनिया के किसी भी देश के राष्ट्रपति या प्रधानमंत्री की पत्नी हमारे किसी भी सरकारी स्कूल में आई हों. अमेरिकी राष्ट्रपति की पत्नी दिल्ली के सरकारी स्कूल में हैप्पीनेस क्लास अटेंड करने के लिए आईं और हैप्पीनेस क्लास अटेंड करने के बाद उन्होंने कहा कि इस तरह की हैप्पीनेस क्लास केवल भारत के नहीं, केवल अमेरिका के नहीं, पूरी दुनिया के हर स्कूल के अंदर होनी चाहिए. मुझे लगता है कि यह हमारे पूरे देश के लिए काफी गौरव की बात है। यह एक खबर पूरी दुनिया के सभी अखबरों में छपी. वहीं, दूसरी खबर छपी कि जब डोनाल्ड ट्रम्प देश का दौरा कर रहे थे, तब दिल्ली जल रही थी. दिल्ली के दंगों की खबर छपी. दिल्ली के अंदर नफरत की खबर छपी. भाई और भाई के बीच लड़ाई की खबर छपी। दुकानें जलने की तश्वीरें छपी, मार्केट के मार्केट उजाड़ दिए गए. लोगों के घर उजाड़ दिए गए, उसकी तश्वीरें पूरी दुनिया के अंदर छपी. हम सब दिल्ली वालों को यह सोचना है कि हमें कौन की तश्वीर चुननी है. यह बहुत नाजुक समय है और हम सब को मिल कर सोचना है कि हमें कौन की तश्वीर मंजूर है. हमारा ही एक भाई हेड कांस्टेबल श्री रतन लाल शहीद हो गए. वह क्यों शहीद हुए. वह किसी हिन्दू को बचाने के लिए शहीद नहीं हुए. वह किसी मुस्लिम को बचाने के लिए शहीद नहीं हुए, वह इस मुल्क को बचाने के लिए शहीद हुए. वह भारत को बचाने के लिए शहीद हुए. उन्होंने अपनी जान दे दी और कोई भी जान बहुत कीमती होती है. आज इस पूरे सदन की तरफ से, पूरी दिल्ली सरकार की तरफ से और पूरे दिल्ली के लोगों की तरफ से मैं उनके परिवार को यह आश्वासन देना चाहता हूं कि आपके बेटे की सहादत हम किसी भी हालत में बेकार नहीं जाने देंगे. रतन लाल जी, दिल्ली की उस तश्वीर के लिए शहीद हुए, जिसमें मेलानिया ट्रम्प हमारे दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में आती हैं. वह दिल्ली के नफरत वाली तश्वीर के लिए शहीद नहीं हुए. मैं उनके परिवर को इस सदन की तरफ से आश्वासन देना चाहता हूं कि आपकी पूरी जिन्दगी की जिम्मेदारी अब हमारी है. आप बिल्कुल चिंता मत करना. मैं सारी पार्टियों की तरफ से यह आश्वासन देता हूं कि यह सदन और सरकार आपका ख्याल रखेगी. आज सुबह एक न्यूज चैनल में सुना कि केंद्र सरकार शायद एक करोड़ रुपये सम्मान राशि दे रही है. दिल्ली सरकार भी पहले से नीति है. दिल्ली सरकार उनके परिवार को एक करोड़ रुपये की सम्मान राशि देगी और उनके परिवार के एक व्यक्ति दिल्ली सरकार नौकरी देगी. पिछले तीन दिनों से यह घटनाएं जो घटी, वह क्यों हुई और कौन करा रहा है? दिल्ली के लोग बहुत अच्छे हैं. दिल्ली के लोगों को अमन चैन पसंद है. दिल्ली के लोग प्यार और मोहब्बत की जिंदगी जीना चाहते हैं. दिल्ली में सभी धर्म के लोग कितने दशकों से भाई चारे से रहते आए हैं. हिन्दू-मुस्लिम, सिक्ख-ईसाई, ब्राह्मण बनिये, इस जाति के, उस जाति के, अमीर व गरीब लोग अपनी जिंदगी सकून से जीना चाहते हैं. अपने बच्चों को पालना चाहते हैं. हम अपनी रोजी रोटी कमाना चाहते हैं. हमें दंगे फसाद नहीं चाहिए. बच्चों का भविष्य बनाना है. दिल्ली को सुंदर बनाना है. यही हमारा भविष्य है. पिछले तीन दिन में जो कुछ हुआ, वह क्यों हुआ. यह दिल्ली के आम आदमी ने नहीं किया. यह कुछ बाहरी तत्वों ने, कुछ राजनीतिक तत्वों ने और कुछ उपद्रवी तत्वों ने व असामाजिक तत्वों के लोगों की कारस्तानी है कि दिल्ली के कुछ इलाके जल रहे हैं. हम सुन रहे हैं कि हिन्दू और मुसलमान के झड़गे हैं. लेकिन हिंदू और मुसलमान दिल्ली में नहीं लड़ रहे हैं. हिन्दू और मुसलमान दिल्ली में लड़ना नहीं चाहते हैं. इन दंगों से किसका नुकसान हुआ? इन दंगों से सबका नुकसान हुआ. इन दंगों में कौन मरा? 20 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई. वीर भान की मौत हो गई. वीरभान हिंदू था. मोहम्मद मुबारक की मौत हो गई, वह मुसलमान था. प्रवेश की मौत हो गई, वह हिंदू था. जाकिर की मौत हो गई, वह मुसलमान था. राहुल सोलंकी की मौत हो गई, वह हिंदू था. शाहिद की मौत हो गई, वह मुसलमान था. मोहम्मद फुरकान की मौत हो गई, वह मुसलमान था. राहुल ठाकुर की मौत हो गई, वह हिंदू था. मौत तो हिन्दुओं की भी हो गई और मुसलमानों की भी हो गई. पुलिस वालों की भी मौत हो गई. फायदा किसका हुआ? इसी तरह कुछ घायल लोगों की लिस्ट है. राकेश हिंदू है, मोहम्मद सलीम मुसलमान है, देवदास हिंदू है, नदीम मुसलमान है. तो नुकसान तो सबका हो रहा है. हिन्दुओं का भी हो रहा है और मुसलमानों का भी हो रहा है. अब राहुल सोलंकी दूध लेने के लिए घर से निकला था और उसको गोली लग गई. अब उसकी मां को जाकर अगर आप कहोगे कि माता जी चिंता न करो, हमने 10 मुसलमान मार दिए, बदला ले लिया. उसकी मां को लेना-देना हिन्दू-मुसलमान से, उसकी मां को क्या लेना-देना 10 मार दिए की 20 मुसलमान मार दिए, उसका बेटा तो चला गया. अब उसके घर में राहुल सोलंकी तो नहीं है. शाहीद खान रिक्शा चलाता था, शाहीद खान की मां के पास जाकर कहो कि मां जी चिंता न करो, हमने 10 हिंदू मार दिए, उसकी मां को क्या लेना-देना कि 10 हिंदू मार दिए या 20 हिन्दू मार दिए. दिल्ली के अंदर जीने वाला जो आम आदमी है, वह पिसा और दंगा करने वाले बाहर के लोग हैं, राजनीतिक लोग हैं. पिछले दो-तीन दिन में हम जो कर सकते थे, हम सब लोगों ने मिल कर कोशिश की. कल पूरी रात मैं जगा रहा था. हमारे साथी भी पूरी कोशिश कर रहे थे. जहां जहां से फोन आ रहे थे. जहां-जहां पुलिस की मदद मिल पाई, हमने पुलिस की मदद से फंसे हुए कई परिवारों को निकालने की कोशिश की. पुलिस से भी पिछले दो-तीन दिनों में कई बार सहायता मिली, कई बार उनके पास फौज कम थी। जैसा हमने देखा, एक पुलिस कांस्टेबल शहीद हो गया, एक डीसीपी अमित शर्मा जी से मैक्स अस्पताल में मिलने गया था. उनका सर फोड़ा गया था. उनके ब्रेन की चार घंटे सर्जरी हुई है. उनके पूरे परिवार से मिला. उनका तो पूरा परिवार ही एक तरह से दहशत में था. वहीं पर एक एसीपी भी था. वहां पर करीब 50 पुलिस वाले भर्ती हैं. एक आइबी अधिकारी अंकित शर्मा जी का नाले में शव मिला. मेरी समझ में पुलिस ने स्थिति को संभालने की पूरी कोशिश की, लेकिन माहौल इतना ज्यादा बड़ा था कि संख्या कम थी. कुछ पुलिस वाले कह रहे थे कि उपर से आर्डर नहीं मिले कि आप कार्रवाई कर सकते हो या नहीं कर सकते हो. लेकिन कई सारे वीडियो भी वायरल हो रहे थे, जिसमे कहीं कहीं पर कुछ पुलिस वाले उपद्रवियों की मदद कर रही थी. अगर ऐसे लोग हैं, तो उनकी जांच होनी चाहिए. बीजेपी के विधायकों से भी कल मेरी बैठक हुई थी, हमारे विधायकों से भी बात हुई. ज्यादातर विधायक जमीन पर थे, अपने-अपने क्षेत्र में घूम रहे थे. मुझे सुनने को मिला कि कई जगह विधायकों और कार्यकर्ताओं की कोशिश की वजह से दंगे रुके. कई जगहों पर अफवाहें फैली हुई थीं, उन अफवाहों को जब बताया गया, तो उनको रोकने की कोशिश की. सभी विधायकों के जो इनपुट आए, उसे लेकर गृहमंत्री जी के पास गए. गृहमंत्री जी ने सभी दलों की बैठक बुलाई, अस्पतालों का हम सभी ने दौरा किया. मैने भी किया, विधायकों ने भी किया. एलजी साहब ने भी दौरान किया. मै खुद मॉनिटर कर रहा था और स्वास्थ्य मंत्री कार्यालय से लगातार मॉनिटरिंग की जा रही थी. जहां जरूरत पड़ी एंबुलेंस भेजा गया. जो भी हमारे हाथ में था, वो हमने किया, लेकिन आज दिल्ली के लोगों के सामने दो विकल्प है. एक विकल्प यह है कि हम सारे लोग एक साथ खड़े हो जाए. हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख व ईसाई सभी धर्म व जाति के लोग एक साथ खड़े होकर दिल्ली का सुनहरा भविष्य बनाने की कोशिश में लग जाएं और दूसरा विकल्प यह है कि एक-दूसरे को मारे और एक-दूसरे के कितने मार दिए और अपने कितने मर गए, एक-दूसरे की लाशें गिनने का काम करें. आधुनिक दिल्ली, विकसित दिल्ली किसी भी हालत में लाशों के उपर नहीं बन सकती. मुझे लगता है कि अब पूरी दिल्ली को मिल कर कह देना चाहिए. पूरी दिल्ली क्या पूरे देश को मिल कर कह देना चाहिए कि बस अब बहुत हो गया. अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. यह नफरत की राजनीति बर्दाश्त नहीं की जाएगी, अब यह भाई से भाई को लड़ाने की राजनीति बर्दाश्त नहीं की जाएगी, दंगों की राजनीति बर्दाश्त नहीं की जाएगी. अब दुकानें जलाने की, मां-बहनों के साथ गलत काम करने की, घर जलाने की राजनीति बर्दाश्त नहीं की जाएगी. दिल्ली के कई इलाकों से बहुत अच्छी अच्छी और दिल को खुश कर देने वाली कहानियां भी सुनने को मिली. कहीं पता चला कि हिंदू इलाके में एक मुसलमान रहता है. सारे हिंदुओं ने मिल कर उसको बचाया. कहीं पता चला कि मुसलमान इलाके में एक हिंदू रहता है, सारे मुसलमानों ने मिल कर उसकी जान बचाई. ये दिल्ली वाले हैं. ये आम दिल्ली के नागरिक हैं. हमारा भविष्य इन्हीं के भरोसे आगे बढ़ सकता है. स्थिति बहुत नाजुक है. आज सुबह भी मैने गृहमंत्री जी से निवेदन किया था और अब इस सदन के माध्यम से मैं फिर से उनसे अपील करना चाहता हूं कि अगर दिल्ली में स्थिति को काबू करने के लिए जरूरी लगता है कि आर्मी को बुलाया जाए और जितने प्रभावित एरिया बच गए हैं, वहां पर भी कफ्र्यू जल्द से जल्द लगाया जाए, ताकि स्थिति समान्य हो सके. मैं दिल्ली के लोगों को इस सदन से सारी पार्टियों की तरफ से आश्वस्त कराना चाहता हूं कि हमारी तरफ से किसी तरह की कोई कमी नहीं होगी। आप सब लोग एक-दूसरे के प्रति यह हिंसा छोड़िए. सब लोग अपने-अपने घर में जाइए और अपनी जिंदगी दुबारा जीने की कोशिश कीजिए और बाहर से कोई बाहरी तत्व आकर आपकी शांति भंग करने की कोशिश करते हैं, तो तुरंत उसकी जानकारी पुलिस को दीजिए." Tags: और पढो: Zee News Hindi

'अनियोजित लॉकडाउन' पर भड़कीं सोनिया, कहा- दुनिया के किसी देश ने ऐसा नहीं किया



गुजरात के 1800 लोग हरिद्वार में फंसे थे, अमित शाह और रूपाणी के कहने पर लग्जरी बसों से सीधे घर पहुंचा दिए गए

Coronavirus: इंदौर की घटना से दुखी हुए मशहूर शायर राहत इंदौरी, कहा- शर्मिंदगी से गर्दन झुक गई



हैदराबाद : कोरोनावायरस के मद्देनजर अस्पताल में क्वारैन्टाइन किए गए लोगों ने वार्ड में साथ पढ़ी नमाज़

तीन दिन से एक भी पॉजिटिव केस नहीं आया, यहां 26 संक्रमितों में से अब 13 की रिपोर्ट निगेटिव आई



कोरोना: गुजरात ने चीन को पीछे छोड़ा, केवल छह दिनों में बनाया 2200 बेड का अस्पताल

WHO के चीफ ने की PM नरेंद्र मोदी की तारीफ, भारत सरकार के इन 3 फैसलों का किया जिक्र



DelhiPolice ArvindKejriwal Bkvaas cm h DelhiPolice ArvindKejriwal ✋जो किरदार कांग्रेस पार्टी निभाता था आज वही काम आम आदमी पार्टी कर रहा हैं.👇👇 😍कुछ लोगों को देर लगती हैं संभलने में और समझने में.😀😍 DelhiPolice ArvindKejriwal दिल्ली की जनता इस नौटंकीबाज को सजा जरूर देगी। DelhiPolice ArvindKejriwal दंगा पीड़ितों को सभी प्रकार की सहायता तुरंत देने की आवश्यकता हैं। भ्र्ष्टाचार रहित सहायता क्या आप सरकार दे पायेगी ?

DelhiPolice ArvindKejriwal Ab kejeriwal Ka pet Bhar gya DelhiPolice ArvindKejriwal साफ साफ दिखाई दे रहा है ताहिर हुसेन क्या किया फिर भी केजरीवाल चुप है अगर पुलिस कुछ करती तो अभी केजरीवाल धरने पे बैठा होता । DelhiPolice ArvindKejriwal 34 DelhiPolice ArvindKejriwal DelhiPolice ArvindKejriwal Sale khujirwal , public court me aa jao , people of India will give you chapal slap only to teach you good lesson .

DelhiPolice ArvindKejriwal Kejriwal कन्हैया की फ़ाइल क्यों दबा के बैठा? DelhiPolice ArvindKejriwal Kaha Gaye camre or bus marsal kisi ko pakfa Kya ahi tak. Agar camre hote to drone ki jarurat nahi padti Delhi me

Delhi CAA Clash: दिल्ली में कैसे हुई हिंसा की शुरूआत, जानिए इसके बारे में सब कुछशनिवार रात सैकड़ों महिलाएं जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के पास CAA के खिलाफ धरने पर बैठ गईं. धरना प्रदर्शन की वजह से सड़क बाधित हो गई. पुलिस ने प्रदर्शनकारियों से हटने की अपील की, लेकिन वह नहीं माने. जिसके बाद बीजेपी नेता कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) ने रोड ब्लॉक किए जाने के खिलाफ एक वीडियो पोस्ट कर CAA समर्थकों से रविवार दोपहर तीन बजे मौजपुर चौक आने को कहा. urban naxali ka janch hona chahiye delhi ko aaj hinsha ki muh pe dhakalne walle PFI SIMI URBAN NAXALI GANG he Blame d orange flags....Arghhhhh those r Carets 😭😭😭😭 जे भूतनी के तू बोल रहा है ऐसी खबरों से ही तो तेरी ये भांड की दुकान चलती है नही तो कुत्ता भी तूने ना पूछे🕵️😎

DelhiPolice ArvindKejriwal कहा गेये वो दिल्ली के कैमेरे जो लोगो की सुरक्षा के लिए लगाए थे DelhiPolice ArvindKejriwal कोंग्रेस और आम आदमी पार्टी ने जो पेट्रोल पिछले तीन महीनो से मुसलमानो के दिमाग में CAA को लेकर भरा ये सारा फसाद उसी का परिणाम है 😡😡 DelhiPolice ArvindKejriwal केजरीवाल भी गांधी परिवार और कांग्रेस के कल्चर पर चल रहा है।

DelhiPolice ArvindKejriwal App ka sath dangaio ke sath. TejpalRawat14 DelhiPolice ArvindKejriwal हाय तौबा करना .. अधिकार है जिन्नवाली आजादी .. अधिकार है रोड बंद ...... अधिकार है मेट्रो स्टेशन बंद ... अधिकार है दो डंडे पड़ते ही .. मानवाधिकार है .... मजाक बना दिया है देश का .. इसमें ताहिर हुसैन जिक्र क्यों नहीं?

DelhiPolice ArvindKejriwal इसी के नेताओं का कारनामा है सारा दिल्ली में क्या दिखाई नहीं देता इसे DelhiPolice ArvindKejriwal Ratan lal शहीद नहीं हुए उन्हें मरा गया है। DelhiPolice ArvindKejriwal केजरीवाल जी इस्तीफा दे दीजिए आप अपने नेताओं और वोटरों पर सख्ती से कार्यवाही नहीं कर पाओगे। दिल्लीहिंसा ArvindKejriwal ZeeNews

DelhiPolice ArvindKejriwal भारत की राजनीति का सबसे कमीना आदमी केजरीवाल है, इसके टक्कर की केवल सोनिया गांधी है। DelhiPolice ArvindKejriwal CAA लेकर इतना दंगा कियू ? केया प्रताड़ित हिंदू,सिख, कट्ठ र इस्लामिक देशों से अपने देश आ नहीं सकते ? ये वादा तो नेहरू, गांधी ने किया था ?2008 में मनमोहन सिंह ने भी कहा ! फिर आज सोनिया कियू लोगों को भड़का रही है ? तो केया यह खेल शुरू से आजतक कांग्रेस ही तो नहीं खेल रही है ?

Delhi Violence: सीएए पर दिल्ली में भड़की हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज Delhi Violence : सीएए पर दिल्ली में भड़की हिंसा पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज Delhi Riots Delhi Burning SupremeCourt Delhi CAA Clashes Delhi Burns ratan lal shaheed ka jimma kiya suprimcourt lengai jo log jihad aatankwadi se aage nehi sochte chale unko samjhane आज? यानी अभी। या कल 🤔 कुछ न होगा।

DelhiPolice ArvindKejriwal दिल्ली बन गई सीरिया DelhiPolice ArvindKejriwal ArrestTahirHussain DelhiPolice ArvindKejriwal और मरो फ्री का धन खाकर ? DelhiPolice ArvindKejriwal केजरीवाल जीता था तो पाकिस्तान बहुत खुश हुआ था क्यों। दिल्ली के लोगो को ये सब बाते क्यों नहीं समझ में आती। एक दुश्मन देश क्यों केजरीवाल को जितना चाहता था ।

DelhiPolice ArvindKejriwal International media dekho Sahi news pata Chalaiga... Hindi news means darbari media DelhiPolice ArvindKejriwal इसके ही पार्टी के लोग दिल्ली को जला रहे, सारा सच सामने आगया है, इसके विधायक तो पहले ही आधे से ज्यादा दागी थे, दिल्ली वालों तुमने ये क्या कर लिया, DelhiPolice ArvindKejriwal गाली देने का मन कर रहा इसे, 🙄 ये वही था न जो सपोर्ट करता था Anti CAA को,

DelhiPolice ArvindKejriwal Bayan me apni galti hi qubool kar lete to kam se kam ye to lgta ki banda imaandar hai. DelhiPolice ArvindKejriwal इस चूतिये का बयान पढ़े? साला दंगे की आग में हाथ सेक रहा है भोसड । DelhiPolice ArvindKejriwal Mubarak ho kejriwal ye hi to tum chahte the.

Delhi Violence: शाहीन बाग में धरना और दिल्ली में हुई हिंसा पर ऐसे चली बहसदिल्ली में भड़की हिंसा पर हाई कोर्ट में बुधवार को सुनवाई हुई. इस दौरान दिल्ली हाई कोर्ट में कुछ महत्वपूर्ण सवाल भी उठाए गए. सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता हर्ष मंदर की ओर से उत्तर-पूर्वी दिल्ली में हुई हिंसा के मामलों की जांच के लिए एक विशेष जांच दल गठित करने की मांग की गई है. mewatisanjoo जितने भी व्यक्ति है भड़काऊ भाषण दे रहे हैं जल्द से जल्द गिरफ्तार करना चाहिए mewatisanjoo अमित शाह जी का इस्तीफा भी जरूरी mewatisanjoo प्रियंका और राहुल कि गिरफ्तारी भी होनी चाहिए। ये सब उन्होंने ही शुरू करवाया है।

DelhiPolice ArvindKejriwal DelhiPolice ArvindKejriwal Ha ha haa😀🤭 App bhi dusri bar inke CM shab ban chuke hai DelhiPolice ArvindKejriwal इन सब का कारण अरविंद केजरीवाल DelhiPolice ArvindKejriwal कमल शर्मा AAP का बहुत बड़ा समर्थक था सिसोदिया,संजय,दिलीप पांडेय, सोमनाथ इत्यादि के ट्वीट को अक्सर रिट्वीट करता था। कमल_शर्मा चिल्लाता रहा कि मैं केजरीवाल समर्थक हूं मेरी दुकान मत जलाओ जलाने वाले बोले तेरा शर्मा होना ही काफी है और उसका रेस्टोरेंट जला दिया गया।

DelhiPolice ArvindKejriwal Saara kiya dhara aapaprty Ka hai inke he logo ke burningdelhi DelhiPolice ArvindKejriwal भाई राजनीति में एक से एक घटिया इंसान देखे हैं पर लगता है के भारत की राजनीति में इस जैसा घटिया इंसान शायद ही हो,राजनीति को निम्न स्तर पर लाकर इस इंसान ने खड़ा कर दिया DelhiPolice ArvindKejriwal इस भड़वे का पूरा हाथ है, इसने , सिसोदिया और मुल्ले विधायक ने सड़के रोकने का समर्थन किया, लोगों को सडके बंद कर बंधक बनाने कि साजिश कि, और लोगों को मरवा दिया।

DelhiPolice ArvindKejriwal An Kya karoge danga karane wala AAP BIDHAYAK KATWA HAI DelhiPolice ArvindKejriwal Are all 27 hindus ...? DelhiPolice ArvindKejriwal ये सब इसी की लगाई हुई आग है। सत्ता के लिए इसने दिल्ली जलवा दी।

Delhi Violence Live: दिल्ली हिंसा में अबतक 106 लोग गिरफ्तार, 18 FIR दर्ज- पुलिस Delhi Violence Live Updates: दिल्ली में नागरिकता संशोधन कानून ( CAA ) के नाम पर हुई हिंसा में 22 लोगों की मौत हो चुकी है. हिंसा पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है. वहीं NSA अजीत डोभाल ने हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया और लोगों से बातचीत की. सलाम है न्यूज़ वालों को जो अपनी जान पर खेलकर न्यूज़ दिखा रहे हैं| दिल्ली पुलिस को योगी जी के मॉडल से दंगो पर काबू करने चाहिए। Needed to stop genocides

DelhiPolice ArvindKejriwal विधानसभा में बयानबाजी करने से नहीं होता ArvindKejriwal जी कार्यवाही के समय तो धरना देने राजघाट पर चले जाते हैं, दिल्ली जलाने वालों में AamAadmiParty का दंगाई पार्षद ताहिर हुसैन उसपर कार्यवाही कीजिए। ArrestTahirHussain BJP4India HMOIndia PMOIndia AmitShah DelhiPolice ArvindKejriwal केजरीवाल अपने ताहिर हुसैन पर लगाम नहीं लगा पाया। इसका पीएम बनने का सपना खतरनाक है,

DelhiPolice ArvindKejriwal केजरीवाल से नही हो रहा है तो किसी से मदद लेनी चाहिए... DelhiPolice ArvindKejriwal mukhya dongai tahir hussain amantullah khan arrest honge kob DelhiPolice ArvindKejriwal Resign kejariwal DelhiPolice ArvindKejriwal यह सब समुदाय विशेष की धार्मिक कट्टरता के कारण हुआ ,पहले ही सरकार को बलपूर्वक रोकने का उपाय करना था !

DelhiPolice ArvindKejriwal इनसे मिलिए ये हैं मुम्बई का कोई झाु नेता नाम है विनय_दूबे ये बोला है जो कपिल__मिश्रा को एक जुता मारेगा उसको 11000 हजार देगा। और चाहता हूँ कि इसके जैसे दोगले हिन्दू के मुँह पर 1 नहीं 11000 जूते पड़ने चाहिए। वैसे इस जैसे दोगला हिंदू अपने को हाईलाइट होने के लिए ये सब करता है।

DelhiPolice ArvindKejriwal for riots kangr wala feeding the milk to mullla DelhiPolice ArvindKejriwal दिल्ली CM अरविंद_केजरीवाल से अनुरोध है कि 15 लाख CCTV की फुटेज से दंगाइयों की पहचान करें DelhiPolice ArvindKejriwal Bjp ke Haar jane se hame koyi selry dene ko teyar nh hai hum logo ko date par date di jati hai lekin vision India selry nh dal rahi h So plz Help

Delhi Violence: दिल्ली पुलिस का दावा- काबू में हालात, अब तक 106 लोग गिरफ्तार, 18 FIR Delhi Violence: नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में सीसीटीवी फुटेज के आधार पर कार्रवाई जारी है. प्रभावित इलाकों में भारी संख्या में पुलिसबल तैनात किया गया है. ड्रोन कैमरे से निगरानी की जा रही है. Sahab parso hee jaag jate .. itne masoom nahi mare jate. पर कपिल मिश्रा कब गिरफ्तार होगा? Now it is too late. It doesn’t going to serve any purpose.

DelhiPolice ArvindKejriwal केजरीवाल इस्तीफा दे DelhiPolice ArvindKejriwal Hum ne police ko bhi bola likin unho ne koyi answer nh diya bola aap jano unho ne likh kar bhi diya lekin 8 feb ,15 feb,20feb,25feb,29feb,ab 6 March ka date diya h so plz Hell me Hum log problem main hain so I help you pls DelhiPolice ArvindKejriwal AAP का हाथ दंगायो के साथ

DelhiPolice ArvindKejriwal aajtak Hum log Students hai Abhi Hal hi main huye Delhi ke Election main Hum logo ko BJP ke project ke liye hame bhulaya gaya Hum logo ko Vision india jo ki Nodia sector 67 11 A main hai Usne Hame Hair kiya Aur Hame 15000 Pey par Bulaya tha lekin DelhiPolice ArvindKejriwal A Taher Hussain kon hy bhai

DelhiPolice ArvindKejriwal ये सब वारिस पठान और केजरीवाल सरकार की देन है

Delhi Violence: दिल्‍ली में हिंसा के कारण CBSE ने कल होने वाली अंग्रेजी की परीक्षा टालीदिल्‍ली में भड़की हिंसा के कारण सीबीएसई ने बुधवार को होने वाली बोर्ड परीक्षा को टाल दी है। इसकी अगले तारीख की जानकारी जल्‍द ही दी जाएगी।



#जीवनसंवाद : जिसके होने से फर्क पड़ता है!

मरकज से क्वारैंटाइन सेंटर लाए गए लोगों ने डॉक्टरों और स्टाफ पर थूका, गालियां दीं; एक ने खुदकुशी की कोशिश की

कोरोना वायरस: निज़ामुद्दीन मरकज़ के मरीज़ों की बाढ़ से कैसे निपटेगी दिल्ली

दाढ़ी ट्रिम करवा कर नए लुक में दिखे उमर अब्दुल्ला, JK डोमिसाइल नीति पर उठाए सवाल

प्रधानमंत्री मोदी की मां ने कोरोना राहत के लिए बनाए गए 'PM केयर्स फंड' में दान दिए इतने रुपये

पीएम ने राज्यों को विश्वास में लिया होता तो लॉकडाउन से इतनी अफ़रातफ़री नहीं होती: भूपेश बघेल

तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

26 फरवरी 2020, बुधवार समाचार

पिछली खबर

दिल्ली हिंसा पर सुनवाई करने वाले जस्टिस एस. मुरलीधर का तबादला

अगली खबर

Womens T20 World Cup: टीम इंडिया आज जीती तो मिल जाएगा सेमीफाइनल का टिकट
'अनियोजित लॉकडाउन' पर भड़कीं सोनिया, कहा- दुनिया के किसी देश ने ऐसा नहीं किया गुजरात के 1800 लोग हरिद्वार में फंसे थे, अमित शाह और रूपाणी के कहने पर लग्जरी बसों से सीधे घर पहुंचा दिए गए Coronavirus: इंदौर की घटना से दुखी हुए मशहूर शायर राहत इंदौरी, कहा- शर्मिंदगी से गर्दन झुक गई हैदराबाद : कोरोनावायरस के मद्देनजर अस्पताल में क्वारैन्टाइन किए गए लोगों ने वार्ड में साथ पढ़ी नमाज़ तीन दिन से एक भी पॉजिटिव केस नहीं आया, यहां 26 संक्रमितों में से अब 13 की रिपोर्ट निगेटिव आई कोरोना: गुजरात ने चीन को पीछे छोड़ा, केवल छह दिनों में बनाया 2200 बेड का अस्पताल WHO के चीफ ने की PM नरेंद्र मोदी की तारीफ, भारत सरकार के इन 3 फैसलों का किया जिक्र इंदौर: स्वास्थ्यकर्मियों पर हमले से शिवराज नाराज, कहा- आरोपियों को बख्शा नहीं जाएगा क्वारैंटाइन सेंटर में खाने-पीने के साथ ही मनोरंजन के लिए टीवी का इंतजाम, फिर भी बाहर से मंगाया जा रहा सामान जानें, कौन हैं मौलाना साद, जिनकी एक गलती से पूरे देश में फैला कोरोना! Coronavirus पर कांग्रेस ने बुलाई बैठक, राहुल गांधी बोले- गरीब और कमजोर वर्ग की मदद करें पार्टी नेता पीएम मोदी कल सुबह नौ बजे देशवासियों के साथ साझा करेंगे वीडियो संदेश
#जीवनसंवाद : जिसके होने से फर्क पड़ता है! मरकज से क्वारैंटाइन सेंटर लाए गए लोगों ने डॉक्टरों और स्टाफ पर थूका, गालियां दीं; एक ने खुदकुशी की कोशिश की कोरोना वायरस: निज़ामुद्दीन मरकज़ के मरीज़ों की बाढ़ से कैसे निपटेगी दिल्ली दाढ़ी ट्रिम करवा कर नए लुक में दिखे उमर अब्दुल्ला, JK डोमिसाइल नीति पर उठाए सवाल प्रधानमंत्री मोदी की मां ने कोरोना राहत के लिए बनाए गए 'PM केयर्स फंड' में दान दिए इतने रुपये पीएम ने राज्यों को विश्वास में लिया होता तो लॉकडाउन से इतनी अफ़रातफ़री नहीं होती: भूपेश बघेल तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की कोरोना संकट: मोदी सरकार नहीं बच सकती इन सवालों से भारत में कोरोना वायरस के 'हॉटस्पॉट' कैसे बने ये 10 इलाक़े क्या कोरोना संक्रमण फैलाने के लिए सिर्फ तबलीगी जमात के लोग ही जिम्मेदार? तबलीग़ी जमात: पूछताछ करने गई पुलिस पर हमला कोरोना वायरस: तबलीग़ी जमात, पुलिस, दिल्ली सरकार और केंद्र पर उठते सवाल