Covid-19 : क्या आप जानते हैं किस देश के लोग सबसे कम धोते हैं हाथ

Coronavirus, Covid 19, Coronaliveupdates, Lockdown 21, Chinesevirus 19, Covıd 2019, Stayhomeındia, Stopthespreadofcorona, Coronaviruslockdown, 21 Dayslockdown, Curfewınındia, Lockdownindia, Coronavirus, Washing Hands, Handwashing, Corona Virus, Covid19, Habitually, Covid-19, Birmingham, कोविड19, कोविड-19, कोरोना वायरस, कोरोनावायरस, Saudi Arabia, Bosnia, Algeria, Lebanon, Papua New Guinea, सऊदी अरब, बोस्निया, अल्जीरिया, लेबनान, पापुआ न्यू गिनी, University Of Birmingham, Habit, Researchers, Bva France Sarl, Gallup İnternational, China, Japan, South Korea, Netherlands, Thailand, Kenya, İtaly, Uk, United Kingdom, Us, United States, चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, नीदरलैंड, थाईलैंड, केन्या, इटली, ब्रिटेन, यूनाइटेड किंगडम, अमेरिका, संयुक्त राज्य अमेरिका, Dr. Alex Kharlamov, Birmingham Law School, World News İn Hindi, World Hindi News

कोरोना वायरस के कारण इस समय पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है। इस वैश्विक माहमारी से हजारों लोगों की जान जा चुकी है।

Coronavirus, Covid 19

26.3.2020

Covid-19 : क्या आप जानते हैं किस देश के लोग सबसे कम धोते हैं हाथ WHO Coronavirus Covid19 CoronaLiveupdates Lockdown21 ChineseVirus19 COVID2019 StayHomeIndia StopTheSpreadOfCorona Coronavirus Lockdown 21 daysLockdown CurfewInIndia lockdownindia

कोरोना वायरस के कारण इस समय पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है। इस वैश्विक माहमारी से हजारों लोगों की जान जा चुकी है।

हाथों को धोते रहना इससे बचाव का सबसे प्रभावी तरीका बताया जा रहा है। लेकिन कुछ देश ऐसे हैं जहां हाथ धोना लोगों की आदत में शुमार ही नहीं है। या फिर यूं कहें कि ऐसे देश जहां लोग कमी ही हाथ धोते हैं। आइए जानते कौन से हैं वो देश... कोरोना से बचाव के लिए हाथ धोना जरूरी कोरोना संकट के अलावा पूरी दुनिया के कई देश एक और संकट से भी जूझ रहे हैं। जी हां, यह संकट है पानी की कमी का। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोना वायरस के संकट के समय बार-बार हाथ धोने को सबसे जरूरी बुनियादी एहतियाती कदम बताया है। लेकिन दुनियाभर के कई देश पानी की कमी से जूझ रहे हैं। क्लाइमेट ट्रेंड्स के विश्लेषण में इसे वॉटर स्ट्रेस या जल तनाव कहा गया है। जिन देशों के लोगों में हैंडवॉश या हाथ धोना उनकी संस्कृति या आदत में शुमार नहीं है, वे खुद ही कोविड-19 को न्योता देने का जोखिम उठा रहे हैं। यह बात यूनिवर्सिटी ऑफ बर्मिंघम के शोधकर्ताओं ने एक अध्ययन के आधार पर कही है। बीवीए फ्रांस सार्ल और स्वतंत्र रूप से बाजार का अध्ययन करने वाली संस्था गैलप इंटरनेशनल ने मिलकर यह अध्ययन किया था। जिसके आंकड़े साल 2015 में प्रकाशित किए गए थे। अध्ययन 63 देशों को शामिल किया गया था। हर देश से कम से कम 500 लोगों से जानकारी ली गई थी। अध्ययन में कहा गया है कि चीन में 77 फीसदी लोग ऐसे हैं जिनमें शौचालय का उपयोग करने के बाद स्वत: हाथ धोने की आदत नहीं है। जापान में 70 फीसदी, दक्षिण कोरिया में 61 फीसदी और नीदरलैंड में यह 50 फीसदी है। इनकी ही तरह थाईलैंड और केन्या में 48 फीसदी लोग ऐसे हैं जो कम ही हाथ धोते हैं, इटली में 43 फीसदी ऐसे लोग हैं। भारत इस मामले में 10वें नंबर पर है, यहां 40 फीसदी लोग हैं। ब्रिटेन और अमेरिका में क्रमश: 25 और 23 प्रतिशत ऐसे लोग हैं। यानि यहां ज्यादातर या करीब 75 फीसदी लोग अपने हाथ धोते हैं। हाथ धोने की आदत के मामले में सबसे अच्छा देश है सऊदी अरब। जी हां, अध्ययन के मुताबिक यहां सिर्फ और सिर्फ 3 फीसदी लोग ऐसे हैं जो आदतन हाथ नहीं धोते हैं। इसके बाद बोस्निया, अल्जीरिया, लेबनान और पापुआ न्यू गिनी भी ऐसे ही देश हैं। कोविड19 के प्रकोप के बीच कहा जा रहा है कम से कम 20 सेकंड तक साबुन से हाथ धोएं। सवाल यह है कि आखिर यह इतना जरूरी क्यों है? इसका जवाब है कि साबुन से हाथ धोने पर कोविड 19 वायरस के मॉलीक्यूल्स टूट जाते हैं। इस बारे में बर्मिंघम लॉ स्कूल के डॉ. एलेक्स खारलामोव कहते हैं कि समय बताएगा कि कोविड19 की चुनौति क्या पूरे विश्व में हाथ धोने की आदत या हैंडवॉशिंग की संस्कृति को बढ़ाने में कोई मदद करेगी या नहीं। हालांकि आंकड़े यही कह रहे हैं इस हाथ धोने की संस्कृति और वायरस के संपर्क में आने से बचाव में काफी हद तक सीधा संबंध है। हाथों को धोते रहना इससे बचाव का सबसे प्रभावी तरीका बताया जा रहा है। लेकिन कुछ देश ऐसे हैं जहां हाथ धोना लोगों की आदत में शुमार ही नहीं है। या फिर यूं कहें कि ऐसे देश जहां लोग कमी ही हाथ धोते हैं। आइए जानते कौन से हैं वो देश... विज्ञापन कोरोना से बचाव के लिए हाथ धोना जरूरी कोरोना संकट के अलावा पूरी दुनिया के कई देश एक और संकट से भी जूझ रहे हैं। जी हां, यह संकट है पानी की कमी का। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने कोरोना वायरस के संकट के समय बार-बार हाथ धोने को सबसे जरूरी बुनियादी एहतियाती कदम बताया है। लेकिन दुनियाभर के कई देश पानी की कमी से जूझ रहे हैं। क्लाइमेट ट्रेंड्स के विश्लेषण में इसे वॉटर स्ट्रेस या जल तनाव कहा गया है। आगे पढ़ने के लिए लॉगिन या रजिस्टर करें अमर उजाला प्रीमियम लेख सिर्फ रजिस्टर्ड पाठकों के लिए ही उपलब्ध हैं हाथ धोना संस्कृति या आदत में शुमार नहीं जिन देशों के लोगों में हैंडवॉश या हाथ धोना उनकी संस्कृति या आदत में शुमार नहीं है, वे खुद ही कोविड-19 को न्योता देने का जोखिम उठा रहे हैं। यह बात यूनिवर्सिटी ऑफ बर्मिंघम के शोधकर्ताओं ने एक अध्ययन के आधार पर कही है। बीवीए फ्रांस सार्ल और स्वतंत्र रूप से बाजार का अध्ययन करने वाली संस्था गैलप इंटरनेशनल ने मिलकर यह अध्ययन किया था। जिसके आंकड़े साल 2015 में प्रकाशित किए गए थे। अध्ययन 63 देशों को शामिल किया गया था। हर देश से कम से कम 500 लोगों से जानकारी ली गई थी। चीन से लेकर अमेरिका तक, जानें क्या कहते हैं आंकड़े अध्ययन में कहा गया है कि चीन में 77 फीसदी लोग ऐसे हैं जिनमें शौचालय का उपयोग करने के बाद स्वत: हाथ धोने की आदत नहीं है। जापान में 70 फीसदी, दक्षिण कोरिया में 61 फीसदी और नीदरलैंड में यह 50 फीसदी है। इनकी ही तरह थाईलैंड और केन्या में 48 फीसदी लोग ऐसे हैं जो कम ही हाथ धोते हैं, इटली में 43 फीसदी ऐसे लोग हैं। भारत इस मामले में 10वें नंबर पर है, यहां 40 फीसदी लोग हैं। ब्रिटेन और अमेरिका में क्रमश: 25 और 23 प्रतिशत ऐसे लोग हैं। यानि यहां ज्यादातर या करीब 75 फीसदी लोग अपने हाथ धोते हैं। किस देश में सबसे ज्यादा हाथ धोते हैं लोग हाथ धोने की आदत के मामले में सबसे अच्छा देश है सऊदी अरब। जी हां, अध्ययन के मुताबिक यहां सिर्फ और सिर्फ 3 फीसदी लोग ऐसे हैं जो आदतन हाथ नहीं धोते हैं। इसके बाद बोस्निया, अल्जीरिया, लेबनान और पापुआ न्यू गिनी भी ऐसे ही देश हैं। 20 सेकंड तक साबुन से हाथ क्यों धोना चाहिए? कोविड19 के प्रकोप के बीच कहा जा रहा है कम से कम 20 सेकंड तक साबुन से हाथ धोएं। सवाल यह है कि आखिर यह इतना जरूरी क्यों है? इसका जवाब है कि साबुन से हाथ धोने पर कोविड 19 वायरस के मॉलीक्यूल्स टूट जाते हैं। इस बारे में बर्मिंघम लॉ स्कूल के डॉ. एलेक्स खारलामोव कहते हैं कि समय बताएगा कि कोविड19 की चुनौति क्या पूरे विश्व में हाथ धोने की आदत या हैंडवॉशिंग की संस्कृति को बढ़ाने में कोई मदद करेगी या नहीं। हालांकि आंकड़े यही कह रहे हैं इस हाथ धोने की संस्कृति और वायरस के संपर्क में आने से बचाव में काफी हद तक सीधा संबंध है। विज्ञापन और पढो: Amar Ujala

मोदी के दीया जलाने की अपील पर तेज प्रताप का ट्वीट- लालटेन भी जला सकते हैं!



कोरोना से बचने के लिए दो मीटर की दूरी काफी नहीं, MIT शोधकर्ता की चेतावनी

कोरोना से जंग : निज़ामुद्दीन मरकज़ का मामला आने के बाद अमेरिका ने कहा- दुनियाभर की सरकारों को...



भारतीय इंजीनियरों का कायल हुआ अमेरिका, बनाया 60 गुना सस्ता वेंटिलेटर

निज़ामुद्दीन मरकज़ मामला : दिल्ली पुलिस ने मौलाना साद को भेजा नोटिस, पूछे इन 26 सवालों के जवाब



PM मोदी की देशवासियों से अपील, सोशल डिस्टेंसिंग की 'लक्ष्मण रेखा' को न करें पार

चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन खोलने की योजना बनाएं अधिकारी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ



This is Assam police.. Other states police's should have learn ... WHO Unnao,Up in lock down WHO Pakistan ke log..👍👍 And china ke log 👍👍 stay home every body pls.🙏

VIDEO : इस उम्र के लोगों को है कोरोना से बचना, तो करें ये काम!WATCH: क्या बुजुर्गों को है CoronaVirus से ज्यादा खतरा ? ZeeJankariOnCorona IndiaFightsCorona CoronaVirusUpdates CoronaFighters StayHome क्या ये सच है? CORONA COMMEDY MY INDIAN BAHU AUR SAS KY SULUK PY BHI CHARCHA HO RAHI HY INDIA BAHU DUA KAR RAHI HY CORONA GHAR MY AA SAS KO LYJA PITCHY SY HUSBAND AYA AUR BOLA TUMHARI BHABI KI DUA KUBUL HO GAI. JAI HIND. ये रानू मण्डल हें क्या ....इस कों क्या हों गया ..

कोरोना: राजस्थान के इस शहर ने देश को डरा दिया हैराजस्थान का भीलवाड़ा. क़रीब चार लाख की आबादी का ये शहर भारत में कोरोना वायरस का हॉटस्पॉट साबित हो सकता है. यहां अभी तक 16 पॉज़ीटिव केस आ चुके हैं. ये सिलसिला शुरू हुआ एक मरीज़ के एक निजी अस्पताल पहुंचने से. अब अस्पताल के तीन डॉक्टरों समेत तेरह कर्मचारी कोरोना पाज़ीटिव हैं और पूरे शहर की जान ख़तरे में है. यहां ढाई सौ लोग सरकारी अस्पताल में और क़रीब पांच हज़ार अपने घरों में क्वारंटीन में हैं. इस शहर ने पूरे देश को डरा दिया है. पूनम कौशल ने भीलवाड़ा में कई लोगों से बात करके ये विशेष रिपोर्ट तैयार की है. poonamkaushel Hay ram 😔😔🙏😥😥 poonamkaushel Hn halat bahut bure h lakin phir bhi private school wale online admission k liye bol rahe h taki unka koi loss na ho . Ab class 1 k student kya online mobile ya laptop pe pdh sakte h . Lakin sirf loot rahe h. poonamkaushel

झूठा चीन छिपा रहा है आंकड़े, वहां 1.5 करोड़ लोगों के मरने की आशंका है!!झूठा China छिपा रहा आंकड़े, वहां 1.5 करोड़ लोगों के मरने की आशंका है ? ZeeJankariOnCorona IndiaFightsCorona CoronaVirusUpdates CoronaFighters StayHome Sir good morning sir very nice News sir ji p.c.s.jwr This is very very bad news...... I think is not true. Ek dum right hain Mobile users kam ho gye h china m

न्यूयॉर्क के गवर्नर का कहना है कि 'सोशल डिस्‍टेंसिंग' से धीमा पड़ रहा है कोरोना वायरसभारत के प्रधानमंत्री भी साफ कह चुके हैं कि इस वायरस से बचने का एक ही इलाज है और वो है सोशल डिस्‍टेंसिंग जहां अब न्यूयॉर्क के गवर्नर ने कह दिया है कि इससे वायरस का प्रकोप कम हो रहा सामाजिक दूरी ही इसका एकमात्र इलाज है,फिर भी लोग समझ नहीं रहे है। देश मे अभी भी कुछ गधे किस्म के इंसान बिना वजह के बाहर घूम रहे है Corona virus BJP party ke netavo se nikala hain Ye bhagvan RAM aur sita ke tasker Hain Esi liye hanta virus aaya History main ajad satru ko Pitru hanta khaha jata thha Bhagvan RAM (pita) Sita ki hatya karne ke karan Hanta virus Jiska name ajad satru Aur Narendra Modi Yogi hain

कोरोना वायरस के संक्रमण के बाद बचने की कितनी संभावना हैदुनिया भर में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर तीन हजार से भी ज्यादा हो गई है। वहीं, अब तक कोरोनावायरस से 86, कहा नहीं जा सकता है. 85+%

लॉकडाउन के चलते आपको EMI चुकाने के मामले में मिल सकती है राहतलॉकडाउन के चलते आपको EMI चुकाने के मामले में मिल सकती है राहत EMI EconomicPackage lockdown coronavirus india Yes its very important for public because if emi auto deduct from bank account then creat a big problem for public because at this lockdown time very neadfull money I also request for govt of India ऐसी कोई घोषणा हुई है क्या स्वागत योग्य फैसला होगा ।



'अनियोजित लॉकडाउन' पर भड़कीं सोनिया, कहा- दुनिया के किसी देश ने ऐसा नहीं किया

दाढ़ी ट्रिम करवा कर नए लुक में दिखे उमर अब्दुल्ला, JK डोमिसाइल नीति पर उठाए सवाल

गाजियाबाद: आइसोलेशन वार्ड में बिना पैंट घूम रहे तबलीगी जमात के मरीज, DM-SSP से शिकायत

तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की

कोरोना संकट के बीच कल सुबह 9 बजे देश को फिर संबोधित करेंगे PM मोदी

कोरोना वायरस: निज़ामुद्दीन मरकज़ के मरीज़ों की बाढ़ से कैसे निपटेगी दिल्ली

केजरीवाल का ऐलान- पब्लिक सर्विस वाहन चलाने वालों को मिलेंगे 5 हजार रुपये

टिप्पणी लिखें

Thank you for your comment.
Please try again later.

ताज़ा खबर

समाचार

27 मार्च 2020, शुक्रवार समाचार

पिछली खबर

coronavirus: लगातार हो रही मौतों के बीच इटली से WHO को मिले 'अच्छे संकेत', जानिए कैसे

अगली खबर

कोरोना वायरस: अमरीका में मरने वालों का आंकड़ा 1,000 के पार, भारत में हुईं 13 मौतें - LIVE - BBC Hindi
मोदी के दीया जलाने की अपील पर तेज प्रताप का ट्वीट- लालटेन भी जला सकते हैं! कोरोना से बचने के लिए दो मीटर की दूरी काफी नहीं, MIT शोधकर्ता की चेतावनी कोरोना से जंग : निज़ामुद्दीन मरकज़ का मामला आने के बाद अमेरिका ने कहा- दुनियाभर की सरकारों को... भारतीय इंजीनियरों का कायल हुआ अमेरिका, बनाया 60 गुना सस्ता वेंटिलेटर निज़ामुद्दीन मरकज़ मामला : दिल्ली पुलिस ने मौलाना साद को भेजा नोटिस, पूछे इन 26 सवालों के जवाब PM मोदी की देशवासियों से अपील, सोशल डिस्टेंसिंग की 'लक्ष्मण रेखा' को न करें पार चरणबद्ध तरीके से लॉकडाउन खोलने की योजना बनाएं अधिकारी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ Coronavirus Outbreak Live Updates: कोरोना वायरस लाइव अपडेट - उत्तर प्रदेश में आज अबतक 172 नए केस आए हैं। इनमें से 42 वे हैं जो तबलीगी जमात कार्यक्रम में पहुंचे थे। Coronavirus: गाजियाबाद में अश्लील हरकतें करने वाले जमातियों का इलाज नहीं करेगा महिला स्टाफ Coronavirus Lockdown : घर से करें काम, एक माह तक मुफ्त नेट देगा BSNL बिहार में दरभंगा के डीएम को स्क्रीनिंग कराने की सलाह देने पर गोली मारने की धमकी तबलीगी जमात के मौलाना साद को क्राइम ब्रांच का नोटिस, पूछे गए 26 सवाल
'अनियोजित लॉकडाउन' पर भड़कीं सोनिया, कहा- दुनिया के किसी देश ने ऐसा नहीं किया दाढ़ी ट्रिम करवा कर नए लुक में दिखे उमर अब्दुल्ला, JK डोमिसाइल नीति पर उठाए सवाल गाजियाबाद: आइसोलेशन वार्ड में बिना पैंट घूम रहे तबलीगी जमात के मरीज, DM-SSP से शिकायत तबलीगी जमात का मौलाना अरशद मदनी ने किया बचाव, कहा- मरकज ने कोई गलती नहीं की कोरोना संकट के बीच कल सुबह 9 बजे देश को फिर संबोधित करेंगे PM मोदी कोरोना वायरस: निज़ामुद्दीन मरकज़ के मरीज़ों की बाढ़ से कैसे निपटेगी दिल्ली केजरीवाल का ऐलान- पब्लिक सर्विस वाहन चलाने वालों को मिलेंगे 5 हजार रुपये तबलीग़ी जमात: पूछताछ करने गई पुलिस पर हमला तबलीगी जमात पर बैन की मांग, यूपी अल्पसंख्यक आयोग का पीएम मोदी को खत प्रधानमंत्री के वीडियो मैसेज पर शशि थरूर बोले- अभी प्रधान Showman को सुना, ये बस PM का 'फील गुड' मूमेंट था अहमदनगर के बाद अब ठाणे की दो मस्जिदों से मिले 21 विदेशी नागरिक, क्वारनटीन में भेजा गया कोरोना वायरसः ममता बनर्जी ने PM मोदी को लिखा पत्र, मांगा 25000 करोड़ का पैकेज