Education, Cbse, Ranchi-Jagran-Special, Class 12 Cbse Board Exams, Cbse Exam New Syllabus, Cbse Syllabus Changed, Cbse Class 10 Exams, Cbse Exam 2021, Cbse Exam Pattern 2021, Cbse New Exam Pattern 2021, Date Sheet Of Cbse Exam 2021, Cbse Exam 2021 Date Sheet, Cbse, Cbse Exams 2021, Jharkhand News, Ranchi News, झारखंड न्यूज, रांची न्यूज, Jharkhand Commonmanissues, Jharkhand Top, Jharkhand News

Education, Cbse

CBSE Exam NEW Syllabus 2021: सीबीएसई बोर्ड ने 9वीं से 12वीं तक परीक्षा पैटर्न बदला; यहां देखें Details

सीबीएसई ने सत्र 2021-22 से कक्षा नौवीं से 12वीं तक के परीक्षा पैटर्न में किए बड़े बदलाव, जानिए इनके बारे में ! #Education #CBSE

25-04-2021 12:00:00

सीबीएसई ने सत्र 2021-22 से कक्षा नौवीं से 12वीं तक के परीक्षा पैटर्न में किए बड़े बदलाव, जानिए इनके बारे में ! Education CBSE

CBSE Exam New Syllabus 2021 सीबीएसई ने सत्र 2021-22 से कक्षा नौवीं से 12वीं तक के परीक्षा पैटर्न में बड़ा बदलाव किया है। नए पैटर्न के अनुसार कंपेंटेंसी बेस्ड क्वेश्चन पूछे जाएंगे। इसका उद्देश्य है छात्र-छात्राओं को लॉजिकल बनाना।

बच्चों की एनालाइसिस, हायर आर्डर स्किल, क्रिटिकल थिंकिंग के साथ कंसेप्ट क्लियर की ओर मोड़ना। सीबीएसई ने गुरुवार काे पत्र जारी कर सभी स्कूलों से नए पैटर्न के अनुसार छात्र-छात्राओं को तैयार करने को कहा है। इस पैटर्न पर पूछे जाएंगे नौवीं व दसवीं के प्रश्न

पीएम मोदी से फोन कॉल के बाद कोच ने कहा - कांस्य पदक के लिए डटकर खेलेंगी भारतीय शेरनियां - BBC Hindi MP: बाढ़ में फंसे लोगों की मदद करने गए मंत्री नरोत्तम मिश्रा खुद फंसे, करना पड़ा एयरलिफ्ट, देखें VIDEO Delhi Rape Case: राहुल गांधी, केजरीवाल और आदेश गुप्ता का हुआ 'हाय-हाय' से सामना

कक्षा नौवीं की वार्षिक व दसवीं की बोर्ड परीक्षा (सत्र 2021-22) में कंपीटेंसी बेस्ड (योग्यता आधारित) प्रश्न कम से कम 30 प्रतिशत पूछे जाएंगे। ये बहुविकल्पीय, केस आधारित, स्रोत आधारित एकीकृत प्रश्न या किसी अन्य प्रकार के हो सकते हैं। इसके अलावा 20 प्रतिशत प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकृति के होंगे और शेष 50 प्रतिशत प्रश्न पहले की तरह लघु उत्तरीय व दीर्घ उत्तरीय पूछे जाएंगे। 

यह भी पढ़ें11वीं व 12वीं का यह होगा पैटर्नकक्षा 11वीं की वार्षिक व 12वीं की बोर्ड परीक्षा (सत्र 2021-22) में कंपीटेंसी बेस्ड क्वेश्चन 20 प्रतिशत होंगे। ये भी नौवीं व दसवीं की तरह बहुविकल्पीय, केस आधारित व स्रोत अाधारित एकीकृत प्रश्न या किसी अन्य रूप में भी हो सकते हैं। यहां भी 20 प्रतिशत प्रश्न वस्तुनिष्ठ होंगे जबकि शेष 60 प्रतिशत प्रश्न पहले की तरह लघु व दीर्घ उत्तरीय होंगे। headtopics.com

यह भी पढ़ेंसिलेबस से आगे जाकर सोचेंगे बच्चेसीबीएसई ने कहा है कि उसका उद्देश्य केवल सिलेबस के अनुरुप बच्चों को तैयार करना नहीं, बल्कि उन्हें दक्ष बनाना है। वे खुद सोचें कि कैसे नॉलेज को डेवलेप करेंगे। पढ़ाई की ऑटोनॉमी हो। सिलेबस से आगे जा कर बच्चों सोचें, समझें। वे किसी काम को कैसे करेंगे वे खुद तय करने योग्य बनें। बच्चों की क्रिएटिविटी, एप्टीट्यूड, हायर आर्डर स्किल इस रूप में हो कि बदलाव दिखे। 

यह भी पढ़ेंअभी यह है पैटर्न और पढो: Dainik jagran »

वारदात: Dhanbad के जज की मौत के पीछे का असली सच! देखें

धनबाद में जज उत्तम आनंद की मौत के पीछे अब भी कई सवाल घूम रहे हैं. ये मौत वाकई एक हादसा था या हत्या? इस वीडियो में तस्वीर दिखा रही है कि एक शख्स सड़क के बिल्कुल बायीं ओर जॉगिंग कर रहा है. तभी अचानक पीछे से एक टेंपो आता है और जॉगिंग कर रहे शख्स को धक्का मार कर आगे बढ़ जाता है. पहली नज़र में यही गुमान होता है कि सड़क हादसे का एक मामला है. मगर इससे पहले कि आप किसी नतीजे पर पहुंचे, इसी सीसीटीवी तस्वीर की हर फ्रेम को अब गौर से देखिएगा. इसलिए कि इसी तस्वीर का जो बारीक पहलू है उसके बाद पूरा केस ही पलट जाएगा. इस केस की फॉरेंसिक जांच भी हो रही है. इस मामले में आज रांची हाईकोर्ट ने स्वत: संज्ञान लेते हुए सुनवाई की है. इस मामले को गंभीरता से लेते हुए अदालत ने झारखंड के डीजीपी और धनबाद के एसएसपी से जवाब तलब किया है. इस मामले में चीफ जस्टिस की बेंच ने डीजीपी से कहा कि अगर पुलिस जांच करने में विफल रहती है तो यह मामला सीबीआई को जा सकता है. देखें वारदात का ये एपिसोड.

आप अंग्रेज़ी में ही क्यूँ नहीं ये लेख प्रस्तुत करें, हिंदी में छापने का कष्ट क्यूँ कर रहे हैं ? आपने इस लेख में वस्तुतः अंग्रेज़ी के शब्दों को बस देवनागरी लिपि में लिखा है । क्या हिंदी के ज्ञान का स्तर इतना गिर गया है ? मैं आपकी कुछ मदद करूँ ? सिलबस : पाठ्यक्रम Corona kay naam par school band karne kay bad ab education kay saath hee khilwad kar rahi hai CBSE CBSE he nahin jitane be board hain wo education system ko majboot karne kee bajaye ise aur kamjor kar rahe hain Students ko to aise treat kar rahe hain jaise India me mandbudhi h

CBSE koi education board nahin hai. Ye board sirf india kee youth generation ko apahiz banane ka kam kar rahi hai. Youth ko Govt. dhire dhire rahat kay naam par education se dur kar rahi hai aur apahizon kee team taiyar kar rahi hai. Pattern change karne ke bajay thoda sa zahar de ke mar do hame cancel12thboardexams ArvindKejriwal DrRPNishank narendramodi PMOIndia TheAnuragTyagi RahulGandhi

Plz cancel cbse board examinations of class 12 also..

IPL 2021 से हटे अश्विन: कोरोना वायरस से जूझ रहे परिवार के लिए उठाया बड़ा कदमरविचंद्रन अश्विन ने IPL से ब्रेक ले लिया है...तमिलनाडु से आने वाले ऑफ स्पिनर अश्विन IPL में दिल्ली कैपिटल्स के लिए खेल रहे

आईपीएल 2021: CSKvsRCB- जडेजा के तूफ़ान में विराट सेना 69 रन से हारी - BBC News हिंदीयह रवींद्र जडेजा का मैच था. पहले धमाकेदार बैटिंग की. पहले पाँच छक्के लगा कर आखिरी ओवर में मैच का नक्शा बदल दिया फिर जब हाथ में गेंद थामी तो और भी ख़तरनाक हो गए.

IPL 2021: रोमाचंक मैच में 1 रन से जीता बंगलौर, पंत और हेटमॉयर के अर्धशतक बेकारIPL 2021 Live Score, DC vs RCB IPL Live Cricket Score Streaming Online: आईपीएल में दोनों के बीच अब तक 27 मैच खेले गए हैं। इनमें से दिल्ली कैपिटल्स ने 10 और रॉयल चैलेंजर्स बंगलौर ने 16 जीते हैं। एक मैच का नतीजा नहीं निकला था।

कोरोना के डर से इन 3 खिलाड़ियों ने छोड़ा IPL 2021, नहीं खेलेंगे एक भी मैचइंडियन प्रीमियर लीग यानी आइपीएल से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आ रही है। एक या दो नहीं बल्कि तीन विदेशी खिलाड़ियों ने आइपीएल के 14वें सीजन से हटने का फैसला किया है क्योंकि देश में कोरोना का कहर जारी है। IPL ये डर नहीं... समझदारी है..... पहले ये बताओ आप की IPL हो ही क्यूँ रहा है...... एक तरफ देश इतनी मुस्किल परिस्थिति से गुजर रहा है और दूसरी तरफ कुछ खास लोग IPL बिजनेस से पैसे कमा रहे हैं..... IPL ये समझदार खिलाड़ी हैं।

अश्विन के बाद IPL 2021 से हटे 3 ऑस्ट्रेलियाई क्रिकेटर्स, बीसीसीआई ने कहा- जारी रहेगी लीगऑस्ट्रेलिया और मुंबई इंडियंस के नाथन कूल्टर नाइल ने हालांकि कहा कि इस समय यात्रा करने की बजाय बायो बबल में रहना सुरक्षित है। उन्होंने क्रिकेट डॉट कॉम डॉट एयू से कहा, ‘मुझे लगता है कि घर लौटने की कोशिश करने की बजाय इस समय बायो बबल में रहना सही है।’