Delhilockdown, Covid 19, Coronaupdate, Coronavirus, Coronavaccine, Lockdown İn Delhi, Coronavirus, Lockdown Guidelines, Arvind Kejriwal, Delhi News İn Hindi, Latest Delhi News İn Hindi, Delhi Hindi Samachar

Delhilockdown, Covid 19

Delhi Lockdown: राजधानी में आज से लॉकडाउन, जानें किसे मिलेगी छूट और किस पर है पूर्ण पाबंदी

कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों से दिल्ली के स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई हैं। संक्रमण की चेन तोड़ने और स्वास्थ्य सेवाओं

20-04-2021 04:13:00

Delhi Lockdown: राजधानी में आज से लॉकडाउन, जानें किसे मिलेगी छूट और किस पर है पूर्ण पाबंदी DelhiLockdown Covid19 CoronaUpdate Coronavirus Coronavaccine drharshvardhan MoHFW_INDIA ArvindKejriwal

कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों से दिल्ली के स्वास्थ्य सेवाएं चरमरा गई हैं। संक्रमण की चेन तोड़ने और स्वास्थ्य सेवाओं

विज्ञापनदिल्ली में लगा लॉकडाउन- फोटो : ANIपढ़ें अमर उजाला ई-पेपरकहीं भी, कभी भी।ख़बर सुनेंख़बर सुनें को दुरुस्त करने के मकसद से दिल्ली सरकार ने एक सप्ताह का लॉकडाउन लगा दिया है। सोमवार रात 10:00 बजे से लागू बंदिशें अगले सोमवार सुबह पांच बजे तक चलेंगी। इस बीच आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को छूट दी गई है। वहीं, शादियों के लिए ई-पास जारी होंगे। इसका फैसला सोमवार सुबह उपराज्यपाल अनिल बैजल व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की बैठक में लिया गया। जानिए इस दौरान क्या-क्या बंद रहेगा और किसे मिलेगी छूट।

पश्चिम बंगाल में कोरोना से बदहाल और आतंकित हैं ग्रामीण इलाक़े - BBC News हिंदी ''छवि बनाने के अलावा जिंदगी में और भी बहुत कुछ है'' : क्‍या अनुपम खेर ने की केंद्र सरकार की आलोचना? पीएम केयर्स फंड का सारा पैसा मेडिकल उपकरणों में लगाएँ मोदी, 12 विपक्षी नेताओं की चिट्ठी - BBC Hindi

आईकार्ड होने पर इनको नहीं होगी मनाही- केंद्र सरकार के मंत्रालयों और दफ्तरों में काम करने वाले अफसर।- स्वास्थ्य, पुलिस, होम गार्ड, सिविल डिफेंस, फायर सर्विस, पानी, सफाई, पब्लिक ट्रांसपोर्ट, कोरोना संबंधी काम से जुड़े हुए लोगों को भी लॉकडाउन के दौरान छूट रहेगी।

-सभी जजों, वकीलों, अदालत में काम करने वाले लोगों को छूट मिलेगी।- सरकारी या प्राइवेट अस्पताल में काम करने वाले डॉक्टर, नर्स, स्टाफ को बाहर जाने की छूट। अस्पताल, लैब, मेडिकल ऑक्सीजन सप्लायर और इसी क्षेत्र से जुड़े अन्य लोगों को भी बाहर जाने की छूट।-कोरोना का टेस्ट करवाने जाने वाले, वैक्सीन लगवाने जाने वाले लोगों को भी छूट। headtopics.com

-एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन आने/जाने वाले लोगों को बाहर जाने की छूट।-मीडिया से जुड़े लोगों को बाहर जाने की छूट।-एक राज्य से दूसरे राज्य जाने वाले वाहनों को रोक-टोक नहीं।-प्रवेश पत्र के कोई भी अभ्यर्थी जा सकेगा बाहर।इनको भी मिलेगी छूट-सब्जी, फल, किराना, डेयरी, मीट, दवाई, न्यूज पेपर, इंटरनेट सर्विस, केबल सर्विस, आईटी सर्विस से जुड़े लोगों को छूट।

-बैंक, एटीएम खुले रहेंगे। ई-कॉमर्स की डिलीवरी चालू रहेगी. पेट्रोल पंप, एलपीजी, सीएनजी स्टेशन भी खुले रहेंगे।-पानी, बिजली की सप्लाई चालू रहेगी। खाने की डिलीवरी और टेक अवे जारी रहेंगे, रेस्तरां में बैठकर खाने पर मनाही है।-दिल्ली मेट्रो चालू रहेगी, सिर्फ 50 फीसदी यात्री सफर कर पाएंगे। पीक आवर्स फ्रीक्वेंसी 30 मिनट और नॉन पीक आवर्स एक घंटे रहेगी।

-पब्लिक बस, ऑटो, ई-रिक्शा चालू रहेंगे। 50 फीसदी यात्री सफर कर सकेंगे।-कैब, टैक्सी, ग्रामीण सेवा सर्विस चालू रहेगी, सिर्फ दो सवारी बैठ पाएंगी।-किसी भी शादी कार्यक्रम में जाने की इजाजत है। सिर्फ 50 लोग आ सकेंगे, हर किसी के लिए परमिशन लेनी होगी।-मॉल, सिनेमा हॉल, पार्क, सैलून, ब्यूटी पार्लर, रेस्तरां, बार, पब, सभी बंद रहेंगे।

-राजनीतिक, सामाजिक, धार्मिक कार्यक्रम पर पाबंदी।-किसी स्टेडियम या ग्राउंड में मैच या प्रतियोगिता की अनुमति, लेकिन दर्शकों को इजाजत नहीं।-कोई भी व्यक्ति अगर नियमों का उल्लंघन करता हुआ पाया गया, तो उसका चालान काटा जा सकता है।अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में कोरोना की स्थिति काफी गंभीर है। अब अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की भारी कमी होने लगी है। दवाओं की भी किल्लत है। पूरा स्वास्थ्य सिस्टम ध्वस्त होने के कगार पर है। किसी भी सिस्टम की अपनी सीमाएं होती है। डर इसी बात का है कि इसके ध्वस्त होने से बहुत बड़ी त्रासदी हो जाएगी। सरकार किसी भी हालत में दिल्ली को उस परिस्थिति में नहीं ले जाना चाहती, जहां कॉरिडोर में मरीज पड़े हैं और सड़कों पर लोग दम तोड़ रहे हैं। headtopics.com

फैन की मां की मदद के‍ लिए आगे आए Sidharth Shukla, ऑक्सीजन सिलेंडर का किया इंतजाम इसराइल-ग़ज़ा हिंसा: सहमे बच्चे और जान बचाने के लिए छिपते लोग - BBC News हिंदी ICMR किन जगहों पर डेढ़-दो महीने के लिए चाहता है लॉकडाउन - BBC Hindi

अरविंद केजरीवाल के मुताबिक, इन्हीं हालातों में 6 दिन के लिए दिल्ली में लॉकडाउन लगाया जा रहा है। हमारे लिए लॉकडान का निर्णय लेना आसान नहीं था, लेकिन अब हमारे पास इसके अलावा कोई उपाय नहीं बचा था। लॉकडाउन के समय का इस्तेमाल दिल्ली में बड़े पैमाने पर बेड बढ़ाने, ऑक्सीजन और दवाइयों की व्यवस्था करने में करेंगे। दिल्ली सरकार लगातार केंद्र सरकार के लगातार संपर्क में है। उनसे मदद मांग रहे हैं और केंद्र सरकार हमारी मदद भी कर रही है।

अस्पतालों में अब बेड और ऑक्सीजन की भारी कमी होने लगी है, ध्वस्त होने के कगार पर स्वास्थ्य सिस्टमअरविंद केजरीवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटे में दिल्ली में लगभग 23,500 हजार नए केस आए हैं। उसके पिछले 24 घंटे में लगभग 25,500 केस आए थे। पिछले तीन-चार दिन से रोज हम देख रहे हैं कि लगभग 25 हजार के करीब केस आ रहे हैं। पॉजिटिविटी बहुत ज्यादा बढ़ गई है, संक्रमण दर बहुत ज्यादा बढ़ गई है। दिल्ली के अंदर अस्पतालों में उपलब्ध बेड की भारी कमी हो रही है। अगर रोजाना 25-25 हजार मरीज आएंगे, तो कोई भी व्यवस्था चरमरा सकती है। दिल्ली के अंदर बेड की भारी कमी हो रही है। आईसीयू बेड दिल्ली में लगभग खत्म हो गए हैं।

दिल्ली में 100 से भी कम बेड बचे हैं। ऑक्सीजन की भारी कमी हो रही है। इस बारे में रविवार को केंद्र सरकार को भी लिखा है, उनसे बातचीत चल रही है। परसों रात को एक हादसा होते-होते बचा। एक प्राइवेट हॉस्पिटल में हमें बताया कि परसों रात को 3:00 बजे के करीब उनके अस्पताल के ऑक्सीजन लगभग खत्म हो गए। वो बोले कि हम तो बहुत बुरी तरह से डर गए। बहुत बड़ा हादसा हो सकता था। इधर-उधर हाथ पैर मार कर किसी तरह से उन्होंने कहीं से ऑक्सीजन का इंतजाम किया। दवाइयों की कमी हो रही है। रेमडिसविर दवाई की खास कमी हो रही है।

अरविंद केजरीवाल का मानना है कि लॉकडाउन से कोरोना खत्म नहीं होता है। इससे कोरोना की गति कम होती है। इस बीच स्वास्थ्य सिस्टम को और दुरुस्त किया जा सकता है। केजरीवाल ने बताया कि सोमवार तक लगने वाले लॉकडाउन में सरकार बड़े स्तर के उपर और दिल्ली में बेड की व्यवस्था करेगी। ऑक्सीजन की व्यवस्था करेंगे, दवाइयों की व्यवस्था करेंगे। इस लॉकडाउन के समय को हम इन सब चीजों के लिए इस्तेमाल करेंगे। केजरीवाल ने अपील कि लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन करें। इस दौरान घर से बाहर न निकलें। पहले भी हमने कई कठिन निर्णय लिए और आपने मेरा पूरा साथ दिया। मुझे पूरी उम्मीद है कि आज भी आप मेरा साथ देंगे। हम मिलकर इसका मुकाबला करेंगे और जरूर जीतेंगे। headtopics.com

विस्तार को दुरुस्त करने के मकसद से दिल्ली सरकार ने एक सप्ताह का लॉकडाउन लगा दिया है। सोमवार रात 10:00 बजे से लागू बंदिशें अगले सोमवार सुबह पांच बजे तक चलेंगी। इस बीच आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोगों को छूट दी गई है। वहीं, शादियों के लिए ई-पास जारी होंगे। इसका फैसला सोमवार सुबह उपराज्यपाल अनिल बैजल व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की बैठक में लिया गया। जानिए इस दौरान क्या-क्या बंद रहेगा और किसे मिलेगी छूट।

विज्ञापनआईकार्ड होने पर इनको नहीं होगी मनाही- केंद्र सरकार के मंत्रालयों और दफ्तरों में काम करने वाले अफसर।- स्वास्थ्य, पुलिस, होम गार्ड, सिविल डिफेंस, फायर सर्विस, पानी, सफाई, पब्लिक ट्रांसपोर्ट, कोरोना संबंधी काम से जुड़े हुए लोगों को भी लॉकडाउन के दौरान छूट रहेगी।

RJD ने पप्पू यादव को बताया BJP और नीतीश का एजेंट, सांठगांठ का पर्दाफाश करने का दावा कोरोना संकटः ऑक्सीजन और दवा को लेकर पीएम मोदी ने की हाई लेवल मीटिंग, ब्लैक फंगस पर भी हुई चर्चा कोरोना के इलाज के लिए निजी अस्पताल कितनी फीस लेंगे, ये जल्दी तय हो, दिल्ली HC का आदेश

-सभी जजों, वकीलों, अदालत में काम करने वाले लोगों को छूट मिलेगी।- सरकारी या प्राइवेट अस्पताल में काम करने वाले डॉक्टर, नर्स, स्टाफ को बाहर जाने की छूट। अस्पताल, लैब, मेडिकल ऑक्सीजन सप्लायर और इसी क्षेत्र से जुड़े अन्य लोगों को भी बाहर जाने की छूट।-कोरोना का टेस्ट करवाने जाने वाले, वैक्सीन लगवाने जाने वाले लोगों को भी छूट।

-एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन आने/जाने वाले लोगों को बाहर जाने की छूट।-मीडिया से जुड़े लोगों को बाहर जाने की छूट।-एक राज्य से दूसरे राज्य जाने वाले वाहनों को रोक-टोक नहीं।-प्रवेश पत्र के कोई भी अभ्यर्थी जा सकेगा बाहर।इनको भी मिलेगी छूट-सब्जी, फल, किराना, डेयरी, मीट, दवाई, न्यूज पेपर, इंटरनेट सर्विस, केबल सर्विस, आईटी सर्विस से जुड़े लोगों को छूट।

-बैंक, एटीएम खुले रहेंगे। ई-कॉमर्स की डिलीवरी चालू रहेगी. पेट्रोल पंप, एलपीजी, सीएनजी स्टेशन भी खुले रहेंगे।-पानी, बिजली की सप्लाई चालू रहेगी। खाने की डिलीवरी और टेक अवे जारी रहेंगे, रेस्तरां में बैठकर खाने पर मनाही है।-दिल्ली मेट्रो चालू रहेगी, सिर्फ 50 फीसदी यात्री सफर कर पाएंगे। पीक आवर्स फ्रीक्वेंसी 30 मिनट और नॉन पीक आवर्स एक घंटे रहेगी।

-पब्लिक बस, ऑटो, ई-रिक्शा चालू रहेंगे। 50 फीसदी यात्री सफर कर सकेंगे।-कैब, टैक्सी, ग्रामीण सेवा सर्विस चालू रहेगी, सिर्फ दो सवारी बैठ पाएंगी।-किसी भी शादी कार्यक्रम में जाने की इजाजत है। सिर्फ 50 लोग आ सकेंगे, हर किसी के लिए परमिशन लेनी होगी।-मॉल, सिनेमा हॉल, पार्क, सैलून, ब्यूटी पार्लर, रेस्तरां, बार, पब, सभी बंद रहेंगे।

-राजनीतिक, सामाजिक, धार्मिक कार्यक्रम पर पाबंदी।-किसी स्टेडियम या ग्राउंड में मैच या प्रतियोगिता की अनुमति, लेकिन दर्शकों को इजाजत नहीं।-कोई भी व्यक्ति अगर नियमों का उल्लंघन करता हुआ पाया गया, तो उसका चालान काटा जा सकता है।दिल्ली में कोरोना की स्थिति काफी गंभीर

अरविंद केजरीवाल ने बताया कि दिल्ली में कोरोना की स्थिति काफी गंभीर है। अब अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन की भारी कमी होने लगी है। दवाओं की भी किल्लत है। पूरा स्वास्थ्य सिस्टम ध्वस्त होने के कगार पर है। किसी भी सिस्टम की अपनी सीमाएं होती है। डर इसी बात का है कि इसके ध्वस्त होने से बहुत बड़ी त्रासदी हो जाएगी। सरकार किसी भी हालत में दिल्ली को उस परिस्थिति में नहीं ले जाना चाहती, जहां कॉरिडोर में मरीज पड़े हैं और सड़कों पर लोग दम तोड़ रहे हैं।

अरविंद केजरीवाल के मुताबिक, इन्हीं हालातों में 6 दिन के लिए दिल्ली में लॉकडाउन लगाया जा रहा है। हमारे लिए लॉकडान का निर्णय लेना आसान नहीं था, लेकिन अब हमारे पास इसके अलावा कोई उपाय नहीं बचा था। लॉकडाउन के समय का इस्तेमाल दिल्ली में बड़े पैमाने पर बेड बढ़ाने, ऑक्सीजन और दवाइयों की व्यवस्था करने में करेंगे। दिल्ली सरकार लगातार केंद्र सरकार के लगातार संपर्क में है। उनसे मदद मांग रहे हैं और केंद्र सरकार हमारी मदद भी कर रही है।

अस्पतालों में अब बेड और ऑक्सीजन की भारी कमी होने लगी है, ध्वस्त होने के कगार पर स्वास्थ्य सिस्टमअरविंद केजरीवाल ने बताया कि पिछले 24 घंटे में दिल्ली में लगभग 23,500 हजार नए केस आए हैं। उसके पिछले 24 घंटे में लगभग 25,500 केस आए थे। पिछले तीन-चार दिन से रोज हम देख रहे हैं कि लगभग 25 हजार के करीब केस आ रहे हैं। पॉजिटिविटी बहुत ज्यादा बढ़ गई है, संक्रमण दर बहुत ज्यादा बढ़ गई है। दिल्ली के अंदर अस्पतालों में उपलब्ध बेड की भारी कमी हो रही है। अगर रोजाना 25-25 हजार मरीज आएंगे, तो कोई भी व्यवस्था चरमरा सकती है। दिल्ली के अंदर बेड की भारी कमी हो रही है। आईसीयू बेड दिल्ली में लगभग खत्म हो गए हैं।

दिल्ली में 100 से भी कम बेड बचे हैं। ऑक्सीजन की भारी कमी हो रही है। इस बारे में रविवार को केंद्र सरकार को भी लिखा है, उनसे बातचीत चल रही है। परसों रात को एक हादसा होते-होते बचा। एक प्राइवेट हॉस्पिटल में हमें बताया कि परसों रात को 3:00 बजे के करीब उनके अस्पताल के ऑक्सीजन लगभग खत्म हो गए। वो बोले कि हम तो बहुत बुरी तरह से डर गए। बहुत बड़ा हादसा हो सकता था। इधर-उधर हाथ पैर मार कर किसी तरह से उन्होंने कहीं से ऑक्सीजन का इंतजाम किया। दवाइयों की कमी हो रही है। रेमडिसविर दवाई की खास कमी हो रही है।

अरविंद केजरीवाल का मानना है कि लॉकडाउन से कोरोना खत्म नहीं होता है। इससे कोरोना की गति कम होती है। इस बीच स्वास्थ्य सिस्टम को और दुरुस्त किया जा सकता है। केजरीवाल ने बताया कि सोमवार तक लगने वाले लॉकडाउन में सरकार बड़े स्तर के उपर और दिल्ली में बेड की व्यवस्था करेगी। ऑक्सीजन की व्यवस्था करेंगे, दवाइयों की व्यवस्था करेंगे। इस लॉकडाउन के समय को हम इन सब चीजों के लिए इस्तेमाल करेंगे। केजरीवाल ने अपील कि लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन करें। इस दौरान घर से बाहर न निकलें। पहले भी हमने कई कठिन निर्णय लिए और आपने मेरा पूरा साथ दिया। मुझे पूरी उम्मीद है कि आज भी आप मेरा साथ देंगे। हम मिलकर इसका मुकाबला करेंगे और जरूर जीतेंगे।

विज्ञापनदिल्ली में कोरोना की स्थिति काफी गंभीरविज्ञापनआपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?हांखबर की भाषा और शीर्षक से आप संतुष्ट हैं?हांखबर के प्रस्तुतिकरण से आप संतुष्ट हैं?

हांखबर में और अधिक सुधार की आवश्यकता है? और पढो: Amar Ujala »

खबरदार: दिल्ली-मुंबई के कोरोना युद्ध का विश्लेषण

देश की राजधानी दिल्ली कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित शहर बन गया है. दिल्ली में एक ही दिन में मुंबई की तुलना में कहीं ज्यादा कोरोना मामले दर्ज हो रहे हैं. कोरोना की दूसरी लहर में दिल्ली का वही हाल है जो मुंबई का पहली लहर के दौरान था. दिल्ली और महाराष्ट्र दोनों की आबादी करीब 2 करोड़ है. देश के दोनों महानगरों में कोरोना की रफ्तार अपने चरम पर है. मरीजों की बढ़ती तादाद सिस्टम और सरकार की पूरी व्यवस्था की पोल खोल रही है. खबरदार के इस वीडियो में दिल्ली-मुंबई के कोरोना युद्ध का विश्लेषण देखिए.

drharshvardhan MoHFW_INDIA ArvindKejriwal देश में लॉकडाउन नही लगना चाहिए 5/7 लाख लोग यदि corona महामारी में मार जाते हैं कोई फर्क नहीं पढ़ने वाला।जिसको मरने से डर लगता हैं वह खुद अपना उपाय करें।सरकार सबके घरों में कहवा,गर्म पानी के भाप और अन्य समान नहीं देने जाएगी। कोरोना में लॉक डाउन लगने से करोड़ों लोग भूखे मर जायेंगे।

Delhi Lockdown: जानिए सीएम अरविंद केजरीवाल ने दोनों हाथ जोड़कर दिल्ली में क्यों लगाया Lockdownदिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कुछ दिन पहले ही इस तरह के संकेत दिए थे कि यदि मेडिकल व्यवस्था चरमरा गई तो राजधानी में लॉकडाउन लगाना पड़ सकता है। आज उन्होंने ये घोषणा भी कर दी। KEJARI AGAIN ON ANARCHIC MODE !

Delhi LIVE: राजधानी में हालात खराब, ऑक्सीजन के लिए मारामारी, कई अस्पतालों में ICU बेड्स खत्महर दिन के साथ नए मामलों की संख्या बढ़ रही है, राजधानी में लगे हुए कई तरह के प्रतिबंध भी कोई असर नहीं दिखा रहे हैं. इस बीच राज्य में बेड्स और ऑक्सीजन की भारी किल्लत हो चली है. राजधानी के कई अस्पतालों में तो आईसीयू बेड्स बिल्कुल ही खत्म हो गए हैं.

Corona: 24 घंटे में Maharashtra में 53 हजार और Delhi में 17 हजार से ज्यादा मामलेमहाराष्ट्र में कोरोना के 53 हजार 605 नए केस आए हैं, जबकि कोरोना के चलते 864 लोगों की मौत हुई है. उधर, राजधानी मुंबई में कोरोना के मामलों में गिरावट देखी जा रही है. एक दिन में मुंबई में कोरोना के 2678 नए केस आए जबकि 36 सौ से ज्यादा मरीज ठीक हुए. वहीं राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी आ रही है. बीते 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के 17 हजार 364 नए केस सामने आ हैं ,जबकि 332 मरीजों की मौत हुई है. देखें वीडियो.

Corona: Delhi में पिछले 10 दिनों में सबसे कम केस, Maharashtra में रिकॉर्ड तोड़ मौतेंदिल्ली में 10 दिन में कोरोना के नए मामले सबसे कम आए हैं. 24 घंटे में 22 हजार के करीब केस हैं लेकिन मौत का आंकड़ा परेशान कर रहा है.एक दिन में राजधानी में 350 लोगों की मौत हुई है. महाराष्ट्र में तो एक दिन में कोरोना से मौत का रिकॉर्ड ही बन गया. 24 घंटे में यहां 832 लोगों की मौत हो गई. Is not allowed to show Banglore status? Kejriwal we love you No. Of Testing in delhi is decreased by govt. Delhittes are struggling for geting tested. ArvindKejriwal

Delhi में एक हफ्ते आगे बढ़ा lockdown, Sambit Patra ने किया समर्थन, देखें क्या बोलेदिल्ली में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है. राजधानी में बीते 24 घंटे में 24,103 नए कोरोना के मामले दर्ज किए गए हैं और 357 लोगों की जान चली गई है. बढ़ते संक्रमण के बीच केजरीवाल सरकार ने लॉकडाउन की समय सीमा को 3 मई तक बढ़ा दिया है. आज तक से बातचीत के दौरान बीजेपी प्रवक्त्ता संबित पात्रा ने दिल्ली सरकार के लॉकडाउन के फैसले का समर्थन किया है. हम उनकी आलोचना नहीं करते. अगर लॉकडाउन लगाने से स्थिति पर कंट्रोल पाया जा सकता है तो ये निर्णय सही है. देखें वीडियो. जो 6 करोड़ वैक्सीन बाहर भेजेने पर छाती पीट रहे थे, वो अब उसी की वजह से बाहर से आ रही इस मदद का हिसाब किताब नहीं लगा पाएंगे। वो 6 करोड़ में देश तो पूरा नहीं आता लेकिन जो मदद बाहर से आ रही है वो पूरे देश को मदद देने के लिए जो चीजें लगेंगीं वो लेकर आएगा। Jhola kab uthega? Arthiyan hi Arthi uth raha hai. sambitswaraj तो फिर आपके पापा पूरे देश मे क्यों नही लोकडाउन लगा रहे है

Delhi News: दिल्ली में अब 3 मई तक लॉकडाउन, केजरीवाल बोले- कई अस्पतालों में ऑक्सीजन संकटDelhi News: दिल्ली में अब 3 मई तक लॉकडाउन, केजरीवाल बोले- कई अस्पतालों में ऑक्सीजन संकट Delhi DelhiLockdown LockdownDelhi ArvindKejriwal ArvindKejriwal Lockdown 2024 tak hona chahiye