Coviddeaths, Supremecourt, Deathcertificate, Covid 19 In India, Covid Second Wave, Coronavirus In India, Covid Death, Supreme Court, Death Certificate On Death From Corona, Compensation On Death From Corona, Compensation On Covid Death

Coviddeaths, Supremecourt

Covid Deaths: सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कोरोना से मौत पर मृत्यु प्रमाणपत्र देने की प्रक्रिया सरल होनी चाहिए

#CovidDeaths : सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कोरोना से मौत पर मृत्यु प्रमाणपत्र देने की प्रक्रिया सरल होनी चाहिए #SupremeCourt #DeathCertificate

21-06-2021 21:08:00

CovidDeaths : सुप्रीम कोर्ट ने कहा, कोरोना से मौत पर मृत्यु प्रमाणपत्र देने की प्रक्रिया सरल होनी चाहिए SupremeCourt DeathCertificate

सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना से मौत पर मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने की केंद्र सरकार द्वारा बताई गई प्रक्रिया को जटिल बताते हुए कहा कि इसे सरल करने पर विचार होना चाहिए। साथ ही जिनके पहले मृत्यु प्रमाणपत्र जारी हो चुके हैं उनमें सुधार की व्यवस्था होनी चाहिए।

सुप्रीम कोर्ट ने कोरोना से मौत पर मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने की केंद्र सरकार द्वारा बताई गई प्रक्रिया को जटिल बताते हुए कहा कि इसे सरल करने पर विचार होना चाहिए। साथ ही जिनके पहले मृत्यु प्रमाणपत्र जारी हो चुके हैं, लेकिन उनमें मौत का कारण कोरोना दर्ज नहीं है, उनमें सुधार की व्यवस्था होनी चाहिए, ताकि उनके स्वजन को घोषित योजनाओं का लाभ मिल सके।

वसीम रिज़वी अब हैं जितेंद्र त्यागी, इस्लाम छोड़ने के बाद बोले-मंदिर से मिली ऊर्जा - BBC News हिंदी मोदी से मुलाक़ात में पुतिन ने कहा- भारत एक बड़ी शक्ति और परखा हुआ दोस्त - BBC Hindi Katrina Kaif Vicky Kaushal Wedding: सलमान खान के बॉडीगार्ड शेरा देंगे कटरीना-विक्की की शादी में सिक्योरिटी, फोन ले जाने पर भी लगाई गई है पाबंदी

कोरोना से मौत पर चार लाख मुआवजे की मांग पर फैसला सुरक्षितसुनवाई के दौरान कोर्ट ने केंद्र से पूछा कि क्या प्रधानमंत्री की अध्यक्षता वाली एनडीएमए (नेशनल डिजास्टर मैनेजमेंट अथारिटी) ने कोरोना से मौत पर स्वजन को चार लाख रुपये अनुग्रह राशि नहीं दिए जाने के बारे में कोई निर्णय लिया था? न्यायमूर्ति अशोक भूषण और एमआर शाह की अवकाश कालीन पीठ ने कोरोना से मौत पर चार लाख रुपये मुआवजा दिए जाने की मांग पर विस्तृत सुनवाई के बाद सोमवार को अपना फैसला सुरक्षित रख लिया। याचिकाओं में कोरोना से मौत पर मृत्यु प्रमाणपत्र में मौत का कारण कोरोना दर्ज करने की भी मांग की गई है। कोर्ट ने पिछली सुनवाई पर केंद्र से पूछा था कि क्या मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने के बारे में कोई समान नीति है?

यह भी पढ़ेंसुप्रीम कोर्ट ने मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने की प्रक्रिया को जटिल बतायाकेंद्र सरकार की ओर से कोर्ट में दाखिल हलफनामे में मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने की पूरी प्रक्रिया बताई गई थी। सोमवार को सुनवाई के दौरान जस्टिस एमआर शाह ने केंद्र की ओर से पेश सालिसिटर जनरल तुषार मेहता से कहा कि पहली निगाह में मृत्यु प्रमाणपत्र जारी करने की प्रक्रिया काफी जटिल प्रतीत होती है। प्रक्रिया सरल होनी चाहिए। यही नहीं, जिनका मृत्यु प्रमाणपत्र जारी हो चुका है, लेकिन उसमें मौत का कारण कोरोना नहीं दर्ज है, उनमें भी सुधार की व्यवस्था होनी चाहिए। headtopics.com

यह भी पढ़ेंकई मामलों में माता-पिता दोनों की मृत्यु हो गई है। सिर्फ बच्चे ही बचे हैं। कहीं पर परिवार में सिर्फ बुजुर्ग बचे हैं। मृत्यु प्रमाणपत्र में मौत का कारण कोरोना नहीं लिखा है। कुछ और कारण दिया है। जैसे दिल का दौरा या कुछ और। ऐसे में पीड़ित परिवार को घोषित योजना का लाभ कैसे मिलेगा? क्या ऐसा नहीं होना चाहिए कि जिसकी रिपोर्ट कोरोना पाजिटिव आई हो और वह अस्पताल में भर्ती हुआ हो, उसे कोरोना से मौत का प्रमाणपत्र जारी हो?

यह भी पढ़ेंपीठ ने यह भी कहा कि कई बार तो कोरोना की रिपोर्ट निगेटिव आने के बावजूद बाद की दिक्कतें हो जाती हैं। पीठ ने मेहता से कहा कि इस बारे में कुछ किया जाए। मेहता ने मुद्दे पर विचार करने का भरोसा दिया। उन्होंने कहा कि नियम के मुताबिक कोरोना से होने वाली किसी भी मौत को कोरोना से हुई मौत प्रमाणित करना अनिवार्य है। ऐसा न करना दंडनीय है। पीठ ने कहा कि अलग राज्यों में भिन्न मुआवजा दिया जा रहा है। क्या मुआवजे की समान नीति नहीं होनी चाहिए?

यह भी पढ़ेंसालिसिटर जनरल ने कहा कि राज्य अपने नागरिकों को अलग-अलग मुआवजा घोषित कर रहे हैं। वे ऐसा एसडीआरएफ फंड से नहीं करते, बल्कि मुख्यमंत्री राहत कोष आदि से देते हैं। ज्ञातव्य हो कि केंद्र के हलफनामे में कहा गया था कि कोरोना से मौत पर परिजनों को चार लाख रुपये मुआवजा नहीं दिया जा सकता। यह आर्थिक क्षमता से बाहर की बात है। लेकिन सोमवार को मेहता ने कहा कि हम यह नहीं कह रहे कि सरकार के पास पैसा नहीं है, पर हम आपदा प्रबंधन से जुड़ी दूसरी चीजों पर खर्च कर रहे हैं, जैसे-स्वास्थ्य ढांचे को मजबूत करना, सभी को भोजन, टीकाकरण आदि। यह महामारी अन्य से भिन्न है। इसमें एक बार मुआवजा नहीं दिया जा सकता।

यह भी पढ़ें और पढो: Dainik jagran »

शंखनाद: Samajwadi Party की साइकिल पर बैठेंगी कितनी सवारी?

जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं, उत्तर प्रदेश का रण धारदार होता जा रहा है, सत्ता पक्ष और विपक्ष अपने-अपने दल को बढ़ाने में लगे हुए हैं, गठबंधनों का दौर चल रहा है. इसी कड़ी में आज कांग्रेस की बागी नेता अदिति सिंह आज बीजेपी में शामिल हुईं तो दूसरी ओर आम आदमी पार्टी के संजय सिंह ने अखिलेश यादव से मुलाकात की. साथ ही कृष्णा पटेल वाली अपना दल पार्टी ने भी समाजवादी का दामन थाम लिया. यूं समझिए कि गठबंधन वाली राजनीति बहुत तेजी से विस्तारित हो गई है, ताकि पार्टियां अपने विरोधियों को मात दे सकें. देखिए शंखनाद का ये एपिसोड.

पंजाब की सियासत : गठबंधन की अटकलों पर विराम, भाजपा में प्रत्याशियों की खोज शुरूपंजाब की सियासत : गठबंधन की अटकलों पर विराम, भाजपा में प्रत्याशियों की खोज शुरू Punjab BJP PunjabElections AkaliDal BSP BJP4Punjab

कपिल शर्मा ने शेयर की अपने बेटे की पहली तस्वीर, बोले- पब्लिक की पुरजोर मांग पर...

केंद्र ने कहा: प्रमाणपत्र में मृत्यु का कारण कोविड-19 बताने में किसी भी चूक पर दंडात्मक कार्रवाई होगीकेंद्र ने कहा: प्रमाणपत्र में मृत्यु का कारण कोविड-19 बताने में किसी भी चूक पर दंडात्मक कार्रवाई होगी LadengeCoronaSe Coronavirus Covid19 CoronaVaccine OxygenCrisis OxygenShortage PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI PMOIndia MoHFW_INDIA ICMRDELHI कोरोना से हुई मौतों के आंकड़ों को छुपाना चाहती है सरकार ।

21 जून : आज दिनभर इन खबरों पर बनी रहेगी नजर, जिनका होगा आप पर असरहर रोज हम अलग-अलग खबरों से दो-चार होते हैं। हमारी आंखों के सामने से कई सारी खबरें गुजरती हैं। इनमें से कुछ ऐसी अहम खबरें

गाड़ी पटरी पर : कोविड काल में शुरू हुई विशेष ट्रेनें लौटेंगी ट्रैक परयात्रियों की राह आसान करने के लिए रेलवे नियमित चलने वाली ट्रेनों को ट्रैक पर बहाल करने में जुटा है। साथ ही कोविड काल RailMinIndia

International Yoga Day पर Haridwar में गंगा के तट पर संतों ने किया योगासनमारा गया लश्कर कमांडर मुदासिर अहमद पंडित, 3 पुलिसकर्मियों, 2 पार्षदों और 2 नागरिकों की हत्या में था शामिल. सुरक्षाबलों ने देर रात से आतंकियों की कर रखी थी घेराबंदी, मुठभेड़ के बाद सोपोर में सर्च ऑपरेशन जारी. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर पतंजलि योग पीठ में खास आयोजन, बाबा रामदेव ने कराया योगाभ्यास, आचार्य बालकृष्ण भी थे साथ. योग दिवस पर हरिद्वार में दिखा अद्भुत नजारा, गंगा के तट पर संतों ने लगाए योग के आसन. देखें 10 मिनट 50 खबरें.