Coalshortage, Coal India, Cıl, Coal India Limited, Coal Shortage, Power Crisis, Power Crisis İn India, Coal Shortage İn India, Coal Ministry, Hpcommanmanıssue, Jagran Plus, कोल इंडिया, कोल इंडिया लिमिटेड, कोयला कंपनी, कोयले की खदानें

Coalshortage, Coal India

Coal Shortage: उत्पादन बढ़ाना कोल इंडिया की सबसे बड़ी चुनौती, जानिए क्या कहते हैं ये आंकड़े

उत्पादन बढ़ाना कोल इंडिया की सबसे बड़ी चुनौती, जानिए क्या कहते हैं ये आंकड़े #CoalShortage

16-10-2021 18:30:00

उत्पादन बढ़ाना कोल इंडिया की सबसे बड़ी चुनौती, जानिए क्या कहते हैं ये आंकड़े CoalShortage

सरकार और सीआइएल ने 100 करोड़ टन का लक्ष्य इसलिए रखा है कि तीन से चार वर्षो में आयातित कोयले पर निर्भरता को बहुत हद तक कम किया जा सके। देश में 2.02 लाख मेगावाट क्षमता (कुल उत्पादन क्षमता का 53 फीसद) कोयला आधारित संयंत्र हैं।

कोयले की कमी की वजह से देश में बिजली संकट भविष्य में भी होगा या नहीं, यह पूरी तरह इस पर निर्भर करेगा कि कोल इंडिया लिमिटेड (CIL) कोयला उत्पादन के अपने लक्ष्यों को हासिल करती है या नहीं। सरकार के साथ विमर्श के बाद कंपनी ने चालू वित्त वर्ष 2021-22 के दौरान 74 करोड़ टन और वर्ष 2023-24 तक 100 करोड़ टन कोयला उत्पादन का लक्ष्य रखा है। लेकिन पिछले पांच वर्षो के रिकार्ड को आधार माना जाए तो कंपनी का यह लक्ष्य हासिल करना लगभग असंभव लगता है।

अखिलेश यादव से मिलने पहुंचे भीम आर्मी चीफ चंद्रशेखर, गठबंधन पर हो सकती है बात BJP सांसद गौतम गंभीर को पिछले छह दिन में तीसरी बार मिली जान से मारने की धमकी त्रिपुरा नगर निकाय चुनावों में बीजेपी का दबदबा, टीएमसी बना मुख्य विपक्षी दल - BBC Hindi

यह भी पढ़ेंसीआइएल के चेयरमैन व एमडी प्रमोद अग्रवाल ने हाल ही में दैनिक जागरण को बताया था कि चालू वित्त वर्ष के दौरान उत्पादन 65 करोड़ टन रहेगा, जबकि लक्ष्य 67 करोड़ टन रखा गया था। अगर कोल इंडिया चेयरमैन की यह बात सच साबित हो जाती है तो यह पिछले पांच वर्षो के दौरान सबसे बढ़िया प्रदर्शन होगा। वर्ष 2016-17 के बाद से कोल इंडिया का प्रदर्शन 60 करोड़ टन के आसपास बना हुआ है। कंपनी ने कोयला मंत्रालय की संसदीय समिति को बताया है कि वर्ष 2020-21 में कोरोना संकट के चलते उत्पादन 60.2 करोड़ टन से घटकर 59.6 करोड़ टन पर आ गया था। कोरोना संकट की आहट से पहले यह लक्ष्य 72 करोड़ टन निर्धारित किया गया था। उसके पिछले वर्ष यानी 2019-20 में भी कंपनी का उत्पादन 2018-19 के 60.7 करोड़ टन के मुकाबले घटकर 60.2 करोड़ रह गया था। यही वजह है कि संसदीय समिति ने भी कोयला मंत्रालय को वर्ष 2023-24 तक 100 करोड़ टन कोयला उत्पादन के लक्ष्य को लेकर ज्यादा गंभीर होने को कहा है।

यह भी पढ़ें चालू साल के दौरान इन संयंत्रों को पहले सिर्फ 70 करोड़ टन कोयले की जरूरत का अनुमान था, जिसे वर्तमान बदली जरूरत में 85 करोड़ टन माना जा रहा है। कोयला मंत्रालय के आंकड़े बताते हैं कि वर्ष 2008-09 से वर्ष 2016-17 के दौरान देश में कोयला उत्पादन में महज 3.2 प्रतिशत सालाना की बढ़ोतरी हुई है। इस दौरान कोयले के आयात में सालाना 13.4 प्रतिशत की औसत वृद्धि हुई है। दूसरी तरफ देश में बिजली की खपत औसतन 7.2 प्रतिशत की रफ्तार से बढ़ी है। headtopics.com

और पढो: Dainik jagran »

शंखनाद: Samajwadi Party की साइकिल पर बैठेंगी कितनी सवारी?

जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं, उत्तर प्रदेश का रण धारदार होता जा रहा है, सत्ता पक्ष और विपक्ष अपने-अपने दल को बढ़ाने में लगे हुए हैं, गठबंधनों का दौर चल रहा है. इसी कड़ी में आज कांग्रेस की बागी नेता अदिति सिंह आज बीजेपी में शामिल हुईं तो दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने अखिलेश यादव से मुलाकात की. साथ ही कृष्णा पटेल वाली अपना दल पार्टी ने भी समाजवादी का दामन थाम लिया. यूं समझिए कि गठबंधन वाली राजनीति बहुत तेजी से विस्तारित हो गई है, ताकि पार्टियां अपने विरोधियों को मात दे सकें. देखिए शंखनाद का ये एपिसोड.

ब्रेस्ट कैंसर की चपेट में कम उम्र की लड़कियां भी क्यों आ रही हैं? - BBC News हिंदीडॉक्टरों का कहना है कि भारत में 20-30 साल की उम्र की महिलाओं में भी बढ़ रहे हैं ब्रेस्ट कैंसर के मामले जानिए क्या हैं कारण. कोई जब संग ना रहे.. संगी बन कोई तो शरीर बने .. जतन से सब काम से रहे .. फिर प्रयास में कोई स्थाई में मिले🧬

Safest SUVs in India : Tata Punch से लेकर Mahindra XUV300 तक, ये हैं देश की सबसे सुरक्षित SUVसुरक्षा आज एक बड़ा मुद्दा है आप जब भी नई कार खरीदने जाते हैं तो उसनें फीचर्स के साथ सुरक्षा का भी पूरा ध्यान जरूर रखना चाहिये। आज अपने इस लेख के जरिये हम आपको बता रहे हैं देश की सबसे सुरक्षित एसयूवी कारों के बारे में जानकारी।

ये हैं भारत के सबसे विध्वंसक हथियार, जिनसे खौफ खाते हैं दुश्मन!दशहरा (Dussehra) के दिन विशेष रूप से शस्त्र पूजन (Shastra Puja) का विधान है. भारतीय सेना (Indian Army) के तीनों अंग- एयरफोर्स (Indian Airforce), नेवी (Indian Navy) और थल सेना (Indian Army) भी इस परंपरा का निर्वहन करते हैं.

कोविड-19 का असर: एयर इंडिया को FY21 में 7,017 करोड़ रुपए का लॉस, रेवेन्यू में भी बड़ी गिरावटएयर इंडिया ने फाइनेंशियल ईयर 2020-21 के दौरान टैक्स कटौती के बाद 7,017 करोड़ रुपए का लॉस रिपोर्ट किया। कोविड-19 की वजह से लगाए गए प्रतिबंधों के कारण ये लॉस हुआ है। हालांकि ये लॉस एक साल पहले की तुलना में कम है। 2019-20 में एयर इंडिया ने 7,766 रुपए का लॉस रिपोर्ट किया था। एयर इंडिया के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स ने गुरुवार को फर्म के ऑडिटेड फाइनेंशियल रिजल्ट्स को मंजूरी देने के लिए मीटिंग की थी। | एयर इंडिया ने फाइनेंशियल ईयर 2020-21 के दौरान टैक्स कटौती के बाद 7,017 करोड़ रुपए का लॉस रिपोर्ट किया। कोविड-19 की वजह से लगाए गए प्रतिबंधों के कारण ये लॉस हुआ है। और कोई दूसरा airlines घाटा में गया क्या बे

ग्रामीण महिलाओं की कहानियां: इस गांव में रहती हैं सिर्फ महिलाएं, पुरुषों के घुसने पर भी रोक, कारण कर देगा हैरानग्रामीण महिलाओं की कहानियां: इस गांव में रहती हैं सिर्फ महिलाएं, पुरुषों के घुसने पर भी रोक, कारण कर देगा हैरान InternationalDayOfRuralWomen

पेट्रोल और डीजल की कीमतों में फिर लगी आग, आज इस भाव मिल रहा 1 लीटर तेलPetrol Price today पेट्रोल और डीजल की कीमतों में शुक्रवार को फिर 35-35 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई जिससे देश भर के पंपों पर इनकी खुदरा कीमतें अब तक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई हैं। एक महीने बाद पता चलता है कि १०₹ से ज्यादा बड़ गए हैं १ लीटर के भाव।। पता नहीं था कि सरकार मुफ्त वैक्सीन लगवा कर...उसका सूद ब्याज मूल सब वसूल करेगी।