Covıd 19, Coronavirus, Covid 19ındia, Coronavirus İndia Testing, Coronavirus, Coronavirus İndia, Corona Cases İn İndia, Covid 19 İndia, Coronavirus Test, Corona Test İn İndia, Slow Corona Test İn İndia, Covid 19 Testing İn İndia, Covid 19 Test, कोरोनावायरस, Coronavirus Update İndia, Coronavirus Usa, Coronavirus İtaly

Covıd 19, Coronavirus

COVID 19: कोरोना के कम परीक्षण देश के लिए बन हैं बड़ी मुसीबत, ऐसे कैसे रुकेगी महामारी

स्वास्थ्य अनुसंधान संस्थान (आईसीएमआर) के मुताबिक 6 अप्रैल 2020 के दोपहर 1 बजे तक कुल 89,534 सैंपल लिए गए हैं। भारत में कोरोना

06-04-2020 17:38:00

COVID19 : कोरोना के कम परीक्षण देश के लिए बन हैं बड़ी मुसीबत, ऐसे कैसे रुकेगी महामारी coronavirus PMOIndia MoHFW_INDIA Covid19India ICMRDELHI

स्वास्थ्य अनुसंधान संस्थान (आईसीएमआर) के मुताबिक 6 अप्रैल 2020 के दोपहर 1 बजे तक कुल 89,534 सैंपल लिए गए हैं। भारत में कोरोना

की टेस्टिंग को लेकर सवाल उठते रहे हैं कि यहां सभी देशों के मुकाबले बहुत ही कम सैंपल लिए जा रहे हैं। भारत में कोरोना वायरस का पहला मामला 30 जनवरी को केरल के त्रिशूर जिले में सामने आया था। इसकी पुष्टि खुद केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने ट्वीट करके की थी। भारत का पहला कोरोना संक्रमित मरीज चीन के वुहान विश्वविद्यालय से आया था जिसमें कोरोना की पुष्टि हुई थी। इसके बाद मार्च की शुरुआत में दिल्ली और हैदराबाद में दो मामले मिलने के बाद सरकार के हरकत में आई।

कोरोना वायरस: दुनिया भर में 65.6 लाख से ज़्यादा संक्रमित, 3.87 लाख लोगों की मौत - BBC Hindi हथिनी की मौत पर बोले शशि थरूर- यहां से राहुल गांधी सांसद नहीं, फैलाई गई गलत जानकारी एटलस बंद होने पर अखिलेश बोले- BJP की गलत नीतियों से अब एक और ‘बंदी’ शुरू

30 मार्च को सरकार की ओर से बताया गया कि देश में प्रति 10 लाख लोगों में महज 6.8 लोगों के टेस्ट किए गए हैं, जो दुनियाभर में सबसे कम है। स्वास्थ्य अनुसंधान संस्थान (आईसीएमआर) के मुताबिक 6 अप्रैल 2020 को दोपहर 1 बजे तक कुल 89,534 सैंपल लिए गए हैं। भारत में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 4,067 हो गई है और मरने वालों की संख्या 109 पर पहुंच गई है।

आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने 30 मार्च को बताया था कि फ्रांस में हर सप्ताह 10 हजार लोगों का टेस्ट हो रहा है। जबकि ब्रिटेन में 16 हजार और अमेरिका में 26 हजार लोगों की टेस्टिंग प्रति सप्ताह हो रही है। सबसे अधिक टेस्टिंग करने वाले देश में दक्षिण कोरिया है। दक्षिण कोरिया में प्रति सप्ताह तकरीबन 80 हजार लोगों की टेस्टिंग हो रही है, जबकि जर्मनी में यह आंकड़ा 42 हजार और इटली में 52 हजार का है। अब बात करें इन देशों की मौजूदा हालत की तो

वर्ल्डोमीटर (worldometers)के आंकड़े के मुताबिक अमेरिका में 6 अप्रैल की शाम 5 बजे तक कोरोना से संक्रमितों की संख्या 3,36,851 और मरने वालों की संख्या 9,620 हो गई है। अमेरिका में अबतक 10 लाख से अधिक लोगों का टेस्ट हो चुका है। इटली में मरने वालों की संख्या 15,887 के आंकड़े को पार चुकी है।

दक्षिण कोरिया से क्या सीख सकते हैं?दक्षिण कोरिया शुरुआत से ही काफी गंभीर रहा और उसने बड़े स्तर पर टेस्टिंग की और नतीजा पूरी दुनिया के सामने है कि वहां अभी तक सिर्फ 186 लोगों की मौत हुई है और कुल संक्रमित लोगों की संख्या 10,284 है। दक्षिण कोरिया में सबसे अधिक मामले तीन मार्च को सामने आए थे जिनकी संख्या 851 थी, लेकिन उसके बाद संक्रमण की संख्या गिरती गई और 5 अप्रैल को सिर्फ 81 मामले सामने आए हैं। कायदे से देखा जाए तो दक्षिण कोरिया ने एक महीने के अंदर कोरोना को काबू में कर लिया है।

भारत में शुरुआत में सिर्फ उन लोगों का ही टेस्ट किया गया जो किसी कोरोना संक्रमित मरीज के संपर्क में आया था या जिनमें कोरोना के लक्षण देखे गए, लेकिन इस बीच अनजाने में संक्रमण बढ़ता गया क्योंकि जिन लोगो में कोरोना का संक्रमण था उन्हें भी इस बात की जानकारी नहीं थी। देश में लचर टेस्टिंग का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि बिहार में कोरोना के पहले मरीज की पुष्टि उसके मरने के बाद हुई। ऐसे भी कई केस सामने आए जिनमें मरीज के मरने के बाद डॉक्टर टेस्ट के लिए सैंपल लेने पहुंचे थे। देश में कितने लोग कोरोना से संक्रमित हैं इसका अंदाजा लगाना बहुत मुश्किल है, क्योंकि यह भी संभव है एयरपोर्ट पर जिन लोगों की थर्मल स्कैनिंग हुई थी उनमें भी भविष्य में कोरोना का संक्रमण मिले। भारत में अभी भी उन लोगों की ही टेस्टिंग हो रही है जिनमें कोरोना के गंभीर लक्षण दिखाए दे रहे हैं या फिर उन लोगों की टेस्टिंग हो रही है जो किसी ऐसे आयोजन में शामिल हुए हैं जहां संक्रमण की पुष्टि हुई हो।

अमेरिका में 26 हजार लोगों की टेस्टिंग प्रति सप्ताह हो रही थी, बावजूद स्थिति विकट हो गई है। अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 1,224 लोगों की जान गई है। भारत में अभी तक जेनेटिक तरीके से कोरोना की टेस्टिंग हो रही है, लेकिन जल्द ही रैपिड एंटीबॉडी टेस्टिंग शुरू होने वाली है जिसके बाद 15 मिनट में नतीजा आ जाएगा। जेनेटिक टेस्टिंग में रिजल्ट आने में करीब 48 घंटे का वक्त लगता है। भारत में एंटीबॉडी टेस्टिंग शुरू होने के बाद अचानक से संक्रमण के मामले बढ़ सकते हैं, क्योंकि जितनी तेजी से टेस्टिंग होगी उतने ही रिजल्ट सामने आएंगे। देश में अभी हालत यह है कि जबतक किसी के संक्रमित होने की जानकारी मिल रही है, तबतक उसके कारण कई लोगों में संक्रमण फैल चुका होता है। ऐसे में संक्रमण तेजी से फैल सकता है और स्थिति भयावह हो सकती है। स्थिति विकट होने की स्थिति में भारत में संभावित इलाकों में कोरोना टेस्टिंग सेंटर्स भी बनाए जा सकते हैं ताकि अधिक-से-अधिक टेस्ट किए जाएं और कोरोना को कंट्रोल किया जाए।

कोरोना: पिछले 24 घंटे में करीब 10 हजार नए मामले, मरीजों का आंकड़ा 2.26 लाख के पार अनुपम खेर ने मां को खास अंदाज में किया बर्थडे विश, लिखा स्पेशल मैसेज हथिनी की मौत को लेकर कांग्रेस का पलटवार, कहा- माफी मांगे बीजेपी

पूरे देश में भीलवाड़ा मॉडल लागू करके भी कोरोना को कंट्रोल किया जा सकता है। बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राजस्थान सरकार ने तुरंत एक्शन लिया और पूरे शहर में कर्फ्यू लगाकर बॉर्डर सील कर दिया। जिले की सीमाएं सील करते हुए 14 एंट्री पॉइंट्स पर चेक पोस्ट बनाईं, ताकि कोई भी शहर से न बाहर जा सके और न अंदर आ सके। भीलवाड़ा में कोरोना के आंकड़ों को 27 पर ही रोक दिया गया। 16 हजार स्वास्थ्य कर्मियों की टीम को एक साथ भीलवाड़ा भेजा गया गया। स्वास्थ्य कर्मियों ने घर-घर जाकर स्क्रीनिंग शुरू कर दी। इस दौरान करीब 18 हजार लोगों में सर्दी-जुकाम के लक्षण पाए गए। कोरोना संक्रमण के बाद देश में पहली बार भीलवाड़ा में इस तरह का काम शुरू किया गया और ये कारगर साबित हुआ। भीलवाड़ा में सरकार ने समय रहते तो जरूरी कदम उठाए हैं, वह सराहनीय है।

सार30 जनवरी को भारत में हुई थी पहले कोरोना मरीज की पुष्टिअभी तक लिए गए 89,534 सैंपलभारत में 4,000 से ऊपर पहुंची संक्रमितों की संख्या109 लोगों कr मौत की पुष्टिविस्तारकोरोना वायरसकी टेस्टिंग को लेकर सवाल उठते रहे हैं कि यहां सभी देशों के मुकाबले बहुत ही कम सैंपल लिए जा रहे हैं। भारत में कोरोना वायरस का पहला मामला 30 जनवरी को केरल के त्रिशूर जिले में सामने आया था। इसकी पुष्टि खुद केरल के मुख्यमंत्री पिनरई विजयन ने ट्वीट करके की थी। भारत का पहला कोरोना संक्रमित मरीज चीन के वुहान विश्वविद्यालय से आया था जिसमें कोरोना की पुष्टि हुई थी। इसके बाद मार्च की शुरुआत में दिल्ली और हैदराबाद में दो मामले मिलने के बाद सरकार के हरकत में आई।

विज्ञापन30 मार्च को सरकार की ओर से बताया गया कि देश में प्रति 10 लाख लोगों में महज 6.8 लोगों के टेस्ट किए गए हैं, जो दुनियाभर में सबसे कम है। स्वास्थ्य अनुसंधान संस्थान (आईसीएमआर) के मुताबिक 6 अप्रैल 2020 को दोपहर 1 बजे तक कुल 89,534 सैंपल लिए गए हैं। भारत में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 4,067 हो गई है और मरने वालों की संख्या 109 पर पहुंच गई है।

बाकी देशों में टेस्टिंग की क्या है स्थिति?आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने 30 मार्च को बताया था कि फ्रांस में हर सप्ताह 10 हजार लोगों का टेस्ट हो रहा है। जबकि ब्रिटेन में 16 हजार और अमेरिका में 26 हजार लोगों की टेस्टिंग प्रति सप्ताह हो रही है। सबसे अधिक टेस्टिंग करने वाले देश में दक्षिण कोरिया है। दक्षिण कोरिया में प्रति सप्ताह तकरीबन 80 हजार लोगों की टेस्टिंग हो रही है, जबकि जर्मनी में यह आंकड़ा 42 हजार और इटली में 52 हजार का है। अब बात करें इन देशों की मौजूदा हालत की तो

वर्ल्डोमीटर (worldometers)के आंकड़े के मुताबिक अमेरिका में 6 अप्रैल की शाम 5 बजे तक कोरोना से संक्रमितों की संख्या 3,36,851 और मरने वालों की संख्या 9,620 हो गई है। अमेरिका में अबतक 10 लाख से अधिक लोगों का टेस्ट हो चुका है। इटली में मरने वालों की संख्या 15,887 के आंकड़े को पार चुकी है।

दक्षिण कोरिया से क्या सीख सकते हैं?दक्षिण कोरिया शुरुआत से ही काफी गंभीर रहा और उसने बड़े स्तर पर टेस्टिंग की और नतीजा पूरी दुनिया के सामने है कि वहां अभी तक सिर्फ 186 लोगों की मौत हुई है और कुल संक्रमित लोगों की संख्या 10,284 है। दक्षिण कोरिया में सबसे अधिक मामले तीन मार्च को सामने आए थे जिनकी संख्या 851 थी, लेकिन उसके बाद संक्रमण की संख्या गिरती गई और 5 अप्रैल को सिर्फ 81 मामले सामने आए हैं। कायदे से देखा जाए तो दक्षिण कोरिया ने एक महीने के अंदर कोरोना को काबू में कर लिया है।

कोरोनाः मास्क न पहनने पर दिल्ली पुलिस का ASI सस्पेंड J-K: पाकिस्तान ने राजौरी और पुंछ में तोड़ा सीजफायर, एक जवान शहीद देश में हर दिन की लेनदेन बताएगा RBI, 3 जून के आंकड़ों से हुई शुरुआत

भारत में कोरोना वायरस की टेस्टिंग को लेकर कहां हो रही है समस्या?corona bihar- फोटो : PTIभारत में शुरुआत में सिर्फ उन लोगों का ही टेस्ट किया गया जो किसी कोरोना संक्रमित मरीज के संपर्क में आया था या जिनमें कोरोना के लक्षण देखे गए, लेकिन इस बीच अनजाने में संक्रमण बढ़ता गया क्योंकि जिन लोगो में कोरोना का संक्रमण था उन्हें भी इस बात की जानकारी नहीं थी। देश में लचर टेस्टिंग का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि बिहार में कोरोना के पहले मरीज की पुष्टि उसके मरने के बाद हुई। ऐसे भी कई केस सामने आए जिनमें मरीज के मरने के बाद डॉक्टर टेस्ट के लिए सैंपल लेने पहुंचे थे। देश में कितने लोग कोरोना से संक्रमित हैं इसका अंदाजा लगाना बहुत मुश्किल है, क्योंकि यह भी संभव है एयरपोर्ट पर जिन लोगों की थर्मल स्कैनिंग हुई थी उनमें भी भविष्य में कोरोना का संक्रमण मिले। भारत में अभी भी उन लोगों की ही टेस्टिंग हो रही है जिनमें कोरोना के गंभीर लक्षण दिखाए दे रहे हैं या फिर उन लोगों की टेस्टिंग हो रही है जो किसी ऐसे आयोजन में शामिल हुए हैं जहां संक्रमण की पुष्टि हुई हो।

विकट हो सकती है भारत में कोरोना की स्थितिडोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)- फोटो : PTIअमेरिका में 26 हजार लोगों की टेस्टिंग प्रति सप्ताह हो रही थी, बावजूद स्थिति विकट हो गई है। अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 1,224 लोगों की जान गई है। भारत में अभी तक जेनेटिक तरीके से कोरोना की टेस्टिंग हो रही है, लेकिन जल्द ही रैपिड एंटीबॉडी टेस्टिंग शुरू होने वाली है जिसके बाद 15 मिनट में नतीजा आ जाएगा। जेनेटिक टेस्टिंग में रिजल्ट आने में करीब 48 घंटे का वक्त लगता है। भारत में एंटीबॉडी टेस्टिंग शुरू होने के बाद अचानक से संक्रमण के मामले बढ़ सकते हैं, क्योंकि जितनी तेजी से टेस्टिंग होगी उतने ही रिजल्ट सामने आएंगे। देश में अभी हालत यह है कि जबतक किसी के संक्रमित होने की जानकारी मिल रही है, तबतक उसके कारण कई लोगों में संक्रमण फैल चुका होता है। ऐसे में संक्रमण तेजी से फैल सकता है और स्थिति भयावह हो सकती है। स्थिति विकट होने की स्थिति में भारत में संभावित इलाकों में कोरोना टेस्टिंग सेंटर्स भी बनाए जा सकते हैं ताकि अधिक-से-अधिक टेस्ट किए जाएं और कोरोना को कंट्रोल किया जाए।

भीलवाड़ा मॉडल से बन सकती है बातपूरे देश में भीलवाड़ा मॉडल लागू करके भी कोरोना को कंट्रोल किया जा सकता है। बता दें कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए राजस्थान सरकार ने तुरंत एक्शन लिया और पूरे शहर में कर्फ्यू लगाकर बॉर्डर सील कर दिया। जिले की सीमाएं सील करते हुए 14 एंट्री पॉइंट्स पर चेक पोस्ट बनाईं, ताकि कोई भी शहर से न बाहर जा सके और न अंदर आ सके। भीलवाड़ा में कोरोना के आंकड़ों को 27 पर ही रोक दिया गया। 16 हजार स्वास्थ्य कर्मियों की टीम को एक साथ भीलवाड़ा भेजा गया गया। स्वास्थ्य कर्मियों ने घर-घर जाकर स्क्रीनिंग शुरू कर दी। इस दौरान करीब 18 हजार लोगों में सर्दी-जुकाम के लक्षण पाए गए। कोरोना संक्रमण के बाद देश में पहली बार भीलवाड़ा में इस तरह का काम शुरू किया गया और ये कारगर साबित हुआ। भीलवाड़ा में सरकार ने समय रहते तो जरूरी कदम उठाए हैं, वह सराहनीय है।

विज्ञापनबाकी देशों में टेस्टिंग की क्या है स्थिति? और पढो: Amar Ujala »

PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI दिया जलाने से PMOIndia narendramodi drharshvardhan MoHFW_INDIA WHO With such a slow speed of testing, it will take us years together to screen the vulnerable population. We have to find some other way. PMOIndia narendramodi drharshvardhan MoHFW_INDIA WHO अब क्या रुलाओगे

PMOIndia narendramodi drharshvardhan MoHFW_INDIA WHO 🌹🥀💐हम सरकार कर शुक्रिया करते हैं। करोना जैसी महामारी से लड़ने के लिए सख्त कदम उठाया।ताकि हम जनता सिर्फ रहे। करोना बहुत ही डेंजर वायरस है। सब करोना से बचें और दूसरों को भी बचाएं। 🌱🌱💯💯🌹🌹🥀💐 PMOIndia narendramodi drharshvardhan MoHFW_INDIA WHO Mombatti jalane se

मास्क इंडिया: कोरोना वायरस से बचने के लिए फेस मास्क घर पर बनाएं। Navbharat Timesकोरोना से जीतनी है जंग तो अपने साथ आसपास के लोगों को भी जागरूक करें, अपना मास्क खुद बनाएं और MaskIndia के साथ अपनी सेल्फी अपलोड करें। आपकी तस्वीर हम शेयर करेंगे। fight Coronavirus MaskIndia Ha jii Good job,nbt👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍👍I trust you✔️

कोरोना वायरस से निपटने के लिए रेलवे ने अलग वार्ड में तब्दील किए 2500 डिब्बेकोरोना वायरस से निपटने के लिए रेलवे ने अलग वार्ड में तब्दील किए 2500 डिब्बे CoronaUpdate CoronaLockdown coronavirus coronavirus inIndia LadengeCoronaSe RailMinIndia RailMinIndia ,अंडमान की सेल्यूलर जेल में रखना था ,कोई भाग भी नहीं पता वहां से ।

US में बाघिन मिली कोरोना पॉजिटिव, अब भारत ने जू के लिए दिए ये आदेशअथॉरिटी की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि किसी भी कीपर या हैंडलर को सुरक्षा गियर, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण (पीपीई) के बिना जानवरों के आसपास के क्षेत्र में अनुमति नहीं दी जानी चाहिए. यहां तक की उन्हें चारा उपलब्ध कराते समय जानवरों से कम से कम संपर्क करना चाहिए. OMG😯 Oh my god bad news for humanity and animals

मुंबई के दो अस्पताल कंटेनमेंट जोन घोषित, स्टाफ में कोरोना की पुष्टि के बाद फैसलादक्षिण मुंबई के दो अस्पतालों- वॉकहार्ट अस्पताल और जसलोक अस्पताल को कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है. दरअसल, इन दोनों अस्पतालों के डॉक्टर और कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मिले हैं.

कोरोना संकट में बने मिसाल, मां के निधन के बाद भी अस्पताल में रहे तैनातराममूर्ति पर अस्पताल की पूरी टीम की जिम्मेदारी है. डॉक्टर दो दिनों में दो बार आते हैं. लेकिन बाकी समय में मेडिकल स्टाफ ही कोरोना मरीजों की देखभाल करते हैं. यानी कि 24 घंटे मरीजों के साथ रहकर उनकी देखभाल करते हैं. sharatjpr नमन sharatjpr 🙏🙏नमन sharatjpr Our real Heroes.

कोरोना संकट के इस दौर में शायद चीन को भारत की जरूरत और ज्यादा महसूस होगीकोरोना संकट के इस दौर में शायद चीन को भारत की जरूरत और ज्यादा महसूस होगी IndiachinaRelation Coronavirus COVID19 coronavirus inUS narendramodi BJP4India CoronaCrisis narendramodi BJP4India narendramodi BJP4India चीन सिर्फ अपना बिज़नेस देख रहा है और भारत अपनी जरूरते narendramodi BJP4India भारत अब नए युग का भारत है।

राहुल ने फिर लॉकडाउन को बताया फेल, कहा- राज्यों को उनके हाल पर छोड़ रहा केंद्र राहुल का ट्वीट- क्या भारतीय सीमा में नहीं घुसा कोई चीनी सैनिक? स्पष्ट करे सरकार हथिनी की मौत पर राहुल गांधी से मेनका का सवाल, पूछा- क्यों नहीं की कार्रवाई गर्भवती हथिनी की मौत से दुखी IPS डी रूपा, दोषियों को सजा की मांग 'सच बोलने से डरते हैं लोग', उद्योगपति राजीव बजाज ने लॉकडाउन पर कही ये 5 बातें जॉर्ज फ्लॉयड के सपोर्ट में उतरे स्टार्स पर अभय देओल का तंज- अपना देश भी देख लो केरल में हथिनी की हत्या पर बोले प्रकाश जावड़ेकर- दोषी नहीं बख्शे जाएंगे जून के मध्य तक दुनिया में चौथा सर्वाधिक कोरोना मरीजों का देश होगा भारत हार्दिक पंड्या ने गुपचुप सगाई पर तोड़ी चुप्पी, कहा- मम्मी-पापा को भी नहीं पता था - Sports AajTak सऊदी अरब और यूएई के बाद अब कतर ने भी पाकिस्तान को दिया झटका - World AajTak राजीव बजाज का राहुल गांधी से संवाद, बताया- लॉकडाउन में कहां हुई चूक?